मैं आगे पढ़ना चाहता हूँ लेकिन पैसे की प्रॉब्लम की वजह से नहीं पढ़ पा रहा क्या करूँं?...


user

sikh boy

Student

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार सर आपका सवाल है मैं अगर पढ़ना चाहता हूं पैसे की प्रॉब्लम की वजह से मैं पढ़ नहीं पा रहा हूं तो आप भाई यह बताइए कि आप कौन सी क्लास में है और कहां से हैं क्योंकि आप अगर बताओगे तो मैं जो आपकी मदद कर सकता हूं तो मैं कुछ आपकी हेल्प कर सकता हूं अपने आगे पढ़ने की सोचे बहुत अच्छी बात है मैं उसमें आपकी जो भी मेरे पर हेल्प होगी मैं आपकी हेल्प करूंगा आप अपना नाम और मोबाइल नंबर भेज दिए धन्यवाद

namaskar sir aapka sawaal hai main agar padhna chahta hoon paise ki problem ki wajah se main padh nahi paa raha hoon toh aap bhai yah bataiye ki aap kaun si class me hai aur kaha se hain kyonki aap agar bataoge toh main jo aapki madad kar sakta hoon toh main kuch aapki help kar sakta hoon apne aage padhne ki soche bahut achi baat hai main usme aapki jo bhi mere par help hogi main aapki help karunga aap apna naam aur mobile number bhej diye dhanyavad

नमस्कार सर आपका सवाल है मैं अगर पढ़ना चाहता हूं पैसे की प्रॉब्लम की वजह से मैं पढ़ नहीं पा

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  155
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:49
Play

Likes  6  Dislikes    views  163
WhatsApp_icon
user

vipin Kumar Kashyap

Teacher And Artist

1:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कोई बात नहीं इसमें प्रॉब्लम क्या है मेहनत कीजिए जॉब कीजिए प्राइवेट पढ़िए प्राइवेट पढ़ने में कोई बुराई नहीं है यदि हम पढ़ना चाहते हैं तो नौकरी कर भी पढ़ लेते हैं भारत में बहुत तेज जामफल है भारत में नौकरी वाले ना हो लोगों को मिलकर भारत में संघर्ष करने वाले बहुत प्रयास लोग हैं अपनी मेहनत से अपने आपको बना लेते हैं पुरानी कहावत किलो लगी हरि के चरण कब हो मिलन हुई बैटरी यदि में लगे रहते हैं अपने कार्य से निरंतर रूप से तो हमें भी सफलता मिलती जरूर है चिंता ना करें जॉब करिए आप प्राइवेट पढ़िए किसी भी सब्जेक्ट से किसी भी स्ट्रीम से सफलता आपको मिलेगी चिंता ना करें चिंतन करें कि की चिंता और चिंतन दोनों अलग-अलग चीजें हैं चिंतन करने से हमें समाधान मिलता है और चिंता करने से तो चिंता है धन्यवाद

koi baat nahi isme problem kya hai mehnat kijiye job kijiye private padhiye private padhne me koi burayi nahi hai yadi hum padhna chahte hain toh naukri kar bhi padh lete hain bharat me bahut tez jamafal hai bharat me naukri waale na ho logo ko milkar bharat me sangharsh karne waale bahut prayas log hain apni mehnat se apne aapko bana lete hain purani kahaavat kilo lagi hari ke charan kab ho milan hui battery yadi me lage rehte hain apne karya se nirantar roop se toh hamein bhi safalta milti zaroor hai chinta na kare job kariye aap private padhiye kisi bhi subject se kisi bhi stream se safalta aapko milegi chinta na kare chintan kare ki ki chinta aur chintan dono alag alag cheezen hain chintan karne se hamein samadhan milta hai aur chinta karne se toh chinta hai dhanyavad

कोई बात नहीं इसमें प्रॉब्लम क्या है मेहनत कीजिए जॉब कीजिए प्राइवेट पढ़िए प्राइवेट पढ़ने मे

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  92
WhatsApp_icon
user

Vasudev

Teacher

1:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर आप आगे पढ़ना चाहते हैं तो आप कौन सी कक्षा में यह तो पता नहीं लेकिन आगे पढ़ने के लिए सरकार बहुत सी सिम चला रही है अगर आप स्कूली शिक्षा में है तो आपको वैसे भी पैसा नहीं लगता कॉलेज शिक्षा में है तो आपको एक बार खींच मकरानी पड़ती है उसके बाद आपको स्कॉलरशिप के थ्रू ऑफिस मिल जाती है तो वह भी आपको जमीला नहीं रहेगा एक बार उधार ले सकते हैं उससे वह वापिस भी करा देंगे क्योंकि आपके पास जाएगी और बड़ी कक्षाओं के लिए पड़ती है लेकिन स्कूली शिक्षा 10वीं 12वीं कक्षा तक तीन किताबें और किताबी फ्री मिलती है क्या कहना दिल पड़ती है आजकल कई एनजीओ चला रहे थे अगर आप लिखित रूप में

agar aap aage padhna chahte hain toh aap kaun si kaksha me yah toh pata nahi lekin aage padhne ke liye sarkar bahut si sim chala rahi hai agar aap skuli shiksha me hai toh aapko waise bhi paisa nahi lagta college shiksha me hai toh aapko ek baar khinch makrani padti hai uske baad aapko scholarship ke through office mil jaati hai toh vaah bhi aapko jamila nahi rahega ek baar udhaar le sakte hain usse vaah vaapas bhi kara denge kyonki aapke paas jayegi aur badi kakshaon ke liye padti hai lekin skuli shiksha vi vi kaksha tak teen kitaben aur kitabi free milti hai kya kehna dil padti hai aajkal kai ngo chala rahe the agar aap likhit roop me

अगर आप आगे पढ़ना चाहते हैं तो आप कौन सी कक्षा में यह तो पता नहीं लेकिन आगे पढ़ने के लिए सर

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  116
WhatsApp_icon
play
user

Farha Hussain

Community Developer at Vokal

0:17

हैं यह बड़ी दुख की बात है लेकिन क्या मुझे बता सकेंगे कि आप क्या...

Likes  2  Dislikes    views  117
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!