मैं जिस काम के बारे में सोचता हूँ, उसे पूरा नहीं कर पाटा, क्या करूँ?...


play
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे छोटे में इस काम के बारे में आप सोचते हो सब पूरा असली नहीं कर पाते हैं क्योंकि नंबर 1 पापा लिस्ट में डूबे हुए और नंबर तो गिर सकता कल करूंगा कल करूंगा कल करूंगा उसको लंबा खींचते हैं दरअसल इस संसार में कल कभी आया ही नहीं जो कुछ है वह आज है अब है काल करे सो आज कर आज करे सो अब पल में प्रलय होगी बहुरि करेगा कब बड़े-बड़े विद्वान मनीषी लड़ी है कहते हैं कि जो कुछ करना है वो सब करना है अपने अंग्रेजी में इसकी कहानी सुनी होगी तो इसलिए मेरे मित्र जो कुछ करना है उसको हम क्रियान्वित करें सोच करना छोड़ दें सोचते सोचते तो रावण अपने संकल्प को पूरा ना कर सका रावण की चाहता तो तीनों कार्यों को कर सकता था उसकी फैमिली की थी उस कितनी प्रॉपर्टी अपनी क्षमताएं थी लेकिन वह हमेशा यह करता रहा कल कर लूंगा कल कर दूंगा बहुत ही जी है भाई आपको खेल है लेकिन ऐसा करती करती है उसकी मृत्यु हो गई लेकिन वह यूज न पूरी हो सकी इसी प्रकार मेरे मित्र कभी भी आदमी को सोचें आप सोच रखी बात है लेकिन इतना ना सोचे कि सारा समय सोचते नहीं लगा देंगे तो प्रियांशी कब करेंगे और बिना ओवन के पता नहीं आप का मन कैसे लग जाता है आम आदमी को हमेशा पूरा करना चाहिए तीन प्रकार के पानी होते हैं नमस्कार के पानी भरते हैं काम तो बहुत सोच समझ कर ने के बाद काम हाथ में लेते हैं लेकिन पूरा करते हैं मध्यम श्रेणी के इंसान होते हैं जुकाम तो ले लेते हैं लेकिन थोड़ी बताए भी तुम्हारी कठिनाई आई उन्होंने काम छोड़ा और तृतीय श्रेणी के इंसान होते हैं जो बाधाओं के डर से काम आते ही नहीं देते पर करते ही नहीं

mere chote mein is kaam ke bare mein aap sochte ho sab pura asli nahi kar paate hain kyonki number 1 papa list mein doobe hue aur number toh gir sakta kal karunga kal karunga kal karunga usko lamba khichte hain darasal is sansar mein kal kabhi aaya hi nahi jo kuch hai wah aaj hai ab hai kaal kare so aaj kar aaj kare so ab pal mein pralay hogi bahuri karega kab bade bade vidwan manishi ladi hai kehte hain ki jo kuch karna hai vo sab karna hai apne angrezi mein iski kahani suni hogi toh isliye mere mitra jo kuch karna hai usko hum kriyanwit karein soch karna chod de sochte sochte toh ravan apne sankalp ko pura na kar saka ravan ki chahta toh tatvo karyo ko kar sakta tha uski family ki thi us kitni property apni kshamataen thi lekin wah hamesha yeh karta raha kal kar lunga kal kar dunga bahut hi ji hai bhai aapko khel hai lekin aisa karti karti hai uski mrityu ho gayi lekin wah use na puri ho saki isi prakar mere mitra kabhi bhi aadmi ko sochen aap soch rakhi baat hai lekin itna na soche ki saara samay sochte nahi laga denge toh priyanshi kab karenge aur bina oven ke pata nahi aap ka man kaise lag jata hai aam aadmi ko hamesha pura karna chahiye teen prakar ke pani hote hain namaskar ke pani bharte hain kaam toh bahut soch samajh kar ne ke baad kaam hath mein lete hain lekin pura karte hain madhyam shreni ke insaan hote hain zukam toh le lete hain lekin thodi bataye bhi tumhari kathinai I unhone kaam choda aur tritiya shreni ke insaan hote hain jo badhaon ke dar se kaam aate hi nahi dete par karte hi nahi

मेरे छोटे में इस काम के बारे में आप सोचते हो सब पूरा असली नहीं कर पाते हैं क्योंकि नंबर 1

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  364
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!