play
user

Aliya

Career Counsellor

0:34

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंसान प्रकृति की वह देने जो जिसने जीवन आए हैं सच में सबसे सर्वोत्तम जो इंसान को ही बनाया है इंसान को दिमाग दिया है इंसान को तो बड़ी उपलब्धि है वह है दिमाग इंसान को मस्जिद के दिया जिसकी वजह से वह सारे जिओ की जिओ से भी ज्यादा जो इंसानी सोच सकता है तो जोश में खोजने के पास सिटी सारे जीव से अलग इस वजह से आज इंसान बहुत अपशब्द वह से अलग है

insaan prakriti ki vaah dene jo jisne jeevan aaye hain sach mein sabse sarvottam jo insaan ko hi banaya hai insaan ko dimag diya hai insaan ko toh badi upalabdhi hai vaah hai dimag insaan ko masjid ke diya jiski wajah se vaah saare jio ki jio se bhi zyada jo insani soch sakta hai toh josh mein khojne ke paas city saare jeev se alag is wajah se aaj insaan bahut apashabd vaah se alag hai

इंसान प्रकृति की वह देने जो जिसने जीवन आए हैं सच में सबसे सर्वोत्तम जो इंसान को ही बनाया ह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  9
WhatsApp_icon
12 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Roshan Prasad Jaiswal

Junior Volunteer

0:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रानी है 1 ह्यूमन बिंग्स इसे कहते हैं प्राणी है जो कि हम इस जीवन जीवन व्यापन कर रहे हैं एक नॉर्मल इंसान की तरह तो इंसान 1 मानव शरीर को इंसान कहां जाता है

rani hai 1 human bings ise kehte hain prani hai jo ki hum is jeevan jeevan vyapan kar rahe hain ek normal insaan ki tarah toh insaan 1 manav sharir ko insaan kahaan jata hai

रानी है 1 ह्यूमन बिंग्स इसे कहते हैं प्राणी है जो कि हम इस जीवन जीवन व्यापन कर रहे हैं एक

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  392
WhatsApp_icon
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन बहुत ही अजीब सवाल पूछ लिया आपने बहुत ही फिलोसोफिकल सवाल पूछ लिया आपने तुम्हें फिलॉस्फी तो ज्यादा नहीं जानती तुझे लिए आपको थोड़ा साइंटिफिक जवाब देती हूं ह्यूमन यानी कि इंसान किसी टेक्नीशियन है सबसे पहले एरिस्टोटल ने दी थी वह बहुत ही कमाल के व्यक्ति थे बहुत ही ज्ञानी व्यक्ति थे तो उन्होंने कहा था इंसान वह है जो जिसके पास राजना लेट यानी कि जो सोच सकता है सही गलत को टिफिन सेट कर सकता है इंसान उसके बाद बहुत सारी देखनी है जैसे कि इंसान वह है जो हर सकता है या इंसान वह है जो अपने बारे में अवैध है सिर्फ अमीर है या फिर भेजो अपनी इमोशंस को बता सकता है समझा सकता है अपने इमोशंस दिखा सकता है दूसरे व्यक्ति को यह इंसान वह है जिसके पास बोलने की ताकत हो सोचने समझने की ताकत हो जो कंप्लीट Facebook को यूज करना जानता हूं ना बनाना जानता हूं और अगर बहुत एंड पर बात करे तू इंसान कार्बन से बना हुआ एक व्यक्ति है एक चीज है जो सोलर सिस्टम पर डिपेंडेंट है जो गलतियां बहुत करता है और जो होटल है यानी कि आज नहीं तो कल उसकी मृत्यु निश्चित है तो यह इंसान है ऐसा ही एक ऐसी एक ऐसा कोई भी वस्तु जो इमोशंस सोचने की ताकत अपने डिसीजन खुद लेना यह सब चीजें कर सकती है वह एक इंसान है

lekin bahut hi ajib sawaal puch liya aapne bahut hi filosofikal sawaal puch liya aapne tumhe philosophy toh zyada nahi jaanti tujhe liye aapko thoda scientific jawab deti hoon human yani ki insaan kisi technician hai sabse pehle eristotal ne di thi vaah bahut hi kamaal ke vyakti the bahut hi gyani vyakti the toh unhone kaha tha insaan vaah hai jo jiske paas rajna late yani ki jo soch sakta hai sahi galat ko tiffin set kar sakta hai insaan uske baad bahut saree dekhni hai jaise ki insaan vaah hai jo har sakta hai ya insaan vaah hai jo apne bare mein awaidh hai sirf amir hai ya phir bhejo apni emotional ko bata sakta hai samjha sakta hai apne emotional dikha sakta hai dusre vyakti ko yah insaan vaah hai jiske paas bolne ki takat ho sochne samjhne ki takat ho jo complete Facebook ko use karna jaanta hoon na banana jaanta hoon aur agar bahut and par baat kare tu insaan carbon se bana hua ek vyakti hai ek cheez hai jo solar system par dependent hai jo galtiya bahut karta hai aur jo hotel hai yani ki aaj nahi toh kal uski mrityu nishchit hai toh yah insaan hai aisa hi ek aisi ek aisa koi bhi vastu jo emotional sochne ki takat apne decision khud lena yah sab cheezen kar sakti hai vaah ek insaan hai

लेकिन बहुत ही अजीब सवाल पूछ लिया आपने बहुत ही फिलोसोफिकल सवाल पूछ लिया आपने तुम्हें फिलॉस्

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  172
WhatsApp_icon
user

NotInterested

NotInterested

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हार की रिपोर्ट के हिसाब से विश्व में 1 पॉइंट 7 मिलियन इस उपलब्ध है जिनमें से एक से लेकर 2 मिलियन इस रिश्ते को जानवर के रूप में जाना जाता है और इंसान भी एक जानवर है जो एक समाज में रहते हैं तो हम इंसान को सामाजिक जानवर बोलते हैं और इंसान को अंग्रेजी में होम मेड इन को बोला जाता है और जो वैज्ञानिक भाषा में होमोसेपियंस करके इंसान को जाना चाहता है इंसान बाकी जानवर से अलग है क्योंकि इंसान बात कर सकता है इंसान अपना दिमाग से सोच सकता है बाकी चार लड़के कंपेयर में हिंसा एक इंसान का मैटर ग्रोथ बहुत ही ज्यादा है और इंसान अपने पैर पर खड़ा हो सकता है एक नॉर्मल इंसान का लाइफस्टाइल 79 इयर्स है

haar ki report ke hisab se vishwa mein 1 point 7 million is uplabdh hai jinmein se ek se lekar 2 million is rishte ko janwar ke roop mein jana jata hai aur insaan bhi ek janwar hai jo ek samaj mein rehte hain toh hum insaan ko samajik janwar bolte hain aur insaan ko angrezi mein home made in ko bola jata hai aur jo vaigyanik bhasha mein homosepiyans karke insaan ko jana chahta hai insaan baki janwar se alag hai kyonki insaan baat kar sakta hai insaan apna dimag se soch sakta hai baki char ladke compare mein hinsa ek insaan ka matter growth bahut hi zyada hai aur insaan apne pair par khada ho sakta hai ek normal insaan ka lifestyle 79 years hai

हार की रिपोर्ट के हिसाब से विश्व में 1 पॉइंट 7 मिलियन इस उपलब्ध है जिनमें से एक से लेकर 2

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  173
WhatsApp_icon
user

.

Hhhgnbhh

1:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखें मेरे हिसाब से इंसान वह होता है जो जिसके अंदर दिल दिमाग और आत्मा यह तीनों चीजों का संतुलन हो तो इंसान तो होता है यह तीन चीजों से बना हुआ होता है और अगर हम इंसानियत की बात करें तो इंसानियत तब होती है जब इंसान दिल दिमाग और अपनी आत्मा को संतुलन के अंदर रख कर सही तरीके से प्रयोग कर कर एक सही चीज और उसके लिए एक सही रिजल्ट लेकर आता है तो उसे मेरे को लगता है कि हम कहते हैं इंसानियत और आप इसे जानते ही होंगे आप को इस आप पर भी देखा कि आपको काफी ज्यादा अलग-अलग प्रकार के आपको आंसर मिलेंगे उत्तर मिलेंगे जवाब इस क्वेश्चन के तो मेरे हिसाब से तो इसका उत्तर एक यह है कि इंसान जो होता है वह अपने दिल और दिमाग को जोड़ता है और अपनी आत्मा को एकजुट करके रखता है दोनों के साथ तो उसे इंसान कहते हैं जरूरी नहीं है कि 2819 और एक मुंह वाले को हम इंसान कहते हैं हो सकता है कि वह इंसान के रूप उसके अंदर जरूर हो पर इंसानियत नाम की चीज ना हो और मेरे को ऐसा लगता है कि इंसानियत ही वह एक चीज होती है जो इंसान को इंसान बनाती है और इंसान को वह इंसानियत अगर ना हो इंसान के अंदर इंसान और जानवर के अंदर कोई फर्क नहीं पड़ता

dekhen mere hisab se insaan vaah hota hai jo jiske andar dil dimag aur aatma yah tatvo chijon ka santulan ho toh insaan toh hota hai yah teen chijon se bana hua hota hai aur agar hum insaniyat ki baat kare toh insaniyat tab hoti hai jab insaan dil dimag aur apni aatma ko santulan ke andar rakh kar sahi tarike se prayog kar kar ek sahi cheez aur uske liye ek sahi result lekar aata hai toh use mere ko lagta hai ki hum kehte hain insaniyat aur aap ise jante hi honge aap ko is aap par bhi dekha ki aapko kaafi zyada alag alag prakar ke aapko answer milenge uttar milenge jawab is question ke toh mere hisab se toh iska uttar ek yah hai ki insaan jo hota hai vaah apne dil aur dimag ko Jodta hai aur apni aatma ko ekjut karke rakhta hai dono ke saath toh use insaan kehte hain zaroori nahi hai ki 2819 aur ek mooh waale ko hum insaan kehte hain ho sakta hai ki vaah insaan ke roop uske andar zaroor ho par insaniyat naam ki cheez na ho aur mere ko aisa lagta hai ki insaniyat hi vaah ek cheez hoti hai jo insaan ko insaan banati hai aur insaan ko vaah insaniyat agar na ho insaan ke andar insaan aur janwar ke andar koi fark nahi padta

देखें मेरे हिसाब से इंसान वह होता है जो जिसके अंदर दिल दिमाग और आत्मा यह तीनों चीजों का सं

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  195
WhatsApp_icon
user

PiNkI SiNgH

Ise graduate(BE)

0:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंसान एक मानव जाती है

insaan ek manav jaati hai

इंसान एक मानव जाती है

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  110
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  1  Dislikes    views  171
WhatsApp_icon
user

Rahul kumar

Junior Volunteer

0:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंसान इंसान एक ऐसा प्राणी है जो कि छोड़ सकता है समझ सकता है फील कर सकता है

insaan insaan ek aisa prani hai jo ki chod sakta hai samajh sakta hai feel kar sakta hai

इंसान इंसान एक ऐसा प्राणी है जो कि छोड़ सकता है समझ सकता है फील कर सकता है

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  478
WhatsApp_icon
user

Gunjan

Junior Volunteer

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमसे बात करें कि इंसान क्या है तो इंसान ही आने के मानव जो है वह खुदा का बनाया हुआ जो है वह एक बहुत ही महत्वपूर्ण अंग है जो कि के सिविल सोसाइटी को चलाने में महत्वपूर्ण रखता है सारे जो है वह इकोलॉजिकल बैलेंस जो है वह इंसान के कारण भी बनते हैं जो है वह विकास की दर में भी अपना योगदान देता है

humse baat kare ki insaan kya hai toh insaan hi aane ke manav jo hai vaah khuda ka banaya hua jo hai vaah ek bahut hi mahatvapurna ang hai jo ki ke civil society ko chalane mein mahatvapurna rakhta hai saare jo hai vaah ikolajikal balance jo hai vaah insaan ke karan bhi bante hain jo hai vaah vikas ki dar mein bhi apna yogdan deta hai

हमसे बात करें कि इंसान क्या है तो इंसान ही आने के मानव जो है वह खुदा का बनाया हुआ जो है वह

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  356
WhatsApp_icon
user

Geet Awadhiya

Aspiring Software Developer

0:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंसान बीमार जो है वह दुनिया में एक प्रकार का जीव है जो कि काफी ज्यादा मस्तिष्क और काफी ज्यादा बुद्धि वाले मस्त के साथ आया और यह जो योनि दूसरे जियो के मुकाबले काफी ज्यादा अद्भुत मानी जाती है हमारे पास जो सुनता है वह दूसरे जानवरों के पास नहीं है दूसरे जियो के पास नहीं है

insaan bimar jo hai vaah duniya mein ek prakar ka jeev hai jo ki kaafi zyada mastishk aur kaafi zyada buddhi waale mast ke saath aaya aur yah jo yoni dusre jio ke muqable kaafi zyada adbhut maani jaati hai hamare paas jo sunta hai vaah dusre jaanvaro ke paas nahi hai dusre jio ke paas nahi hai

इंसान बीमार जो है वह दुनिया में एक प्रकार का जीव है जो कि काफी ज्यादा मस्तिष्क और काफी ज्य

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  385
WhatsApp_icon
user

Apurva D

Optimistic Coder

1:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दुखी बहुत याद आता है बट फिर भी इंसान के बारे में बताना चाहूंगी कि मनुष्य को लेकर उसका हम पसंद करते हैं तो यह के बारे में बोल रहे हो सकती हो मतलब हॉट है प्रेम है तो उस हिसाब से बातें करता है तो हम ऐसे शब्द का उच्चारण करते हैं तो इंसान इंसानियत के नाते सब लोगों को हर किसी को ना रहना किसी वजह से

dukhi bahut yaad aata hai but phir bhi insaan ke bare mein bataana chahungi ki manushya ko lekar uska hum pasand karte hain toh yah ke bare mein bol rahe ho sakti ho matlab hot hai prem hai toh us hisab se batein karta hai toh hum aise shabd ka ucharan karte hain toh insaan insaniyat ke naate sab logo ko har kisi ko na rehna kisi wajah se

दुखी बहुत याद आता है बट फिर भी इंसान के बारे में बताना चाहूंगी कि मनुष्य को लेकर उसका हम प

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  164
WhatsApp_icon
user

Vatsal

Engineering Student

1:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंसान अथवा मनुष्य भगवान की एक रचना है भगवान द्वारा बनाया हुआ एक जीवित प्राणी है जो कि जिसको एक शरीर प्राप्त होता है इंसान कोई फर्क तुलना करें दिमाग होता है जानवर के पास भी शरीर होता है इंसान के पास भी दिमाग है इंसान के पास भी सही है लेकिन जो एक चीज किस जानवर के पास बेशक दिमाग है बेशक इंसान से भी ज्यादा तीव्र होती है यदि आप किसी जानवर को पीछे से टक्कर ले सके वह है क्यों कोई चीज मालूम है कब क्या चीज करनी है क्या चीज सही है क्या चीज गलत है इंसान को लेकिन जानवर को नहीं पता यह बहुत खूब इंसानों में जो चीजें तो होनी चाहिए जो फीलिंग होनी चाहिए होनी चाहिए भगवान से कि वह सोच कर कुछ कहा करें वह चीज में तो वही एक इंसान द्वारा बनाया गया प्राणी जानवरों पर आता है जो भी कुछ कह नहीं सकते

insaan athva manushya bhagwan ki ek rachna hai bhagwan dwara banaya hua ek jeevit prani hai jo ki jisko ek sharir prapt hota hai insaan koi fark tulna kare dimag hota hai janwar ke paas bhi sharir hota hai insaan ke paas bhi dimag hai insaan ke paas bhi sahi hai lekin jo ek cheez kis janwar ke paas beshak dimag hai beshak insaan se bhi zyada tivra hoti hai yadi aap kisi janwar ko peeche se takkar le sake vaah hai kyon koi cheez maloom hai kab kya cheez karni hai kya cheez sahi hai kya cheez galat hai insaan ko lekin janwar ko nahi pata yah bahut khoob insano mein jo cheezen toh honi chahiye jo feeling honi chahiye honi chahiye bhagwan se ki vaah soch kar kuch kaha kare vaah cheez mein toh wahi ek insaan dwara banaya gaya prani jaanvaro par aata hai jo bhi kuch keh nahi sakte

इंसान अथवा मनुष्य भगवान की एक रचना है भगवान द्वारा बनाया हुआ एक जीवित प्राणी है जो कि जिसक

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  214
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!