2014-15 में केवल 32 भारतीयों ने 100 करोड़ से ज़्यादा इनकम की घोषणा की है, बाकी सब कैसे छिप र है हैं?...


play
user

महेश हिन्दू

विधार्थी

1:59

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो भी बोलूंगा सत्य बताऊंगा यह जो आपने इनकम की बात की है 2014 15 की रिपोर्ट में 32 बार क्यों नहीं 100 करोड का बताया बाकी का मर गया छुप गए तो ऐसा है कि एंडी की सरकार है माननीय मोदी जी के नेतृत्व में तो जब यह सारा सब कुछ चल रहा था तो उस वक्त क्या है आपको मैं बता दूं कि 20 से 25% नेता ऐसे हैं जो एनडी में हैं तो उनकी और जो छिपे हुए लोगों की थोड़ी सांठगांठ है बाकी जो मोदी जी की सरकार आई और इस समय जो इनकम टैक्स डिपार्टमेंट है या अन्य विभाग है उनमें जो बड़ी-बड़ी अधिकारी निचले स्तर से लेकर हाई लेवल तक तो उनकी भी आपस में सांठगांठ है तथा जूही अच्छे प्रियंका काला धन विदेशों में तो है ही लेकिन उन्होंने अलग-अलग तौर-तरीके बना रखे बैंक में अकाउंट बना रखे अपने रिश्तेदार घर परिवार नौकरों के नाम पर या अपने गांव के किसी व्यक्ति के नाम पर कोई अपना आडोशी पड़ोसी या कोई जान पहचान वाला या किराए पर यह लोग लेकर उनके भी अकाउंट बना लेते हैं इनकम से अटैक से बचने के लिए और सबसे बड़ी बात यह है कि यह ऐसे लोग छोटे-छोटे एनजीओ खोल देते हैं और बाकी अंजू को भी दान दे देते हैं और धार्मिक कार्यों में यह पैसा ज्यादा लगाते हैं और लोग उनके बाबई करते कि वह क्या दान दाता रहेगी यह भामाशाह लेकिन यह सब उनका पीछे कोई ना कोई स्वार्थ छिपा रहता है वह दिल से ऐसा नहीं करते हैं बाकी आप समझदार है आप को सब पता है मोदी जी किसी को नहीं छोड़ेंगे धन्यवाद

jo bhi boloonga satya bataunga yeh jo aapne income ki baat ki hai 2014 15 ki report mein 32 baar kyon nahi 100 crore ka bataya baki ka mar gaya chup gaye toh aisa hai ki Andy ki sarkar hai mananiya modi ji ke netritva mein toh jab yeh saara sab kuch chal raha tha toh us waqt kya hai aapko main bata doon ki 20 se 25% neta aise hain jo andy mein hain toh unki aur jo chipe hue logo ki thodi santhaganth hai baki jo modi ji ki sarkar I aur is samay jo income tax department hai ya anya vibhag hai unmen jo badi badi adhikari nichle sthar se lekar high level tak toh unki bhi aapas mein santhaganth hai tatha juhi acche priyanka kala dhan videshon mein toh hai hi lekin unhone alag alag taur tarike bana rakhe bank mein account bana rakhe apne rishtedar ghar parivar naukaron ke naam par ya apne gaon ke kisi vyakti ke naam par koi apna adoshi padosi ya koi jaan pehchaan vala ya kiraye par yeh log lekar unke bhi account bana lete hain income se attack se bachne ke liye aur sabse badi baat yeh hai ki yeh aise log chote chhote ngo khol dete hain aur baki Anju ko bhi daan de dete hain aur dharmik karyo mein yeh paisa zyada lagate hain aur log unke babai karte ki wah kya daan data rahegi yeh bhamashah lekin yeh sab unka peeche koi na koi swarth chhipa rehta hai wah dil se aisa nahi karte hain baki aap samajhdar hai aap ko sab pata hai modi ji kisi ko nahi chodenge dhanyavad

जो भी बोलूंगा सत्य बताऊंगा यह जो आपने इनकम की बात की है 2014 15 की रिपोर्ट में 32 बार क्यो

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  601
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

SHIVAM s

Pursuing BBA, day dreamer

1:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप जैसा कुछ सवाल है जो बाकी लोग कैसे जीते हैं अब बाकी लोग अगर हमें अगर हमें यह पता होता कि बाकी लोग कैसे चुप रहेंगे अपने ग़म छिपाने के लोग बहुत सारे तरीके ढूंढ सकते हैं जैसे अभी और डिमांड अधिवेशन में कई बैंकों में शेर एकाउंट्स पकड़े गए हैं अलग नकली खाते खोल रखे हैं तो इसे डिवाइडर रखिया खातों में डालते रिश्तेदारों के नाम पर भी डाल सकते हैं वह कई खातों में डाल दिए एक साथ तो यह भी कर सकते हैं वह लोग के लिए ऐसे अन्य बहुत सारे तरीके होते हैं स्पेन से ज्यादा दिखा दिया है जैसे क्या कर रहे हैं एक्सपेंसिव ज्यादा दिखा दे तो इनसे भी क्या होता है की नजर में नहीं आते तो और बहुत सारे जो कह सकते हैं कि अभी पीछे गवर्मेंट सेकंडरी ऑफ पकड़े हैं यह सीट पेशंस को है बहार ऐसी चीज है लोग कर लेते हैं ताकि वह इनकम टैक्स नशे में ना आएं और अपना जो पैसा है वह पाठ में से पकड़ना पाय कुंडा डिपार्टमेंट कोई ऐसी चीजें ऑफ कर सकते हैं

aap jaisa kuch sawaal hai jo baki log kaise jeete hain ab baki log agar hamein agar hamein yah pata hota ki baki log kaise chup rahenge apne gam chipane ke log bahut saare tarike dhundh sakte hain jaise abhi aur demand adhiveshan mein kai bankon mein sher accounts pakde gaye hain alag nakli khate khol rakhe hain toh ise divider rakhiya khaaton mein daalte rishtedaron ke naam par bhi daal sakte hain vaah kai khaaton mein daal diye ek saath toh yah bhi kar sakte hain vaah log ke liye aise anya bahut saare tarike hote hain Spain se zyada dikha diya hai jaise kya kar rahe hain expensive zyada dikha de toh inse bhi kya hota hai ki nazar mein nahi aate toh aur bahut saare jo keh sakte hain ki abhi peeche government secondary of pakde hain yah seat Patience ko hai bahar aisi cheez hai log kar lete hain taki vaah income tax nashe mein na aaen aur apna jo paisa hai vaah path mein se pakadna paye kunda department koi aisi cheezen of kar sakte hain

आप जैसा कुछ सवाल है जो बाकी लोग कैसे जीते हैं अब बाकी लोग अगर हमें अगर हमें यह पता होता कि

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  13
WhatsApp_icon
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए यह बात बिल्कुल सही है कि 2014 15 में केवल 32 भारतीयों ने 100 करोड़ से ज्यादा इनकम की घोषणा की थी बाकी सब जो है उसको डिक्लेअर नहीं कर रहे तक इनकम टैक्स जो है उसको पकड़ना पाए और सरकार उसको प्रेस ना कर पाए इसलिए वो चुप रहे हो

dekhiye yah baat bilkul sahi hai ki 2014 15 mein keval 32 bharatiyon ne 100 crore se zyada income ki ghoshana ki thi baki sab jo hai usko declare nahi kar rahe tak income tax jo hai usko pakadna paye aur sarkar usko press na kar paye isliye vo chup rahe ho

देखिए यह बात बिल्कुल सही है कि 2014 15 में केवल 32 भारतीयों ने 100 करोड़ से ज्यादा इनकम की

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  3
WhatsApp_icon
user

Janak

An Enthusiastic Entrepreneur.

1:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज लुक छुप रहे थे तो जिन लोगों ने क्लीन किया तो वह तो ठीक है बट आई जो लोग चुप रहते अपने गम छुपा रहे थे वह भी सीख ली डिक्लेअर नहीं कर रहे थे अपने गम को डिक्लेअर नहीं करना है इस लाइक छुपा देना बेसिकली बताना नहीं कि हम कितना कमा रहे हैं उसके कई रास्ते हैं कैसे करते हैं काफी सारे रास्ते हैं जैसे की इंवेस्टमेंट कहीं छुप एक गलत नाम थ्रू इन्वेस्टमेंट करना या फिर आशीष बैंक में पैसे भर देना या फिर किस बात पर पैसे सेव करना है क्या नींद आ रहा साल अकाउंट बनाना फेरम हो सकता है कि वह एक और ट्रस्ट वगैरा कोई खोल दे एक स्कूल ट्रस्ट वगैरा या कॉल इंस्टिट्यूशनल ट्रस्ट एजुकेशनल ट्रस्ट वगैरा खोल देता कि वह दिखा सके कि पैसा कहा गया है और क्यों नहीं वह कहां से आ रहा है और उसका टैक्स कैसे भर रहे हैं काफी सारे जरिए अफ्रीकन जियो खोल सकती है कोई नॉन प्रॉफिट आर्गेनाईजेशन खोल सकते हैं और उस के थ्रू वह पैसा जन्म छुपा सकते हैं काफी सारे रास्ते हैं डिक्लेअर नहीं करने के और लोग लोगों के पास एक्चुअली मतलब हमारे इंडिया में लोग कितने एडवांस हैं कि उनको यह पता है कि उन्हें उन का पैसा कैसे छुपाना है उनका भी उनको बहुत अच्छे से पता है इसकी वजह की इसी की वजह से हमारे देश में सबसे ज्यादा काला धन पाया जाता है मतलब हमारे देश सबसे ज्यादा तो नहीं बड़ी काफी ज्यादा अमाउंट मध्यप्रदेश में भी होता रहेगा अरुण रॉबर्ट हमारे देश में काफी ज्यादा अमाउंट का है तो है ऐसे ही ऐसे ही ऐसे ही करते भारत भाजपा यह लोग जो छुपा छुपाते हैं यह लोग उन्होंने वह टाइम पर भी छुपा रहेगा 24.4 2015 में

aaj look chup rahe the toh jin logo ne clean kiya toh vaah toh theek hai but I jo log chup rehte apne gum chupa rahe the vaah bhi seekh li declare nahi kar rahe the apne gum ko declare nahi karna hai is like chupa dena basically bataana nahi ki hum kitna kama rahe hain uske kai raste hain kaise karte hain kaafi saare raste hain jaise ki investment kahin chup ek galat naam through investment karna ya phir aashish bank mein paise bhar dena ya phir kis baat par paise save karna hai kya neend aa raha saal account banana feram ho sakta hai ki vaah ek aur trust vagera koi khol de ek school trust vagera ya call instityushanal trust educational trust vagera khol deta ki vaah dikha sake ki paisa kaha gaya hai aur kyon nahi vaah kahaan se aa raha hai aur uska tax kaise bhar rahe hain kaafi saare jariye african jio khol sakti hai koi non profit organisation khol sakte hain aur us ke through vaah paisa janam chupa sakte hain kaafi saare raste hain declare nahi karne ke aur log logo ke paas actually matlab hamare india mein log kitne advance hain ki unko yah pata hai ki unhe un ka paisa kaise chupana hai unka bhi unko bahut acche se pata hai iski wajah ki isi ki wajah se hamare desh mein sabse zyada kaala dhan paya jata hai matlab hamare desh sabse zyada toh nahi badi kaafi zyada amount madhya pradesh mein bhi hota rahega arun robert hamare desh mein kaafi zyada amount ka hai toh hai aise hi aise hi aise hi karte bharat bhajpa yah log jo chupa chhupaate hain yah log unhone vaah time par bhi chupa rahega 24 4 2015 mein

आज लुक छुप रहे थे तो जिन लोगों ने क्लीन किया तो वह तो ठीक है बट आई जो लोग चुप रहते अपने गम

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!