GST से भारत के गरीब और मध्यम वर्ग के उपभोक्ताओं को कैसे फायदा हुआ है?...


play
user

Neha S

UPSC कोच

0:59

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

निकी जी एस टी से फायदा हुआ है पहले क्यों होता था कि प्राइसेस चौधरी को कौन सी ओ डी डी के की टैक्स अलग अलग करें एक्साइज ड्यूटी बाद यह सारे अलग-अलग देशों में क्या क्या वह कॉमेंट कॉमेंट बॉक्स विद नेम ऑफ जीएसटी उसका पेट्रोल प्राइस आप कल नोएडा में है वही प्राइस आपका दिल्ली में जो छोटी-छोटी की नौकरी तेजी मंदी का संरक्षण को पहले पता ही नहीं होता की वह चीज महंगी खरीद रही है सस्ते खरीदने के फोन के बारे में

niki ji s T se fayda hua hai pehle kyon hota tha ki praises choudhary ko kaun si o d d ke ki tax alag alag kare excise duty baad yah saare alag alag deshon mein kya kya vaah comment comment box with name of gst uska petrol price aap kal noida mein hai wahi price aapka delhi mein jo choti choti ki naukri teji mandi ka sanrakshan ko pehle pata hi nahi hota ki vaah cheez mehengi kharid rahi hai saste kharidne ke phone ke bare mein

निकी जी एस टी से फायदा हुआ है पहले क्यों होता था कि प्राइसेस चौधरी को कौन सी ओ डी डी के की

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  17
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Sa Sha

Journalist since 1986

1:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गरीब और मध्यम वर्ग के लाभ की बात छोड़िए जीएसटी से देश का हर वर्ग परेशान है पानी में पीएम ने कहा जीएसटी से हर चीज पर टैक्स बंद हो गए हैं जीएसटी लागू होने से कारोबारियों में प्रतिस्पर्धा बड़ी है जिसे सामान की कीमतें कम हुई है और गरीब मध्यम वर्ग को फायदा मिल रहा है पर सच्चाई कुछ अलग ही है महंगाई कम नहीं हुई बल्कि बढ़िया जीएसटी के बाद दवाओं की कीमतें 65 प्रतिशत तक बढ़ गई है इसी साल मार्च में जिस दवा की कीमत ₹16 23 पैसे थी जीएसटी लागू होने के बाद अगस्त में वही दवा 129 रुपए की हो गई है किसानों की खास महंगे हो गए हैं 21 रुपए से लेकर 145 रुपए तक के पहने हुए हैं क्यों यूरिया का एक बैग ₹284 में मिलता था अब वह 300 ₹15 हो गया है पोटाश की कीमत ₹550 से बढ़कर अब 690 रुपय हो गई है किसानी में लगभग 20% कील आदत पड़ गई है जाहिर है सामान महंगे होंगे इतने से गरीब और मध्यम वर्ग के लाभ का अंदाजा लगा लीजिए

garib aur madhyam varg ke labh ki baat chodiye gst se desh ka har varg pareshan hai paani mein pm ne kaha gst se har cheez par tax band ho gaye hai gst laagu hone se karobariyon mein pratispardha baadi hai jise saamaan ki keematein kam hui hai aur garib madhyam varg ko fayda mil raha hai par sacchai kuch alag hi hai mahangai kam nahi hui balki badhiya gst ke baad dawaon ki keematein 65 pratishat tak badh gayi hai isi saal march mein jis dawa ki kimat Rs 23 paise thi gst laagu hone ke baad august mein wahi dawa 129 rupaye ki ho gayi hai kisano ki khaas mehnge ho gaye hai 21 rupaye se lekar 145 rupaye tak ke pehne hue hai kyon urea ka ek bag Rs mein milta tha ab vaah 300 Rs ho gaya hai Potash ki kimat Rs se badhkar ab 690 rupay ho gayi hai kisaani mein lagbhag 20 keel aadat pad gayi hai jaahir hai saamaan mehnge honge itne se garib aur madhyam varg ke labh ka andaja laga lijiye

गरीब और मध्यम वर्ग के लाभ की बात छोड़िए जीएसटी से देश का हर वर्ग परेशान है पानी में पीएम न

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  15
WhatsApp_icon
user

Shubham

Software Engineer in IBM

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैडम जो आपने क्वेश्चन पूछा है कि दृष्टि से भारत के गरीब और मध्यम वर्ग को फायदा होगा हां जी बिल्कुल फायदा होगा अगर आप रिजल्ट और लॉन्ग टर्म गोल को देखे तो आने वाले टाइम में कॉमन पीपल को बहुत ज्यादा फायदा होने वाला है अगर प्रजेंट की बात करें तो आपको तो पता होगा जीएसटी के आने के बाद कहीं सारे टेक्स्ट हटाकर सिर्फ एक या दो ही टैक्स रखा गया है इससे जो टैक्स लगता था पहले कौन बने डैम से बोझ कम हो गया है जैसे अगर हम टूट पेश की बात करें मैं कुछ ऐसी घरेलू चीजों की बात करें तो इन पर क्या टैक्स अब कम हो गया है तो इसलिए आप इनके प्राइसेस भी कम हो गए मार्केट में तो यह कॉमन ऑफ पुअर पीपल के लिए तो फायदा है या गरम देखे लॉन्ग टर्म के लिए ऐसे आपको तो पता ही होगा अगर जीएसटी जोहार की कंपनी है जो इंडिया में अब मैनुफैक्चरिंग की सोचते हैं तो टेक टू मी इंडिया की तरफ क्यों की जीसकी क्या कहते हैं यह जो टैक्सेशन का ब्राइटनेस को बहुत सिंपल कर देता है अब जो भाग्य कंपनी देना वह ज्यादा इंटरेस्ट होगी क्योंकि हो गया भाई इसको समझना और इंडिया में अपना जो इंडस्ट्रीज है उसको सेट अप ज्यादा करेंगे आने वाले टाइम में तो उसे योगा की किया तो ज्यादा इंडस्ट्रीज इंडिया में सेट हो गई तो वह ऑफिस से बातें इंडिया की जो गरीबी पलों एवरेज पेपर है उन को रोजगार देंगे तो अगर हम लोग तंग ओर को देखे तो यह कॉमन पीपल के लिए मैंने भी चलता है और उसके कई सारे फायदे और आपको तो पता ही होगा जैसे जीएसटी आया था उस टाइम जो व्यक्ति कर्ज होते हैं मतलब जो कचरा बीनते है और उस पर भी टैक्स लगा दिया गया था लेकिन गवर्नमेंट दिन पर दिन इस पर सुधार कर रही है अभी 1 महीने पहले इस पर जो टैक्स लगाया था उसको हटा कर जीरो पर्सेंट पर रख दिया गया है तो इस से जो पहले गरीब लोगों को घाटा हुआ था जीएसटी के आने के बाद जो कचरा बीनते थे पूरा कचरा कबाड़ा जुकाम का काढ़ा बोलते हैं वह भी उनका धंधा ठप हो गया था लेकिन अभी वापस सही हो गया क्या कि घर में नेट पैक हटा दिया है तो ऐसे दिन पर दिन गवर्नमेंट एक्सप्रेस को सुधारने के लिए

madam jo aapne question poocha hai ki drishti se bharat ke garib aur madhyam varg ko fayda hoga haan ji bilkul fayda hoga agar aap result aur long term gol ko dekhe toh aane waale time mein common pipal ko bahut zyada fayda hone vala hai agar present ki baat kare toh aapko toh pata hoga gst ke aane ke baad kahin saare text hatakar sirf ek ya do hi tax rakha gaya hai isse jo tax lagta tha pehle kaun bane dam se bojh kam ho gaya hai jaise agar hum toot pesh ki baat kare main kuch aisi gharelu chijon ki baat kare toh in par kya tax ab kam ho gaya hai toh isliye aap inke praises bhi kam ho gaye market mein toh yah common of poor pipal ke liye toh fayda hai ya garam dekhe long term ke liye aise aapko toh pata hi hoga agar gst johar ki company hai jo india mein ab mainufaikcharing ki sochte hain toh take to me india ki taraf kyon ki jiski kya kehte hain yah jo taxation ka brightness ko bahut simple kar deta hai ab jo bhagya company dena vaah zyada interest hogi kyonki ho gaya bhai isko samajhna aur india mein apna jo industries hai usko set up zyada karenge aane waale time mein toh use yoga ki kiya toh zyada industries india mein set ho gayi toh vaah office se batein india ki jo garibi palon average paper hai un ko rojgar denge toh agar hum log tang aur ko dekhe toh yah common pipal ke liye maine bhi chalta hai aur uske kai saare fayde aur aapko toh pata hi hoga jaise gst aaya tha us time jo vyakti karj hote hain matlab jo kachra binte hai aur us par bhi tax laga diya gaya tha lekin government din par din is par sudhaar kar rahi hai abhi 1 mahine pehle is par jo tax lagaya tha usko hata kar zero percent par rakh diya gaya hai toh is se jo pehle garib logo ko ghata hua tha gst ke aane ke baad jo kachra binte the pura kachra kabada zukam ka kadha bolte hain vaah bhi unka dhandha thap ho gaya tha lekin abhi wapas sahi ho gaya kya ki ghar mein net pack hata diya hai toh aise din par din government express ko sudhaarne ke liye

मैडम जो आपने क्वेश्चन पूछा है कि दृष्टि से भारत के गरीब और मध्यम वर्ग को फायदा होगा हां जी

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  14
WhatsApp_icon
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दुख जो जीएसटी जब से गवर्मेंट में लागू किया तो इससे फायदा क्या हुआ है कि जितने भी आपकी इन डायरेक्ट टैक्सेज तो आप धीरे-धीरे करके देते थे जो लोगों के आसपास में 16 गांव में पूरा खत्म खत्म कर दिया अच्छे से हुआ क्या क्या जो भी स्टेट गवर्मेंट एक सपना एक्स्ट्रा लगा रही थी चेन आपको इंटरटेनमेंट एक्सेल लॉटरी टैक्स हो जाए एंटी टेक्स हो गया अब मैं बात करता आम आदमी को से फायदा किया हुआ है अब कोई भी पर्सन किस देश के किसी भी जगह से कोई भी वस्तु खरीदेगा तो उसके लिए उसको संपर्क करना पड़ेगा चाहे किसी भी स्टेट रखी थी क्या फायदा यही है कि कहीं से भी आप कोई सामान खरीदो टैक्स की दर होगी वह सेंड हो गई दूसरे दिल्ली उसके जो भी सामान है वह सदा हंसते हुए हैं ठीक है अब जैसे टेलीकॉम बिजनेस में मैं अगर बात करो तो उसमें 14 पर्सेंट टैक्स किया है उन्होंने दूसरा क्या है टैक्स का जो वर्णन था अगर मैं बोल दूं टैक्स का जो बर्थडे है वह भी कम हुआ है

dukh jo gst jab se government mein laagu kiya toh isse fayda kya hua hai ki jitne bhi aapki in direct taxes toh aap dhire dhire karke dete the jo logo ke aaspass mein 16 gaon mein pura khatam khatam kar diya acche se hua kya kya jo bhi state government ek sapna extra laga rahi thi chain aapko entertainment excel lottery tax ho jaaye anti tax ho gaya ab main baat karta aam aadmi ko se fayda kiya hua hai ab koi bhi person kis desh ke kisi bhi jagah se koi bhi vastu kharidega toh uske liye usko sampark karna padega chahen kisi bhi state rakhi thi kya fayda yahi hai ki kahin se bhi aap koi saamaan kharido tax ki dar hogi vaah send ho gayi dusre delhi uske jo bhi saamaan hai vaah sada hansate hue hain theek hai ab jaise telecom business mein main agar baat karo toh usme 14 percent tax kiya hai unhone doosra kya hai tax ka jo varnan tha agar main bol doon tax ka jo birthday hai vaah bhi kam hua hai

दुख जो जीएसटी जब से गवर्मेंट में लागू किया तो इससे फायदा क्या हुआ है कि जितने भी आपकी इन ड

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  120
WhatsApp_icon
user

Krishna Singh

Bsc,llb(hon.),ias aspirant

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीएसटी लागू होने से बहुत सी वस्तुएं एवं सेवाएं पहले की तुलना में सस्ती हुई है इनका प्रॉफिट सभी को हुआ जानकारी मध्य मर क्यों या उच्च वर्गीय हो और बात गरीब मध्यम वर्गीय व्यापारियों की की जाए तो व्यापारियों को तो बहुत ज्यादा प्रॉफिट हुआ है जीएसटी लागू होने के बाद क्योंकि जीएसटी में कम से कम से कम 22 कारों को सम्मिलित किया गया जो अप्रत्यक्ष करें और जो है राज्य में अलग अलग थे और अलग अलग स्तर पर थे तो और किसी को भी व्यापार करने में बहुत ज्यादा दुख तो का सामना करना पड़ता है क्योंकि जितने कर हैं उनको हर स्टेज पर कम से कम देना होता था अब इसे समाप्त हो चुकी आप एक ही बार जीएसटी कमेंट करके पूरे भारत में व्यापार कर सकते हैं तो मुझे लगता है गरीब और मध्यम वर्ग के उपभोक्ताओं को कुछ फायदा हुआ है उन वस्तुओं और सेवाओं से जिनके अमूल्य घाटी

gst laagu hone se bahut si vastuyen evam sevayen pehle ki tulna mein sasti hui hai inka profit sabhi ko hua jaankari madhya mar kyon ya ucch vargiya ho aur baat garib madhyam vargiya vyapariyon ki ki jaaye toh vyapariyon ko toh bahut zyada profit hua hai gst laagu hone ke baad kyonki gst mein kam se kam se kam 22 kaaron ko sammilit kiya gaya jo apratyaksh kare aur jo hai rajya mein alag alag the aur alag alag sthar par the toh aur kisi ko bhi vyapar karne mein bahut zyada dukh toh ka samana karna padta hai kyonki jitne kar hain unko har stage par kam se kam dena hota tha ab ise samapt ho chuki aap ek hi baar gst comment karke poore bharat mein vyapar kar sakte hain toh mujhe lagta hai garib aur madhyam varg ke upbhoktayo ko kuch fayda hua hai un vastuon aur sewaon se jinke amuly ghati

जीएसटी लागू होने से बहुत सी वस्तुएं एवं सेवाएं पहले की तुलना में सस्ती हुई है इनका प्रॉफिट

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  207
WhatsApp_icon
user

G S Javed, PhD

PHD & करियर कौंसलर

0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार भारत में गरीब और मध्यम वर्ग के लोग सबसे ज्यादा है अगर मध्यम वर्ग किलो को देखा जाए जो सैलरी और कर अदा करते हैं उन लोगों के बजट पर सालाना बजट पर ही हो जो महीने के बच्चों को बहुत मार लगता है कितना जीएसटी का परसेंटेज है करीब 18 5% से लेकर 28 वर्ष तक जो भी है लगभग आधा सर अगर उनका एवरेज लिया जाए तो 18 परसेंट में आ जाता है तो ऐसे ही समझे जितना आप का बर्थडे था उसके 18 परसेंट आपने बढ़ा दिया था रे आइटम्स पर एक ऐसी चीज है जहां पर यह है कि कुछ ऐसी चीजें हैं जिन पर जीएसटी आने का फायदा हुआ है बट उन चीजों पर गरीब लोगों को कोई फायदा नहीं हुआ अमीर लोगों को काफी फायदा हुआ है क्योंकि अमीरी में जो चीज उपयोग हो जाता है जैसे लग्जरी कार रेस्टोरेंट बिल इन पर कम हुआ है इनमें से चीजों पर आपको गरीबों को कोई फायदा नहीं हुआ है तो देखिए आप

namaskar bharat mein garib aur madhyam varg ke log sabse zyada hai agar madhyam varg kilo ko dekha jaaye jo salary aur kar ada karte hain un logo ke budget par salana budget par hi ho jo mahine ke baccho ko bahut maar lagta hai kitna gst ka percentage hai kareeb 18 5 se lekar 28 varsh tak jo bhi hai lagbhag aadha sir agar unka average liya jaaye toh 18 percent mein aa jata hai toh aise hi samjhe jitna aap ka birthday tha uske 18 percent aapne badha diya tha ray iteams par ek aisi cheez hai jaha par yah hai ki kuch aisi cheezen hain jin par gst aane ka fayda hua hai but un chijon par garib logo ko koi fayda nahi hua amir logo ko kaafi fayda hua hai kyonki amiri mein jo cheez upyog ho jata hai jaise luxury car restaurant bill in par kam hua hai inme se chijon par aapko garibon ko koi fayda nahi hua hai toh dekhiye aap

नमस्कार भारत में गरीब और मध्यम वर्ग के लोग सबसे ज्यादा है अगर मध्यम वर्ग किलो को देखा जाए

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  29
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!