एनएसजी क्या है? और भारत क्यों इसमें शामिल होना चाहता है?...


user

Ishita Seth

Obstinate Programmer

1:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए नरसी का मतलब होता है न्यूक्लियर सप्लायर ग्रुप 10 कंट्रीज का एक ग्रुप है जो कि जिस जिस का यह काम है कि वह निकले थे जो निकले टेक्नोलॉजी है दुनिया एनर्जी है वह प्रोवाइड करें सिर्फ एक उतनी ही लेवल पर जितनी जरूरत है यह बिल्कुल दावा करता है कि जो निकले टेक्नोलॉजीज है जो निकले वेपन है वह कहीं भी पूरे वर्ल्ड में बहुत ज्यादा ना बने दुनिया के खत्म हो जाएगा किसी एक देश को बहुत ज्यादा नुकसान होता है तो इसलिए यह ग्रुप फॉर्म हुआ था और यह ग्रुप का मेंबर बनने से इंडिया को बहुत ही ज्यादा एडवांटेज मिलेगा हालांकि देखा था तो चीन बाद ही नहीं आ रहा है मैं अब बिल्कुल एग्री नहीं कर रहा कि एन एस जी का एक मेंबर इंडिया वन पाए और देखा जाए तो अमेरिका और चीन जैसे देश बिल्कुल एग्री करते हैं इस बात पर लेकिन सीन एक ऐसा देश है जो अपनी हरकतों से अपने डिसीजन से

dekhiye narasi ka matlab hota hai nuclear supplier group 10 countries ka ek group hai jo ki jis jis ka yah kaam hai ki vaah nikle the jo nikle technology hai duniya energy hai vaah provide kare sirf ek utani hi level par jitni zarurat hai yah bilkul daawa karta hai ki jo nikle technologies hai jo nikle weapon hai vaah kahin bhi poore world mein bahut zyada na bane duniya ke khatam ho jaega kisi ek desh ko bahut zyada nuksan hota hai toh isliye yah group form hua tha aur yah group ka member banne se india ko bahut hi zyada advantage milega halaki dekha tha toh china baad hi nahi aa raha hai ab bilkul agree nahi kar raha ki N s ji ka ek member india van paye aur dekha jaaye toh america aur china jaise desh bilkul agree karte hain is baat par lekin seen ek aisa desh hai jo apni harkaton se apne decision se

देखिए नरसी का मतलब होता है न्यूक्लियर सप्लायर ग्रुप 10 कंट्रीज का एक ग्रुप है जो कि जिस जि

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  137
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

1:31

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी हमारे देश की न्यूक्लियर सप्लायर ग्रुप में शामिल होने की बातें बहुत पहले से चल रही है यदि ऐसा होता है हमारे देश का न्यूक्लियर सप्लायर ग्रुप में शामिल होता है तो विश्व कानून शासनादेश होगा जो न्यूक्लियर सप्लायर ग्रुप में शामिल है हलाकि चाइना इसका हमेशा से विरोध करता है दूसरा मैं कहना चाहूंगा जिस प्रकार हमारे देश के अंदर ऊर्जा की खपत बढ़ रही है जिसके अंदर पॉपुलेशन बढ़ रही है तो निकले सप्लाई ग्रुप में शामिल होने से बहुत ज्यादा फायदा होगा इस देश के अंदर जो एनर्जी है न्यूक्लियर एनर्जी हम यूज करेंगे उसमें किसी प्रकार की कोई रुकावट नहीं आएगी फॉर example किसी कब जब हमको निकले मुझे प्रोड्यूस करनी होती है तो उसके लिए यूरेनियम की आवश्यकता होती है और यूरेनियम की आवश्यकता के लिए हम जो भी इस ग्रुप के मेंबर्स होंगे उनसे विद आउट किसी एग्रीमेंट कि हमने यूरेनियम पा सकते हैं इसके अलावा जो एनर्जी है एनर्जी को प्रोड्यूस करने के लिए डिफरेंट टेक्नोलॉजीज है उसका भी प्रयोग हम दूसरे कंट्री से ले सकते हैं किसी अग्रीमेंट के दूसरा मैं कहना चाहूंगा कि जिस प्रकार हमारे देश के लिए निकले हैं जी की आवश्यकता हो रही है और उस को प्रोड्यूस किया जा रहा है तो उसका तो उसको डिस्पैच करने में प्रॉब्लम हो रही है तो डिस्पोज करने के लिए यानी जो न्यूक्लियर प्लांट के अंदर जो निकलने वाला जो कचरा है उसको गर्म डिस्पोज करना चाहते हैं तो उस जो सदस्य देश होंगे वह भी हमारे देश को मदद प्रोवाइड कर आएंगे तो मुझे लगता है कि अगर इंडिया हिंदी प्लेयर सप्लायर ग्रुप में शामिल होता है तो डेफिनेटली बहुत अच्छी बात होगी हमारे देश के लिए

vicky hamare desh ki nuclear supplier group mein shaamil hone ki batein bahut pehle se chal rahi hai yadi aisa hota hai hamare desh ka nuclear supplier group mein shaamil hota hai toh vishwa kanoon shasnadesh hoga jo nuclear supplier group mein shaamil hai halaki china iska hamesha se virodh karta hai doosra main kehna chahunga jis prakar hamare desh ke andar urja ki khapat badh rahi hai jiske andar population badh rahi hai toh nikle supply group mein shaamil hone se bahut zyada fayda hoga is desh ke andar jo energy hai nuclear energy hum use karenge usme kisi prakar ki koi rukavat nahi aayegi for example kisi kab jab hamko nikle mujhe produce karni hoti hai toh uske liye uranium ki avashyakta hoti hai aur uranium ki avashyakta ke liye hum jo bhi is group ke members honge unse with out kisi Agreement ki humne uranium paa sakte hain iske alava jo energy hai energy ko produce karne ke liye different technologies hai uska bhi prayog hum dusre country se le sakte hain kisi Agreement ke doosra main kehna chahunga ki jis prakar hamare desh ke liye nikle hain ji ki avashyakta ho rahi hai aur us ko produce kiya ja raha hai toh uska toh usko dispatch karne mein problem ho rahi hai toh dispose karne ke liye yani jo nuclear plant ke andar jo nikalne vala jo kachra hai usko garam dispose karna chahte hain toh us jo sadasya desh honge vaah bhi hamare desh ko madad provide kar aayenge toh mujhe lagta hai ki agar india hindi player supplier group mein shaamil hota hai toh definetli bahut achi baat hogi hamare desh ke liye

विकी हमारे देश की न्यूक्लियर सप्लायर ग्रुप में शामिल होने की बातें बहुत पहले से चल रही है

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  206
WhatsApp_icon
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए एनर्जी लाने की न्यूक्लियर सप्लायर ग्रुप 108 कंफ्यूज का एक ग्रुप है जो कि इंजॉय करता है नॉन पोलीस स्टेशन यानी कि जो X ना हो जाए न्यूक्लियर वेपंस का न्यू प्ले टेक्नोलॉजी का कहीं भी पूरे वर्ल्ड में को क्या फायदा होगा एनएससी का मेंबर बन के तो वह कुछ रीजन यह है कि अगर हमें वह टेक्नोलॉजी मिल जाती है हम एनएसजी में शामिल हो जाते तो हमें ऐसे टेक्नॉलॉजी मिल जाएगी कि हम अपना पावर प्लांट अपने कंट्री में लगा सकेंगे इंडिया के पास इंडिया के टेक्नोलॉजीज़ तो है लेकिन चैनल जी के पास के टेक्नोलॉजीज़ है न्यूक्लियर को लेकर वह इंडिया के पास अभी नहीं है अगर मैं मर गया तो पूछा टेक्नॉलॉजी सिंधिया को मिल जाएंगी तुसी पाती होगी कि अगर इंडिया चाहता है कि वह ऐसे न जी पर डिपेंडेंट रहे जो रिन्यूएबल गाने की दोबारा दोबारा यूज़ सुखी और क्लीन हूं यानी कि पोलूशन ज्यादा ना हो उसके लिए न्यूक्लियर पावर प्रोडक्शन की जरूरत है जो एनर्जी का मेंबर बनने के बाद ही निया को मिल पाएगी और मैं बोलूंगी कि 2819 जो मेरे में यह मिल जाते हैं तो इससे इंडिया जो है उसे कमर्शियल आइस कर सकता है जिसकी वजह से और जो प्रोडक्शन न्यूक्लियर पावर इक्विपमेंट की वह पट जाएगी और हमारी जो इकॉनॉमी है उसे बहुत बड़ा बूस्ट मिलेगा कंट्री की को नाम में को और छुप कर सकते हैं वह यह कि जो हारा मेक इन इंडिया शुरू हुआ है अभी मैं किंगडम बोल सेकेंडरी स्टार्ट किया है उसको बहुत ही ज्यादा एक पंप मिलेगा न्यूक्लियर एनर्जी में शामिल होने के बाद क्योंकि न्यूक्लियर पावर प्लांट किसी कंट्री में हूं ना वह काफी इंपॉर्टेंट बात हो जाती है हमारी कंट्री की एक अलग पहचान हो जाएगी एनएसजी में शामिल होने के बाद इसीलिए मोदी सरकार इतना कोशिश कर रही है नसीब में शामिल होने को

dekhiye energy lane ki nuclear supplier group 108 confuse ka ek group hai jo ki enjoy karta hai non police station yani ki jo X na ho jaaye nuclear weapons ka new play technology ka kahin bhi poore world mein ko kya fayda hoga NSC ka member ban ke toh vaah kuch reason yah hai ki agar hamein vaah technology mil jaati hai hum nsg mein shaamil ho jaate toh hamein aise technology mil jayegi ki hum apna power plant apne country mein laga sakenge india ke paas india ke teknolajiz toh hai lekin channel ji ke paas ke teknolajiz hai nuclear ko lekar vaah india ke paas abhi nahi hai agar main mar gaya toh poocha technology sindhiya ko mil jayegi tusi pati hogi ki agar india chahta hai ki vaah aise na ji par dependent rahe jo renewable gaane ki dobara dobara use sukhi aur clean hoon yani ki pollution zyada na ho uske liye nuclear power production ki zarurat hai jo energy ka member banne ke baad hi niya ko mil payegi aur main bolungi ki 2819 jo mere mein yah mil jaate hain toh isse india jo hai use commercial ice kar sakta hai jiski wajah se aur jo production nuclear power Equipment ki vaah pat jayegi aur hamari jo ikanami hai use bahut bada boost milega country ki ko naam mein ko aur chup kar sakte hain vaah yah ki jo hara make in india shuru hua hai abhi main kingdom bol secondary start kiya hai usko bahut hi zyada ek pump milega nuclear energy mein shaamil hone ke baad kyonki nuclear power plant kisi country mein hoon na vaah kaafi important baat ho jaati hai hamari country ki ek alag pehchaan ho jayegi nsg mein shaamil hone ke baad isliye modi sarkar itna koshish kar rahi hai nasib mein shaamil hone ko

देखिए एनर्जी लाने की न्यूक्लियर सप्लायर ग्रुप 108 कंफ्यूज का एक ग्रुप है जो कि इंजॉय करता

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  116
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

1:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए एनर्जी डेफिनिशन सप्लायर ग्रुप है यह कर ताली दो देशों का एक ग्रुप है जो कि 1974 के बाद बना था उसका बनने का मेन कारण इस प्रकार से भारत में रहने के लिए टेस्ट कर रहा था तो उसके बाद में मैं आ नहीं पाऊंगा क्योंकि मेरी मैं तेरा क्या है टाइम कितना लगता है कि मुझे बीच में शामिल हुए शामिल होने के कितने ग्रुप के एक मेंबर हो तो खाना खाकर आपको बोल है इस एक्ट्रेस मिलेगा और जितनी भी सारी लेटेस्ट टेक्नोलॉजी Nokia मेडिसिन में हो या Paytm बनाने में हो तो खाना खाकर भारत को लगता है कि अगर वह भी शामिल होता है मोदी जी यह करने का मिलेगी और उससे जो है भारत और की प्रगतिशील सही नहीं बता रहा हूं हंसी चीज पर आमादा जिम्मेदारी अकरम कैसे कम करने की सोच रहा है भारत को दीवार की टेक्नोलॉजी के सामने भारत को दक्षिण भारत में नहीं हो पा रही है

dekhiye energy definition supplier group hai yah kar tali do deshon ka ek group hai jo ki 1974 ke baad bana tha uska banne ka main karan is prakar se bharat mein rehne ke liye test kar raha tha toh uske baad mein main aa nahi paunga kyonki meri main tera kya hai time kitna lagta hai ki mujhe beech mein shaamil hue shaamil hone ke kitne group ke ek member ho toh khana khakar aapko bol hai is actress milega aur jitni bhi saree latest technology Nokia medicine mein ho ya Paytm banane mein ho toh khana khakar bharat ko lagta hai ki agar vaah bhi shaamil hota hai modi ji yah karne ka milegi aur usse jo hai bharat aur ki pragatisheel sahi nahi bata raha hoon hansi cheez par amada jimmedari akram kaise kam karne ki soch raha hai bharat ko deewaar ki technology ke saamne bharat ko dakshin bharat mein nahi ho paa rahi hai

देखिए एनर्जी डेफिनिशन सप्लायर ग्रुप है यह कर ताली दो देशों का एक ग्रुप है जो कि 1974 के बा

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  191
WhatsApp_icon
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एनएसजी यानी कि न्यूक्लियर सप्लायर ग्रुप और यह एक ऐसा ग्रुप है जिसकी स्थापना 1974 में हुई थी एनएसजी में अमेरिका रूस फ्रांस और चीन समेत 48 सदस्य हैं इनका मकसद यह है कि परमाणु हथियार के प्रसार को रोका जाए इसके अलावा शांतिपूर्ण काम के लिए ही परमाणु सामग्री और जो भी तकनीक है या टेक्नोलॉजी है उसकी सप्लाई की जाए न्यूक्लियर सप्लायर ग्रुप आम सहमति से काम करता है सबसे अहम बात यह है कि एनएसजी के सदस्य परमाणु अप्रसार संधि पर हस्ताक्षर करते हैं आपको यह भी बता देता हूं कि भारत ने अब तक एनपीटी पर हस्ताक्षर नहीं किया है हमारे देश में ऊर्जा की मांग पूरी करने के लिए भारत का न्यूक्लियर सप्लायर ग्रुप में प्रवेश जरूरी है अगर भारत को एनएसजी की सदस्यता मिल जाती है तू परमाणु तकनीक मिलने लगेगी परमाणु तकनीक के साथ भारत को यूरेनियम भी बिना किसी विशेष समझौते के मिलेगा इतना ही नहीं एनएसजी की मेंबरशिप मिलने पर परमाणु बिजली संयंत्रों के कचरे के निपटारे में भी सदस्य राष्ट्रों से मदद मिलेगी और फ्रांस की कंपनी एक जो है उसने महाराष्ट्र के जैतापुर में परमाणु बिजली प्लांट लगाने का प्लान करा है और वह लगा भी रही है और एक अमेरिकी कंपनी है जो कि गुजरात और आंध्र प्रदेश में परमाणु संयंत्र लगाने की तैयारी में है तो अगर भारत एनएसजी का सदस्य बन जाता है तो उसे आराम से और न्यूक्लीयर जो फीमेल है वह मिलने लगेगा तो इससे हमारे देश में जो ऊर्जा का संकट है वह आराम से दूर किया जा सकता है

nsg yani ki nuclear supplier group aur yah ek aisa group hai jiski sthapna 1974 mein hui thi nsg mein america rus france aur china samet 48 sadasya hain inka maksad yah hai ki parmanu hathiyar ke prasaar ko roka jaaye iske alava shantipurna kaam ke liye hi parmanu samagri aur jo bhi taknik hai ya technology hai uski supply ki jaaye nuclear supplier group aam sahmati se kaam karta hai sabse aham baat yah hai ki nsg ke sadasya parmanu aprasar sandhi par hastakshar karte hain aapko yah bhi bata deta hoon ki bharat ne ab tak NPT par hastakshar nahi kiya hai hamare desh mein urja ki maang puri karne ke liye bharat ka nuclear supplier group mein pravesh zaroori hai agar bharat ko nsg ki sadasyata mil jaati hai tu parmanu taknik milne lagegi parmanu taknik ke saath bharat ko uranium bhi bina kisi vishesh samjhaute ke milega itna hi nahi nsg ki membership milne par parmanu bijli sanyantron ke kachre ke niptare mein bhi sadasya rashtro se madad milegi aur france ki company ek jo hai usne maharashtra ke jaitapur mein parmanu bijli plant lagane ka plan kara hai aur vaah laga bhi rahi hai aur ek american company hai jo ki gujarat aur andhra pradesh mein parmanu sanyantra lagane ki taiyari mein hai toh agar bharat nsg ka sadasya ban jata hai toh use aaram se aur nyukliyar jo female hai vaah milne lagega toh isse hamare desh mein jo urja ka sankat hai vaah aaram se dur kiya ja sakta hai

एनएसजी यानी कि न्यूक्लियर सप्लायर ग्रुप और यह एक ऐसा ग्रुप है जिसकी स्थापना 1974 में हुई थ

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  225
WhatsApp_icon
user

Anukrati

Journalism Graduate

1:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

MSG या न्यूक्लियर सप्लायर ग्रुप में स्विट्जरलैंड ने भारत को शामिल होने की समर्थन दे दिए है अमेरिका पहले भी भारत का समर्थन कर चुका था चीन अभी भी अभी भारत की राह का रोड़ा बना हुआ है वह इस बात पर अड़ा हुआ है कि परमाणु अप्रसार संधि का सदस्य होना एनएसजी के सदस्य होने की मूल शर्त है और भारत में अब तक परमाणु अप्रसार संधि पर हस्ताक्षर नहीं किए हैं भारत के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने कहा है कि फ्रांस भी बिना एनपीटी पर हस्ताक्षर किए एनएसजी का सदस्य बना है चाइना का कहना है कि फ्रांस एनर्जी का संस्थापक सदस्य है भारत के पहले परमाणु परीक्षण के जवाब में एनएसजी का स्थान HD की स्थापना हुई इसका मकसद परमाणु हथियारों के प्रसार को रोकना है भारत की सदस्यता एनर्जी के लिए जरूरी है ऊर्जा की मांग पूरी करने के लिए इसमें प्रवेश धनु एनएसजी की सदस्यता मिलने से भारत को परमाणु तकनीक मिलेगी यूरेनियम भारत को बिना किसी समझौते के मिलेगा परमाणु संयंत्रों से निकलने वाले कचरे का निस्तारण करने में अन्य सदस्य देशों से सहायता मिलेगी परमाणु तकनीक व कच्चा माल ट्रांसफर करने में मदद मिलेगी

MSG ya nuclear supplier group mein Switzerland ne bharat ko shaamil hone ki samarthan de diye hai america pehle bhi bharat ka samarthan kar chuka tha china abhi bhi abhi bharat ki raah ka roda bana hua hai vaah is baat par ada hua hai ki parmanu aprasar sandhi ka sadasya hona nsg ke sadasya hone ki mul sart hai aur bharat mein ab tak parmanu aprasar sandhi par hastakshar nahi kiye hain bharat ke pravakta vikas swaroop ne kaha hai ki france bhi bina NPT par hastakshar kiye nsg ka sadasya bana hai china ka kehna hai ki france energy ka sansthapak sadasya hai bharat ke pehle parmanu parikshan ke jawab mein nsg ka sthan HD ki sthapna hui iska maksad parmanu hathiyaron ke prasaar ko rokna hai bharat ki sadasyata energy ke liye zaroori hai urja ki maang puri karne ke liye isme pravesh dhanu nsg ki sadasyata milne se bharat ko parmanu taknik milegi uranium bharat ko bina kisi samjhaute ke milega parmanu sanyantron se nikalne waale kachre ka nistaaran karne mein anya sadasya deshon se sahayta milegi parmanu taknik va kaccha maal transfer karne mein madad milegi

MSG या न्यूक्लियर सप्लायर ग्रुप में स्विट्जरलैंड ने भारत को शामिल होने की समर्थन दे दिए है

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  195
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!