क्या कोई भी सरकारी अफसर और नेता, बिज़नेस कर सकते हैं?...


play
user

Rajesh Kumar

Worker at Bahujan Mukti Party

0:16

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं यह कानून की तो उसे तो है नहीं लेकिन बात तो कर रहे हो नेता लोगों के जो काफी लोगों को अपना रानी की पार्टी ने भी अलग नहीं चल रहा है दीदी के नाम क्या है भाई

main yah kanoon ki toh use toh hai nahi lekin baat toh kar rahe ho neta logon ke jo kafi logon ko apna rani ki party ne bhi alag nahi chal raha hai didi ke naam kya hai bhai

मैं यह कानून की तो उसे तो है नहीं लेकिन बात तो कर रहे हो नेता लोगों के जो काफी लोगों को अप

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  211
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Pankaj Sharma

Journalist | Advocate

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या तक मैं समझता हूं नेताओं को किसी भी रूप में वितरित करना ही पड़ेगा क्योंकि उनके पास जो कि पार्टी और यह जो कार है उसका कोई पैसा या कीमत नहीं मिलती है लेकिन अधिकारियों व कर्मचारियों को किसी भी प्रकार के बिजनेस पर रोक लगनी चाहिए और उनके सदस्यों को कोई भी बिजनेस नहीं करने देना चाहिए कोई भी कंपनी नहीं स्थापित करने देना चाहिए क्योंकि जो बेईमानी का काम होता है यह उसी बिजनेस के माध्यम से ब्लैक मनी बनाकर इन्हीं बिजनेस कंपनियों में इन्वेस्ट करते हैं और लोगों के लिए परेशानी पैदा करते हैं और देश में घोटाले और बढ़ोतरी

kya tak main samajhata hoon netaon ko kisi bhi roop mein vitrit karna hi padega kyonki unke paas jo ki party aur yah jo car hai uska koi paisa ya kimat nahi milti hai lekin adhikaariyo v karmachariyon ko kisi bhi prakar ke business par rok lagani chahiye aur unke sadasyon ko koi bhi business nahi karne dena chahiye koi bhi company nahi sthapit karne dena chahiye kyonki jo baimani ka kaam hota hai yah usi business ke madhyam se black money banakar inhin business companion mein invest karte hain aur logon ke liye pareshani paida karte hain aur desh mein ghotale aur badhotari

क्या तक मैं समझता हूं नेताओं को किसी भी रूप में वितरित करना ही पड़ेगा क्योंकि उनके पास जो

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  80
WhatsApp_icon
user

Gulnaz

लेवल 1 (बिगिनर)

0:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिछिया कानूनी रूप से एक सरकारी कर्मचारी को भारत में कोई भी व्यवसाय करने की अनुमति नहीं है हालांकि वह उन्हें एक करने के लिए नहीं रुक सकते हैं यह अपने पति के नाम पर व्यवसाय शुरू कर सकते हैं या फिर बच्चों के नाम पर व्यवसाय व्यवसाय शुरू कर सकते हैं मुझे लगता है कि ऐसा करने वाले बहुत से लोग जानते हैं आपस व्यापार अन्य लोगों के नाम पर होगा लेकिन पूरे व्यवसाय को अपने विश्वसनीय पर चलाया जाएगा

bichhiya kanooni roop se ek sarkari karmchari ko bharat mein koi bhi vyavasaya karne ki anumati nahi hai halanki vaah unhe ek karne ke liye nahi ruk sakte hain yah apne pati ke naam par vyavasaya shuru kar sakte hain ya phir bacchon ke naam par vyavasaya vyavasaya shuru kar sakte hain mujhe lagta hai ki aisa karne waale bahut se log jante hain aapas vyapar anya logon ke naam par hoga lekin poore vyavasaya ko apne viswasniya par chalaya jaega

बिछिया कानूनी रूप से एक सरकारी कर्मचारी को भारत में कोई भी व्यवसाय करने की अनुमति नहीं है

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  165
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!