औधोगिक क्रांति के स्वरूप ओर परिणाम की विवेचना करें?...


play
user

Preetisingh

Junior Volunteer

1:32

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आदि की औद्योगिक क्रांति के स्वरूप अगर देखिए हम तो भी खेसारी शताब्दी के उत्तरार्ध 19वीं शताब्दी के पूर्वार्ध में ही कुछ पश्चिमी देशों की जय हो की क्रांति के स्वरूप हमको तकनीकी सामाजिक आर्थिक एवं सांस्कृतिक स्थिति में काफी बड़ा बदलाव आया था और औद्योगिक क्रांति जो था वह वस्त्र उद्योग के मशीनीकरण के साथ आरंभ हुआ था इसके साथ लोहा गाने की तकनीकी आएगा शोधित कोयले का अधिकाधिक उपयोग होने लग गया कोई लुटेरा कर बने वार्षिकी शक्ति का उपयोग होने लग गया और शक्ति चली तू मशीनों के आने में उत्पादन में वृद्धि हुई और इसके परिणाम देखे तो औद्योगिक क्रांति था उसका बहुत ज्यादा था जैसे कि आर्थिक परिणाम देखने को मिले इस उत्पादन में असाधारण वृद्धि शहरीकरण में तो जो गाए थे वह शहरों में तब्दील हो गए आर्थिक असंतुलन बैंकिंग एवं मुद्रा प्रणाली का विकास होना कुटीर उद्योगों का जो है विनाश होना और मुक्त व्यापार और वही सामाजिक का परिणाम में देखें तो देख जनसंख्या में कृषि वृद्धि होना नए सामाजिक वर्गों को का उदय होना मानवीय संबंधों में गिरावट नैतिक मूल्यों में गिरावट शहरी जीवन में गिरावट सांस्कृतिक परिवर्तन हुआ जिससे कि हमारे रहन-सहन वेशभूषा में बाल श्रम जो था उसको ज्यादा बढ़ावा मिला महिला आंदोलन का जन्म और उसका राजनीतिक परिणाम देखने को मिले थे

aadi ki audyogik kranti ke swaroop agar dekhie hum toh bhi khesari shatabdi ke uttraraardh vi shatabdi ke purvardh mein hi kuch pashchimi deshon ki jai ho ki kranti ke swaroop hamko takniki samajik aarthik evam sanskritik sthiti mein kaafi bada badlav aaya tha aur audyogik kranti jo tha wah vastra udyog ke machinikaran ke saath aarambh hua tha iske saath loha gaane ki takniki aaega shodhit koyle ka adhikadhik upyog hone lag gaya koi lootera kar bane varshiki shakti ka upyog hone lag gaya aur shakti chali tu machino ke aane mein utpadan mein vriddhi hui aur iske parinam dekhe toh audyogik kranti tha uska bahut zyada tha jaise ki aarthik parinam dekhne ko mile is utpadan mein asadharan vriddhi shaharikaran mein toh jo gaay the wah shaharon mein tabdil ho gaye aarthik asantulan banking evam mudra pranali ka vikas hona kutir udhyogo ka jo hai vinash hona aur mukt vyapar aur wahi samajik ka parinam mein dekhen toh dekh jansankhya mein krishi vriddhi hona naye samajik vargon ko ka uday hona manviya sambandhon mein giraavat naitik mulyon mein giraavat shehari jeevan mein giraavat sanskritik parivartan hua jisse ki hamare rahan sahan veshbhoosha mein baal shram jo tha usko zyada badhawa mila mahila andolan ka janam aur uska raajnitik parinam dekhne ko mile the

आदि की औद्योगिक क्रांति के स्वरूप अगर देखिए हम तो भी खेसारी शताब्दी के उत्तरार्ध 19वीं शता

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  373
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
audyogik kranti ke parinaam ; औद्योगिक क्रांति के परिणाम ; audyogik kranti ke parinam ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!