इतिहास की अवधारणा एवं विभाजन महत्व का विवरण कीजिए?...


user

Purushottam Choudhary

ब्राह्मण Next IAS institute गार्ड

2:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप अपने देश के इतिहास कौन से इतिहास के विषय में जानना चाहते हैं हमारे देश के इतिहास कोई बुद्धिजीवी ने जो लिखा नहीं था देश विरोधियों ने इतिहास लिखा था इस इतिहास को जानकर क्या करेंगे आप यह तो चीन के सह पर कम्युनिस्ट पार्टी ने इतिहास लिखा था और एक तरफ से मान के चलिए की इंदिरा गांधी राज करते रहे नेहरू राज करते रहे तो चीन शांत रहता था कुछ दिन के लिए आप अपने अनुसार इतिहास लिखना शुरू किया इतिहास में हमारे यहां क्या है कि हमारे देश के जो महान क्रांतिकारी वीर 20 सबसे जी हां यह सब का तो एक तरफ से एक जैसे नहीं होता है कि किताबों के बीच में कहीं चार लाइन डाल दिए बस उसी तरह के तो डाले गए हैं और यह विभाजन का ही नहीं था क्योंकि हम किसी एक को धर्म को हम जिस धर्म के हैं उसी को श्रेष्ठ मानेंगे तो कांग्रेस जिस धर्म के थे उसी धर्म को श्रेष्ठ माना घूमने चमचा तो चीन की चमचागिरी करता था तो उसने उस पैसे के बल पर वहां से जो आते थे चैरिटी के पैसे उस पैसे के बल पर जैसा जैसा चाहते गया वैसा वैसा लिखते भी आई थी आप यही तो हमारे देश की प्यास की अवधारणा है इतिहास लिखा जाएगा आप चिंता मत करिए यह इतिहास में यह भी लिखा जाएगा कि रामचरित मानस में जो भी थी वह सब अधिकार हमारे देश को मैं मिला और राम मंदिर का निर्माण हुआ कश्मीर हमारे देश का सिर्फ मौखिक रूप से अभिन्न अंग था और अब वह हक आके है वहां से हमने भी बाधित जितने भी धाराएं थे सब धाराओं को खत्म कर दिया वह पर गिफ्ट दिया गया था बाइक कांग्रेस उसको खत्म कर दिया गया ठीक है इसलिए धीरे धीरे धीरे जो है हम इतिहास की ओर बढ़ रहे हैं जो हिंदुस्तान में हिंदुत्व की इतिहास होनी चाहिए हमारे देश के वीर नौजवानों का इतिहास होना चाहिए इतिहास जो भी जिस भी तरह की होनी चाहिए उसकी परिकल्पना करना शुरू कर दीजिए वह सब चीज आएगा अब अपने देश की महान बनाता था जो है उसमें एक एक करके पिरोया जाएगा और शानदार तरीके से हमारे देश का इतिहास पूरे विश्व में परचम लहराएगा ठीक है जय भारत

aap apne desh ke itihas kaun se itihas ke vishay me janana chahte hain hamare desh ke itihas koi buddhijeevi ne jo likha nahi tha desh virodhiyon ne itihas likha tha is itihas ko jaankar kya karenge aap yah toh china ke sah par communist party ne itihas likha tha aur ek taraf se maan ke chaliye ki indira gandhi raj karte rahe nehru raj karte rahe toh china shaant rehta tha kuch din ke liye aap apne anusaar itihas likhna shuru kiya itihas me hamare yahan kya hai ki hamare desh ke jo mahaan krantikari veer 20 sabse ji haan yah sab ka toh ek taraf se ek jaise nahi hota hai ki kitabon ke beech me kahin char line daal diye bus usi tarah ke toh dale gaye hain aur yah vibhajan ka hi nahi tha kyonki hum kisi ek ko dharm ko hum jis dharm ke hain usi ko shreshtha manenge toh congress jis dharm ke the usi dharm ko shreshtha mana ghoomne chamacha toh china ki chamchagiri karta tha toh usne us paise ke bal par wahan se jo aate the charity ke paise us paise ke bal par jaisa jaisa chahte gaya waisa waisa likhte bhi I thi aap yahi toh hamare desh ki pyaas ki avdharna hai itihas likha jaega aap chinta mat kariye yah itihas me yah bhi likha jaega ki ramcharit manas me jo bhi thi vaah sab adhikaar hamare desh ko main mila aur ram mandir ka nirmaan hua kashmir hamare desh ka sirf maukhik roop se abhinn ang tha aur ab vaah haq aake hai wahan se humne bhi badhit jitne bhi dharayen the sab dharaon ko khatam kar diya vaah par gift diya gaya tha bike congress usko khatam kar diya gaya theek hai isliye dhire dhire dhire jo hai hum itihas ki aur badh rahe hain jo Hindustan me hindutv ki itihas honi chahiye hamare desh ke veer naujavanon ka itihas hona chahiye itihas jo bhi jis bhi tarah ki honi chahiye uski parikalpana karna shuru kar dijiye vaah sab cheez aayega ab apne desh ki mahaan banata tha jo hai usme ek ek karke piroya jaega aur shandar tarike se hamare desh ka itihas poore vishwa me parcham laharyaga theek hai jai bharat

आप अपने देश के इतिहास कौन से इतिहास के विषय में जानना चाहते हैं हमारे देश के इतिहास कोई बु

Romanized Version
Likes  105  Dislikes    views  2095
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!