क्या दो तरह के GST की आवश्यकता है? और क्यों?...


play
user

Neha S

UPSC कोच

0:59

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिमागी बेसिकली क्या होता है जीएसटी को तो पाठ में डिवाइड किया गया है बिल्कुल सही आपने बताया सीजीएसटी और एसजीएसटी सी जगह सेंट्रल सीजीएसटी और आपका चेक कीजिए जब फ्री होता है तो उसके ऊपर सीजीएसटी आपका लक्ष्य और स्टेट कॉमेंट का टैक्स लगता है उन वस्तुओं के उपाय ठीक है से जीएसटी लगता है लगता है MP3 प्रश्न के साथ सबका जयंती HSC जीएसटी नक्की आपका ठीक है लेकिन एक राज्य से बाहर भेजा है दोस्त कमीशन की सीजन आप का atm प्रसन्न करेंसी रेट के साथ में आई जीएसटी लग जाता है पहले बहुत सारी टेक्स्ट लगाए जाते थे तो उन सबको कंपाइल कर के मर कर देखें और जीएसटी को पेट की एसिडिटी सर्विस सेंटर इंटरटेनमेंट इंटरेस्ट रेट

dimagi basically kya hota hai gst ko toh path mein divide kiya gaya hai bilkul sahi aapne bataya CGST aur SGST si jagah central CGST aur aapka check kijiye jab free hota hai toh uske upar CGST aapka lakshya aur state comment ka tax lagta hai un vastuon ke upay theek hai se gst lagta hai lagta hai MP3 prashna ke saath sabka jayanti HSC gst nakki aapka theek hai lekin ek rajya se bahar bheja hai dost commision ki season aap ka atm prasann currency rate ke saath mein I gst lag jata hai pehle bahut saree text lagaye jaate the toh un sabko compile kar ke mar kar dekhen aur gst ko pet ki acidity service center entertainment interest rate

दिमागी बेसिकली क्या होता है जीएसटी को तो पाठ में डिवाइड किया गया है बिल्कुल सही आपने बताया

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  24
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Sa Sha

Journalist since 1986

1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दरअसल जीएसटी के लिए आम जनता का समर्थन प्राप्त करने के लिए एक देश एक टैक्स का स्लोगन दिया गया था इससे पहले एक ही चीज के लिए अलग अलग स्तर पर जाता कई कई टैक्स देती थी मोटे तौर पर कुछ टेक्स केंद्र सरकार के खाते में जाता था तो कुछ राज्य सरकार के पर देखा जाए तो आप भी कुछ खास बदलाव नहीं आया है वह की जगह जीएसटी ने ले ली है लेकिन अब जीएसटी के तहत भी जनता केंद्र और राज्य दोनों के लिए टिप्स बताइए एक सेंट्रल जीएसटी है और दूसरा स्टेट जीएसटी राज्य सरकार अपने यहां होने वाले कारोबार पर जीएसटी वसूलती है कोई कारोबार अगर दो राज्यों के बीच होता है तो उस पर आई जीएसटी यानी इंटीग्रेटेड जीएसटी वसूला जाता है इसे केंद्र सरकार व शुल्क आरती और दोनों राज्यों में समान अनुपात में बांट दिया जाता है पर हम इसे जनता को तो कोई खास लाभ हुआ नहीं उल्टे इसे देश का हर व्यक्ति टैक्स के दायरे में आ गया और सरकार को एक क्रेडिट मिल गया टैक्स रिफॉर्म का

darasal gst ke liye aam janta ka samarthan prapt karne ke liye ek desh ek tax ka slogan diya gaya tha isse pehle ek hi cheez ke liye alag alag sthar par jata kai kai tax deti thi mote taur par kuch tax kendra sarkar ke khate mein jata tha toh kuch rajya sarkar ke par dekha jaaye toh aap bhi kuch khaas badlav nahi aaya hai vaah ki jagah gst ne le li hai lekin ab gst ke tahat bhi janta kendra aur rajya dono ke liye tips bataye ek central gst hai aur doosra state gst rajya sarkar apne yahan hone waale karobaar par gst vasulati hai koi karobaar agar do rajyo ke beech hota hai toh us par I gst yani integrated gst vasula jata hai ise kendra sarkar va shulk aarti aur dono rajyo mein saman anupat mein baant diya jata hai par hum ise janta ko toh koi khaas labh hua nahi ulte ise desh ka har vyakti tax ke daayre mein aa gaya aur sarkar ko ek credit mil gaya tax reform ka

दरअसल जीएसटी के लिए आम जनता का समर्थन प्राप्त करने के लिए एक देश एक टैक्स का स्लोगन दिया ग

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  13
WhatsApp_icon
user

Shubham

Software Engineer in IBM

1:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भाभी जी जो आपने क्वेश्चन पूछा है कि क्या दूर रहके जीएसटी की आवश्यकता है हां बिल्कुल दो तरह के जीएसटी की आवश्यकता है मैं आपको बता दूं 2 टाइप पर टैक्स होते हैं जो अभी लग रहे हैं एक होता है जीएसटी और एक बताएं आई जीएसटी जीएसटी के अंदर दो केटेगरी है स्टेट गवर्नमेंट सर्विस टैक्स जीएसटी एंड दूसरा है सीजीएसटी सेंट्रल गवर्नमेंट सर्विस टैक्स हम कुछ सामान अभी दुकान पर ही आता मैं सिटी में तो हम उसको तो जीएसटी पर करेंगे वह 2 मिनट हो गए थे स्टोरी जीएसटी मालूम दुकान पर गया मंत्री जा कर उस पर 18 परसेंटेज दे रे तू बोलो प्रसंग जाएगा एक कोली एसजीएसटी मजिस्ट्रेट गवर्नमेंट को 9:00 पर्सेंट जीएसटी में सेंट्रल गवर्नमेंट को कॉलेज आएगा हमेशा ठीक है युद्ध जीएसटी एक सेट स्टेटमेंट सामान ट्रांसफर कर रहे हैं ठीक हैं देखना चाहते हैं तो बिजनेसमैन एसजीएसटी और सीजीएसटी जीएसटी टैक्स पर करते इंटीग्रेटेड सर्विस टैक्स इंटीग्रेटेड गुड गुड एंड सर्विस टैक्स तो यह लगता है जब हम एक स्टेट से दूसरे स्टेट पर जाते हैं अपने सामान बेचने यह बहुत जरूरी है पहले आईजीएसटी नहीं लगता था पहले लगता था सेट ऑफ सेंट्रल सेंट्रल टैक्स नाम से लेकिन अभी बस हो गया

bhabhi ji jo aapne question poocha hai ki kya dur rehke gst ki avashyakta hai haan bilkul do tarah ke gst ki avashyakta hai aapko bata doon 2 type par tax hote hain jo abhi lag rahe hain ek hota hai gst aur ek bataye I gst gst ke andar do category hai state government service tax gst and doosra hai CGST central government service tax hum kuch saamaan abhi dukaan par hi aata main city mein toh hum usko toh gst par karenge vaah 2 minute ho gaye the story gst maloom dukaan par gaya mantri ja kar us par 18 percentage de ray tu bolo prasang jaega ek koli SGST magistrate government ko 9 00 percent gst mein central government ko college aayega hamesha theek hai yudh gst ek set statement saamaan transfer kar rahe hain theek hain dekhna chahte hain toh bussinessmen SGST aur CGST gst tax par karte integrated service tax integrated good good and service tax toh yah lagta hai jab hum ek state se dusre state par jaate hain apne saamaan bechne yah bahut zaroori hai pehle IGST nahi lagta tha pehle lagta tha set of central central tax naam se lekin abhi bus ho gaya

भाभी जी जो आपने क्वेश्चन पूछा है कि क्या दूर रहके जीएसटी की आवश्यकता है हां बिल्कुल दो तरह

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  44
WhatsApp_icon
user

Abinash Juls

Graphic Designer

0:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुझे नहीं लगता कि दो तरह के जीएसटी आवश्यकता है क्योंकि एक जस्ट जो भी चल रहा है उसमें से रिजल्ट है बहुत परेशान है टैक्स वगैरा देखे तो मेरे को नहीं लगता कि तू जीएसटी होना चाहिए

mujhe nahi lagta ki do tarah ke gst avashyakta hai kyonki ek just jo bhi chal raha hai usme se result hai bahut pareshan hai tax vagera dekhe toh mere ko nahi lagta ki tu gst hona chahiye

मुझे नहीं लगता कि दो तरह के जीएसटी आवश्यकता है क्योंकि एक जस्ट जो भी चल रहा है उसमें से रि

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  252
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!