क्या मर्द को घर के काम में हाथ बांटना चाहिए? क्या इससे कुछ अच्छा हो सकता है?...


user

Kishor Kumar Nayak

Yoga Teacher

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आज कल का जो ट्रेन है वह बदल गया है पहले की बात कुछ और थी आज की बात कुछ और है आजकल के मर्द है उनको घर के काम में हाथ बढ़ाना चाहिए अपनी पत्नी है उसके साथ भी घरेलू काम करने से उनका आपसी रिश्ता तो बेहतर होता है एक दूसरे से समय गुजारने का मौका मिलता है एक दूसरे से बात शेयर करने का मौका मिलता है और उनकी रिलेशनशिप हो बहुत अच्छी हो जाती है परिवार में भी है तो घर के छोटे-मोटे काम है वह करने चाहिए इससे हमारी समझ भी बढ़ती है आपकी रिश्ता भी बेहतर होता है और परिवार से बढ़कर कुछ नहीं होता

dekhiye aaj kal ka jo train hai vaah badal gaya hai pehle ki baat kuch aur thi aaj ki baat kuch aur hai aajkal ke mard hai unko ghar ke kaam me hath badhana chahiye apni patni hai uske saath bhi gharelu kaam karne se unka aapasi rishta toh behtar hota hai ek dusre se samay gujarne ka mauka milta hai ek dusre se baat share karne ka mauka milta hai aur unki Relationship ho bahut achi ho jaati hai parivar me bhi hai toh ghar ke chote mote kaam hai vaah karne chahiye isse hamari samajh bhi badhti hai aapki rishta bhi behtar hota hai aur parivar se badhkar kuch nahi hota

देखिए आज कल का जो ट्रेन है वह बदल गया है पहले की बात कुछ और थी आज की बात कुछ और है आजकल के

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  97
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दृष्टि की गाड़ी दो पहियों पर विराजित है किसी एक विधि हाथ पटा रही है खर्चा चलाने में कमाने में आर्थिक रूप से हटाने के लिए परिवार परिवार

drishti ki gaadi do pahiyon par virajit hai kisi ek vidhi hath pata rahi hai kharcha chalane me kamane me aarthik roop se hatane ke liye parivar parivar

दृष्टि की गाड़ी दो पहियों पर विराजित है किसी एक विधि हाथ पटा रही है खर्चा चलाने में कमाने

Romanized Version
Likes  55  Dislikes    views  820
WhatsApp_icon
user

Mahendra kumar ranka

Yoga Teacher/ Business

1:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपने अभी के टाइम लॉकबॉर्न के समय एक अच्छा प्रश्न कर लिया क्या मर्द को घर में काम में हाथ बटाना सी मेरे हिसाब से तो घर आपका भी है तो घर में काम करना तो अच्छी बात है अभी तो चारों ओर से भी पधारो घर में काम हाथ फट आजा एक दूसरे की मदद करके हम आगे बढ़ सकते हैं वह गाना अच्छा है ना साथी हाथ बढ़ाना एक अकेला थक जाए तो मिल के साथ निभाना साथिया ना इसलिए घर के काम में अपने से मिलकर काम करने में अलग आनंद आता है और अपने भी कार्य क्षमता बढ़ती है प्रत्येक काम में समर्थ समर्थ रहते कभी भी कोई भी दिक्कत असीदा मैं अपना काम होता है करके उस काम को अपने समय अनुसार पूरा कर सकते इसीलिए कोई भी काम घर का हो चाहे बाहर का से भारत के लिए छह औरतों के लिए या घर के किसी भी बच्चे के लिए बूढ़े सब काम में सब को हाथ बढ़ाना चाहिए सब काम की छोटे से छोटे और बड़े से बड़े कान की झांझर है मैं खुद स्वयं भी सारे काम में हाथ बढ़ाता हूं सारे के सारे काम साथ मिलकर करती है इससे आराम से काम हो जाता है और घर परिवार को भी अच्छा लगता है उन्हें भी रिलीफ मिलती है

namaskar aapne abhi ke time lakbarn ke samay ek accha prashna kar liya kya mard ko ghar me kaam me hath batana si mere hisab se toh ghar aapka bhi hai toh ghar me kaam karna toh achi baat hai abhi toh charo aur se bhi padhaaro ghar me kaam hath phat aajad ek dusre ki madad karke hum aage badh sakte hain vaah gaana accha hai na sathi hath badhana ek akela thak jaaye toh mil ke saath nibhana sathiya na isliye ghar ke kaam me apne se milkar kaam karne me alag anand aata hai aur apne bhi karya kshamta badhti hai pratyek kaam me samarth samarth rehte kabhi bhi koi bhi dikkat asida main apna kaam hota hai karke us kaam ko apne samay anusaar pura kar sakte isliye koi bhi kaam ghar ka ho chahen bahar ka se bharat ke liye cheh auraton ke liye ya ghar ke kisi bhi bacche ke liye budhe sab kaam me sab ko hath badhana chahiye sab kaam ki chote se chote aur bade se bade kaan ki jhanjhar hai main khud swayam bhi saare kaam me hath badhata hoon saare ke saare kaam saath milkar karti hai isse aaram se kaam ho jata hai aur ghar parivar ko bhi accha lagta hai unhe bhi relief milti hai

नमस्कार आपने अभी के टाइम लॉकबॉर्न के समय एक अच्छा प्रश्न कर लिया क्या मर्द को घर में काम म

Romanized Version
Likes  30  Dislikes    views  375
WhatsApp_icon
user

Awdhesh Singh

Former IRS, Top Quora Writer, IAS Educator

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए अगर मर्द और औरत दोनों जने बाहर का काम करते हैं दोनों जने ऑफिस की ड्यूटी करते हैं तो इस बात का बिल्कुल तर्क बनता है कि उनको घर के जो काम है उसको भी बांटना चाहिए| लेकिन जो हमारी टिपिकल हों सोसायटी है उसके अंदर क्या होता है कि जो मर्द होते हैं वह बाहर का सारा काम करते हैं, नौकरी करते हैं और उसके बाद में तनख्वाह कमाते हैं घर के लिए लेकर आते हैं और जो महिलाएं होती हैं वह घर का काम करती हैं तो इस तरीके से काम के बीच में पहले से ही बंटवारा है तो फिर दोबारा काम के बटवारा जो है वह उचित नहीं होगा लेकिन हां अगर दोनों जने बाहर काम करते हैं तो मेरे ख्याल से उनको घर का काम भी बांटना चाहिए|

dekhiye agar mard aur aurat dono jane bahar ka kaam karte hain dono jane office ki duty karte hain toh is baat ka bilkul tark baata hai ki unko ghar ke jo kaam hai usko bhi bantana chahiye lekin jo hamari tipikal ho sociaty hai uske andar kya hota hai ki jo mard hote hain vaah bahar ka saara kaam karte hain naukri karte hain aur uske baad mein tankhvaah kamate hain ghar ke liye lekar aate hain aur jo mahilaye hoti hain vaah ghar ka kaam karti hain toh is tarike se kaam ke beech mein pehle se hi batwara hai toh phir dobara kaam ke batwara jo hai vaah uchit nahi hoga lekin haan agar dono jane bahar kaam karte hain toh mere khayal se unko ghar ka kaam bhi bantana chahiye

देखिए अगर मर्द और औरत दोनों जने बाहर का काम करते हैं दोनों जने ऑफिस की ड्यूटी करते हैं तो

Romanized Version
Likes  41  Dislikes    views  2116
WhatsApp_icon
user

Abhay Pratap

Advocate | Social Welfare Activist

0:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मर्द तो वह है जो घर में भी काम में हाथ बटाए और समाज में भी ऐसा नहीं है कि मर्दों को घर में हैसियत नहीं करना चाहिए उनका सहयोग नहीं होना चाहिए संपूर्ण तरह से अभी भी घर के लिए दायित्व कार है

mard toh vaah hai jo ghar mein bhi kaam mein hath bataye aur samaj mein bhi aisa nahi hai ki mardon ko ghar mein haisiyat nahi karna chahiye unka sahyog nahi hona chahiye sampurna tarah se abhi bhi ghar ke liye dayitva car hai

मर्द तो वह है जो घर में भी काम में हाथ बटाए और समाज में भी ऐसा नहीं है कि मर्दों को घर में

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  360
WhatsApp_icon
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कि क्या मर्द को घर के काम में हाथ बटाना चाहिए बांटना चाहिए क्या इससे कुछ अच्छा हो सकता है जी हां अभी आज के जमाने में यह चीज नहीं चलती है कि 4:00 पर काम करें घर का काम मृत्यु भी कर सकते हैं पुरुष भी कर सकते हैं ठीक है और यह तो अच्छी बात है कि हाथ बढ़ाना चाहिए ठीक है चाहे आप अपनी मम्मी का मदद करो या पत्नी का मदद करो या मत करो ठीक है अच्छी बात है बड़े बड़े होटल में जाइए कुकिंग कौन करता है मिल लोग करते हैं मर्द लोग करते हैं ठीक है मर्द मर्द मर्द का काम कौन करता है अच्छी बात है और इसमें कोई छोटी बात भी नहीं कोई छोटा इंसान भी नहीं होता छोटी बात भी नहीं है ठीक है अच्छी बात है धन्यवाद

aapka prashna hai ki kya mard ko ghar ke kaam mein hath batana chahiye bantana chahiye kya isse kuch accha ho sakta hai ji haan abhi aaj ke jamane mein yah cheez nahi chalti hai ki 4 00 par kaam kare ghar ka kaam mrityu bhi kar sakte hain purush bhi kar sakte hain theek hai aur yah toh achi baat hai ki hath badhana chahiye theek hai chahen aap apni mummy ka madad karo ya patni ka madad karo ya mat karo theek hai achi baat hai bade bade hotel mein jaiye coocking kaun karta hai mil log karte hain mard log karte hain theek hai mard mard mard ka kaam kaun karta hai achi baat hai aur isme koi choti baat bhi nahi koi chota insaan bhi nahi hota choti baat bhi nahi hai theek hai achi baat hai dhanyavad

आपका प्रश्न है कि क्या मर्द को घर के काम में हाथ बटाना चाहिए बांटना चाहिए क्या इससे कुछ अच

Romanized Version
Likes  254  Dislikes    views  5258
WhatsApp_icon
play
user

Kavita Panyam

Certified Award Winning Counseling Psychologist

1:46

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल इतना खेड़ा आप मुझे बताइए कहां लिखा गया है कि मर्द को घर के काम नहीं करना चाहिए और तो को बाहर का काम नहीं करना चाहिए घर का भी काम करना चाहिए बच्चे को पैदा करना चाहिए यह कहां लिखा हुआ मर्द अगर घर के काम करेंगे तो औरत का हेल्प नहीं करते अपनी रिस्पांसिबिलिटी को निभाना कहते हैं आप समझ रहे थे डिफरेंस क्या है मर्द जब धात बताना नहीं चाहिए मर्दों का कौन से बनती है व्हाट यू मीन बाय ना बताना घर में रहते नहीं है क्या जिस घर में एक सामने रहता है वहां के मर्द बच्चे बूढ़े सब को हेल्प करना चाहिए सारा का सारा काम घर की औरतों पर नहीं करना चाहिए यही कारण है कि आज शादियों में तनाव है और प्रॉब्लम्स है यह कैसा सवाल है आपका मर्द अगर घर में काम करेंगे तो वह उनके रिस्पांसिबिलिटी को आधा करेंगे हाथ बढ़ाना है बांटना क्या कर रहा है क्या लेडी पर काम करके किस पर किस पर आप एहसान करना चाहते हैं अपनी वाइफ पर कैसा है शान तो इसका मतलब यह है कि आपके लिए खाना बना कर आकर कपड़े धोकर धोकर साफ रखे आपकी बीवी आप पहचान तो क्या आप उसको सैलरी देंगे क्या आप उसको इसके पैसे देंगे अपनी बीवी को क्या आप महीना महीना यह हफ्ता हफ्ता है दिन का पैसा दे सकते हैं और उनके सर्विसेज के लिए नहीं ना तो वैसे ही आप अगर घर में काम करते हैं तो अपनी रिस्पांसिबिलिटी को अदा करते हैं जो कि आपका ड्यूटी है इट्स राइट रिमांड पर ड्यूटी पर आपको करना चाहिए यह कोई हाथ बढ़ाना है बांटने वाली बात नहीं है यह बिंदास आपका काम है और आपको घर घर के सभी लोगों को काम करना चाहिए सारा का सारा बोझ अभी भी पर नहीं आना चाहिए घर की औरत पसारा बॉस नहीं आ रहा है ऐसा आपको सबसे पहले समझना चाहिए कि मर जो है बाहर अगर काम करता है तो औरत भी बाहर काम करती हो और घर के भी करती है आपको चाहिए कि आप घर की औरत को सपोर्ट करें

aapka sawaal itna kheda aap mujhe bataye kahaan likha gaya hai ki mard ko ghar ke kaam nahi karna chahiye aur toh ko bahar ka kaam nahi karna chahiye ghar ka bhi kaam karna chahiye bacche ko paida karna chahiye yah kahaan likha hua mard agar ghar ke kaam karenge toh aurat ka help nahi karte apni responsibility ko nibhana kehte hai aap samajh rahe the difference kya hai mard jab dhat bataana nahi chahiye mardon ka kaunsi banti hai what you meen bye na bataana ghar mein rehte nahi hai kya jis ghar mein ek saamne rehta hai wahan ke mard bacche budhe sab ko help karna chahiye saara ka saara kaam ghar ki auraton par nahi karna chahiye yahi karan hai ki aaj shadiyo mein tanaav hai aur problems hai yah kaisa sawaal hai aapka mard agar ghar mein kaam karenge toh vaah unke responsibility ko aadha karenge hath badhana hai bantana kya kar raha hai kya lady par kaam karke kis par kis par aap ehsaan karna chahte hai apni wife par kaisa hai shan toh iska matlab yah hai ki aapke liye khana bana kar aakar kapde dhokar dhokar saaf rakhe aapki biwi aap pehchaan toh kya aap usko salary denge kya aap usko iske paise denge apni biwi ko kya aap mahina mahina yah hafta hafta hai din ka paisa de sakte hai aur unke services ke liye nahi na toh waise hi aap agar ghar mein kaam karte hai toh apni responsibility ko ada karte hai jo ki aapka duty hai its right remand par duty par aapko karna chahiye yah koi hath badhana hai baantne wali baat nahi hai yah bindas aapka kaam hai aur aapko ghar ghar ke sabhi logo ko kaam karna chahiye saara ka saara bojh abhi bhi par nahi aana chahiye ghar ki aurat pasaaraa boss nahi aa raha hai aisa aapko sabse pehle samajhna chahiye ki mar jo hai bahar agar kaam karta hai toh aurat bhi bahar kaam karti ho aur ghar ke bhi karti hai aapko chahiye ki aap ghar ki aurat ko support karen

आपका सवाल इतना खेड़ा आप मुझे बताइए कहां लिखा गया है कि मर्द को घर के काम नहीं करना चाहिए औ

Romanized Version
Likes  59  Dislikes    views  797
WhatsApp_icon
user

Suraj Shaw

Entrepreneur, Career Counsellor

1:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड्स आप देखिए जो क्वेश्चन पूछा गया है क्या मेरे को घर के काम में हाथ बटाना चाहिए बिल्कुल बैठाना चाहिए जो हमारी सोसाइटी है वह यह महान बैठी है कि जो बाहर के काम है वह मर्द करेंगे और जो घर के काम है वह औरत करेंगे लेकिन इन चीजों की शुरुआत कब हुई थी उस टाइम पर वूमेन इतनी सक्षम नहीं थी कि वह बाहर के काम कर सके उनको घर के काम करने के लिए ट्रेन क्या जाता था वह घर पर काम तक सीमित रहते थे लेकिन यह चीज आगे चलते चलते लोगों को माइंडसेट बन गई लेकिन अब ऐसा नहीं है अब जो मन इतनी सक्षम है कि वह मर्दों से ज्यादातर कम कर सकती तो उनको पूरा मौका मिलना चाहिए कि वह बाहर काम करें और साथ ही मर्दों की कोई बर्थ राइट नहीं है कि वह बाहरी काम कर उनको अपने घर के काम में आता पटाना चाहिए वह काम करें जो वह कर सकते हैं जरूर ऐसा ऐसा कहीं नहीं लिखा कि घर के काम में भी फीमेल से करेंगे और बाहर के काम में ऐसा कहीं नहीं लिखा हूं ना तो अगर कोई सेंसिबल हस्बैंड है क्वेश्चन सफल आदमी है तो घर के काम जरूर करेगा घर के कामों में जरूरत पड़ेगा इसमें कुछ छोटा होने वाली बात यह छोटा मानने वाली बात नहीं है खुद को एडजस्ट हो और यह कोई भी कर सकता है ना ऐसा ऐसा कहीं नहीं लिखा कि वह मेल सिया फीमेल सिंगर

hello friends aap dekhiye jo question poocha gaya hai kya mere ko ghar ke kaam mein hath batana chahiye bilkul baithana chahiye jo hamari society hai vaah yah mahaan baithi hai ki jo bahar ke kaam hai vaah mard karenge aur jo ghar ke kaam hai vaah aurat karenge lekin in chijon ki shuruat kab hui thi us time par women itni saksham nahi thi ki vaah bahar ke kaam kar sake unko ghar ke kaam karne ke liye train kya jata tha vaah ghar par kaam tak simit rehte the lekin yah cheez aage chalte chalte logo ko mindset ban gayi lekin ab aisa nahi hai ab jo man itni saksham hai ki vaah mardon se jyadatar kam kar sakti toh unko pura mauka milna chahiye ki vaah bahar kaam kare aur saath hi mardon ki koi birth right nahi hai ki vaah bahri kaam kar unko apne ghar ke kaam mein aata patana chahiye vaah kaam kare jo vaah kar sakte hai zaroor aisa aisa kahin nahi likha ki ghar ke kaam mein bhi female se karenge aur bahar ke kaam mein aisa kahin nahi likha hoon na toh agar koi sensibal husband hai question safal aadmi hai toh ghar ke kaam zaroor karega ghar ke kaamo mein zarurat padega isme kuch chota hone wali baat yah chota manne wali baat nahi hai khud ko adjust ho aur yah koi bhi kar sakta hai na aisa aisa kahin nahi likha ki vaah male sia female singer

हेलो फ्रेंड्स आप देखिए जो क्वेश्चन पूछा गया है क्या मेरे को घर के काम में हाथ बटाना चाहिए

Romanized Version
Likes  76  Dislikes    views  918
WhatsApp_icon
user

Dr. Priya Shatanjib Jha

Psychologist|Counselor|Dentist

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्ते दोस्तों मेरी या नहीं डॉ प्रिया झा के तरफ से आप सब को दिन की शुभकामनाएं अब यह जो प्रश्न है कि क्या मर्द को घर के काम में हाथ बढ़ाना चाहिए अभी देखिए आपके जो रिलेटेड तो आप कई लोगों को जानते होंगे लाइफ में जो अमेरिका में या तो इंग्लैंड में ऑस्ट्रेलिया में रहते होंगे तो वहां पर हस्बैंड वाइफ दोनों ही बाहर काम करते हैं और दोनों ही घर के काम भी करते हैं बर्तन मांजना खाना पकाना यार जो भी है सब काम करना पर यह टाइप का क्वेश्चन है यह हमारे ही सोसाइटी में या तो ऐसे देशों में जहां पर पहले से ही औरतें जो है वह घर के काम में है और जो आदमी है वह बाहर का काम करते हैं यह जो माइंडसेट है यह जो विचारधारा है यह जिन देशों में पहले थी और अभी भी है वहीं पर ऐसे टाइप के क्वेश्चंस प्रश्न आती हैं तो बेसिकली आज इंडियन भारतीय हम सब को यह चीज अभी समझ लेना चाहिए हम सब सब औरतें और जो जो फादर्स हैं सब अपने लड़के जो बैठे हैं जो बैठे हैं उनके जो उन सबको प्लीज बताइए कि घर के काम तुम्हें करने आने चाहिए क्योंकि कल को तुम्हारी जो वाइफ है वह भी बाहर का काम करेगी तू वह घर का काम अकेले एक ही इंसान कैसे कुछ हो पाएगा इसलिए डिक्शनरी ऑल मैन शुड बी डूइंग एवरीथिंग इन दा हाउस आल्सो आपको मेरी बात बता दूं कि मेरे पिता मेरे भाई और बाकी जो लोग हैं लाइफ में सब लोग घर के काम करते हैं एंड ऋषि कुल एवरीव्हेयर इन माय हाउस इन माय मोबाइल इस आल्सो इन जो आदमी है वह काफी सारा काम करते हैं टुडे से निकली आप लड़का हो आप लड़की हो आप जो भी कर रहे हो सब को सब कुछ आना चाहिए एंड ऑफ द स्टोरी थैंक यू

namaste doston meri ya nahi Dr. priya jha ke taraf se aap sab ko din ki subhkamnaayain ab yah jo prashna hai ki kya mard ko ghar ke kaam mein hath badhana chahiye abhi dekhiye aapke jo related toh aap kai logo ko jante honge life mein jo america mein ya toh england mein austrailia mein rehte honge toh wahan par husband wife dono hi bahar kaam karte hai aur dono hi ghar ke kaam bhi karte hai bartan manjana khana pakana yaar jo bhi hai sab kaam karna par yah type ka question hai yah hamare hi society mein ya toh aise deshon mein jaha par pehle se hi auraten jo hai vaah ghar ke kaam mein hai aur jo aadmi hai vaah bahar ka kaam karte hai yah jo mindset hai yah jo vichardhara hai yah jin deshon mein pehle thi aur abhi bhi hai wahi par aise type ke questions prashna aati hai toh basically aaj indian bharatiya hum sab ko yah cheez abhi samajh lena chahiye hum sab sab auraten aur jo jo fathers hai sab apne ladke jo baithe hai jo baithe hai unke jo un sabko please bataye ki ghar ke kaam tumhe karne aane chahiye kyonki kal ko tumhari jo wife hai vaah bhi bahar ka kaam karegi tu vaah ghar ka kaam akele ek hi insaan kaise kuch ho payega isliye dictionary all man should be doing everything in the house aalso aapko meri baat bata doon ki mere pita mere bhai aur baki jo log hai life mein sab log ghar ke kaam karte hai and rishi kul evariveyar in my house in my mobile is aalso in jo aadmi hai vaah kaafi saara kaam karte hai today se nikli aap ladka ho aap ladki ho aap jo bhi kar rahe ho sab ko sab kuch aana chahiye and of the story thank you

नमस्ते दोस्तों मेरी या नहीं डॉ प्रिया झा के तरफ से आप सब को दिन की शुभकामनाएं अब यह जो प्र

Romanized Version
Likes  29  Dislikes    views  2191
WhatsApp_icon
user

Chandraprakash Joshi

Ex-AGM RBI & CEO@ixamBee.com

1:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जेफ्फ बेज़ोस जो अमेज़न के सी.ई.ओ है और जिनका नाम अभी वर्ल्ड के सबसे रिचेस्ट पर्सन के रूप में आया था जो बिल गेट्स से भी ज्यादा रिच हो गए हैं | वह रोज अपने घर में बर्तन साफ करते हैं, जी हाँ ! वह सबसे दुनिया के अमीर आदमियों में से हैं और वह रोज अपने बर्तन घर पे साफ करते हैं| आप सही सुन रहे हैं, आपको सुनकर लग रहा होगा कि ऐसी कौनसी जरूरत आ गई है ? क्या वह नौकर नहीं रख सकते ? लेकिन उन्हें अच्छा लगता है, वह ये करते आ रहे है पहले से और सोसाइटी में सभी लोग घर में काम करते हैं | तो प्रश्न यह है कि क्या घर के काम में हाथ बटाना फायदेमंद होता है ? तो मे ये नही बोलुंगा कि बर्तन मान्झना हि एक चीज ही लेकींन परिवार, परिवार एक इकॉनॉमी है इसमें हस्बैंड और वाइफ पति और पत्नी और बच्चे भी सब मिलकर साथ में काम करते हैं | तो अलग-अलग समय के हिसाब से एक टाइम था जब आदमी जो था केवल मर्द जो था वो बाहर जाकर काम करता था उस जंगल से ज्यादा डिफिकल्ट काम करके लाना होता था और औरत घर में काम करती थी लेकिन आज के टाइम में जहां पर औरतें भी नौकरी कर रही हैं ज्यादातर परिवारों में, शहरों में, औरते भी नौकरी कर रही है | तो यह जरूरी है कि घर के काम में आदमी को भी हाथ बढ़ाना पड़ेगा उससे बरडेन भी शेयर होता है और उससे परिवार में एक अच्छा कल्चर डेवलप होता है आपके बच्चे भी ये चीज देखेंगे कि हम मिलकर रहते हैं और मम्मी पापा जो है एक साथ मिलकर काम करते हैं दोनों नौकरी करते हैं दोनों घर पे भी काम करते है| तो साथ में काम करना उससे अच्छा वातावरण बनता है पति पत्नी के बीच अच्छा संवाद रहता है और आगे के लिए भी एक अच्छा कल्चर पास होता है| तो घर में काम करना बहुत अच्छी बात है और आपकी फिजीकॅल फिटनेस रहेगी वह अलग एडवांटेज है | अगर आप पोछा लगा लें, अगर आप बर्तन मांझले तो आपको तो फायदा होगा ही स्वास्थ रूप से |

jeff bezos jo amazon ke si ee o hai aur jinka naam abhi world ke sabse richest person ke roop mein aaya tha jo bill gates se bhi zyada rich ho gaye hain vaah roj apne ghar mein bartan saaf karte hain ji haan vaah sabse duniya ke amir adamiyo mein se hain aur vaah roj apne bartan ghar pe saaf karte hain aap sahi sun rahe hain aapko sunkar lag raha hoga ki aisi kaunsi zarurat aa gayi hai kya vaah naukar nahi rakh sakte lekin unhe accha lagta hai vaah ye karte aa rahe hai pehle se aur society mein sabhi log ghar mein kaam karte hain toh prashna yah hai ki kya ghar ke kaam mein hath batana faydemand hota hai toh mein ye nahi bolunga ki bartan manjhana hi ek cheez hi lekinn parivar parivar ek ikanami hai isme husband aur wife pati aur patni aur bacche bhi sab milkar saath mein kaam karte hain toh alag alag samay ke hisab se ek time tha jab aadmi jo tha keval mard jo tha vo bahar jaakar kaam karta tha us jungle se zyada difficult kaam karke lana hota tha aur aurat ghar mein kaam karti thi lekin aaj ke time mein jaha par auraten bhi naukri kar rahi hain jyadatar parivaron mein shaharon mein aurte bhi naukri kar rahi hai toh yah zaroori hai ki ghar ke kaam mein aadmi ko bhi hath badhana padega usse barden bhi share hota hai aur usse parivar mein ek accha culture develop hota hai aapke bacche bhi ye cheez dekhenge ki hum milkar rehte hain aur mummy papa jo hai ek saath milkar kaam karte hain dono naukri karte hain dono ghar pe bhi kaam karte hai toh saath mein kaam karna usse accha vatavaran baata hai pati patni ke beech accha samvaad rehta hai aur aage ke liye bhi ek accha culture paas hota hai toh ghar mein kaam karna bahut achi baat hai aur aapki fijikal fitness rahegi vaah alag advantage hai agar aap pocha laga le agar aap bartan manjhale toh aapko toh fayda hoga hi swaasth roop se

जेफ्फ बेज़ोस जो अमेज़न के सी.ई.ओ है और जिनका नाम अभी वर्ल्ड के सबसे रिचेस्ट पर्सन के रूप मे

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  1933
WhatsApp_icon
user

Acharya Sanand

Motivational Speaker

2:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल अवश्य ही पुरुष को स्त्री की मदद करनी चाहिए गृह कार्यों में भी हाथ पटाना चाहिए जहां जहां पर जरूरत हो वहां वहां पर श्री का पूरा सहायता सहयोग करना चाहिए

bilkul avashya hi purush ko stree ki madad karni chahiye grah karyo mein bhi hath patana chahiye jaha jahan par zarurat ho wahan wahan par shri ka pura sahayta sahyog karna chahiye

बिल्कुल अवश्य ही पुरुष को स्त्री की मदद करनी चाहिए गृह कार्यों में भी हाथ पटाना चाहिए जहां

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  148
WhatsApp_icon
user

Vikas Singh

Political Analyst

1:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां आपने बिल्कुल सही बोला मर्द को घर के काम में हाथ बटाना चाहिए औरत को भी मर्द का कुछ काम करना चाहिए अगर बाहर का कुछ काम है अगर किसी की वाइफ उसमें आप मिटाकर कुछ कर सकती है तो उसको भी करना चाहिए अगर घर पर औरत काम कर रही है अगर मर्द के लायक कुछ काम हो तो वह भी कर सकता है जब वह करेगा तो उसका काम थोड़ा हल्का होगा मिल जुलकर काम करने से ही कोई भी परिवार आगे बढ़ता है कोई भी देश आगे बढ़ता है आज हमारे देश में सांप्रदायिकता का जहर फैलाया गया है हम सभी लोग बैठे हुए हैं हम हमारे सवा सौ करोड़ देशवासियों को एक ही धर्म होने चाहिए कही जाती होनी चाहिए वह इंडियन नेशनलिटी होनी चाहिए एक ही टाइटल होना चाहिए रमेश इंडियन महेश इंडियन महमूद इंडियन श्वेता इंडियन सुलेखा इंडियन ऐसा होना चाहिए तभी आगे बढ़ेगा लेकिन हमारे देश में हम लोग जातियों में बैठे हुए हैं धर्मों में बैठे हुए हैं हम बटे नहीं हुए हैं हमें बांटा गया है कांग्रेस पार्टी ने हमें पता है लेकिन अब 21वीं सदी है हम सभी लोगों को जागरूक होना पड़ेगा और 2019 के चुनाव में अपना महत्वपूर्ण वोट भारतीय जनता पार्टी को देना होगा तभी हमारे देश में विकास होगा तभी हमारे देश से सांप्रदायिकता का जहर खत्म तभी हमारे देश से कांग्रेस का खात्मा होगा और आप सभी लोगों से मैं निवेदन करता हूं आप मर्द औरत सब लड़का लड़की सभी लोगों से मिल जुल सभी लोगों से निवेदन करता हूं आप लोग मिलजुल कर कार्य करिए मिलजुलकर जब कार्य करेंगे तो आपका समाज आपका परिवार और हमारा पूरा देश आगे बढ़ेगा धन्यवाद

ji haan aapne bilkul sahi bola mard ko ghar ke kaam mein hath batana chahiye aurat ko bhi mard ka kuch kaam karna chahiye agar bahar ka kuch kaam hai agar kisi ki wife usme aap mitakar kuch kar sakti hai toh usko bhi karna chahiye agar ghar par aurat kaam kar rahi hai agar mard ke layak kuch kaam ho toh vaah bhi kar sakta hai jab vaah karega toh uska thoda halka hoga mil julakar kaam karne se hi koi bhi parivar aage badhta hai koi bhi desh aage badhta hai aaj hamare desh mein saampradayikta ka zehar faelaya gaya hai hum sabhi log baithe hue hain hum hamare sava sau crore deshvasiyon ko ek hi dharm hone chahiye kahi jaati honi chahiye vaah indian nationality honi chahiye ek hi title hona chahiye ramesh indian mahesh indian mahmood indian shweta indian sulekha indian aisa hona chahiye tabhi aage badhega lekin hamare desh mein hum log jaatiyo mein baithe hue hain dharmon mein baithe hue hain hum bate nahi hue hain hamein baata gaya hai congress party ne hamein pata hai lekin ab vi sadi hai hum sabhi logo ko jagruk hona padega aur 2019 ke chunav mein apna mahatvapurna vote bharatiya janta party ko dena hoga tabhi hamare desh mein vikas hoga tabhi hamare desh se saampradayikta ka zehar khatam tabhi hamare desh se congress ka khatma hoga aur aap sabhi logo se main nivedan karta hoon aap mard aurat sab ladka ladki sabhi logo se mil jul sabhi logo se nivedan karta hoon aap log miljul kar karya kariye miljulakar jab karya karenge toh aapka samaj aapka parivar aur hamara pura desh aage badhega dhanyavad

जी हां आपने बिल्कुल सही बोला मर्द को घर के काम में हाथ बटाना चाहिए औरत को भी मर्द का कुछ क

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  356
WhatsApp_icon
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बेटा हम भारतीयों की मानसिकता बड़ी दुबली है हम दोगले किस्म के व्यक्ति हैं हम हम लोग पुरुष स्त्रियों के काम अलग अलग मन में भटकते हैं जबकि हकीकत में ऐसा कुछ नहीं होता है यदि आप घर पर खाली बैठे हैं और आप का समय है तो पत्नी के कार्यों में हाथ मत आना चाहिए मां के कार्यों में आप पटाना चाहिए कोई शर्म की बात नहीं है यह तो लज्जा की बात नहीं क्योंकि वह पत्नी और मां बहने जौनसारी करती हैं जबकि उठा ले बैठे उनके कार्य में हाथ बटाना अच्छी बात है प्रशंसा योग्य सराहनीय इससे कुछ हम लोगों में एक गंदी मानसिकता यह मान बैठे हैं कि हम लोगों ने पुरुषों की कार्रवाई करनी है जबकि हकीकत में ऐसा कुछ नहीं है आज तुम देख लो कि महिलाएं सभी क्षेत्र में काम कर रही है सभी क्षेत्रों में ऐड कर रही हैं बिस्तर मिश्री करती हैं मैं घर के काम भी करती हैं अन्य और भी कार्य करती हैं तो इसमें ऐसा कोई शर्म किया जीजा की बात नहीं है यदि हमारे पास टाइम है तो उनके लिए हेल्प करनी चाहिए

beta hum bharatiyon ki mansikta baadi dubli hai hum dogle kism ke vyakti hai hum hum log purush sthreeyon ke kaam alag alag man mein bhatakte hai jabki haqiqat mein aisa kuch nahi hota hai yadi aap ghar par khaali baithe hai aur aap ka samay hai toh patni ke karyo mein hath mat aana chahiye maa ke karyo mein aap patana chahiye koi sharm ki baat nahi hai yah toh lajja ki baat nahi kyonki vaah patni aur maa behne jaunsari karti hai jabki utha le baithe unke karya mein hath batana achi baat hai prashansa yogya sarahniya isse kuch hum logo mein ek gandi mansikta yah maan baithe hai ki hum logo ne purushon ki karyawahi karni hai jabki haqiqat mein aisa kuch nahi hai aaj tum dekh lo ki mahilaye sabhi kshetra mein kaam kar rahi hai sabhi kshetro mein aid kar rahi hai bistar mishri karti hai ghar ke kaam bhi karti hai anya aur bhi karya karti hai toh isme aisa koi sharm kiya jija ki baat nahi hai yadi hamare paas time hai toh unke liye help karni chahiye

बेटा हम भारतीयों की मानसिकता बड़ी दुबली है हम दोगले किस्म के व्यक्ति हैं हम हम लोग पुरुष स

Romanized Version
Likes  178  Dislikes    views  2387
WhatsApp_icon
user

Subhasini

Counsellor

2:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह आपका जो सोच है कि मर्द को घर में काम में हाथ बताना चाहिए कि नहीं तो बिल्कुल पटाना चाहिए यह तो बहुत दकियानूसी सोच होगा कि घर का सारा काम औरत करें श्री करें और वह घर का काम करते करते परेशान रहे परंतु एक व्यक्ति सिर्फ इसलिए बैठा रहे क्योंकि वह मर्द तो यह बिल्कुल गलत सोच है घर का काम दोनों को मिलकर करना चाहिए दोनों को हाथ बटाना चाहिए जैसे कि किसी भी परेशानी में किसी भी परिस्थिति में पत्नियों का साथ देती इसलिए अपने पति का साथ देती है या अगर आपकी मां है और मां घर का काम करते करते परेशान हैं और आप सिर्फ उस मां को यह सोचकर मदद नहीं करेंगे कि आप लड़का है आप घर का काम कैसे कर सकते हैं तो बिल्कुल गलत सोचो ना किसी को भी घर का काम जरूर करना चाहिए दोनों को मिलकर करना चाहिए क्योंकि घर जब है तो दोनों का होता है जितना तरीका है उत्तम पुरुष का भी है अब घर दोनों का है तो दोनों को उस घर को संभालने की जिम्मेदारी निभाना चाहिए 30 सोच कि नहीं बैठा रहना चाहिए क्योंकि हम तुम्हारे हैं और जेंट्स और जेंट्स इतवार का काम करते हैं घर पर काम नहीं बता सकते हैं सर यह बहुत पुराना विचार हो गया बहुत तक अनुश्री सोच है आज के समय में आज के लड़के तो फिर भी जाते हैं बाहर का काम भी करते हैं घर मुझको को भी संभालते हैं और बहुत खुशहाल जिंदगी जीते हैं दोनों अगर इस तरीके से मिल बांट के काम करते हैं तो घर में सुखी गाना चाहिए खुश रहो खुशियों भरा माहौल रहना चाहिए देखना चाहते हैं तो जरूरी है कि दोनों मिलकर काम करें अरे दोनों मिलकर काम करते हैं तो घर का माहौल बहुत खुशनुमा होगा और दोनों खुशी-खुशी जीवन में आगे बढ़ेंगे तो हर किसी को घर का काम करना चाहिए इसमें मर्द और औरत का कोई फर्क नहीं होना चाहिए धन्यवाद

yah aapka jo soch hai ki mard ko ghar mein kaam mein hath bataana chahiye ki nahi toh bilkul patana chahiye yah toh bahut dakiyanusi soch hoga ki ghar ka saara kaam aurat kare shri kare aur vaah ghar ka kaam karte karte pareshan rahe parantu ek vyakti sirf isliye baitha rahe kyonki vaah mard toh yah bilkul galat soch hai ghar ka kaam dono ko milkar karna chahiye dono ko hath batana chahiye jaise ki kisi bhi pareshani mein kisi bhi paristithi mein patniyon ka saath deti isliye apne pati ka saath deti hai ya agar aapki maa hai aur maa ghar ka kaam karte karte pareshan hai aur aap sirf us maa ko yah sochkar madad nahi karenge ki aap ladka hai aap ghar ka kaam kaise kar sakte hai toh bilkul galat socho na kisi ko bhi ghar ka kaam zaroor karna chahiye dono ko milkar karna chahiye kyonki ghar jab hai toh dono ka hota hai jitna tarika hai uttam purush ka bhi hai ab ghar dono ka hai toh dono ko us ghar ko sambhalne ki jimmedari nibhana chahiye 30 soch ki nahi baitha rehna chahiye kyonki hum tumhare hai aur gents aur gents itvaar ka kaam karte hai ghar par kaam nahi bata sakte hai sir yah bahut purana vichar ho gaya bahut tak anushri soch hai aaj ke samay mein aaj ke ladke toh phir bhi jaate hai bahar ka kaam bhi karte hai ghar mujhko ko bhi sambhalate hai aur bahut khushahal zindagi jeete hai dono agar is tarike se mil baant ke kaam karte hai toh ghar mein sukhi gaana chahiye khush raho khushiyon bhara maahaul rehna chahiye dekhna chahte hai toh zaroori hai ki dono milkar kaam kare are dono milkar kaam karte hai toh ghar ka maahaul bahut khushnuma hoga aur dono khushi khushi jeevan mein aage badhenge toh har kisi ko ghar ka kaam karna chahiye isme mard aur aurat ka koi fark nahi hona chahiye dhanyavad

यह आपका जो सोच है कि मर्द को घर में काम में हाथ बताना चाहिए कि नहीं तो बिल्कुल पटाना चाहिए

Romanized Version
Likes  227  Dislikes    views  2288
WhatsApp_icon
user

Gyandeep Kkr

Social Activist

2:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे समाज में हमने व्यवस्था ऐसी बनाई हुई है कि औरतों को घर का काम करना पड़ता है देखिए हर एक जगह चाहे कोई भी हो दया की जरूरत है मिलजुल कर काम करने से ही सब कुछ सही रहता है हमें कुछ भी सेट नहीं कर लेना चाहिए कि यह काम में इन्हीं का है मान लीजिए कोई औरत जॉब करती है या बाहर कोई भी काम करती है तो वह आकर इतना थक जाती है इसका अंदाजा यह लगाइए कि जैसे कोई आदमी बाहर काम करता है तो आकर वह जब वह थक सकता है तो क्या औरत नहीं रख सकती तो अगर हम किसी से ऊपर काम करवाते हैं तो उसका रिजल्ट सही नहीं होता मेरे ख्याल क्योंकि हर एक व्यक्ति में थकान होती है और मिलजुल के काम करना अच्छी बात है इसके लिए 1 दिन में परिवर्तन तो नहीं हो सकता और रही बात अगर कोई औरत बाहर काम नहीं करती फिर भी घर के काम में थकान हो सकती है चाहे कोई रुक रुक के जैसी मर्जी काम तो होती है तो मिलजुल के काम करना चाहिए और अगर आजकल औरतें बाहर काम करती है तो आदमी भी घर का काम कर सकते देखी इसके लिए हमें शुरू से ही बच्चों को हम कई बार ऐसा बना देते हैं कि लड़कों से काम ही नहीं पाते शुरू से अगर लड़कियों को हमने बढ़ाना शुरू कर दिया उनसे जॉब करवाना शुरू कर दिया तो लड़कों को भी बचपन से ही उस चीज में लाना चाहिए ताकि उनको आगे चलकर दिक्कत ना हो अगर आप होते हैं कि औरत बाहर का काम भी करे घर का काम भी करें तो आदमियों से भी उम्मीद रखनी चाहिए अगर वह और तक सोते की औरतों का काम पहले सोचते थे कि घर का है बाहर का आदमियों का अगर औरतें बाहर का काम करने लगी तो आदमियों को भी खरका करना जया सिंह परिवार से ही चलता है तो इस बारे में जरूर सोचना चाहिए कि मिलजुल कर काम करेंगे तो सही रहता है और अगर हम मिलके काम नहीं करेंगे कि बंदे पर हर एक चीज का बटन पाएंगे तो एहसास ही नहीं लगता

hamare samaj mein humne vyavastha aisi banai hui hai ki auraton ko ghar ka kaam karna padta hai dekhiye har ek jagah chahen koi bhi ho daya ki zarurat hai miljul kar kaam karne se hi sab kuch sahi rehta hai hamein kuch bhi set nahi kar lena chahiye ki yah kaam mein inhin ka hai maan lijiye koi aurat job karti hai ya bahar koi bhi kaam karti hai toh vaah aakar itna thak jaati hai iska andaja yah lagaaiye ki jaise koi aadmi bahar kaam karta hai toh aakar vaah jab vaah thak sakta hai toh kya aurat nahi rakh sakti toh agar hum kisi se upar kaam karwaate hain toh uska result sahi nahi hota mere khayal kyonki har ek vyakti mein thakan hoti hai aur miljul ke kaam karna achi baat hai iske liye 1 din mein parivartan toh nahi ho sakta aur rahi baat agar koi aurat bahar kaam nahi karti phir bhi ghar ke kaam mein thakan ho sakti hai chahen koi ruk ruk ke jaisi marji kaam toh hoti hai toh miljul ke kaam karna chahiye aur agar aajkal auraten bahar kaam karti hai toh aadmi bhi ghar ka kaam kar sakte dekhi iske liye hamein shuru se hi baccho ko hum kai baar aisa bana dete hain ki ladko se kaam hi nahi paate shuru se agar ladkiyon ko humne badhana shuru kar diya unse job karwana shuru kar diya toh ladko ko bhi bachpan se hi us cheez mein lana chahiye taki unko aage chalkar dikkat na ho agar aap hote hain ki aurat bahar ka kaam bhi kare ghar ka kaam bhi kare toh adamiyo se bhi ummid rakhni chahiye agar vaah aur tak sote ki auraton ka kaam pehle sochte the ki ghar ka hai bahar ka adamiyo ka agar auraten bahar ka kaam karne lagi toh adamiyo ko bhi kharaka karna jaya Singh parivar se hi chalta hai toh is bare mein zaroor sochna chahiye ki miljul kar kaam karenge toh sahi rehta hai aur agar hum milke kaam nahi karenge ki bande par har ek cheez ka button payenge toh ehsaas hi nahi lagta

हमारे समाज में हमने व्यवस्था ऐसी बनाई हुई है कि औरतों को घर का काम करना पड़ता है देखिए हर

Romanized Version
Likes  52  Dislikes    views  516
WhatsApp_icon
user

Porshia Chawla Ban

Psychologist

3:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है क्या मर्द को घर के काम में हाथ बताना चाहिए क्या इससे कुछ अच्छा हो सकता है जी हां बिलकुल इससे कुछ अच्छा हो सकता है देखिए मर्द और औरत के जो काम बचे हुए हैं जैसे हम बोलते हैं कि एक मर्द के बाहर जाएगा खाना जो है वह औरत बनाएगी और भार के कामदेव आदमी नीचे आएगा या धनोप धन उपार्जन जय हो आदि का काम है यह पुराने समय से चला आ रहा है क्योंकि उस समय हंटिंग के लिए शिकार के लिए आदमी बाहर जाता था और औरत घर संभालती थी बच्चे संभालती थी और पूरी तैयारी करके रखी थी कि खाना अपाचे का जब वह लेकर आएगा या जो भी खा लिया जो भी सब्जी लाएगा तो अब समय के साथ क्या हुआ कि आरिफाइन हुई सोसायटी और सोसायटी का निर्माण हुआ और फिर रिफाईनमेंट भी आया और जैसे-जैसे डेवलपमेंट वाले करो चाहे वह फिक्स हो गए तो अभी कैसा हो गया कि रोल रिवर्सल भी हुआ है आप देखो अभी सोसाइटी में बाहर जाकर धन का अर्जन अर्जित करना धन को कमाना घर चलाना स्त्री भी कर रही है तो स्त्री अभी बहुत से ऐसे काम कर रही है क्योंकि सोसाइटी में बहुत से चेंज इन आए हैं तो जरूरत ऐसी आन पड़ी है कि दोनों पापा हमको अभी ऑन करना पड़ता है घर चला दे तुझे ऐसी सिचुएशन आई है तो फिर इसमें क्या होता है कि एक ही प्रश्न पर घर संभालने का भी बर्थडे पर नहीं आना चाहिए क्योंकि जिस प्रकार से फाइनेंसियल एक ईमेल ले रही है तुम मेल को भी फिर हाउसफुल रिस्पांस देने में कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए और बहुत चेंज इज में आया सोसाइटी में और आदमी भी घर के हाथ काम में हाथ बताते हैं अगर वॉइस वर्किंग नहीं है तो भी कई बार फैमिली बहुत बड़ी होती है और कौन सी थी बहुत ज्यादा होती हैं मेल के ऊपर ही शारीरिक स्थिति आ जाती है ऐसे daughter-in-law इसलिए अगर वह वर्किंग नहीं भी है और नहीं भी कर रही है तो भी हाउसहोल्ड वर्क है जो कोर्स है जो उसमें आ हस्बैंड को भी हाथ बटाना चाहिए बिल्कुल और इससे अच्छा ही होता है कि एक तरीका है यह कहने का क्या इरेस्पेक्टिव और आप उसको ऐसे ही मन भी वेट कर रहे हो इंसान की कैपेसिटी है हर इंसान की कि वह कर सकता है तो घर का काम करने में भी काफी लगती है और ऐसा नहीं है कि से फिजिकल एनर्जी लगती है इसमें समझ बूझ भी लगती है काफी डिसीजंस भी इस तरह के होते हैं तो कई बार शॉपिंग में या ग्रोसरीज में भी हस्बैंड अगर हेल्प करें सब्जी लाकर देना और किराना लाकर देना तो वह भी बहुत बड़ी बात है तो इन शॉर्ट की काम चाहे कोई भी हो किसी तरह का भी हो अगर वह क्षमता मैं है आपकी शायद मर्द है और वह आपको अपनी जिम्मेदारी समझ कर करना चाहिए क्योंकि घर आप सभी का है चाहे वह कोई भी मेल पर्सन हो या फीमेल पर्सन हो या बच्चे हो या मां बाप को घर सभी का है घर जब सभी का है तो रिस्पांस लेते हुए सभी की बनती है उसके लिए जिससे जो बन पड़े उसको अपना कॉन्ट्रिब्यूशन देना चाहिए यह नहीं सोचना चाहिए कि यह मेरा काम नहीं है धन्यवाद

aapka sawaal hai kya mard ko ghar ke kaam mein hath bataana chahiye kya isse kuch accha ho sakta hai ji haan bilkul isse kuch accha ho sakta hai dekhiye mard aur aurat ke jo kaam bache hue hain jaise hum bolte hain ki ek mard ke bahar jaega khana jo hai vaah aurat banayegi aur bhar ke kamdev aadmi niche aayega ya dhanop dhan uparjan jai ho aadi ka kaam hai yah purane samay se chala aa raha hai kyonki us samay hunting ke liye shikaar ke liye aadmi bahar jata tha aur aurat ghar sambhaalati thi bacche sambhaalati thi aur puri taiyari karke rakhi thi ki khana apache ka jab vaah lekar aayega ya jo bhi kha liya jo bhi sabzi layega toh ab samay ke saath kya hua ki arifain hui sociaty aur sociaty ka nirmaan hua aur phir rifainament bhi aaya aur jaise jaise development waale karo chahen vaah fix ho gaye toh abhi kaisa ho gaya ki roll rivarsal bhi hua hai aap dekho abhi society mein bahar jaakar dhan ka arjan arjit karna dhan ko kamana ghar chalana stree bhi kar rahi hai toh stree abhi bahut se aise kaam kar rahi hai kyonki society mein bahut se change in aaye hain toh zarurat aisi Aan padi hai ki dono papa hamko abhi on karna padta hai ghar chala de tujhe aisi situation I hai toh phir isme kya hota hai ki ek hi prashna par ghar sambhalne ka bhi birthday par nahi aana chahiye kyonki jis prakar se financial ek email le rahi hai tum male ko bhi phir housefull response dene mein koi pareshani nahi honi chahiye aur bahut change is mein aaya society mein aur aadmi bhi ghar ke hath kaam mein hath batatey hain agar voice working nahi hai toh bhi kai baar family bahut badi hoti hai aur kaun si thi bahut zyada hoti hain male ke upar hi sharirik sthiti aa jaati hai aise daughter in law isliye agar vaah working nahi bhi hai aur nahi bhi kar rahi hai toh bhi household work hai jo course hai jo usme aa husband ko bhi hath batana chahiye bilkul aur isse accha hi hota hai ki ek tarika hai yah kehne ka kya irrespective aur aap usko aise hi man bhi wait kar rahe ho insaan ki capacity hai har insaan ki ki vaah kar sakta hai toh ghar ka kaam karne mein bhi kaafi lagti hai aur aisa nahi hai ki se physical energy lagti hai isme samajh boojh bhi lagti hai kaafi disijans bhi is tarah ke hote hain toh kai baar shopping mein ya groceries mein bhi husband agar help kare sabzi lakar dena aur kirana lakar dena toh vaah bhi bahut badi baat hai toh in short ki kaam chahen koi bhi ho kisi tarah ka bhi ho agar vaah kshamta main hai aapki shayad mard hai aur vaah aapko apni jimmedari samajh kar karna chahiye kyonki ghar aap sabhi ka hai chahen vaah koi bhi male person ho ya female person ho ya bacche ho ya maa baap ko ghar sabhi ka hai ghar jab sabhi ka hai toh response lete hue sabhi ki banti hai uske liye jisse jo ban pade usko apna contribution dena chahiye yah nahi sochna chahiye ki yah mera kaam nahi hai dhanyavad

आपका सवाल है क्या मर्द को घर के काम में हाथ बताना चाहिए क्या इससे कुछ अच्छा हो सकता है जी

Romanized Version
Likes  192  Dislikes    views  4966
WhatsApp_icon
user

Pawan Kumar Bohare

Social Worker

5:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार प्रश्न है क्या मर्द को घर के काम में हाथ बढ़ाना चाहिए क्या इससे कुछ अच्छा हो सकता है और बात कर दो घर के बारे में बताना चाहिए बताना चाहिए जो परिवार है और सिंगल परिवार परिवार की यूनिट रह गई है ज्यादातर आहिस्ता और खासतौर से शहरों में बड़े शहरों में भी छोटे शहरों में भी सिंगल फैमिली उसके पति पत्नी है और बच्चे ज्यादातर यही है अब पति-पत्नी है और बच्चे हैं तो आजकल पति नामर्द है जो घर का वह तो वह भी काम करते हैं बाहर अधिकतर घरों में पत्नी अभी मुजरा कुछ चाहे तो सरकारी या प्राइवेट कुछ खुद का काम ही पकड़ रखा है तो घर की स्त्रियां भी तो फ्री पर क्या काम में आती है कर देगी आपकी जब घर का पुरुष जो है वह भी नौकरी तो है काम पर है बाहर उसको करना पड़ता है समय देना पड़ता है कमाने के लिए और घर की स्त्री भी जाती है कमाने के लिए बाहर तो घर में बच्चे रह जाते हैं तो उनकी देखभाल करना तो किसी ना किसी जरूरी है करना ही पड़ेगी तो जब भी घर की स्त्री को समय रहते हो देखभाल का काम करें और जब वह नहीं है तो उसके अनुपस्थिति घर के पुरुष को भी बच्चों की और घर के अन्य कार्यों की दो पहिए हैं परिवार के गाड़ी के पहले तो क्या होता था कि पत्नी घर पर रहती थी तो वह सारा काम घर कर देती थी अब क्योंकि वह भी नहीं रहती घर पर दोनों को मिलकर देखना चाहिए तुझे जिसके पास जैसा समय है पत्नी के पास है पति के पास उसको व्यक्तियों का बताना चाहिए और इससे अच्छा जी तो होगा आपके परिवार की आमदनी बढ़ी है तो आप अच्छे से रह पाएंगे बच्चों को अच्छे से पढ़ा लिखा पाएंगे संस्कार दे पाएंगे तो पैसे से तो आजकल बहुत जरूरी भी है पैसा कमा लें यह अच्छा हो सकता है कि ज्यादा पैसे घर पर हैं आप का सही उपयोग करें अपने आगे बढ़ आने के लिए परिवार को आगे बढ़ाने अच्छा घर बसाने के लिए तो वर्क बुक करना चाहिए और इससे अच्छा ही होता है और गांव वगैरह में क्या है कि मां-बाप भी साथ में रहते हैं पति पत्नी रहते हैं बच्चे दादा-दादी ही बच्चों की देखभाल कर लेते हैं और हमारे समाज में यह भी है कि पुरुष प्रधान समाज है मानसिकता पुरुष पुरुष प्रधान नगर निगम आजकल चल रहा है महिलाओं को बराबरी का दर्जा मिल रहा है मिला भी है देने की कोशिश भी की जा रही है आंदोलन भी चल रहे हैं और सफल भी हो रहे हैं महिलाओं को एक शर्म संकोच में भी मर्द जो है घर के काम में ऐसा माना जाता है कि घर के काम करना महिलाओं का काम बच्चों की देखभाल झाड़ू पोछा बर्तन इलाज बिना चार्जर कितने का घर के सैकड़ों का सारे काम ऐसे माने जाते हैं कि महिलाओं के लिए उसको सिर्फ बाहर जाकर पैसा कमाना है और घर पर लाकर देना है इसका - एक्शनकोच एक शाम का भी मुद्दा माना जाता है लेकिन क्योंकि अब न्यूक्लीयर फैमिली है कमाने के लिए बाहर गए वह ट्रांसफर के कारण बाहर जाना पड़ा है तो सरकारी नौकरी है या प्राइवेट भी है तो वहां पर जब केवल आपकी फैमिली रह गई है काम तो निश्चित रूप से करना पड़ेगा करना चाहिए भी और इससे अच्छा अच्छा रहता है पति भी कमाते हैं पत्नियां भी कम आती है पैसा और घर की देखभाल दोनों मिलकर करते हैं उसको इस ग्रुप में कुछ शर्म संकोच की बात है मर्दों को बराबरी से हटाना चाहिए घर के कामों में यह मेरे विचार से स्पष्ट का उत्तर यही है धन्यवाद

namaskar prashna hai kya mard ko ghar ke kaam mein hath badhana chahiye kya isse kuch accha ho sakta hai aur baat kar do ghar ke bare mein bataana chahiye bataana chahiye jo parivar hai aur singles parivar parivar ki unit reh gayi hai jyadatar ahista aur khaasataur se shaharon mein bade shaharon mein bhi chote shaharon mein bhi singles family uske pati patni hai aur bacche jyadatar yahi hai ab pati patni hai aur bacche hai toh aajkal pati namard hai jo ghar ka vaah toh vaah bhi kaam karte hai bahar adhiktar gharon mein patni abhi mujra kuch chahen toh sarkari ya private kuch khud ka kaam hi pakad rakha hai toh ghar ki striyan bhi toh free par kya kaam mein aati hai kar degi aapki jab ghar ka purush jo hai vaah bhi naukri toh hai kaam par hai bahar usko karna padta hai samay dena padta hai kamane ke liye aur ghar ki stree bhi jaati hai kamane ke liye bahar toh ghar mein bacche reh jaate hai toh unki dekhbhal karna toh kisi na kisi zaroori hai karna hi padegi toh jab bhi ghar ki stree ko samay rehte ho dekhbhal ka kaam kare aur jab vaah nahi hai toh uske anupsthiti ghar ke purush ko bhi baccho ki aur ghar ke anya karyo ki do pahiye hai parivar ke gaadi ke pehle toh kya hota tha ki patni ghar par rehti thi toh vaah saara kaam ghar kar deti thi ab kyonki vaah bhi nahi rehti ghar par dono ko milkar dekhna chahiye tujhe jiske paas jaisa samay hai patni ke paas hai pati ke paas usko vyaktiyon ka bataana chahiye aur isse accha ji toh hoga aapke parivar ki aamdani badhi hai toh aap acche se reh payenge baccho ko acche se padha likha payenge sanskar de payenge toh paise se toh aajkal bahut zaroori bhi hai paisa kama le yah accha ho sakta hai ki zyada paise ghar par hai aap ka sahi upyog kare apne aage badh aane ke liye parivar ko aage badhane accha ghar basne ke liye toh work book karna chahiye aur isse accha hi hota hai aur gaon vagera mein kya hai ki maa baap bhi saath mein rehte hai pati patni rehte hai bacche dada dadi hi baccho ki dekhbhal kar lete hai aur hamare samaj mein yah bhi hai ki purush pradhan samaj hai mansikta purush purush pradhan nagar nigam aajkal chal raha hai mahilaon ko barabari ka darja mil raha hai mila bhi hai dene ki koshish bhi ki ja rahi hai andolan bhi chal rahe hai aur safal bhi ho rahe hai mahilaon ko ek sharm sankoch mein bhi mard jo hai ghar ke kaam mein aisa mana jata hai ki ghar ke kaam karna mahilaon ka kaam baccho ki dekhbhal jhadu pocha bartan ilaj bina charger kitne ka ghar ke saikadon ka saare kaam aise maane jaate hai ki mahilaon ke liye usko sirf bahar jaakar paisa kamana hai aur ghar par lakar dena hai iska ekshanakoch ek shaam ka bhi mudda mana jata hai lekin kyonki ab nyukliyar family hai kamane ke liye bahar gaye vaah transfer ke karan bahar jana pada hai toh sarkari naukri hai ya private bhi hai toh wahan par jab keval aapki family reh gayi hai kaam toh nishchit roop se karna padega karna chahiye bhi aur isse accha accha rehta hai pati bhi kamate hai patniya bhi kam aati hai paisa aur ghar ki dekhbhal dono milkar karte hai usko is group mein kuch sharm sankoch ki baat hai mardon ko barabari se hatana chahiye ghar ke kaamo mein yah mere vichar se spasht ka uttar yahi hai dhanyavad

नमस्कार प्रश्न है क्या मर्द को घर के काम में हाथ बढ़ाना चाहिए क्या इससे कुछ अच्छा हो सकता

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  408
WhatsApp_icon
user

Abhishek Sharma

Forest Range Officer, MP

1:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिलकुल इसमें कोई दो राय नहीं है कि मर्द को घर के काम में हाथ बढ़ाना चाहिए, इससे बहुत कुछ अच्छा हो सकता है| मुझे समझ में नहीं आता है इसमें कोई परेशानी क्यों है? सबसे बड़ी परेशानी से मुझे लगती है, जो हमारे समाज में एक भूत सा बन के बैठा हुआ है कि हमारा पितृ सत्तात्मक समाज है जहां पर एक मेल यानी कि जो पुरुष है वो हमेशा से डोमिनेटिंग चीजों में रहा है उसे लगता है कि वह कुछ भी कर रहा है वह चीज बेस्ट है| तो मुझे लगता है इस चीज को पहले बदलने की जरूरत है महिलाओं को आर्थिक आजादी देने की जरूरत है और घर में काम करने से काम कम होता है बढ़ता नहीं है| अगर कोई आदमी आकर आपके लिए ब्रेकफ़ास्ट आपके साथ बनवा रहा है या फिर कपड़े वाशिंग मशीन में डाल देता है या आप के झूठे बर्तनो को किचन में रख देता है तो मुझे लगता है इससे काम कम ही होता है| इसके आलावा अगर बच्चे हैं आपके तो बच्चों के कपड़ों को संभाल कर रखना या बच्चों को स्कूल छोड़ कर आना, यह सब छोटे छोटे काम है अगर आपस में बट जाते हैं तो मुझे लगता है कि काम कम होता है, खर्चा बचता है अगर दोनों लोग कामाने वाले हैं तो आर्थिक रुप से आपने अपनी वाइफ को भी आजादी दे रखी है, तो मुझे लगता है इससे और ज्यादा एंपावरमेंट होता है साथ में फैमिली भी अच्छी चलती है| बच्चा जो घर में आपके है अगर वह आपको देखता है तो वह समझता है कि आप अपनी वाइफ की यानी कि उसकी मदर की कितनी वैल्यू करते हैं तो आपका बच्चा भी वंही से सीखता है कि महिलाओं की इज्जत कैसे करनी चाहिए और एक बच्चा जो महिलाओं की इज्जत करना बचपन से देखता है वह बहुत बड़े होते तक अच्छे से खुद जिद करना सीखता है और इससे हमारा समाज डेवेलोप होता है| तो मुझे लगता है यह चीज घर से शुरू करनी पड़ेगी, आपके और हमारे घर से तभी यह चीज आगे तक आ पाएगी और इसके बहुत फायदे हैं मुझे लगता है हर मर्द को अपनी हेसिडेटी छोड़कर यानी कि अपना यह तीखापन छोड़कर काम करना चाहिए हाथ बटाना चाहिए काम में और उसमें कोई जोरू का गुलाम वाला कंसेप्ट नहीं है आप काम करेंगे आपकी वाइफ को अच्छा लगेगा क्योंकि वह भी इंसान है धन्यवाद|

bilkul isme koi do rai nahi hai ki mard ko ghar ke kaam mein hath badhana chahiye isse bahut kuch accha ho sakta hai mujhe samajh mein nahi aata hai isme koi pareshani kyon hai sabse badi pareshani se mujhe lagti hai jo hamare samaj mein ek bhoot sa ban ke baitha hua hai ki hamara pitr sattatmak samaj hai jaha par ek male yani ki jo purush hai vo hamesha se domineting chijon mein raha hai use lagta hai ki vaah kuch bhi kar raha hai vaah cheez best hai toh mujhe lagta hai is cheez ko pehle badalne ki zarurat hai mahilaon ko aarthik azadi dene ki zarurat hai aur ghar mein kaam karne se kaam kam hota hai badhta nahi hai agar koi aadmi aakar aapke liye brekafast aapke saath banwa raha hai ya phir kapde washing machine mein daal deta hai ya aap ke jhuthe bartano ko kitchen mein rakh deta hai toh mujhe lagta hai isse kaam kam hi hota hai iske aalava agar bacche hain aapke toh baccho ke kapdo ko sambhaal kar rakhna ya baccho ko school chod kar aana yah sab chote chhote kaam hai agar aapas mein but jaate hain toh mujhe lagta hai ki kaam kam hota hai kharcha bachta hai agar dono log kamane waale hain toh aarthik roop se aapne apni wife ko bhi azadi de rakhi hai toh mujhe lagta hai isse aur zyada empowerment hota hai saath mein family bhi achi chalti hai baccha jo ghar mein aapke hai agar vaah aapko dekhta hai toh vaah samajhata hai ki aap apni wife ki yani ki uski mother ki kitni value karte hain toh aapka baccha bhi vanhi se sikhata hai ki mahilaon ki izzat kaise karni chahiye aur ek baccha jo mahilaon ki izzat karna bachpan se dekhta hai vaah bahut bade hote tak acche se khud jid karna sikhata hai aur isse hamara samaj develop hota hai toh mujhe lagta hai yah cheez ghar se shuru karni padegi aapke aur hamare ghar se tabhi yah cheez aage tak aa payegi aur iske bahut fayde mujhe lagta hai har mard ko apni hesideti chhodkar yani ki apna yah tikhapan chhodkar kaam karna chahiye hath batana chahiye kaam mein aur usme koi joru ka gulam vala concept nahi hai aap kaam karenge aapki wife ko accha lagega kyonki vaah bhi insaan hai dhanyavad

बिलकुल इसमें कोई दो राय नहीं है कि मर्द को घर के काम में हाथ बढ़ाना चाहिए, इससे बहुत कुछ अ

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  293
WhatsApp_icon
user

Pri

Student

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हम मर्द को घर के कामों में हाथ बताना चाहिए पर उन्हीं कामों में जो है उसका सम्मान भी मना रहा है अब समाज का एक अच्छा प्राणी में कहला बढ़िया नहीं होना चाहिए चमार्थी सारा करें आप आकर

hum mard ko ghar ke kaamo me hath batana chahiye par unhi kaamo me jo hai uska sammaan bhi mana raha hai ab samaj ka ek accha prani me kahela badhiya nahi hona chahiye chamarthi saara kare aap aakar

हम मर्द को घर के कामों में हाथ बताना चाहिए पर उन्हीं कामों में जो है उसका सम्मान भी मना रह

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  76
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका क्वेश्चन है क्या मार्च को घर का काम में हाथ में बताना चाहिए हाथ जरूर बताना चाहिए आपकी मम्मी खाना बनाती होगी अगर आप कुछ कर टीम को की जाएगी सुबह उठके चाय बनाती होगी नाश्ता बना चुके खाना बनाती होगी पूरे घर को साफ करती हो के बर्तन धोती होगी कपड़ा धो क्यों इतना सारा काम को खिलाना संभालना घर में क्या है नहीं है अपुन का हाथ बताएंगे तुमको कितना अच्छा लगेगा आप एक दोपहर कर देंगे कुछ आप अपने बिस्तर ही सरिया लिए कुछ उनका किचन में कुछ सामान को दे दिए कुछ हेल्प कर दिए तुमको कितना अच्छा लगेगा या आपकी पत्नी वाइफ है वह भी कितना काम करती हूं कि अपन होनहार काम बचा संभालना कितना काम होता है घर में क्या करते अनकहे कीजिएगा उनको बहुत अच्छा लगेगा हमको खुशी मिलेगी हमको अच्छा लगेगा किसी का कोई भी आदमी आपका हेल्प करेगा क्या आपको अच्छा नहीं लगेगा हर इंसान को अच्छा लगता है कोई भी काम में हाथ बढ़ाएं तो आप घर का काम में हेल्प कर सकते हैं आप अपनी पत्नी के लिए आप अपनी मां के लिए या अपनी बहन के लिए किसी के काम करना बुरा थोड़ी बहुत अच्छा इतनी आप अपने बिस्तर किचन में 2 हैक कर सकते हैं कुछ भी कर सकते हैं

aapka question hai kya march ko ghar ka kaam me hath me batana chahiye hath zaroor batana chahiye aapki mummy khana banati hogi agar aap kuch kar team ko ki jayegi subah uthake chai banati hogi nashta bana chuke khana banati hogi poore ghar ko saaf karti ho ke bartan dhoti hogi kapda dho kyon itna saara kaam ko khilana sambhaalna ghar me kya hai nahi hai apun ka hath batayenge tumko kitna accha lagega aap ek dopahar kar denge kuch aap apne bistar hi sariya liye kuch unka kitchen me kuch saamaan ko de diye kuch help kar diye tumko kitna accha lagega ya aapki patni wife hai vaah bhi kitna kaam karti hoon ki apan honhar kaam bacha sambhaalna kitna kaam hota hai ghar me kya karte anakahe kijiega unko bahut accha lagega hamko khushi milegi hamko accha lagega kisi ka koi bhi aadmi aapka help karega kya aapko accha nahi lagega har insaan ko accha lagta hai koi bhi kaam me hath badhaye toh aap ghar ka kaam me help kar sakte hain aap apni patni ke liye aap apni maa ke liye ya apni behen ke liye kisi ke kaam karna bura thodi bahut accha itni aap apne bistar kitchen me 2 hack kar sakte hain kuch bhi kar sakte hain

आपका क्वेश्चन है क्या मार्च को घर का काम में हाथ में बताना चाहिए हाथ जरूर बताना चाहिए आपकी

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  154
WhatsApp_icon
user

aim to win

Motivational Speaker

1:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मर्द को घर में जुदाई फिल्म का काम में हाथ बताना चाहिए अवंतिका की मदद होती है और एक तरीका भरोसा मिलता होने नहीं आज हम घर पर अकेली नहीं है हमारी मदद के लिए कोई है और 1 जून को बेसिक सपोर्ट मिलता है मेंटल स्ट्रैंथ मिलती है उनके लिए बहुत आगे तक काम आती है मामू कभी उसे अच्छा फील करते हैं मेंटल स्ट्रेस कम होता है और एक अंधी लाइफ होती हेल्दी फैमिली लाइफ होती है और सबको अच्छा लगता हो सब चीजों से कुछ को पसंद नहीं है क्यों क्या काम में हाथ बढ़ाएं आज हम ही हैं ऐसे ही मन नंबर ले लो पसंद है हमारे काम में गुड फीलिंग आती ग्रुप की फीलिंग आती हैं तो ऐसा लगता है कि हम अकेले किसी भोज के पहले लगे हैं और काम करे जा रहे हैं बस करे जा रहे हैं कोई सुनने वाला नहीं पड़ेगी स्टेशन फूड इतना बुरा फूटता है क्या चर्चे हर दिल जाते हैं कि घर में लड़ाई प्ले स्टोर चालू होता है कपिल मटका फास्टेट मत करो थोड़ा मदद करने में कोई बुराई नहीं कि हम छोटे नहीं होते हमारी इज्जत घर में नहीं करती और बढ़ती है बच्चे की वह देखते हैं वही सीखते हैं और वह भी अपने जीवन को ऐसे ही पिक करना चाहते हैं कि दोनों को देखते हैं कि कोई किसी डोमिनेट नहीं कर रहा है ना पति ने पत्नी को एक जल्दी सीलिंग आती हल्दी कल्चर होता है जो आए रिकमंडेड की मदद करनी चाहिए और देखने के लिए करनी चाहिए अगर आपको जवाब अच्छा लगा हो तो लाइक करिएगा ओके थैंक यू

mard ko ghar mein judai film ka kaam mein hath bataana chahiye avantika ki madad hoti hai aur ek tarika bharosa milta hone nahi aaj hum ghar par akeli nahi hai hamari madad ke liye koi hai aur 1 june ko basic support milta hai mental strainth milti hai unke liye bahut aage tak kaam aati hai mamu kabhi use accha feel karte hain mental stress kam hota hai aur ek andhi life hoti healthy family life hoti hai aur sabko accha lagta ho sab chijon se kuch ko pasand nahi hai kyon kya kaam mein hath badhaye aaj hum hi hain aise hi man number le lo pasand hai hamare kaam mein good feeling aati group ki feeling aati hain toh aisa lagta hai ki hum akele kisi bhoj ke pehle lage hain aur kaam kare ja rahe hain bus kare ja rahe hain koi sunne vala nahi padegi station food itna bura futta hai kya charche har dil jaate hain ki ghar mein ladai play store chaalu hota hai kapil matka fastet mat karo thoda madad karne mein koi burayi nahi ki hum chote nahi hote hamari izzat ghar mein nahi karti aur badhti hai bacche ki vaah dekhte hain wahi sikhate hain aur vaah bhi apne jeevan ko aise hi pic karna chahte hain ki dono ko dekhte hain ki koi kisi dominet nahi kar raha hai na pati ne patni ko ek jaldi ceiling aati haldi culture hota hai jo aaye rikamanded ki madad karni chahiye aur dekhne ke liye karni chahiye agar aapko jawab accha laga ho toh like kariega ok thank you

मर्द को घर में जुदाई फिल्म का काम में हाथ बताना चाहिए अवंतिका की मदद होती है और एक तरीका

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  254
WhatsApp_icon
user

Abhijeet Kumar

Teacher & Student Both.

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां मर्द को घर के काम में हाथ बटाना चाहिए समस्या क्या है मर्द अगर घर के काम में बताता हाथ बटाते है तो कुछ अच्छा ही होगा और खास करके आज के समय में जब औरतें मर्द के साथ कंधे से कंधा मिलाकर के ऑफिस में काम कर सकती है या फिर और कहीं भी काम कर करके पैसा एंड कर करके घर चला सकती तो मत घर के काम में हाथ बताने में तो कोई प्रॉब्लम नहीं होना चाहिए जरूर बताना चाहिए और इसमें अच्छाई की अच्छाई है बुरा तो कुछ हो ही नहीं सकता है

haan mard ko ghar ke kaam mein hath batana chahiye samasya kya hai mard agar ghar ke kaam mein batata hath batate hai toh kuch accha hi hoga aur khaas karke aaj ke samay mein jab auraten mard ke saath kandhe se kandha milakar ke office mein kaam kar sakti hai ya phir aur kahin bhi kaam kar karke paisa and kar karke ghar chala sakti toh mat ghar ke kaam mein hath batane mein toh koi problem nahi hona chahiye zaroor bataana chahiye aur isme acchai ki acchai hai bura toh kuch ho hi nahi sakta hai

हां मर्द को घर के काम में हाथ बटाना चाहिए समस्या क्या है मर्द अगर घर के काम में बताता हाथ

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  1844
WhatsApp_icon
user

Ramesh Prajapati

||....Be....Legendary......||

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे मुझे कि आपका सवाल बहुत ही अच्छा लगा देखिए मर्द को घर के कामों में हाथ बढ़ाना चाहिए जितना हो सके 12 काम में हाथ पटाए और इसके आप सोते बराबर हाथ बढ़ाते कुछ लोग होते हैं कि ज्यादा नहीं कर पाते ज्यादा हाथ में बताते हुए दिखे तो क्या होता है आपको पूरा जिम्मा है अपने घर को संभालने का लेकिन अगर कोई हेल्प करेगा आपकी ठीक तो देखे उससे क्या होता है हमारे हाथ हल्का हो जाता में कुछ काम कैसे किया जाता है तो यह बात होती है और इससे अच्छा होता है कि काम अब जल्दी हो जाएगा तो इसमें से हमें अच्छी थोड़ा फील होता है और कोई काम अगर हम अकेले कर मेहनत ज्यादा लगे किस में ठीक है मैं तो देखिए लगती है विक्रम अगर हम अकेले काम करेंगे तो क्या होता कि वह टाइम ज्यादा लोंग टाइम हो जाता है उसको थोड़ा समय लग काम को निपटाने के लिए अगर कोई साथ खड़ा हो जाए उस काम को करने के लिए हाथ बढ़ाने के लिए तो काम जो है जल्दी हो जाता है और अच्छा भी लगता है धन्यवाद और जैसे भी मिले काम करती है कुछ भी पहुंचा प्रथम तुला कपड़े धोना है अब मान लीजिए काम करते तो मैं अपनी मम्मी का हाथ जरूर बताता हूं उनसे उनका मन को अच्छा भी लगता है तो वह कहती है कि हाथ ठीक है हाथ बताने से मुझे आराम मिला और कम जल्दी हो गया धन्यवाद

dekhe mujhe ki aapka sawaal bahut hi accha laga dekhiye mard ko ghar ke kaamo mein hath badhana chahiye jitna ho sake 12 kaam mein hath pataye aur iske aap sote barabar hath badhate kuch log hote hai ki zyada nahi kar paate zyada hath mein batatey hue dikhe toh kya hota hai aapko pura jimma hai apne ghar ko sambhalne ka lekin agar koi help karega aapki theek toh dekhe usse kya hota hai hamare hath halka ho jata mein kuch kaam kaise kiya jata hai toh yah baat hoti hai aur isse accha hota hai ki kaam ab jaldi ho jaega toh isme se hamein achi thoda feel hota hai aur koi kaam agar hum akele kar mehnat zyada lage kis mein theek hai toh dekhiye lagti hai vikram agar hum akele kaam karenge toh kya hota ki vaah time zyada long time ho jata hai usko thoda samay lag kaam ko niptane ke liye agar koi saath khada ho jaaye us kaam ko karne ke liye hath badhane ke liye toh kaam jo hai jaldi ho jata hai aur accha bhi lagta hai dhanyavad aur jaise bhi mile kaam karti hai kuch bhi pohcha pratham tula kapde dhona hai ab maan lijiye kaam karte toh main apni mummy ka hath zaroor batata hoon unse unka man ko accha bhi lagta hai toh vaah kehti hai ki hath theek hai hath batane se mujhe aaram mila aur kam jaldi ho gaya dhanyavad

देखे मुझे कि आपका सवाल बहुत ही अच्छा लगा देखिए मर्द को घर के कामों में हाथ बढ़ाना चाहिए जि

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  346
WhatsApp_icon
user

Tejnath sahu

Social Worker

1:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां जितना हो सके हमें एक दूसरे के काम में सहयोग जरूर करना चाहिए इससे हमारा काम भी जल्दी होगा और सामने वाले कभी हेल्प हो जाता है और जीवन में खुशहाली जरूरत है ऐसी जीत से जीवन जीने के लिए जीवन में अच्छे सुख शांति के लिए पढ़े पुस्तक जीने की राह इस पुस्तक को पढ़ने के बाद एक मानव जीवन का मूल उद्देश्य का पता चलता है और बुराइयों से कैसे बचा जा सकता है इन से इन का ज्ञान होता है या पुस्तक अवश्य पढ़ें आपको बता दें बिल्कुल निशुल्क है केवल आप अपना नाम पता मोबाइल नंबर 7486 1823 पर भेज दीजिए 15 से 20 दिनों के अंदर बिना किसी डिलीवरी चार्ज के पुस्तक पहुंच जाता है अधिक जानकारी के लिए देखे रोज शाम 7:30 बजे साधना चैनल पर

ji haan jitna ho sake hamein ek dusre ke kaam mein sahyog zaroor karna chahiye isse hamara kaam bhi jaldi hoga aur saamne waale kabhi help ho jata hai aur jeevan mein khushahali zarurat hai aisi jeet se jeevan jeene ke liye jeevan mein acche sukh shanti ke liye padhe pustak jeene ki raah is pustak ko padhne ke baad ek manav jeevan ka mul uddeshya ka pata chalta hai aur buraiyon se kaise bacha ja sakta hai in se in ka gyaan hota hai ya pustak avashya padhen aapko bata de bilkul nishulk hai keval aap apna naam pata mobile number 7486 1823 par bhej dijiye 15 se 20 dino ke andar bina kisi delivery charge ke pustak pohch jata hai adhik jaankari ke liye dekhe roj shaam 7 30 baje sadhna channel par

जी हां जितना हो सके हमें एक दूसरे के काम में सहयोग जरूर करना चाहिए इससे हमारा काम भी जल्दी

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  230
WhatsApp_icon
user

Dr. 9529010780

Sexologist Specialist

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है क्या बोल को घर के काम में हाथ बढ़ाना चाहिए क्या उससे कुछ अच्छा हो सकता है देखो लेडीस जो होती है बच्चों को संभाल संभाल के परेशान हो जाती है और घर के भी काम बहुत सारे होते तो उनका चिंतन ज्यादा बढ़ जाता है उनको हेल्प करने के लिए कोई रहता नहीं घर में तो हम इसलिए आप हाथ बटाना दे उससे मतलब लेडीस का थोड़ा अलग होता है कभी आप घर में हाथ बनाते हो तो तब भी समझती कि आप उनसे प्यार करते हैं मतलब यह भी है कि साइकोलॉजी तो आप थोड़ा बहुत आग बता दे गए देखे आपको पॉजिटिवली तक आएगा

aapka sawaal hai kya bol ko ghar ke kaam mein hath badhana chahiye kya usse kuch accha ho sakta hai dekho ladies jo hoti hai baccho ko sambhaal sambhaal ke pareshan ho jaati hai aur ghar ke bhi kaam bahut saare hote toh unka chintan zyada badh jata hai unko help karne ke liye koi rehta nahi ghar mein toh hum isliye aap hath batana de usse matlab ladies ka thoda alag hota hai kabhi aap ghar mein hath banate ho toh tab bhi samajhti ki aap unse pyar karte hain matlab yah bhi hai ki psychology toh aap thoda bahut aag bata de gaye dekhe aapko positively tak aayega

आपका सवाल है क्या बोल को घर के काम में हाथ बढ़ाना चाहिए क्या उससे कुछ अच्छा हो सकता है देख

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  188
WhatsApp_icon
user

alok Kumar Guesth781v

नमस्ते दोस्तों कैसे है।

0:33
Play

Likes  3  Dislikes    views  179
WhatsApp_icon
user

Manjeet Raj

manjeetraj908@gmail.com

0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अच्छा सवाल है क्या मृत को घर में काम में हाथ बताना चाहिए जो बताना चाहिए इसके बारे में दूध लेकर इंडिया में इतना मेहनत कर रहे हैं सफाई अभियान स्वस्थ भारत पर जल्दी है जो इंसान मार्केट दारु लाने के लिए सोचता था कि कैसे इसको लेकर जाऊं आज इंसान घर पर जाकर झाड़ू पोछा दोनों कर रहा है इंडिया जय हिंद जय भारत

accha sawaal hai kya mrit ko ghar mein kaam mein hath bataana chahiye jo bataana chahiye iske bare mein doodh lekar india mein itna mehnat kar rahe hain safaai abhiyan swasth bharat par jaldi hai jo insaan market daaru lane ke liye sochta tha ki kaise isko lekar jaaun aaj insaan ghar par jaakar jhadu pocha dono kar raha hai india jai hind jai bharat

अच्छा सवाल है क्या मृत को घर में काम में हाथ बताना चाहिए जो बताना चाहिए इसके बारे में दूध

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  119
WhatsApp_icon
user

Thakur Anmol Singh

Preparation For Civil Service.

0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह तो अच्छी बात है हाथ बढ़ाना चाहिए लेकिन अगर मर्द बाहर जॉब करता है या नहीं करता है उसके पड़े बनकर दगा तो जॉब करता है तो क्या मुश्किल है कि वह घर में आपको टाइम नहीं करता है तो बस युद्ध करना चाहिए बिना किसी ना किसी के कहने भी करना चाहिए क्योंकि एक दूसरे का हाथ बढ़ा नहीं अच्छा होगा

yah toh achi baat hai hath badhana chahiye lekin agar mard bahar job karta hai ya nahi karta hai uske pade bankar daga toh job karta hai toh kya mushkil hai ki vaah ghar mein aapko time nahi karta hai toh bus yudh karna chahiye bina kisi na kisi ke kehne bhi karna chahiye kyonki ek dusre ka hath badha nahi accha hoga

यह तो अच्छी बात है हाथ बढ़ाना चाहिए लेकिन अगर मर्द बाहर जॉब करता है या नहीं करता है उसके प

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  270
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं तो कहूंगी बिल्कुल बताना चाहिए क्योंकि अगर लड़कियां बाहर जाकर काम कर सकते हो तो लड़की घर पर क्यों काम नहीं कर सकते ऐसे कहां लिखा है कि सिर्फ लड़कियों को घर संभालना चाहिए लड़कियों को घर का काम करना चाहिए खाना पकाना चाहिए पानी देना चाहिए लोगों को अगर लड़के यह सीख जाए तो उसमें क्या है आजकल कितने सारे स्टेप से होटलों में क्या वह लड़की है नहीं लड़की खाना पका रहे हैं क्योंकि उन्हें को पसंद है तो अगर हम पहले से ही बच्चों को सिखाएं के लड़का और लड़की एक समान है दोनों को घर का काम करना चाहिए और दोनों को बाहर जाकर काम करना चाहिए तो घर में अच्छा माता में रहने का और इस से खुश रहेंगे तो यह मेरे हिसाब से बहुत अच्छा है

main toh kahungi bilkul bataana chahiye kyonki agar ladkiyan bahar jaakar kaam kar sakte ho toh ladki ghar par kyon kaam nahi kar sakte aise kahaan likha hai ki sirf ladkiyon ko ghar sambhaalna chahiye ladkiyon ko ghar ka kaam karna chahiye khana pakana chahiye paani dena chahiye logo ko agar ladke yah seekh jaaye toh usme kya hai aajkal kitne saare step se hotelo mein kya vaah ladki hai nahi ladki khana paka rahe hain kyonki unhe ko pasand hai toh agar hum pehle se hi baccho ko sikhaye ke ladka aur ladki ek saman hai dono ko ghar ka kaam karna chahiye aur dono ko bahar jaakar kaam karna chahiye toh ghar mein accha mata mein rehne ka aur is se khush rahenge toh yah mere hisab se bahut accha hai

मैं तो कहूंगी बिल्कुल बताना चाहिए क्योंकि अगर लड़कियां बाहर जाकर काम कर सकते हो तो लड़की घ

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  186
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
ghar ka kam chahiye ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!