आखिर सरकार किसान बिल वापस क्यों नहीं दे रहे हैं?...


user

Purushottamdas Kisanlalji Bagdi

Social Worker , Sansthapak Janadhikar Bachao Paksha

6:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा है वह कल के जरिए वह आखिर सरकार किसान बिल वापस क्यों नहीं दे रहे हैं ऐसा प्रश्न को सरकार क्यों नहीं दे रहा है बिल वापस क्यों नहीं ले रहे हैं इसके प्रति आपको जानकारी है होगी ऐसा मुझे लगता है फिर भी आप मुझे पूछ रहे हो ऐसा मुझे लग रहा है पर मैं मानता हूं आप कोई जानकारी नहीं है तो मैं शर्ट में जानकारी दूंगा जब क्यों वापस नहीं हो रहा है ऐसी बनाई गई है व्यवस्था से बनाई है देश में सरकार जो भी बिल बनाती है जो भी बुलाती है जो भी संसद में प्रस्ताव लाया संशोधन लाती है फिर वह संविधान में अधिनियम बनके दर्ज होते हैं शासक के द्वारा सरकार क्यों वापस नहीं ले रही है वह इसलिए वापस नहीं ले रही है कि जो जो संविधान में संविधान में जाने देना है या नहीं देना है काबिल ऐसा प्रस्ताव शासन को यह काम जो करता था सन 70 तक के सन 1977 में जो यह काम करता था मैं क्या बोल रहा हूं वह बिल संविधान में उसको दर्ज कराना या नहीं कराना जिसका काम था शासक का 77 तब उसको पावर थी वह पावर सोने का तर में तीसरी दृष्टि लाकर के संसद में उसकी पावर निकाल ली गई है धान में संविधान और संरक्षक दोनों दोनों के दोनों सत्ता के हाजिर हो गए हैं अब सत्ता में लाया और बीज रोकने वाला कोई नहीं हटाया गया उसको किया गया उसको पावर किया गया अब सत्ता जो प्रस्ताव करेगी वह प्रस्ताव संविधान में जाएगा राष्ट्रपति शासन हुआ है उस दिन करने करने से उसको आंख मीच के प्रस्ताव की पर साइन करना पड़ता शासक के नाम से हमें जो भी काम शासन करता है वह सत्ता कर रही है प्रशासक के नाम से हो रहा है अब बात को समझो मेरा सारे के सारे अधिकार की पूजा एक प्राइम मिनिस्टर इसके लिए अब जो भी प्रस्ताव सरकार लेगी संताली कि जो भी सत्तार निर्माण करते इसमें गलती हमारी है कि हमने सत्ता तापन करना है सत्ता निर्माण करना है तो उनके हाथ में हमारा जय मामा हमें देना चाहिए हमारा एक जाए नाम रहेगा आपको यह करना पड़ेगा तभी हम आपके साथ में आते तो हमारा हम नुमाइंदा खड़ा करेंगे यह भूमिका में जनता ने आने की आवश्यकता है अभी-अभी आप की लड़ाई लड़ रहे हो कैसा है जैसा वह प्रस्तावना जाने के लिए रुकावट थी वह देख सकता था उसको उसको विद्वत्ता सैयां मारे गए उसको हटाया गया और संविधान में प्रस्ताव वापस नहीं ले रहा है बताओ आए और वह शासक के बाजू में हटाया गया सुनसान में बनाने वाले सरकार के द्वारा बनने वाला जो प्रस्ताव संविधान में जा रहा है यह नहीं होना चाहिए कि सरकार द्वारा किए थे जो सत्ता में अभी हेलो जिसकी भी सकता हो हमारे देश की है पर अब बाहर के देश के लोगों के नहीं है उनका यह काम था वह दृष्टि उल्लू सीधा करके वह प्रस्ताव लाकर के और संशोधन के राष्ट्रपति को सत्ता में दी हुई है उसके पावर श्रीदेवी उसको वापस देने के लिए सत्ता में आना जाना था या सत्ता में भेजा गया ऐसा उसका कुछ टाइप कर दे भैया हमारा कि हम उसके प्रति जागरुक नहीं है अब वह निर्णय निर्णय लेने के लिए हम लायक नहीं बनाया अभी और यह जानना मत देने के पात्र नहीं बने इसलिए ऐसा हुआ है तो अब एक ही जरिया इसमें है मैं आपको बताता हूं कि जो सत्ता है जो भी जो मिलाया है जो जो भी आज तक के सन 50 से जो भी प्रस्ताव संविधान में आए हुए संशोधन आए हुए हैं यह संशोधन सत्ता के हित में आए हुए हैं और सत्ता का हिट पूरा करने के लिए जो बड़े अमीर लोग हैं कंपनी हैं मैं उनके खिलाफ नहीं बोलता है हमारी गलती है वह कंपनियों द्वारा जारी है तो अभी आपका हमारा कर्तव्य है यह सारे के सारे जो भी संशोधन हुए हैं उसमें हमारे खिलाफ संशोधन है केवल सट्टा कितने कौन से हमारा नुकसान करना लोकतंत्र धर्म प्रशंसा पक्ष में बांधने का काम यह बाजी में हटा के हमको शादी में लेना पड़ेगा तब कहीं जाकर के हमारी पहली पीढ़ी बर्बाद हो गई दूसरी पीढ़ी बर्बाद हो गई इसके बाद दम तोड़ रही है अब चौथी बचाने के लिए सारे जनता में एक होकर के चौथे बचाने के लिए मैं प्रार्थना करता हूं और आपने पूछा है मुझे तो क्यों नहीं पीछे ले रहे हो तो देने का कारण क्या भारी मुझे उस लायक समझा धन्यवाद

aapne poocha hai vaah kal ke jariye vaah aakhir sarkar kisan bill wapas kyon nahi de rahe hain aisa prashna ko sarkar kyon nahi de raha hai bill wapas kyon nahi le rahe hain iske prati aapko jaankari hai hogi aisa mujhe lagta hai phir bhi aap mujhe puch rahe ho aisa mujhe lag raha hai par main maanta hoon aap koi jaankari nahi hai toh main shirt me jaankari dunga jab kyon wapas nahi ho raha hai aisi banai gayi hai vyavastha se banai hai desh me sarkar jo bhi bill banati hai jo bhi bulati hai jo bhi sansad me prastaav laya sanshodhan lati hai phir vaah samvidhan me adhiniyam banke darj hote hain shasak ke dwara sarkar kyon wapas nahi le rahi hai vaah isliye wapas nahi le rahi hai ki jo jo samvidhan me samvidhan me jaane dena hai ya nahi dena hai kaabil aisa prastaav shasan ko yah kaam jo karta tha san 70 tak ke san 1977 me jo yah kaam karta tha main kya bol raha hoon vaah bill samvidhan me usko darj krana ya nahi krana jiska kaam tha shasak ka 77 tab usko power thi vaah power sone ka tar me teesri drishti lakar ke sansad me uski power nikaal li gayi hai dhaan me samvidhan aur sanrakshak dono dono ke dono satta ke haazir ho gaye hain ab satta me laya aur beej rokne vala koi nahi hataya gaya usko kiya gaya usko power kiya gaya ab satta jo prastaav karegi vaah prastaav samvidhan me jaega rashtrapati shasan hua hai us din karne karne se usko aankh mich ke prastaav ki par sign karna padta shasak ke naam se hamein jo bhi kaam shasan karta hai vaah satta kar rahi hai prashasak ke naam se ho raha hai ab baat ko samjho mera saare ke saare adhikaar ki puja ek prime minister iske liye ab jo bhi prastaav sarkar legi santali ki jo bhi sattar nirmaan karte isme galti hamari hai ki humne satta tapan karna hai satta nirmaan karna hai toh unke hath me hamara jai mama hamein dena chahiye hamara ek jaaye naam rahega aapko yah karna padega tabhi hum aapke saath me aate toh hamara hum numainda khada karenge yah bhumika me janta ne aane ki avashyakta hai abhi abhi aap ki ladai lad rahe ho kaisa hai jaisa vaah prastavna jaane ke liye rukavat thi vaah dekh sakta tha usko usko vidwatta saiyan maare gaye usko hataya gaya aur samvidhan me prastaav wapas nahi le raha hai batao aaye aur vaah shasak ke baju me hataya gaya sunsaan me banane waale sarkar ke dwara banne vala jo prastaav samvidhan me ja raha hai yah nahi hona chahiye ki sarkar dwara kiye the jo satta me abhi hello jiski bhi sakta ho hamare desh ki hai par ab bahar ke desh ke logo ke nahi hai unka yah kaam tha vaah drishti ullu seedha karke vaah prastaav lakar ke aur sanshodhan ke rashtrapati ko satta me di hui hai uske power sridevi usko wapas dene ke liye satta me aana jana tha ya satta me bheja gaya aisa uska kuch type kar de bhaiya hamara ki hum uske prati jagruk nahi hai ab vaah nirnay nirnay lene ke liye hum layak nahi banaya abhi aur yah janana mat dene ke patra nahi bane isliye aisa hua hai toh ab ek hi zariya isme hai main aapko batata hoon ki jo satta hai jo bhi jo milaya hai jo jo bhi aaj tak ke san 50 se jo bhi prastaav samvidhan me aaye hue sanshodhan aaye hue hain yah sanshodhan satta ke hit me aaye hue hain aur satta ka hit pura karne ke liye jo bade amir log hain company hain main unke khilaf nahi bolta hai hamari galti hai vaah companion dwara jaari hai toh abhi aapka hamara kartavya hai yah saare ke saare jo bhi sanshodhan hue hain usme hamare khilaf sanshodhan hai keval satta kitne kaun se hamara nuksan karna loktantra dharm prashansa paksh me bandhne ka kaam yah baazi me hata ke hamko shaadi me lena padega tab kahin jaakar ke hamari pehli peedhi barbad ho gayi dusri peedhi barbad ho gayi iske baad dum tod rahi hai ab chauthi bachane ke liye saare janta me ek hokar ke chauthe bachane ke liye main prarthna karta hoon aur aapne poocha hai mujhe toh kyon nahi peeche le rahe ho toh dene ka karan kya bhari mujhe us layak samjha dhanyavad

आपने पूछा है वह कल के जरिए वह आखिर सरकार किसान बिल वापस क्यों नहीं दे रहे हैं ऐसा प्रश्न क

Romanized Version
Likes  35  Dislikes    views  1715
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!