महिलाओं को तैयार होने मैं समय क्यों लगता हैं?...


user

Anil Ramola

Yoga Instructor | Engineer

0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अक्सर पुरुषों की याद रहती है कि महिलाओं को तैयार होने में काफी समय लगता है तो दी कि यह एक कल आदमी प्रोसेस है कि इनको जो तैयार होने में समय लगेगा क्योंकि उनका जो तैयार होने में उनका कपड़े पहनने का तरीका है कपड़े बहुत ही टाइम लगता है साथी साथ उनके जो ज्वैलरीज और जॉन के बाल बढ़ाने का समय है और शासन का जो सामान है बहुत ज्यादा होता है फिर हम बात करेगा कोई ज्यादा कुछ नहीं है लेकिन अगले ही स्कूल जाना है तो उसको बहुत तेजी से वजन बढ़ता है कि इसलिए की साड़ी पहनी है किससे करेगा अपना जल्दी से नहीं करेगी कि जो कॉस्मेटिक्स की

aksar purushon ki yaad rehti hai ki mahilaon ko taiyar hone mein kaafi samay lagta hai toh di ki yah ek kal aadmi process hai ki inko jo taiyar hone mein samay lagega kyonki unka jo taiyar hone mein unka kapde pahanne ka tarika hai kapde bahut hi time lagta hai sathi saath unke jo jwailarij aur john ke baal badhane ka samay hai aur shasan ka jo saamaan hai bahut zyada hota hai phir hum baat karega koi zyada kuch nahi hai lekin agle hi school jana hai toh usko bahut teji se wajan badhta hai ki isliye ki saree pahani hai kisse karega apna jaldi se nahi karegi ki jo kasmetiks ki

अक्सर पुरुषों की याद रहती है कि महिलाओं को तैयार होने में काफी समय लगता है तो दी कि यह एक

Romanized Version
Likes  216  Dislikes    views  2396
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ओम श्री राधा कृष्णाय नमः हम वृंदावन से हैं और इसके लिए तो आप अपनी मम्मी जी से अपनी माता जी से पूछ लेते तो वह बहुत अच्छा बताती आप अपनी मौसी से दादी से या बहन से पूछ लेते बहुत अच्छी तरीके से समझेंगे आप पूछिए गा जरूर बोलिए गा का वृंदावन वाले पंडित जी ने बोला है ओम श्री राधा कृष्णाय नमः

om shri radha krishnay namah hum vrindavan se hain aur iske liye toh aap apni mummy ji se apni mata ji se puch lete toh vaah bahut accha batati aap apni mausi se dadi se ya behen se puch lete bahut achi tarike se samjhenge aap puchiye jaayega zaroor bolie jaayega ka vrindavan waale pandit ji ne bola hai om shri radha krishnay namah

ओम श्री राधा कृष्णाय नमः हम वृंदावन से हैं और इसके लिए तो आप अपनी मम्मी जी से अपनी माता जी

Romanized Version
Likes  169  Dislikes    views  1464
WhatsApp_icon
user

Vimla Bidawatka

Spiritual Thinker

0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महिलाओं को तैयार होने में क्या समय लगता है यह झूठी बातें फैलाई हुई बातें हैं या आदमियों ने फैलाई है कि महिलाओं को समय लगता है

mahilaon ko taiyaar hone mein kya samay lagta hai yeh jhuthi batein failai hui batein hain ya adamiyo ne failai hai ki mahilaon ko samay lagta hai

महिलाओं को तैयार होने में क्या समय लगता है यह झूठी बातें फैलाई हुई बातें हैं या आदमियों ने

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  200
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महिलाओं को तैयार होने में इसलिए समय लगता है कि महिलाएं हमेशा बेल और अप टू डेट रहना पसंद करते हैं पुरुषों की तरह नहीं होती कुछ भी डाला उठाया वह चलते महिलाएं कहीं जाती तो एक उनके अनुशासन के बाल बिखरे हुए नहीं हुए पाल भरने में चेहरे पर जो हम कह निर्धारित सिंगारे वह इसके अलावा तुमको जो पहनना है वह नहीं हो सकता है वह मैचिंग चीजें फ्रेंड उसको ढूंढने में समय लगता है इसी प्रकार चप्पले हैं और दो चार बार अपने आप को निहार कर वह आपके साथ जाती है ताकि आप खुश रहें

mahilaon ko taiyar hone me isliye samay lagta hai ki mahilaye hamesha bell aur up to date rehna pasand karte hain purushon ki tarah nahi hoti kuch bhi dala uthaya vaah chalte mahilaye kahin jaati toh ek unke anushasan ke baal bikhare hue nahi hue pal bharne me chehre par jo hum keh nirdharit singare vaah iske alava tumko jo pahanna hai vaah nahi ho sakta hai vaah matching cheezen friend usko dhundhne me samay lagta hai isi prakar chappale hain aur do char baar apne aap ko nihar kar vaah aapke saath jaati hai taki aap khush rahein

महिलाओं को तैयार होने में इसलिए समय लगता है कि महिलाएं हमेशा बेल और अप टू डेट रहना पसंद कर

Romanized Version
Likes  34  Dislikes    views  397
WhatsApp_icon
user

Jyotsna

Homemaker

1:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महिला को तैयार होने में इसलिए समय लगता है क्योंकि वह कहीं भी जाती हैं पार्टियां पब्लिक में तो वो यह सोचते हैं कि मैं इतना तैयार होकर जाऊं उस पार्टी में मेरे सिवाय मेरे कोई औरत खूबसूरत ना लगे इसलिए वह हर एक चीज पर ध्यान देती है कपड़ों पर मेकअप पर सांस सजा ज्वेलरी इन सब चीजों को पहनती है तो उसमें टाइम तो लगता ही है और तैयार होना श्रृंगार करना औरत का जन्म सिद्ध अधिकार है तो किसी पुरुष को जो है यह जीने का अधिकार नहीं है अगर वह बोलती है कि मैं 10 मिनट में आई और 2 घंटे के बाद आती है मेकअप करके तैयार होकर पार्टी में जाने के लिए तो पुरुष को कभी क्रोध नहीं करना चाहिए वह इतना समय आपके परिवार के लिए तो आप थोड़ा उनको भी सजनी समझने का टाइम दें उसमें गुस्सा ना करें और औरत जो है हमेशा से खूबसूरत लगना चाहती है सबसे ज्यादा तो इसीलिए वह श्रृंगार और तैयार होने में थोड़ा सा टाइम लगाती है

mahila ko taiyar hone me isliye samay lagta hai kyonki vaah kahin bhi jaati hain partyian public me toh vo yah sochte hain ki main itna taiyar hokar jaaun us party me mere shivaay mere koi aurat khoobsurat na lage isliye vaah har ek cheez par dhyan deti hai kapdo par makeup par saans saza jewellery in sab chijon ko pahanti hai toh usme time toh lagta hi hai aur taiyar hona shringar karna aurat ka janam siddh adhikaar hai toh kisi purush ko jo hai yah jeene ka adhikaar nahi hai agar vaah bolti hai ki main 10 minute me I aur 2 ghante ke baad aati hai makeup karke taiyar hokar party me jaane ke liye toh purush ko kabhi krodh nahi karna chahiye vaah itna samay aapke parivar ke liye toh aap thoda unko bhi sajni samjhne ka time de usme gussa na kare aur aurat jo hai hamesha se khoobsurat lagna chahti hai sabse zyada toh isliye vaah shringar aur taiyar hone me thoda sa time lagati hai

महिला को तैयार होने में इसलिए समय लगता है क्योंकि वह कहीं भी जाती हैं पार्टियां पब्लिक में

Romanized Version
Likes  36  Dislikes    views  662
WhatsApp_icon
user

Simran Verma

English Honors with Psychology

0:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां महिलाओं को तैयार होने में समय लगता है क्योंकि मेरे हिसाब से भारतीय परंपरा के अनुसार बहुत सारी पोशाके ऐसी हैं जिनको पहनने में समय लग जाता है जैसे कि योगेश साड़ियां और लहंगे इसके अलावा बहुत सारे गहने हो जाती हैं जो महिलाएं पहनती हैं और महिलाएं मेकअप यूज़ करती हैं मार्केट में बहुत सारी ब्यूटी प्रोडक्ट मिल जाते हैं जो कि सिर्फ महिलाओं के लिए है पुरुषों के लिए नहीं है तुमको लगा कर तैयार होने में 1960 में लग जाते हैं और मुझे इसमें कुछ बुरा नहीं लगता क्योंकि इनको लगाकर को बेहद खूबसूरत भी लगती हैं तो मुझे लगता है कि आपको उन को समय से थोड़ा पहले बता देना चाहिए ताकि वह आपके समय के अनुसार पूरी तरह से तैयार हो शुक्रिया

haan mahilaon ko taiyaar hone mein samay lagta hai kyonki mere hisab se bharatiya parampara ke anusar bahut saree poshake aisi hain jinako pahanne mein samay lag jata hai jaise ki yogesh sadiyan aur lahange iske alava bahut sare gehne ho jati hain jo mahilaye pahanti hain aur mahilaye makeup use karti chahiye hain market mein bahut saree beauty product mil jaate hain jo ki sirf mahilaon ke liye hai purushon ke liye nahi hai tumko laga kar taiyaar hone mein 1960 mein lag jaate hain aur mujhe isme kuch bura nahi lagta kyonki inko lagakar ko behad khoobsurat bhi lagti hain to mujhe lagta hai ki aapko chahiye un ko samay se thoda pehle bata dena chahiye taki wah aapke samay ke anusar puri tarah se taiyaar ho shukriya

हां महिलाओं को तैयार होने में समय लगता है क्योंकि मेरे हिसाब से भारतीय परंपरा के अनुसार बह

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  323
WhatsApp_icon
user

Suraj kandpal

Mechatronics engineer fresher

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप महिलाओं को तैयार होने में इसलिए समय लगता है क्योंकि वह हमसे है हम मर्दों जैसी नहीं हैं वह कब कभी भी बाहर जाना चाहती है तो हमेशा प्रजेंट टेबल रखना चाहती है अपने आप को साफ बहुत ज्यादा लगती है नॉर्मल सारी महिलाएं अपने आप को साफ रखना पसंद करती है जो जबकि हम लोग बस मुंह पर पानी डाल सके और एक कोई भी कपड़ा पहन कर चले जाते हैं वह हमें और हम को एक चली फैशन सेंस भी नहीं है और जब की लड़कियों का अपना खुद का फैशन सेंस होता है वह देखती हैं कि कौन सा कपड़ा उनके ऊपर सबसे सही लगेगा और कब कौन सा मतलब और कैसे हो क्या लगाने पर वह कितने अच्छे दिखेंगे की लड़कियों को यह नहीं होता कि लड़की उनको देखें लड़कियों की है ताकि कि मैं जब भी बाहर जाऊंगा प्रेजेंट टेबल लगूं

aap mahilaon ko taiyaar hone mein isliye samay lagta hai kyonki wah humse hai hum mardon jaisi nahi hain wah kab kabhi bhi bahar jana chahti hai to hamesha present table rakhna chahti hai apne aap ko saaf bahut zyada lagti hai normal saree mahilaye apne aap ko saaf rakhna pasand karti chahiye hai jo jabki hum log bus mooh par pani dal sake aur ek chahiye koi bhi kapda pahan kar chale jaate hain wah hume aur hum ko ek chahiye chali fashion sense bhi nahi hai aur jab ki ladkiyon ka chahiye apna khud ka chahiye fashion sense hota hai wah dekhti hain ki kaon sa kapda unke upar sabse sahi lagega aur kab kaon sa matlab aur kaise ho kya lagane par wah kitne acche dikhenge ki ladkiyon ko yeh nahi hota ki ladki unko dekhen ladkiyon ki hai taki ki main jab bhi bahar jaunga present table lagun

आप महिलाओं को तैयार होने में इसलिए समय लगता है क्योंकि वह हमसे है हम मर्दों जैसी नहीं हैं

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  196
WhatsApp_icon
play
user

Garvita

Influencer

2:00

Likes  40  Dislikes    views  3155
WhatsApp_icon
user
0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तैयार होने में महिला को समय इसलिए लगता है कि वह सोचती है कि मैं बहुत सुंदर लगा क्योंकि वह होती है एक्चुअली में क्या होती है उसे लगता है कि मैं भी सुंदर नहीं हो WhatsApp में लगता है वह छोटी-छोटी चीजों के बारे में कुछ समझती हैं कि यह होने से यह उसकी यह बातें होंगी मतलब नेगेटिव पॉजिटिव बात हो क्वेश्चन प्रोडक्ट करते हैं अपने आप से कि मैं सुंदर हूं कि मैं अच्छी हूं मेरे बाल सही है यह बात सही नहीं है इस तरीके से करूंगा तो यह सही लगेगा उसको जैसी भी एक समझ है समझ रहे हो मेरी बात को मतलबी हो तैयार होने में खुद को शैंपू टाइप करके खुद ही आंसर देती है तो उस वजह से वह क्वेश्चन कनफ्यूजन में आ जाता है इस वजह से महिलाओं को टाइम लगता है

taiyaar hone mein mahila ko samay isliye lagta hai ki wah sochti hai ki main bahut sundar laga kyonki wah hoti hai actually mein kya hoti hai use lagta hai ki main bhi sundar nahi ho WhatsApp mein lagta hai wah choti choti chijon ke bare mein kuch samajhti hain ki yeh hone se yeh uski yeh batein hongi matlab Negative positive baat ho question product karte hain apne aap se ki main sundar hoon ki main acchi hoon mere baal sahi hai yeh baat sahi nahi hai is tarike se karunga to yeh sahi lagega usko jaisi bhi ek chahiye samajh hai samajh rahe ho meri baat ko matlabi ho taiyaar hone mein khud ko shampoo type karke khud hi answer deti hai to us chahiye wajah se wah question confusion mein aa jata hai chahiye is wajah se mahilaon ko time lagta hai

तैयार होने में महिला को समय इसलिए लगता है कि वह सोचती है कि मैं बहुत सुंदर लगा क्योंकि वह

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  93
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

को समय लगता है डिपेंड करता है कि अगर महिला ने भिखारी चौक शर्ट पहनी हो जैसे आदमी लोग पहनते हैं तो बिल्कुल समय नहीं लगता पर अगर हम ज्यादा टाइम लगता है लिखने में ज्यादा टाइम लगता है और बताइए आपका जवाब पसंद आया

ko samay lagta hai depend karta hai ki agar mahila ne bhikhari chauk shirt pahani ho jaise aadmi log pehente hain to bilkul samay nahi lagta par agar hum zyada time lagta hai likhne mein zyada time lagta hai aur bataiye aapka jawab pasand aaya

को समय लगता है डिपेंड करता है कि अगर महिला ने भिखारी चौक शर्ट पहनी हो जैसे आदमी लोग पहनते

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  199
WhatsApp_icon
user

kripa

A radio professional..

1:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

औरत अपने घर से बाहर निकलने की तैयारी करती है वह चाहती कि वह अपना बेस्ट देखें कॉन्फ्रेंस मिलता है और दुनिया को फेस करने का एक हिम्मत सिंह बजाता है माना कि नहीं है आप लोग यह तरीके की आ रही है तो नहीं है ड्रेसिंग से तो कुछ नहीं होता बस मन से होता है पर लड़की होते हुए भी बता सकती हो अगर हमें लगता है तो हम बात नहीं करेंगे इसलिए अच्छे लगने के लिए हम बहुत कोशिश करते हैं कोई कोई ज्यादा मेकअप लगाते हैं वह उनकी मर्जी है और और अगर किसी का भारत इतना नहीं दिखता तो वह पागल हो जाते हैं एकदम से उसको बार-बार सेट करवा कर करवा कर उनको एक तरीके से दिखाना की आंख अच्छा लगा अच्छा लगता है ना कॉन्फ्रेंस है उससे तैयार होने में अब लड़की पाटने लेते तो लड़की कोई लड़की है जो बहुत बहुत बहुत मेकअप लगाती है बहुत तैयारी करती है क्योंकि क्योंकि इतना कंप्लीट होता है मोना फिर अपना हाल पोस्ट करना बहुत कम होता है यार क्या है

aurat apne ghar se bahar nikalne ki taiyari karti chahiye hai wah chahti ki wah apna best dekhen conference milta hai aur duniya ko face karne ka chahiye ek chahiye himmat Singh bajata hai chahiye mana ki nahi hai aap log yeh tarike ki aa rahi hai to nahi hai dressing se to kuch nahi hota bus man se hota hai par ladki hote huye bhi bata sakti ho agar hume lagta hai to hum baat nahi karenge chahiye isliye acche lagne ke liye hum bahut koshish karte hain koi koi zyada makeup lagate hain wah unki marji hai aur aur agar kisi ka chahiye bharat itna nahi dikhta to wah Pagal chahiye ho jaate hain ekdam se usko baar baar set karava kar karava kar unko ek chahiye tarike se dikhana ki aankh accha laga accha lagta hai na conference hai usse taiyaar hone mein ab ladki paatne lete to ladki koi ladki hai jo bahut bahut bahut makeup lagati hai bahut taiyari karti chahiye hai kyonki kyonki itna complete hota hai chahiye mona phir apna haal post karna bahut kam hota hai yaar kya hai

औरत अपने घर से बाहर निकलने की तैयारी करती है वह चाहती कि वह अपना बेस्ट देखें कॉन्फ्रेंस मि

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  272
WhatsApp_icon
user

Rakesh

Technology Lover

0:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महिलाओं को समय इसलिए ज्यादा लगता है क्योंकि वह समझ नहीं पाते कि कौन सा कपड़ा पहना जाए आधे टाइम तो इसी में ही चला जाता है

mahilaon ko samay isliye zyada lagta hai kyonki wah samajh nahi paate ki kaon sa kapda pehna jaye aadhe chahiye time to isi mein hi chala jata hai

महिलाओं को समय इसलिए ज्यादा लगता है क्योंकि वह समझ नहीं पाते कि कौन सा कपड़ा पहना जाए आधे

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  87
WhatsApp_icon
user

Sameer Tripathy

Political Critic

1:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भीगी महिलाए तैयार होने के लिए टाइम तो लगेगा ही एक ही तो यूनिवर्सल ट्रुथ है कि माही आ जाओ अगर पुरुष और महिला में हम लोग अगर कंपटीशन करें तो पूर्व पुरुषों के लिए क्या पहने के लिए क्या है कपड़े पैंट-शर्ट है अपना पेंट पहन लिए शर्ट पहन लिया हो गया हम लोग का काम हो गया है महिलाएं हर चीज में अच्छा दिखना चाहते हैं वह हर चीज में उनको सजना सजना होता रहता है तो उनको उनको टाइम तो लगेगा ही अगर महिलाएं अगर अगर साड़ी पहन रहे तो आपको पता होगा साड़ी पहने बहुत ही डिफिकल्ट होता है क्योंकि उनको सब तरीके से सरसोद देखना पड़ता है कहीं कुछ गलत भी गलत हो ना जाए तो उसके लिए साड़ी उनको पहनने में नहीं 10:15 मिनट 15 मिनट तो लगता ही है 10 मिनट और विभिन्न का और सलवार कमीज सलवार भी पहने के लिए बहुत टाइम लगेगा और उनको सजना सजना भी होता रहता है तो उसके लिए महिला को टाइम लगेगा महिलाओं को टाइम लगा लेना ही पड़ेगा इसमें कुछ गलत बात नहीं है

bhigi mahilaye taiyaar hone ke liye time to lagega hi ek chahiye hi to universal truth hai ki maahi aa jao agar purush aur mahila mein hum log agar competition kare chahiye to purv purushon ke liye kya pahane ke liye kya hai kapde paint shirt hai apna paint pahan liye shirt pahan liya ho gaya hum log ka chahiye kaam ho gaya hai mahilaye har cheez mein accha dikhana chahte hai wah har cheez mein unko sajna sajna hota rehta hai to unko unko time to lagega hi agar mahilaye agar agar sadi pahan rahe to aapko chahiye pata hoga sadi pahane bahut hi difficult hota hai kyonki unko sab tarike se sarsod dekhna padata hai kahin kuch galat bhi galat ho na jaye to uske liye sadi unko pahanne mein nahi 10:15 minute 15 minute to lagta hi hai 10 minute aur vibhinn ka chahiye aur salwar kamij salwar bhi pahane ke liye bahut time lagega aur unko sajna sajna bhi hota rehta hai to uske liye mahila ko time lagega mahilaon ko time laga lena hi padega chahiye isme kuch galat baat nahi hai

भीगी महिलाए तैयार होने के लिए टाइम तो लगेगा ही एक ही तो यूनिवर्सल ट्रुथ है कि माही आ जाओ अ

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  165
WhatsApp_icon
user

.

Hhhgnbhh

0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महिलाओं को तैयार होने में समय इसलिए ज्यादा लगता है क्योंकि मैं मेकअप करती है तो मुझे लगता है कि आधे से ज्यादा है उस समय होने मेकअप करने में लगता है क्योंकि देखा जाए तो अगर कपड़े पहनने के बाद होता है उतना ही समय लगता एक लड़का रहता है पर फिर से वह मेकअप लगाती है तो ज्यादा समय लग जाता है क्या जब अपना हेयर स्टाइल बनाने दूसरों की ज्यादा समय लग जाता है और क्यों लेट क्यों होती है मैं अपनी लुक्स को लेकर अपने देश को लेकर अपने देश को छोड़ने के तरीके को लेकर आठवीं को लेकर बहुत ही ज्यादा संभव रहती हैं बहुत आप रिकॉर्ड पर रहती हैं तो उसके लिए कोई भी चूक नहीं करना चाहती तो जब भी जब भी मतलब उनको तैयार होने के लिए भी दिया जाता तो वह कोई भी झूठ नहीं चलाते आप बहुत सुंदर देखना चाहती हैं इसलिए वह बहुत समय नष्ट कर देते हैं

mahilaon ko taiyaar hone mein samay isliye zyada lagta hai kyonki main makeup karti chahiye hai to mujhe lagta hai ki aadhe chahiye se zyada hai us chahiye samay hone makeup karne mein lagta hai kyonki dekha jaye to agar kapde pahanne ke baad hota hai utana chahiye hi samay lagta ek chahiye ladka rehta hai par phir se wah makeup lagati hai to zyada samay lag jata hai kya jab apna hair style banane dusro ki zyada samay lag jata hai aur kyon late kyon hoti hai apni looks ko lekar apne desh ko lekar apne desh ko chodane ke tarike ko lekar aatthvi ko lekar bahut hi zyada sambhav rehti hain bahut aap record par rehti hain to uske liye koi bhi chuk nahi karna chahti to jab bhi jab bhi matlab unko taiyaar hone ke liye bhi diya jata to wah koi bhi jhuth nahi chalte aap bahut sundar dekhna chahti hain isliye wah bahut samay nasht kar dete hain

महिलाओं को तैयार होने में समय इसलिए ज्यादा लगता है क्योंकि मैं मेकअप करती है तो मुझे लगता

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  266
WhatsApp_icon
user

Bhaskar Saurabh

Politics Follower | Engineer

1:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

महिलाओं को तैयार होने में थोड़ा ज्यादा समय लगता है अगर हम कंपेयर करें पुरुषों से तो, क्योंकि महिलाओं के पास बहुत सारे ऑप्शन होते हैं तैयार होने के लिए लेकिन वही चीज पुरुषों पर लागू नहीं होती है क्योंकि उनके पास काफी कम चीजें हैं जिन्हें वो ट्राई कर सकते हैं और तैयार हो सकते हैं। महिलाओं की बात करें तो उनके पास बहुत सारे ड्रेसेस, मैचिंग ज्वेलरी, मेकअप और उनके फुटवेयर्स यह बहुत सारी चीजें हैं जिन्हें उन्हें सिलेक्ट करने में थोड़ा समय लगता है। और एक बार वो तैयार हो जाती है तो उसके बाद वह डबल चेक करती हैं कि मैं सही लग रही हूं या फिर नहीं। अगर उन्हें लगता है कि कुछ कमी रह गई है तो वह फिर से सारी कुछ करेंगी और इसमें ज्यादा समय लग जाता है। जैसे कि अगर उन्हें बाल जमाने हैं तो बालों के लिए भी बहुत सारे स्टाइल होते हैं महिलाओं के पास और वह ओकेजन के हिसाब से सारी चीजे सेट करती है की नए बाल किस तरह से बनाना है, कौन सा मेकअप लगाना है। और मेकअप में भी बहुत सारी चीजें होती हैं जैसे की आंखों के लिए अलग मेकअप, फेस के लिए अलग नेल पेंट, नेल आर्ट, लिपस्टिक यह सारी चीजें हैं तो इन सारी चीजों में थोड़ा थोड़ा समय भी अगर दिया जाए तो कुल मिलाकर समय थोड़ा ज्यादा हो जाता है तो कई बार पुरुषों को इससे दिक्कत होती है लेकिन मेरे मुताबिक महिलाओं को यह आजादी और छूट हमेशा मिलनी चाहिए कि वह जितना समय ले सकें वह ले लें और अच्छे से तैयार हो जाएं क्योंकि अगर महिलाएं तैयार नहीं होंगी मेकअप नहीं करेंगे तो फिर कौन करेगा क्योंकि यह सारी चीजें महिलाओं के लिए ही बनी है और इनका उन्हें पूरा इस्तेमाल करना चाहिए और कोई कुछ भी बोले उन्हें हड़बड़ी नहीं करनी चाहिए तैयार होने में और ज्यादा से ज्यादा खूबसूरत दिखने की कोशिश करनी चाहिए

mahilaon ko taiyaar hone mein thoda zyada samay lagta hai agar hum compare kare chahiye purushon se to kyonki mahilaon ke paas bahut sare option hote hain taiyaar hone ke liye lekin wahi cheez purushon par laagu nahi hoti hai kyonki unke paas kaafi kam cheezen hain jinhen chahiye vo try kar sakte hain aur taiyaar ho sakte hain mahilaon ki baat kare chahiye to unke paas bahut sare dresses matching jewellery makeup aur unke futveyars yeh bahut saree cheezen hain jinhen chahiye unhen chahiye select karne mein thoda samay lagta hai aur ek chahiye baar vo taiyaar ho jati hai to uske baad wah double check karti chahiye hain ki main sahi lag rahi hoon ya phir nahi agar unhen chahiye lagta hai ki kuch kami rah gayi hai to wah phir se saree kuch karengi aur isme zyada samay lag jata hai jaise ki agar unhen chahiye baal jamane hain to balon ke liye bhi bahut sare style hote hain mahilaon ke paas aur wah occasion ke hisab se saree cheeje set karti chahiye hai ki naye baal kis tarah se banana hai kaon sa makeup lagana hai aur makeup mein bhi bahut saree cheezen hoti hain jaise ki aankho ke liye alag makeup face ke liye alag nail chahiye paint nail chahiye art lipstick yeh saree cheezen hain to in saree chijon mein thoda thoda samay bhi agar diya jaye to kul milakar samay thoda zyada ho jata hai to kai baar purushon ko isse dikkat hoti hai lekin mere mutabik mahilaon ko yeh azadi aur chhut hamesha milani chahiye ki wah jitna samay le saken wah le le aur acche se taiyaar ho jaye kyonki agar mahilaye taiyaar nahi hongi makeup nahi karenge to phir kaon karega kyonki yeh saree cheezen mahilaon ke liye hi bani hai aur inka unhen chahiye pura istemal karna chahiye aur koi kuch bhi bole unhen chahiye hadbadi nahi karni chahiye taiyaar hone mein aur zyada se zyada khoobsurat dikhne ki koshish karni chahiye

महिलाओं को तैयार होने में थोड़ा ज्यादा समय लगता है अगर हम कंपेयर करें पुरुषों से तो, क्यों

Romanized Version
Likes  29  Dislikes    views  2096
WhatsApp_icon
user

Simranpreet Singh

B.Tech in CE from SRM

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन मेरे हिसाब से अगर देखा जाए तो महिलाओं को तैयार होने में ज्यादा समय इसलिए लगता है क्योंकि महिलाओं के नजरिए से अगर यह चीज देखी जाए तो उनको काफी चीजें करनी होती है जैसे कि सबसे पहले मैं कब से स्टार्ट करना होता है फिर उनकी हेयर स्टाइलिंग होती है फिल्म का ड्रेस अब ऐसा होता है कि वह बहुत ही एक टाइम टेकिंग प्रोसेस होता है जो कि पुरुषों के मुकाबले काफी ज्यादा टफ और काफी ज्यादा टाइम कंज्यूम करता है मेहनत कंज्यूम करता है जिसकी वजह से देखा जाए तो यही कुछ रीजन है जिनकी वजह से महिलाओं को तैयार होने में ज्यादा टाइम लगता है मेरे हिसाब से

lekin mere hisab se agar dekha jaye to mahilaon ko taiyaar hone mein zyada samay isliye lagta hai kyonki mahilaon ke nazariye se agar yeh cheez dekhi jaye to unko kaafi cheezen karni hoti hai jaise ki sabse pehle main kab se start karna hota hai phir unki hair styling hoti hai film ka chahiye dress ab aisa hota hai ki wah bahut hi ek chahiye time taking process hota hai jo ki purushon ke muqable kaafi zyada tough aur kaafi zyada time consume karta hai mehnat consume karta hai jiski wajah se dekha jaye to yahi kuch reason hai jinaki wajah se mahilaon ko taiyaar hone mein zyada time lagta hai mere hisab se

लेकिन मेरे हिसाब से अगर देखा जाए तो महिलाओं को तैयार होने में ज्यादा समय इसलिए लगता है क्य

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  207
WhatsApp_icon
user

Apurva D

Optimistic Coder

0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तीखी महिलाओं को तैयार होने के लिए समय लगता है यह असली और सब बहुत पहले से चलता आ रहा है यह पता चली कि मैं पूरी तरीके से सही नहीं बस हां मतलब वही चाहिए क्योंकि वह हो जाता है चली तैयार होना मतलब क्या किया अभी कोई फंक्शन है कहीं पर जाना है तो महिलाओं को मतलब का टायर जो है वह साड़ी पहननी पड़ती है या कुछ राजेश मालवीय पर करना पड़ता है तू मतलब वह पहनना मतलब का पालन करना तो उसमें थोड़ा सा मैं जाता है पुरुषों का कैसे होता है कि नहीं वह पहन लिए पैंट शर्ट पैंट हो गया काम तो उनका बहुत जल्दी से हो जाता है और महिलाओं को मतलब थोड़ी सामने से होता है कि नहीं वह सुंदर दिखना है तो वह थोड़ा टाइम ले लेती है तो इसलिए उनको ज्यादा समय लगता है तेरे को

teekhi chahiye mahilaon ko taiyaar hone ke liye samay lagta hai yeh asli aur sab bahut pehle se chalta aa raha hai yeh pata chali ki main puri tarike se sahi nahi bus haan matlab wahi chahiye kyonki wah ho jata hai chali taiyaar hona matlab kya kiya chahiye abhi koi function hai kahin par jana hai to mahilaon ko chahiye matlab ka chahiye tyre jo hai wah sadi pahananee padhti hai ya kuch rajesh malaviya par karna padata hai tu matlab wah pahanna matlab ka chahiye palan karna to usamen chahiye thoda sa main jata hai purushon ka chahiye kaise hota hai ki nahi wah pahan liye paint shirt paint ho gaya kaam to unka bahut jaldi se ho jata hai aur mahilaon ko matlab thodi samane se hota hai ki nahi wah sundar dikhana hai to wah thoda time le leti hai to isliye unko zyada samay lagta hai tere ko

तीखी महिलाओं को तैयार होने के लिए समय लगता है यह असली और सब बहुत पहले से चलता आ रहा है यह

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  232
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

1:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि मैं यहां महिलाओं को तैयार होने में ज्यादा समय लगता है और जैसे कि आपने पूछा था उसका मैं थोड़ा सा लॉजिक लिए आंसर देना चाहूंगी कि महिलाओं को ज्यादा समय इसलिए लगता है क्योंकि अगर हम देखें तो जो महिलाओं के ब्यूटी ब्यूटी प्रोडक्ट्स होते हैं और जितनी चीजें होती हैं जिन्हें को यूज कर सकती है पर तैयार होने में अब वह बहुत ही ज्यादा ही लाइक कर यूज कर सकती हैं अब अलग अलग टाइप के कपड़े पहन सकती है उनके शूज मैचिंग होने चाहिए और जो कॉस्मेटिक्स है वह तो इतने सारे हैं और के जितने जेंट्स को उनके नाम भी नहीं पता होता तो शायद यही कारण है कि महिलाओं को ज्यादा समय लगता है क्योंकि उनके पास चीज है इतनी सारी होती हैं जैसे वह यूज कर सकती हैं और वह यूज करती है तो उनको समय लग जाता है यारों ने और यह सवाल है कि महिलाओं को तैयार होने में समय लगता है तो एक बात पहले से भी मैं बताना चाहूंगी कि हर महिला नागा आपने तैयार होने का अलग तरीका होता है और यह तो सिर्फ एक कथा क्या कलाम बना रखा है कि महिलाओं को समय ज्यादा लगता है और जेंट्स को न लगता है बल्कि ऐसा बिल्कुल भी नहीं है दोनों ही अपने दयानंद में बराबर का समय लगाते हैं वह जिसको जैसे तैयार होना होता है उसी टाइम के हिसाब से काम करते हैं तो यह तो सिर्फ एक तकिया कलाम है और ऐसा कुछ भी नहीं होता तू जो आज की मेला है वह खुद में इतनी इंडिपेंडेंट है उसको जब जैसे तैयार होना होता है वह हिसाब से काम करती है ना कैसे अपने समय लगाने की वजह वजह से और किसी काम में दखलअंदाजी होती है किसी काम को खराब करती है तो इसका लॉजिकल दिनों से मेरे साथ से आई है कि जितने सामान ज्यादा होते हैं उतने ही तैयार होने में ज्यादा समय लगता है और महिलाओं को तैयार होने के लिए इतनी सारी चीजें बनाई है और यह मैं नहीं रही है तो फिर तैयार होने में समय तो लगेगा ही

aisa bilkul bhi nahi hai ki main yahan mahilaon ko taiyaar hone mein zyada samay lagta hai aur jaise ki aapne poocha tha uska main thoda sa logic liye answer dena chahungi ki mahilaon ko zyada samay isliye lagta hai kyonki agar hum dekhen to jo mahilaon ke beauty beauty products hote hain aur jitni cheezen hoti hain jinhen chahiye ko use kar sakti hai par taiyaar hone mein ab wah bahut hi zyada hi like kar use kar sakti hain ab alag alag type ke kapde pahan sakti hai unke shoes matching hone chahiye aur jo cosmetics chahiye hai wah to itne sare hain aur ke jitne gents ko unke naam bhi nahi pata hota to shayad yahi kaaran hai ki mahilaon ko zyada samay lagta hai kyonki unke paas cheez hai itni saree hoti hain jaise wah use kar sakti hain aur wah use karti chahiye hai to unko samay lag jata hai yaaron ne aur yeh sawal hai ki mahilaon ko taiyaar hone mein samay lagta hai to ek chahiye baat pehle se bhi main batana chahungi ki har mahila naga aapne taiyaar hone ka chahiye alag tarika hota hai aur yeh to sirf ek chahiye katha kya kalam bana rakha chahiye hai ki mahilaon ko samay zyada lagta hai aur gents ko n lagta hai balki aisa bilkul bhi nahi hai dono hi apne dayanad mein barabar ka chahiye samay lagate hain wah jisko jaise taiyaar hona hota hai ussi time ke hisab se kaam karte hain to yeh to sirf ek chahiye takiya chahiye kalam hai aur aisa kuch bhi nahi hota tu jo aaj ki mela hai wah khud mein itni independent hai usko jab jaise taiyaar hona hota hai wah hisab se kaam karti chahiye hai na kaise apne samay lagane ki wajah wajah se aur kisi kaam mein dakhalandaji hoti hai kisi kaam ko kharab karti chahiye hai to iska logical dinon chahiye se mere saath se I hai ki jitne saamaan zyada hote hain utne hi taiyaar hone mein zyada samay lagta hai aur mahilaon ko taiyaar hone ke liye itni saree cheezen banai hai aur yeh main nahi rahi hai to phir taiyaar hone mein samay to lagega hi

ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि मैं यहां महिलाओं को तैयार होने में ज्यादा समय लगता है और जैसे कि

Romanized Version
Likes  68  Dislikes    views  1653
WhatsApp_icon
user

Ridhima

Mass Communications Student

1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा नहीं है कि महिलाएं इतनी बहुत ज्यादा समय लगाती है तैयार होने में बहुत कम MB बहुत टाइम लगाते कोई कोई मेहनत हां अगर आप दोनों के हिसाब से परसेंटेज देखे तो हमारा जाता है कि विभिन्न है जो ज्यादा टाइम लगाते तैयार होने में टाइपिंग किए इसलिए होगा किसी भी मन को हर टाइम यह रहना उनके माइंड सेट में ही रखी है कि मैं बाहर जा रही हूं तू मेरे को अच्छा देखना है मेरे को परफेक्ट लिखना है तो एंड और इसलिए उसमें लिए उसके वजह से बहुत टाइम लगती है और प्लस यह भी है कि उनको अच्छी विश करने में कि हम क्या पहन रहे हैं हम क्या लगाएंगे वगैरह में उस पर भी टाइम लगता है कि बस एक आउटफिट और ढूंढने में सिलेक्ट करने में जान हम लोग बहुत थोड़े बहुत इंडस ऐसे हो जाते हैं लास्ट मोमेंट पर तो शायद उसके वजह से भी लेट हो जाता है देना ऑफिस लिए एक रीजन हो गया मेकअप का भी हो गया कि बहुत और महिलाएं मेकअप करती है तो उसमें थोड़ा बहुत टाइम लग जाता है कभी-कभी वह ज्यादा ही ज्यादा टाइम भी ले लेती है

aisa nahi hai ki mahilaye itni bahut zyada samay lagati hai taiyaar hone mein bahut kam MB bahut time lagate koi koi mehnat haan agar aap dono ke hisab se percentage dekhe to hamara jata hai ki vibhinn hai jo zyada time lagate taiyaar hone mein typing kiye isliye hoga kisi bhi man ko har time yeh rehna unke mind set mein hi rakhi hai ki main bahar ja rahi hoon tu mere ko accha dekhna hai mere ko perfect likhna hai to end aur isliye usamen chahiye liye uske wajah se bahut time lagti hai aur plus yeh bhi hai ki unko acchi wish karne mein ki hum kya pahan rahe hai hum kya lagayenge vagera mein us chahiye par bhi time lagta hai ki bus ek chahiye outfit aur dhundhane mein select karne mein jaan hum log bahut thode bahut indus aise ho jaate hai last moment par to shayad uske wajah se bhi late ho jata hai dena office liye ek chahiye reason ho gaya makeup ka chahiye bhi ho gaya ki bahut aur mahilaye makeup karti chahiye hai to usamen chahiye thoda bahut time lag jata hai kabhi kabhi wah zyada hi zyada time bhi le leti hai

ऐसा नहीं है कि महिलाएं इतनी बहुत ज्यादा समय लगाती है तैयार होने में बहुत कम MB बहुत टाइम ल

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  217
WhatsApp_icon
user

Anukrati

Journalism Graduate

1:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए, मुझे लगता है पहली बात तो कि यह बहुत ही स्टीरियो टिपिकल क्वेश्चन है कि आपको ऐसा लगता है कि औरतों को तैयार होने में ज्यादा समय लगता है| बट अगर ऐसा है भी तो इसका रीजन हमारी सोसाइटी मानूंगी मैं, क्योंकि औरतों पर इन सब चीजों का इतना प्रेशर है कि आज कोई काजल लगाकर कोई बाहर नहीं निकलता तो लोग उनको देखकर कहने लग जाते आज रो ही हो क्या? कोई प्रॉब्लम है क्या ?अगर बाल नहीं बने होते, बाल कटे हुए होते हैं ताकि आसानी से बन सके, तो कहने लग जाते हैं लड़कों की तरह बनने की क्यों कोशिश कर रहे हो? ऐसी बहुत सारी चीजें हैं जिनके लिए हर मतलब छोटी छोटी चीज के लिए इतना औरतों पर प्रेशर है कि उनको अपने आप ही इन सब चीजों में टाइम लग जाता है | चाहे फिर वह वैक्सिंग हो, हेयर स्टाइल हो, मेकअप हो या फिर उनके कपड़े हो, फुटवेअर हो सब में ही इतनी बंदिशें हैं कि मतलब टाइम लग ना जायज सी बात है कि लगी जाता है फिर टाइम | अगर आप वैसा बनना चाहते हैं तो पर फिर भी यह सब कहने के बाद भी मैं ऐसा फिर से कहना चाहूंगी कि यह बहुत ही स्टीरियो टिपिकल क्वेश्चन है, ऐसा होता नहीं है कि सारी औरतों को ज्यादा टाइम लगता है या मर्दों को कम टाइम लगता है |

dekhie chahiye mujhe lagta hai pehli baat to ki yeh bahut hi stereo chahiye typical question hai ki aapko chahiye aisa lagta hai ki auraton ko taiyaar hone mein zyada samay lagta hai but agar aisa hai bhi to iska reason hamari society manungi main kyonki auraton par in sab chijon ka chahiye itna pressure hai ki aaj koi kajal lagakar koi bahar nahi nikalta to log unko dekhkar kehne lag jaate aaj ro hi ho kya koi problem hai kya agar baal nahi bane hote baal kate huye hote hain taki aasani se ban sake to kehne lag jaate hain ladko ki tarah banne ki kyon koshish kar rahe ho aisi bahut saree cheezen hain jinke liye har matlab choti choti cheez ke liye itna auraton par pressure hai ki unko apne aap hi in sab chijon mein time lag jata hai | chahe phir wah waxing ho hair style ho makeup ho ya phir unke kapde ho futvear ho sab mein hi itni bandisain hain ki matlab time lag na jayaj si baat hai ki lagi jata hai phir time | chahiye agar aap waisa banana chahte hain to par phir bhi yeh sab kehne ke baad bhi main aisa phir se kehna chahungi ki yeh bahut hi stereo chahiye typical question hai aisa hota nahi hai ki saree auraton ko zyada time lagta hai ya mardon ko kam time lagta hai |

देखिए, मुझे लगता है पहली बात तो कि यह बहुत ही स्टीरियो टिपिकल क्वेश्चन है कि आपको ऐसा लगता

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  494
WhatsApp_icon
user

amitkul

CA student,pursuing bcom too

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अब इसमें हम क्या आंसर दे सकते कि महिलाओं को तैयार होने के लिए समय क्यों लगता है कि अभी कह सकते हैं कि जब अलग अलग जल्दी तैयार होने की तकनीकों के वस्त्र खेसारी लाल को पढ़ने में समय लगता है कि उनके कुछ अलग अलग कोर्स होते मेरे सुनाओ फिर मैंने कब होता है मेकअप में समय लगता है 11:00 बजे आना और बस खास बात तो यह साइकोलॉजी की बात करूं दो महिलाओं के बीच होता है कि लगे कि अच्छा नहीं है वह अच्छा है मुझे सब से अलग दिखना इन साइकोलॉजी के चक्कर में जो है वह कपड़े धोने में समय लगा देती हो रजिस्टर नंबर 4 होने में समय लगता है

ab isme hum kya answer de sakte ki mahilaon ko taiyaar hone ke liye samay kyon lagta hai ki abhi keh sakte hain ki jab alag alag jaldi taiyaar hone ki takanikon chahiye ke vastra khesari laal ko padhne mein samay lagta hai ki unke kuch alag alag course hote mere sunao phir maine kab hota hai makeup mein samay lagta hai 11:00 baje aana aur bus khaas baat to yeh psychology ki baat karu chahiye do mahilaon ke bich hota hai ki lage ki accha nahi hai wah accha hai mujhe sab se alag dikhana in psychology ke chakkar mein jo hai wah kapde dhone chahiye mein samay laga deti ho register number 4 hone mein samay lagta hai

अब इसमें हम क्या आंसर दे सकते कि महिलाओं को तैयार होने के लिए समय क्यों लगता है कि अभी कह

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  200
WhatsApp_icon
user

Kunjansinh Rajput

Aspiring Journalist

1:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए महिलाओं को तैयार होने में समय इतना क्यों लगता है कि कि महिलाएं जो है उनका और ज्यादा कमजोर होती है वह बहुत सोचती अपने साजन के बारे में को कपड़ों के बारे में याद रखना कभी दिल ना मर्दों से कहता हूं पर बैठना नहीं सोचते कपड़े पहने कि मेरे साथ सेक्स को 7 दिन में जो साथ अलग-अलग तरीके के कपड़े पर है कौन से बहुत ज्यादा होता है कपड़ों की पसंद होते कपड़ों की चॉइस होती है वह भी वह मर्दों से पुरुषों से ज्यादा होती है और जिस प्रकार से कार्य पुरुषों को जानते प्लांट और आपके बीच नहीं आओ से लेकर मदद डिपो शॉपिंग करते हैं तो उन्हें बस स्टैंड बताओ कैसे रख सकते हैं या फिर बेलतरा पर जाकर खरीदना होता है बल्कि कॉल सेटिंग होता है वह बहुत ही हम कह सकते कठिन होता है क्योंकि उन्हें कई सारे अनेक प्रकार के अपलोडिंग समझते हैं स्काउट सोयाबीन सोयाबीन से सोया क्या मिशन सोसाइटी चर्च ऑफ क्लॉक 420 जिसमें हम कैसे 500014 हाई हील वाली शुरू हो गया फिर उनको मैचिंग करते हुए बैंक और ज्यादा के एक्सेसरीज हो कि नहीं और रंगों का पैटर्न भी देखना हो तो क्योंकि पुरुषों के शॉपिंग बॉर्डर ओ क्लॉक मीटिंग में नहीं देखने को मिलते हैं लेकिन महिलाओं के शरीर के पाचन होता है और कौन सा जीता वाले सूट होगा नहीं होगा तो यही कारण है कि महिलाओं को तैयार होने में ज्यादा समय लगता है

dekhie chahiye mahilaon ko taiyaar hone mein samay itna kyon lagta hai ki ki mahilaye jo hai unka aur zyada kamjor hoti hai wah bahut sochti apne sajan ke bare mein ko kapadon ke bare mein yaad rakhna kabhi dil na mardon se kahata hoon par baithana nahi sochte kapde pahane ki mere saath sex ko 7 din mein jo saath alag alag tarike ke kapde par hai kaon se bahut zyada hota hai kapadon ki pasand hote kapadon ki choice hoti hai wah bhi wah mardon se purushon se zyada hoti hai aur jis prakar se karya purushon ko jante plant aur aapke bich nahi aao se lekar madad dipo shopping karte hai to unhen chahiye bus stand batao kaise rakh sakte hai ya phir belatara par jaakar kharidna hota hai balki call setting hota hai wah bahut hi hum keh sakte kathin hota hai kyonki unhen chahiye kai sare anek prakar ke uploading samajhte hai scout soyabean soyabean se soya kya mission society church of clock 420 jisme hum kaise 500014 hi heel wali shuru ho gaya phir unko matching karte huye bank aur zyada ke Accessories ho ki nahi aur rangon ka chahiye pattern bhi dekhna ho to kyonki purushon ke shopping border o clock meeting mein nahi dekhne ko milte hai lekin mahilaon ke sharir ke pachan hota hai aur kaon sa jita wali suit hoga nahi hoga to yahi kaaran hai ki mahilaon ko taiyaar hone mein zyada samay lagta hai

देखिए महिलाओं को तैयार होने में समय इतना क्यों लगता है कि कि महिलाएं जो है उनका और ज्यादा

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  173
WhatsApp_icon
user

Rajsi

Sports Commentator & Reporter

0:50
Play

कहां ज्यादा समय लगता है यार महिलाओं को तैयार होने में ? मतलब हाँ ! हमें टाइम जरूर लगता है लेकिन उसके बाद में जो रिजल्ट मिलता है तो यह तो करना पड़ता है और वह कहते हैं ना कि यह जो बेस्ट चीज होती है वह टाइम लेती है तो इस में ज्यादा कुछ बड़ी बात नहीं है अगर आप थोड़ा पहले उनको इन्फॉर्म कर दें कि जाना है तो भी वह जल्दी तैयार हो सकती है | अब औरतें हैं नूडल थोड़ी ही ना है जो दो मिनट में तैयार हो जायेंगी ? बाकी ये है कि थोड़ा समय दीजिये, थोड़ा इंतजार कीजिए फिर आपको जो देखने को मिलेगा वह रिजल्ट बहुत अच्छा होगा | तो समय जरूर लेती है हम थोड़ा, लेकिन बहोत ज्यादा नहीं| मुझे नहीं लगता की हर औरत उतना टाइम लेती होगी| अपना अपना तरीका है, आप जान सकते हैं कि वह जल्दी तैयार होती हैं, देर में तैयार होती है | अगर देर में होती है, तो उनको पहले से आप इन्फॉर्म कर दीजिए कि चलना है तो उन्हें इतना टाइम नहीं लगेगा और वैसे तैयार वो होती आप ही लोगों के लिए है तो बेहतर होगा कि आप इंतजार ही कर लो |

kahaan zyada samay lagta hai yaar mahilaon ko taiyaar hone mein ? matlab haan ! hume time jarur lagta hai lekin uske baad mein jo result milta hai to yeh to karna padata hai aur wah kehte hain na ki yeh jo best cheez hoti hai wah time leti hai to is mein zyada kuch badi baat nahi hai agar aap thoda pehle unko inform chahiye kar de ki jana hai to bhi wah jaldi taiyaar ho sakti hai | ab auraten hain noodle thodi hi na hai jo do minute mein taiyaar ho jayengi ? baki yeh hai ki thoda samay dijiye chahiye thoda intejar kijiye phir aapko chahiye jo dekhne ko milega wah result bahut accha hoga | to samay jarur leti hai hum thoda lekin bahut zyada nahi mujhe nahi lagta ki har aurat utana chahiye time leti hogi apna apna tarika hai aap jaan sakte hain ki wah jaldi taiyaar hoti hain der mein taiyaar hoti hai | agar der mein hoti hai to unko pehle se aap inform chahiye kar dijiye ki chalna hai to unhen chahiye itna time nahi lagega aur waise taiyaar vo hoti aap hi logo chahiye ke liye hai to behtar hoga ki aap intejar hi kar lo |

कहां ज्यादा समय लगता है यार महिलाओं को तैयार होने में ? मतलब हाँ ! हमें टाइम जरूर लगता है

Romanized Version
Likes  526  Dislikes    views  18732
WhatsApp_icon
user

Amber Rai

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राधे के मुझे लगता है कि महिला को तैयार होने में इतना समय चलेगा टाइपिंग है कि मुंबई का बकरा पर थोड़ा ज्यादा ध्यान देती है तो मेकअप करने में तो टाइम जाता ही है और फिर ज्वेलरी वगैरा भी पहनना उसका सिलेक्शन है करना तो वह महिलाएं मुझे लगता है बहुत चूड़ी और कैसी होती है अगर वह शॉपिंग पर भी निकल जाए तो उनको एक कपड़ा चेंज करने में बहुत टाइम लगता है जबकि चंदौली जो होते हैं वह 5 मिनट में कोई सा भी कपड़ा खरीद लेते हैं और उनको जो है कपड़ा पहन में भी टाइम लगता है इसलिए मुझे लगता है कि महिलाओं को तैयार होने में समय बहुत लगता है

radhe ke mujhe lagta hai ki mahila ko taiyaar hone mein itna samay chalega typing hai ki mumbai ka chahiye bakara par thoda zyada dhyan deti hai to makeup karne mein to time jata hi hai aur phir jewellery vagera bhi pahanna uska selection hai karna to wah mahilaye mujhe lagta hai bahut chudi chahiye aur kaisi hoti hai agar wah shopping par bhi nikal jaye to unko ek chahiye kapda change karne mein bahut time lagta hai jabki chandauli jo hote hain wah 5 minute mein koi sa bhi kapda kharid lete hain aur unko jo hai kapda pahan mein bhi time lagta hai isliye mujhe lagta hai ki mahilaon ko taiyaar hone mein samay bahut lagta hai

राधे के मुझे लगता है कि महिला को तैयार होने में इतना समय चलेगा टाइपिंग है कि मुंबई का बकरा

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  205
WhatsApp_icon
user

Swati

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लिखी महिलाओं को तैयार होने में समय क्यों लगता है इसका जवाब तो किसी के पास भी सेट नहीं होगा और कुछ महिलाओं के पास नहीं होगा कि हमारे पास मेकअप करने के लिए बहुत सारी चीज होती है देखी फाउंडेशन लगाना पड़ता है 20 लगाना पड़ता कंसीलर लगाना पड़ता है टोपी करेंगे और अप्लाई करने में भी टाइम लगेगा तो फिर लड़कों की या फिर हस्बैंड की बॉयफ्रेंड की शिकायत होती है ना कि उनकी गर्लफ्रेंड अच्छी नहीं लग रही आपको वह चीज चाहिए और आप कुछ समय भी नहीं लगवाना हो तो रेडीमेड गर्लफ्रेंड तो मिलती नहीं है या रेडीमेड वाइफ तो मिलती नहीं है कि फटा फट जाए और नूडल्स कि आजकल तो 2 मिनट का समय लगाती है बनने में तो महिलाएं तो जीत जाती इंसान है वह तो बहुत टाइम लगाएंगे महिलाएं नहीं होती है वह आपके लिए ढूंढ ढूंढ कर लेकर आएंगे आप पटाखे लेकर आएंगे अपने बच्चों को याद करेंगे सब चीजों में टाइम लग जाता है तो इस चीज के ऊपर सवाल मत पूछिए बल्कि उन्हें नए-नए मेकअप प्रोडक्ट ला कर दीजिए

likhi mahilaon ko taiyaar hone mein samay kyon lagta hai iska jawab to kisi ke paas bhi set nahi hoga aur kuch mahilaon ke paas nahi hoga ki hamare paas makeup karne ke liye bahut saree cheez hoti hai dekhi foundation lagana padata hai 20 lagana padata Concealer lagana padata hai topi karenge aur apply karne mein bhi time lagega to phir ladko ki ya phir husband ki boyfriend ki shikayat hoti hai na ki unki girlfriend acchi nahi lag rahi aapko chahiye wah cheez chahiye aur aap kuch samay bhi nahi lagvana ho to readymade girlfriend to milti nahi hai ya readymade wife to milti nahi hai ki phata phat jaye aur noodles chahiye ki aajkal to 2 minute ka chahiye samay lagati hai banne mein to mahilaye to jeet jati insaan hai wah to bahut time lagayenge mahilaye nahi hoti hai wah aapke liye dhundh dhundh kar lekar aayenge aap patakhe lekar aayenge apne baccho ko yaad karenge sab chijon mein time lag jata hai to is cheez ke upar sawal mat poochhie chahiye balki unhen chahiye naye naye makeup product la kar dijiye

लिखी महिलाओं को तैयार होने में समय क्यों लगता है इसका जवाब तो किसी के पास भी सेट नहीं होगा

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  1951
WhatsApp_icon
user

Vatsal

Engineering Student

1:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप ने सवाल किया महिलाओं को तैयार होने में बहुत अधिक समय लगता है यह वास्तविकता है यह हकीकत है इस पर जो भी बना हुआ है कि जिस प्रकार से महंगी का ऐड किया जाता है 2 मिनट में नहीं बन सकती उसी प्रकार से कोई भी लड़की जो कहती है बहुत जल्दी तैयार हो जाऊंगी वह नहीं हो पाती है उसका जल्दी तैयार होने का मतलब यह है कि वह एक घंटा लगा कर कम से कम लड़कियों को देखिए बहुत अधिक समय लगता है तैयार होने में यदि कोई भी चीज करेंगे कोई भी चीज को घंटो तक कर दिए जाएंगे अपने क्रीम पाउडर बाल वगैरा बनाएंगे तो कुल मिलाकर उनको बहुत घंटों लगती है हम लड़के लोग इतनी देर में 10 बार तैयार हो जाएगा लेकिन ऐसा नहीं है केवल उन्हें लगता है आजकल के युवा है जो कि उन्हें भी बहुत देर लगती है चाहे उन्हें बाल बनाने हो आपने यह अन्य तरीके बिल्कुल स्टाइल हो गया पूरा करना होगा कि लड़कियों को भी देर लगती है क्योंकि वह अपनी तरफ से बेस्ट जो याद रखना जाती है क्योंकि यह जाहिर सी बात है कि लड़कियों के अंदर विशेष तौर पर वैसे तो सब में होती है लेकिन लड़कियों के अंदर विशेष तौर पर यह फीलिंग होती है कि हमें अन्य लड़कियों से बेहतर देखना क्योंकि जो दूसरी लड़कियों की उपेक्षा वह बेहतर देखना चाहती हैं और दूसरों से एक जलेबी वाला स्वभाव जो होता है कि यह बेटर दिख रही है यह यह सोचने में सुनने में अजीब लगता है लेकिन यह रियालिटी है इस प्रकार से होता है

aap ne sawal kiya chahiye mahilaon ko taiyaar hone mein bahut adhik samay lagta hai yeh vastavikta hai yeh haqiqat hai is par jo bhi bana hua hai ki jis prakar se mehengi ka chahiye aid kiya chahiye jata hai 2 minute mein nahi ban sakti ussi prakar se koi bhi ladki jo kahti hai bahut jaldi taiyaar ho jaungi wah nahi ho pati hai uska jaldi taiyaar hone ka chahiye matlab yeh hai ki wah ek chahiye ghanta laga kar kam se kam ladkiyon ko dekhie chahiye bahut adhik samay lagta hai taiyaar hone mein yadi koi bhi cheez karenge koi bhi cheez ko ghanton tak kar diye jaenge apne cream powder baal vagera banayenge to kul milakar unko bahut ghanto lagti hai hum ladke log itni der mein 10 baar taiyaar ho jayega lekin aisa nahi hai kewal unhen chahiye lagta hai aajkal ke yuva hai jo ki unhen chahiye bhi bahut der lagti hai chahe unhen chahiye baal banane ho aapne yeh anya tarike bilkul style ho gaya pura karna hoga ki ladkiyon ko bhi der lagti hai kyonki wah apni taraf se best jo yaad rakhna jati hai kyonki yeh jaahir si baat hai ki ladkiyon ke andar vishesh taur par waise to sab mein hoti hai lekin ladkiyon ke andar vishesh taur par yeh feeling hoti hai ki hume anya ladkiyon se behtar dekhna kyonki jo dusri ladkiyon ki upeksha wah behtar dekhna chahti hain aur dusro se ek chahiye jalebi vala swabhav jo hota hai ki yeh better dikh rahi hai yeh yeh sochne mein sunne mein ajib lagta hai lekin yeh reality hai is prakar se hota hai

आप ने सवाल किया महिलाओं को तैयार होने में बहुत अधिक समय लगता है यह वास्तविकता है यह हकीकत

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  1451
WhatsApp_icon
user

S

सुनो ..सुनाओ..सीखो!

1:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक पुरुष के नाते इस सवाल का जवाब आप दें और कुछ विवादास्पद आपके मुंह से ना निकले ऐसा संभव नहीं है तो मैं माइक हम आना चाहूंगा मेरी एक महिला मित्र को जो अपने विचार आपके साथ साझा करेंगे इस मुद्दे पर अब बताइए क्या आपको लगता है सही है ऐसा कि महिलाओं को तैयार होने में समय ज्यादा लगता है या बहुत जरूरत है इंजन रेटिंग महिलाओं को तैयार में समय लगता है और इसका सीधा सा कारण यह है कि आपको लगता है कि ऐसा क्यों है इसीलिए ज्यादा समय लगता है मुझे लगता है क्योंकि बहुत सारी चीजें को क्या करना है बाल काट लड़कियों का क्या होता है बाल बनाने के उनके 75 तरीके होते है लंबे बाल होते तो बहुत टाइम लगता है फिर मेकअप के हजार सामान आते आपने भी देखा होगा उनके पास बड़ी सीख मेकअप किट होती है और अपने मुंह पर पता नहीं क्या-क्या पूछते हैं लोग उसने बहुत टाइम लगता है उसको सही से करने में और सही से लगाने में सारा मेकअप फाउंडेशन काजल लिपस्टिक पता नहीं क्या-क्या फिर 24 फुट पर होती है लड़कियों को बहुत टाइम लगता है कि वह क्या पहने इस में मतलब होता को ज्यादा मदद करते नहीं हैं उनकी में भी काफी उनको बहुत छोटे कपड़ों की भी बहुत ऑप्शन होते हैं तो वह ऑप्शन को सेलेक्ट करके पहनने में आई थिंक जरा टाइम लगता है और सबसे इंपोर्टेंट मेकअप मेकअप की वजह से मेकअप और बाल अगर लंबे बाल है तो और खास तौर पर कोई समाधान नहीं है इसका समाधान यह है कि आप उनको थोड़ा पहले से बता कर रखें सुबह बता दें कि शाम को हम जाएंगे टाइम दे देंगे कितने बजे तक तैयार रहिएगा समय की बात है

ek chahiye purush ke naate is sawal ka chahiye jawab aap de aur kuch vivadaspad aapke mooh se na nikale aisa sambhav nahi hai to main mike hum aana chahunga meri ek chahiye mahila mitra ko jo apne vichar aapke saath sajha karenge is mudde par ab bataye kya aapko chahiye lagta hai sahi hai aisa ki mahilaon ko taiyaar hone mein samay zyada lagta hai ya bahut zarurat hai engine rating mahilaon ko taiyaar mein samay lagta hai aur iska sidhaa sa kaaran yeh hai ki aapko chahiye lagta hai ki aisa kyon hai isliye zyada samay lagta hai mujhe lagta hai kyonki bahut saree cheezen ko kya karna hai baal kaat ladkiyon ka chahiye kya hota hai baal banane ke unke 75 tarike hote hai lambe baal hote to bahut time lagta hai phir makeup ke hazar saamaan aate aapne bhi dekha hoga unke paas baadi seekh makeup kit hoti hai aur apne mooh par pata nahi kya kya poochte hai log usne bahut time lagta hai usko sahi se karne mein aur sahi se lagane mein saara makeup foundation kajal lipstick pata nahi kya kya phir 24 feet par hoti hai ladkiyon ko bahut time lagta hai ki wah kya pahane is mein matlab hota ko zyada madad karte nahi hai unki mein bhi kaafi unko bahut chote kapadon ki bhi bahut option hote hai to wah option ko select karke pahanne mein I think jara time lagta hai aur sabse important makeup makeup ki wajah se makeup aur baal agar lambe baal hai to aur khaas taur par koi samadhan nahi hai iska samadhan yeh hai ki aap unko thoda pehle se bata kar rakhen subah bata de ki shaam ko hum jaenge time de denge kitne baje tak taiyaar rahiyegaa samay ki baat hai

एक पुरुष के नाते इस सवाल का जवाब आप दें और कुछ विवादास्पद आपके मुंह से ना निकले ऐसा संभव न

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  218
WhatsApp_icon
user

Sachin Bharadwaj

Faculty - Mathematics

0:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिये, मुझे लगता है कि महिलाओं को इतना समय शायद इसलिए लगता है क्योंकि उनका मोस्टली जो समय जाता है वह मेकअप मैं जाता है | मेकओवर जो करती हूं उसमें सबसे ज्यादा उनका समय जाता है | और बॉयज के पास उतने ज्यादा चोइसस भी नहीं होती मेकओवर करने कि वह तो सीधे अपने ड्रेस पहनी और निकल लिए | तो उसके बाद सबसे बड़ा झंझट होता है वह साड़ी वाड़ी पहनने का | साड़ी पहने में और ज्यादा टाइम लग जाता है ठीक है ! तो उसके पार्लर वार्लर पता नहीं क्या-क्या तामझाम होते हैं | तो इस वजह से मुझे लगता है कि महिलाओं को ज्यादा समय लगता है जबकि बॉयज का तो सिंपल टीशर्ट, शर्ट-पैंट, पैंट-सूट पहने बालों में थोड़ा पानी वानी लगाया, थोड़ा ऑइल लगाया हो गए तैयार | गर्ल्स का तो और लेडीस का तो बहुत ज्यादा टाइम होता है लगभग | बॉयज 5 मिनट लेता है तो मुझे लगता है एक लेडीस 2 घंटे तो ले ही लेती है |

dekhiye mujhe lagta hai ki mahilaon ko itna samay shayad isliye lagta hai kyonki unka Mostly jo samay jata hai wah makeup main jata hai | makeover jo karti chahiye hoon usamen chahiye sabse zyada unka samay jata hai | aur boys ke paas utne zyada choisas bhi nahi hoti makeover karne ki wah to sidhe apne dress pahani aur nikal liye | to uske baad sabse bada jhanjhat hota hai wah sadi vadi pahanne ka chahiye | sadi pahane mein aur zyada time lag jata hai theek hai ! to uske parlour chahiye varlar pata nahi kya kya taamjhaam hote hai | to is wajah se mujhe lagta hai ki mahilaon ko zyada samay lagta hai jabki boys ka chahiye to simple Tshirt shirt paint paint suit pahane balon mein thoda pani vani lagaya thoda oil lagaya ho gaye taiyaar | girls ka chahiye to aur ladies ka chahiye to bahut zyada time hota hai lagbhag | boys 5 minute leta chahiye hai to mujhe lagta hai ek chahiye ladies 2 ghante to le hi leti hai |

देखिये, मुझे लगता है कि महिलाओं को इतना समय शायद इसलिए लगता है क्योंकि उनका मोस्टली जो समय

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  1880
WhatsApp_icon
user

Ishita Seth

Obstinate Programmer

1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए महिलाओं को तैयार होने में ज्यादा समय से उसके लगता है कि उनकी उनकी अगर देखा जाए अगर हम मर्दों से महिलाओं का समायोजन किया जाए तो उनको दिन में ज्यादा मुस्लिम महिलाओं की नींद बहुत ज्यादा है उनकी कपड़े का जो सैंडी साइल है और उनकी जो एक चीज है वह बहुत ही ज्यादा होती है अगर हम लड़कों से कम प्यार करें तो जैसे एक्सेसिबिलिटी ऑरेंज नेकलेस ब्रेसलेट हो गया लड़का कैसे पैदा होता है पर लड़कियों को पहनती है उन सब कुछ ना कुछ मत करना पड़ता है जैसे गाड़ी लड़कियों को यहां महिलाओं को बहुत ज्यादा टाइम लगता है और कितनी है कि महिलाएं अगर देखा जाए तो यह है कि महिलाएं ज्यादा कौन से होते हैं वह लोग के बारे में अपनी पर्सनालिटी के बारे में अगर हम इनका कंप्रेशन करें लड़कों से तो इसलिए हमेशा चाहते हैं कि मैं बहुत ज्यादा अच्छी दिखती है यह जो कांशसनेस है उनकी अपने लुक को लेकर इसके कारण बहुत ज्यादा टाइम बताइए महिलाओं को तैयार होने में

dekhie chahiye mahilaon ko taiyaar hone mein zyada samay se uske lagta hai ki unki unki agar dekha jaye agar hum mardon se mahilaon ka chahiye samaayojan kiya chahiye jaye to unko din mein zyada muslim mahilaon ki neend bahut zyada hai unki kapde ka chahiye jo sandy saail hai aur unki jo ek chahiye cheez hai wah bahut hi zyada hoti hai agar hum ladko se kam pyar kare chahiye to jaise eksesibiliti orange necklace bracelet ho gaya ladka kaise paida hota hai par ladkiyon ko pahanti hai un sab kuch na kuch mat karna padata hai jaise gaadi ladkiyon ko yahan mahilaon ko bahut zyada time lagta hai aur kitni hai ki mahilaye agar dekha jaye to yeh hai ki mahilaye zyada kaon se hote hain wah log ke bare mein apni personality ke bare mein agar hum inka compression kare chahiye ladko se to isliye hamesha chahte hain ki main bahut zyada acchi dikhti hai yeh jo kanshasanes hai unki apne look ko lekar iske kaaran bahut zyada time bataye mahilaon ko taiyaar hone mein

देखिए महिलाओं को तैयार होने में ज्यादा समय से उसके लगता है कि उनकी उनकी अगर देखा जाए अगर ह

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  225
WhatsApp_icon
user

Ekta

Researcher and Writer

1:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह कहना कि महिलाओं को तैयार होने में बहुत ज्यादा समय लगता है थोड़ा सा गलत होगा क्योंकि हम लोगों के हिसाब से उनका टाइम को यूज होता है जैसे ही अपने टाइम प्लीज लाइक करते हैं तो और समय लगता है क्योंकि अगर एक मैं रेडी हो रहा है तो वह ऑफिस में बहुत जल्दी-जल्दी पहनकर रेडी हो जाएगा क्योंकि आज जो बुरे होते हैं वह ज्यादा एक्टिव होते हैं रहते धन और वह मैंने जो हमारी वहां पर हो उसी तरह उम्मीद भी आकर वृद्धि पर उतना नहीं कितनी कीमत है उन्हें खुद तैयार होने में थोड़ा समय लगता है बहुत सारी चीजें इसमें है जैसे कि मिनी बस अगर नॉर्मली और कपड़े पहने तो वह तैयार हो जाता है उनके लिए कोई स्पेसिफिक ड्रेस नहीं है कि आप ही पहन के बाहर जा सकते हैं पर महिलाओं के लिए स्पीक स्पीक ड्रेस है कि आपको इस समय पर ऐसे ही ऐसे पहन के जाना है तो उसके लिए डिसाइड करने में और सारी चीजों को करने में समय लगता है तू ज्यादा समय नहीं लगता कुछ समय ज्यादा लगते हैं और भगवान ने ऐसा बनाया ही है कि और दोनों की जेंडर उसकी एक्टिविटीज और चीजें अलग अलग ही तरीके से यह भी अलग है और उसका ही सकते हम यह टाइम में लिख सकते हैं कि कैसे हम ज्यादा टाइम लेते हैं और मैडम से कम टाइम लेते हैं तो उस समय लगता है थोड़ा है जो कि बहुत नेचुरल है

yeh kehna ki mahilaon ko taiyaar hone mein bahut zyada samay lagta hai thoda sa galat hoga kyonki hum logo chahiye ke hisab se unka time ko use hota hai jaise hi apne time please like karte hai to aur samay lagta hai kyonki agar ek chahiye main ready ho raha hai to wah office mein bahut jaldi jaldi pehankar ready ho jayega kyonki aaj jo bure hote hai wah zyada active hote hai rehte dhan aur wah maine jo hamari wahan par ho ussi tarah ummid bhi aakar vriddhi par utana chahiye nahi kitni kimat hai unhen chahiye khud taiyaar hone mein thoda samay lagta hai bahut saree cheezen isme hai jaise ki mini bus agar normally aur kapde pahane to wah taiyaar ho jata hai unke liye koi specific dress nahi hai ki aap hi pahan ke bahar ja sakte hai par mahilaon ke liye speak speak dress hai ki aapko chahiye is samay par aise hi aise pahan ke jana hai to uske liye decide karne mein aur saree chijon ko karne mein samay lagta hai tu zyada samay nahi lagta kuch samay zyada lagte hai aur bhagwan ne aisa banaya hi hai ki aur dono ki gender uski ektivitij aur cheezen alag alag hi tarike se yeh bhi alag hai aur uska hi sakte hum yeh time mein likh sakte hai ki kaise hum zyada time lete hai aur madame se kam time lete hai to us chahiye samay lagta hai thoda hai jo ki bahut natural hai

यह कहना कि महिलाओं को तैयार होने में बहुत ज्यादा समय लगता है थोड़ा सा गलत होगा क्योंकि हम

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  186
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
please again ; taiyar hone ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!