हमारे देश में बेरोज़गारी खत्म हो गई?...


play
user

Sa Sha

Journalist since 1986

1:11

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे देश में यही एक सबसे बड़ी समस्या है बेरोजगारी जिस पर कोई भी राजनीतिक पार्टी करना तो कुछ दूर सोचती भी नहीं है विकास की बातें हो रही है रोजगार अवसर पैदा करने की बातें हो रही है पर रोजगार पैदा हो कहां रहे हैं और बिना रोजगार के विकास कैसे होगा हर साल पढ़े-लिखे बेरोजगारों की फौज खड़ी होती जा रही है मोदी राज में तो यह और भी बढ़ गई है इसका सबसे बड़ा कारण है नोटबंदी नोटबंदी के बाद बेरोजगारी की स्थिति और भी खराब हुई है चाहे वह संगठित क्षेत्र या असंगठित दोनों ही क्षेत्रों में बेरोजगारी की समस्या और भी बेकरार हुई है मंत्रालय के आंकड़े के अनुसार 30 मई रोजगार केंद्रों में पंजीकरण कराने वालों की संख्या 4 दर्द साल बढ़ रही है लेकिन रोजगार कि घट रही है बताया जा रहा है कि 1 फ़ीसदी से भी कम युवाओं को रोजगार केंद्रों के जरिए रोजगार मिल रहा है

hamare desh mein yahi ek sabse badi samasya hai berojgari jis par koi bhi raajnitik party karna toh kuch dur sochti bhi nahi hai vikas ki batein ho rahi hai rojgar avsar paida karne ki batein ho rahi hai par rojgar paida ho kahaan rahe hain aur bina rojgar ke vikas kaise hoga har saal padhe likhe berozgaron ki fauj khadi hoti ja rahi hai modi raj mein toh yah aur bhi badh gayi hai iska sabse bada karan hai notebandi notebandi ke baad berojgari ki sthiti aur bhi kharab hui hai chahen vaah sangathit kshetra ya asangathit dono hi kshetro mein berojgari ki samasya aur bhi bekarar hui hai mantralay ke aankade ke anusaar 30 may rojgar kendron mein panjikaran karane walon ki sankhya 4 dard saal badh rahi hai lekin rojgar ki ghat rahi hai bataya ja raha hai ki 1 fisadi se bhi kam yuvaon ko rojgar kendron ke jariye rojgar mil raha hai

हमारे देश में यही एक सबसे बड़ी समस्या है बेरोजगारी जिस पर कोई भी राजनीतिक पार्टी करना तो क

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  20
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Shubham

Software Engineer in IBM

1:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं सर हमारे देश में आज भी बेरोजगारी खत्म नहीं हुई है और यह आज भी है और इस दिन पर दिन बढ़ती ही जा रही है कम नहीं हो रही इसके बहुत सारे कारण है छोटे और बड़े दोनों ही कारणों से बढ़ती जनसंख्या और बढ़ती जनसंख्या के हिसाब से नहीं हो रही है इससे बेरोजगारी हो रही है अपने भारत में दूषित क्वालिटी एजुकेशन बेरोजगारी लोग पढ़े लिखे होते हैं फिर भी वो लोग बेरोजगार होते हैं उनकी पढ़ाई की है वह बहुत क्वालिटी वाली नहीं है उन्होंने कभी क्वालिटी पढ़ाई नहीं की वह बस पास हो गए और अच्छे नंबर लेकर आए लेकिन उनमें वह नहीं आए उनको सही में चाहिए तो आप भी बेरोजगार हो जाते हैं जिसमें आपको बताओ जैसे होते हैं उनकी जो फसल होती है उसके बाद बेरोजगार हो जाते हैं तो वह भी बेरोजगारी श्रेणी में आते हैं तो हाथ से काम करते थे करते हैं इंडस्ट्रीज ने जो जो पहले काम करते हैं उनकी जनसंख्या बहुत कम कर दिया तो आप सोचिए इससे भी बेरोजगारी बढ़ी है ऐसी सोच नहीं है किंतु क्वालिटी एजुकेशन है वह दीजिए जानी चाहिए और जनसंख्या जनसंख्या को कंट्रोल किया जाना चाहिए और कुछ रिजल्ट है

nahi sir hamare desh mein aaj bhi berojgari khatam nahi hui hai aur yah aaj bhi hai aur is din par din badhti hi ja rahi hai kam nahi ho rahi iske bahut saare karan hai chote aur bade dono hi karanon se badhti jansankhya aur badhti jansankhya ke hisab se nahi ho rahi hai isse berojgari ho rahi hai apne bharat mein dushit quality education berojgari log padhe likhe hote hain phir bhi vo log berozgaar hote hain unki padhai ki hai vaah bahut quality wali nahi hai unhone kabhi quality padhai nahi ki vaah bus paas ho gaye aur acche number lekar aaye lekin unmen vaah nahi aaye unko sahi mein chahiye toh aap bhi berozgaar ho jaate hain jisme aapko batao jaise hote hain unki jo fasal hoti hai uske baad berozgaar ho jaate hain toh vaah bhi berojgari shreni mein aate hain toh hath se kaam karte the karte hain industries ne jo jo pehle kaam karte hain unki jansankhya bahut kam kar diya toh aap sochiye isse bhi berojgari badhi hai aisi soch nahi hai kintu quality education hai vaah dijiye jani chahiye aur jansankhya jansankhya ko control kiya jana chahiye aur kuch result hai

नहीं सर हमारे देश में आज भी बेरोजगारी खत्म नहीं हुई है और यह आज भी है और इस दिन पर दिन बढ़

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  57
WhatsApp_icon
user

Vatsal

Engineering Student

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी नहीं आप का सवाल जो है बेरोजगारी खत्म हो गए बिल्कुल बेरोजगारी खत्म नहीं हुई बेरोजगारी और ज्यादा बढ़ गई है सरकार ने जितने भी रोजगार के वादे किए थे रोजगारी उतनी बिल्कुल नहीं मिली है जो रोजगार इंपैक्ट एंप्लॉयमेंट जॉब्स जॉब्स वर्क रहे हैं वह काफी हद तक गिरावट आई है उनमे तो इस वजह से बेरोजगारी काफी बढ़ गई है जितने इंजीनियरिंग कॉलेजेस बकरी कॉलेज में बच्चे बच्चे को एड्मिशन सबको एंप्लॉयमेंट जे2 नहीं हो पा रहा है कंपनी जो है वह लिमिटेड ले रही है और बाकी बेरोजगारी के नए साधन भी सेंड नहीं हो रहा है तो बेरोजगारी

ji nahi aap ka sawaal jo hai berojgari khatam ho gaye bilkul berojgari khatam nahi hui berojgari aur zyada badh gayi hai sarkar ne jitne bhi rojgar ke waade kiye the rojgari utani bilkul nahi mili hai jo rojgar impact employment jobs jobs work rahe hain vaah kaafi had tak giraavat I hai unme toh is wajah se berojgari kaafi badh gayi hai jitne Engineering colleges bakri college mein bacche bacche ko admission sabko employment je nahi ho paa raha hai company jo hai vaah limited le rahi hai aur baki berojgari ke naye sadhan bhi send nahi ho raha hai toh berojgari

जी नहीं आप का सवाल जो है बेरोजगारी खत्म हो गए बिल्कुल बेरोजगारी खत्म नहीं हुई बेरोजगारी और

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  14
WhatsApp_icon
user

Ridhima

Mass Communications Student

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देश में बेरोजगारी खत्म नहीं हुई है आज बेरोजगारी की समस्या विकसित एवं अल्फा कैसेट दोनों प्रकार की अर्थव्यवस्था की प्रमुख समस्या बनती जा रही है भारत जैसी अल्पविकसित अर्थव्यवस्था में तो यह विस्फोटक रूप धारण किए हुए हैं भारत में इसका प्रमुख कारण जनसंख्या वृद्धि पूंजी की कमी आती है यह समस्या आधुनिक समय में युवा वर्ग के लिए घोर निराशा का कारण बनी हुई है

desh mein berojgari khatam nahi hui hai aaj berojgari ki samasya viksit evam alpha kaiset dono prakar ki arthavyavastha ki pramukh samasya banti ja rahi hai bharat jaisi alpviksit arthavyavastha mein toh yah vishphotak roop dharan kiye hue hain bharat mein iska pramukh karan jansankhya vriddhi punji ki kami aati hai yah samasya aadhunik samay mein yuva varg ke liye ghor nirasha ka karan bani hui hai

देश में बेरोजगारी खत्म नहीं हुई है आज बेरोजगारी की समस्या विकसित एवं अल्फा कैसेट दोनों प्र

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  20
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!