क्या आप बता सकते है IAS अफ़सर की पहली प्राथमिकता क्या होती हैं?...


user

Awdhesh Singh

Former IRS, Top Quora Writer, IAS Educator

0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पप्पू IAS ऑफिसर जो अपॉइंट होते हैं वह अलग अलग जगह पर पहुंच सकते हैं ज्यादातर लोग यह IAS ऑफिसर का मतलब समझते हैं डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट लेकिन हकीकत की बात यह है कि एक IAS ऑफिसर 35 साल के टेंडर में करीब करीब 2 साल तक की डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट रहता है इसके अलावा एसडीएम की तरफ होता है और उसकी ज्यादातर जो पोस्टिंग होती है वह सेक्रेटरी के अंदर होती है तो जयपुर डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट रहता है तो डिस्ट्रिक्ट के हेड रहता है और सारी चीजों के लिए उसकी रेस्पोंसिबिलिटी कहती है सेटलमेंट हो जाए लाल आर्डर हो और इस तरीके के सारे काम उसको देखने होते हैं वह आता है या फिर जॉब फॉर सिक्योरिटी चीफ सेक्रेटरी कहलाता है और इस के दौरान 200 बार सरकार की जो पॉलिसीस बनती है रूस बनते हैं रेगुलेशन समझते हैं इसके बारे में उसको जो है वह बनाना पड़ता है तो वह एक तरीके से जो पॉलिटिशंस होते हैं जो मिनिस्टर होते हैं उनको हेल्प करते हैं तो मुझे उम्मीद है कि आप को यह समझ में आया होगा थैंक यू वेरी मच

pappu IAS officer jo appoint hote hain wah alag alag jagah par pohch sakte hain jyadatar log yeh IAS officer ka matlab samajhte hain district magistrate lekin haqiqat ki baat yeh hai ki ek IAS officer 35 saal ke tender mein karib karib 2 saal tak ki district magistrate rehta hai iske alava sdm ki taraf hota hai aur uski jyadatar jo posting hoti hai wah secretary ke andar hoti hai to jaipur district magistrate rehta hai to district ke head rehta hai aur saree chijon ke liye uski responsibiliti kahti hai settlement ho jaye laal order ho aur is tarike ke sare kaam usko dekhne hote hain wah aata hai ya phir job for Security chief secretary kehlata hai aur is ke dauran 200 baar sarkar ki jo policies banti hai rus chahiye bante hain regulation samajhte hain iske baare mein usko jo hai wah banana padata hai to wah ek tarike se jo politicians hote hain jo minister hote hain unko help karte hain to mujhe ummid hai ki aap ko yeh samajh mein aaya hoga thank you very mach

पप्पू IAS ऑफिसर जो अपॉइंट होते हैं वह अलग अलग जगह पर पहुंच सकते हैं ज्यादातर लोग यह IAS ऑफ

Romanized Version
Likes  44  Dislikes    views  881
WhatsApp_icon
11 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Abhishek Ranjan

Trainee IAS

1:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्राथमिकता होती है उसकी कानून कानून व्यवस्था लॉयन ऑर्डर अगर वही खराब रहा तो फिर कोई भी विकास का काम नहीं हो पाएगा सबसे पहले कानून व्यवस्था करना है उसके बाद अगर कोई आपदा आ गया डिजास्टर आ गया तो उसको उसको संभालना है यह राहत कार्य हो बचाव कार्य हो जाए उसके बाद जो रिहैबिलिटेशन जो पूरा चलता है उसकी जिम्मेदारी होती है उसके बाद उसको पूरा विकास की काम होती है जितने सारे सड़क बनवाना हो या जो भी हो अगर आप की कानून व्यवस्था खराब हो गई तो फिर कोई भी अधिकारी नहीं हो पाएगा जब संकट आता है अगर आ गया तो उसके लिए सबसे ज्यादा प्रायरिटी डिजास्टर को राहत बचाव कार्य कराना कराना सबसे अधिक होता है जिला का विकास तो उसके जिम्मेदारी रहती है समय समय के अनुसार उसकी जो प्रायरिटी होती होती रहती है

prathamikta hoti hai uski kanoon kanoon vyavastha lion order agar wahi kharab raha toh phir koi bhi vikas ka kaam nahi ho payega sabse pehle kanoon vyavastha karna hai uske baad agar koi aapda aa gaya disaster aa gaya toh usko usko sambhaalna hai yeh rahat karya ho bachav karya ho jaye uske baad jo rehabilitation jo pura chalta hai uski jimmedari hoti hai uske baad usko pura vikas ki kaam hoti hai jitne saare sadak banwana ho ya jo bhi ho agar aap ki kanoon vyavastha kharab ho gayi toh phir koi bhi adhikari nahi ho payega jab sankat aata hai agar aa gaya toh uske liye sabse zyada priority disaster ko rahat bachav karya karana karana sabse adhik hota hai jila ka vikas toh uske jimmedari rehti hai samay samay ke anusaar uski jo priority hoti hoti rehti hai

प्राथमिकता होती है उसकी कानून कानून व्यवस्था लॉयन ऑर्डर अगर वही खराब रहा तो फिर कोई भी विक

Romanized Version
Likes  145  Dislikes    views  1662
WhatsApp_icon
play
user

Manoranjan Behera (IRS)

IRS (INCOME TAX) -2018

1:52

Likes  257  Dislikes    views  4256
WhatsApp_icon
user

Rupesh Kr

Ass. Prof./Director - Aaruni IAS & Bpsc academy patna

1:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक आईएएस ऑफिसर की पहली प्राथमिकता होनी चाहिए भारतीय संविधान में लिखा हुआ है कि हमारा राज राज्य है जो है वह कल्याणकारी राज्य वेलफेयर स्टेट आईएस ऑफिसर की सबसे पहली प्राथमिकता है वेलफेयर स्टेट के कांसेप्ट को वह पूरा करें राज्य में जो अंतिम पंक्ति में खड़े हुए व्यक्ति जो गरीब हैं उनके लिए जो काम करें क्योंकि बेरासी जो है वह क्या करती हो जना का जो है अंतिम चरण में जो एग्जीक्यूशन है उनके हाथों में उतार एग्जीक्यूशन सही नहीं होगा सरकार तो योजनाएं बना देती हैं उसे लागू करा देती है कि अगर कुछ योजनाओं का एग्जीक्यूशन नहीं करें तो जो है हमारे अंतिम पंक्ति में खड़े हुए लोगों को कोई लाभ नहीं मिले जो आईएएस की तैयारी कर रहे जैसे हम यही कहना चाहेंगे कि आप अगर आईएस कैटरीन लेकर चल रहे हैं क्या मैं क्या रिप्लाई प्लीज करेंगे तो आप इस बात को भूल जाइए आपको जो है आपका कंट्री में आईएएस बनना तो साथ साथ एक और ड्रीम पार्लर शुरू कर दीजिए हमें जो है भारत के संविधान के जो लोकतांत्रिक गणराज्य की अवधारणाएं कल्याणकारी राज्य के सपनों को पूरा

ek IAS officer ki pehli prathamikta honi chahiye bharatiya samvidhan mein likha hua hai ki hamara raaj rajya hai jo hai wah kalyankari rajya welfare state ias officer ki sabse pehli prathamikta hai welfare state ke concept ko wah pura karein rajya mein jo antim pankti mein khade hue vyakti jo garib hain unke liye jo kaam karein kyonki berasi jo hai wah kya karti ho pariyojna ka jo hai antim charan mein jo egjikyushan hai unke hathon mein utar egjikyushan sahi nahi hoga sarkar toh yojanaye bana deti hain use laagu kara deti hai ki agar kuch yojnao ka egjikyushan nahi karein toh jo hai hamare antim pankti mein khade hue logo ko koi labh nahi mile jo IAS ki taiyari kar rahe jaise hum yahi kehna chahenge ki aap agar ias kaitrin lekar chal rahe kya main kya reply please karenge toh aap is baat ko bhul jaiye aapko jo hai aapka country mein IAS banana toh saath saath ek aur dream parlour shuru kar dijiye humein jo hai bharat ke samvidhan ke jo loktantrik ganrajya ki avdharnaen kalyankari rajya ke sapno ko pura

एक आईएएस ऑफिसर की पहली प्राथमिकता होनी चाहिए भारतीय संविधान में लिखा हुआ है कि हमारा राज र

Romanized Version
Likes  75  Dislikes    views  960
WhatsApp_icon
user

Rajveer

Career Counselor

1:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी सभी युवाओं का सपना होता है कि वह आईएस अपने और अपने भविष्य को उज्जवल बनाएं लेकिन मैं बताना चाहता हूं यह एक ऐसी सब्जी है जो अपनी तैयारी में समय मांग की है यह नहीं है कि जैसे एसएससी सीजीएल की तरह में दो से ढाई महीने की अच्छी सी तैयारी की और एग्जाम निकाल लिया इसमें आपको कम से कम एक से डेढ़ साल का 2 साल का समय देना पड़ता है जैसे आप सीनियर पास कर ली कक्षा 12 कर ली तो उसके बाद अच्छे से तैयारी कर सकते थे लेकिन आपने ग्रेजुएशन की है ग्रेजुएशन के बाद आपको 1 साल का समय प्राप्त देना होगा 1 साल के बाद आप भी दे सकते हैं इस एक साल में पहले आपको एनसीआरटी क्लियर करनी है और फिर आपको सब्जेक्ट क्लियर करना है और तैयारी में भी हमें यह करना है कि पहले हमें मैंस की तैयारी करनी है मेंस की तैयारी के बारे में परी की तैयारी पर

dekhi sabhi yuvaon ka sapna hota hai ki wah ias apne aur apne bhavishya ko ujjawal banaye lekin main batana chahta hoon yeh ek aisi sabzi hai jo apni taiyari mein samay maang ki hai yeh nahi hai ki jaise ssc cgl ki tarah mein do se dhai mahine ki acchi si taiyari ki aur exam nikal liya isme aapko kam se kam ek se dedh saal ka 2 saal ka samay dena padata hai jaise aap senior paas kar lee kaksha 12 kar lee to uske baad acche se taiyari kar sakte the lekin aapne graduation ki hai graduation ke baad aapko 1 saal ka samay prapt dena hoga 1 saal ke baad aap bhi de sakte hain is ek saal mein pehle aapko nert clear karni hai aur phir aapko subject clear karna hai aur taiyari mein bhi hume yeh karna hai ki pehle hume mains ki taiyari karni hai mains ki taiyari ke bare mein pari ki taiyari par

देखी सभी युवाओं का सपना होता है कि वह आईएस अपने और अपने भविष्य को उज्जवल बनाएं लेकिन मैं ब

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  805
WhatsApp_icon
user

Jignesh Gadhiya

Director of UPSC/GPSC Ins..

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आए तो फिर की पकड़ के बाद मृत्यु के बारे में पहले तुम पहले की

aaye to phir ki pakad ke baad mrityu ke bare mein pehle tum pehle ki

आए तो फिर की पकड़ के बाद मृत्यु के बारे में पहले तुम पहले की

Romanized Version
Likes  60  Dislikes    views  1312
WhatsApp_icon
user

Harmeet kaur

Career Counselor

0:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आईएएस ऑफिसर की पहली प्राथमिकता होनी चाहिए लोगों की सामाजिक आर्थिक प्रोफाइल और उनके विषय में मुद्दों को जानना

IAS officer ki pehli prathamikta honi chahiye logo ki samajik aarthik profile aur unke vishay mein muddon ko janana

आईएएस ऑफिसर की पहली प्राथमिकता होनी चाहिए लोगों की सामाजिक आर्थिक प्रोफाइल और उनके विषय मे

Romanized Version
Likes  203  Dislikes    views  2704
WhatsApp_icon
user

Anurag Dubey

Director Of Vedas IAS Academy call me @ 9540558037

1:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज तक की सबसे पहली प्राथमिकता होती है क्यों है ईमानदारी के साथ एवं पश्चात निष्पक्षता खली का शपथ ली और सत्कार करना शुरू करें इसी कड़ी होती है जो किसी देश की राजनीतिक आर्थिक एवं समस्त प्रकार की क्रियाओं के डेवलपमेंट का सबसे पहले सबसे इंपोर्टेंट वर्क प्ले करती है यह जरूरी है कि किसी एक आईएएस अफसर के लिए निष्पक्ष एवं उसके निर्णय लेने की क्षमता जो हो निष्पक्ष होना चाहिए भगवान भावनात्मक नहीं हो साथी एक ऐसे एक ऐसे निर्णय के साथ

aaj tak ki sabse pehli prathamikta hoti hai kyon hai imandari ke saath evam pashchat nishpakshata khali ka shapath li aur satkar karna shuru karein isi kadi hoti hai jo kisi desh ki raajnitik aarthik evam samast prakar ki kriyaon ke development ka sabse pehle sabse important work play karti hai yeh zaroori hai ki kisi ek IAS officer ke liye nishpaksh evam uske nirnay lene ki kshamta jo ho nishpaksh hona chahiye bhagwan bhavnatmak nahi ho sathi ek aise ek aise nirnay ke saath

आज तक की सबसे पहली प्राथमिकता होती है क्यों है ईमानदारी के साथ एवं पश्चात निष्पक्षता खली क

Romanized Version
Likes  86  Dislikes    views  1231
WhatsApp_icon
user

Acharya Balendu Tripathi

Astrologer/ Founder - Sarvmanya Classes

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पहले आप पहले आप शादी करना चाहते थे कि जिला कलेक्टर दिव्यांशु की काम नहीं कर रहा है और अब तक जो भी ड्यूटी रात को दी गई है आपको लिखकर सरकार के साथ-साथ एक पिता के समान निश्चिंत उपलब्ध कराना कटिंग जोगी

pehle aap pehle aap shadi karna chahte the ki jila collector divyanshu ki kaam nahi kar raha hai aur ab tak jo bhi duty raat ko di gayi hai aapko likhkar sarkar ke saath saath ek pita ke saman nishchint uplabdh krana cutting jogi

पहले आप पहले आप शादी करना चाहते थे कि जिला कलेक्टर दिव्यांशु की काम नहीं कर रहा है और अब त

Romanized Version
Likes  144  Dislikes    views  2586
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक आईएस ऑफिसर की पहली आगे की सोच दिमाग में होनी चाहिए कर सकते हैं लेकिन जब आपको एक पूरी डिस्ट्रिक्ट इंचार्ज जाएगा तो आपका फीवर आप दूसरों की सहायता कर रही है

ek ias officer ki pehli aage ki soch dimag mein honi chahiye kar sakte hain lekin jab aapko ek puri district incharge jayega toh aapka fever aap dusro ki sahayta kar rahi hai

एक आईएस ऑफिसर की पहली आगे की सोच दिमाग में होनी चाहिए कर सकते हैं लेकिन जब आपको एक पूरी डि

Romanized Version
Likes  62  Dislikes    views  1234
WhatsApp_icon
user

Amisha Yadav

UPSC Coach

0:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आईएएस अफसर की पहली प्राथमिकता भारतीय प्राथमिक सेवा अर्थात अपने देश की सेवा करना अपने लोगों की रक्षा करना

IAS officer ki pehli prathamikta bharatiya prathmik seva arthat apne desh ki seva karna apne logo ki raksha karna

आईएएस अफसर की पहली प्राथमिकता भारतीय प्राथमिक सेवा अर्थात अपने देश की सेवा करना अपने लोगों

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  112
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!