क्या मैं सात्विक आहार में सभी प्रकार के फल खा सकता हूँ?...


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या आप सा त्यौहार सभी प्रकार के फल खा सकते जी हां सात्विक आहार में सभी प्रकार के फल होते हैं वैसे ज्यादातर आप सेव खाएं स्वास्तिक में सबसे ज्यादा मतलब सतोगुण में से भी आता है उसके बाद तो रजोगुण के सफल हैं आप कल आ सकते हैं स्वास्तिक में

kya aap sa tyohar sabhi prakar ke fal kha sakte ji haan Satvik aahaar me sabhi prakar ke fal hote hain waise jyadatar aap save khayen swastik me sabse zyada matlab satogun me se bhi aata hai uske baad toh rajogun ke safal hain aap kal aa sakte hain swastik me

क्या आप सा त्यौहार सभी प्रकार के फल खा सकते जी हां सात्विक आहार में सभी प्रकार के फल होते

Romanized Version
Likes  37  Dislikes    views  921
WhatsApp_icon
10 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Ashish Lavania

Yoga Trainer

1:50
Play

Likes  389  Dislikes    views  2412
WhatsApp_icon
user

Gyanchand Soni

Yoga Instructor.

0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सात्विक आहार एप्लीकेशन चाहिए जो सीमा रंगीली का गीत

Satvik aahaar application chahiye jo seema rangili ka geet

सात्विक आहार एप्लीकेशन चाहिए जो सीमा रंगीली का गीत

Romanized Version
Likes  234  Dislikes    views  2305
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या मैं सात्विक आहार में सभी प्रकार के फल खा सकता हूं आप साथी का आहार विहा फल तो खा सकते हैं लेकिन कुछ ऐसे होते कि जो बिल्कुल टी के फल होते हैं या फिर विफल होते हैं तो उन्हें हम नहीं खा सकते वह साथी का हार भी नहीं आते

kya main Satvik aahaar me sabhi prakar ke fal kha sakta hoon aap sathi ka aahaar viha fal toh kha sakte hain lekin kuch aise hote ki jo bilkul T ke fal hote hain ya phir vifal hote hain toh unhe hum nahi kha sakte vaah sathi ka haar bhi nahi aate

क्या मैं सात्विक आहार में सभी प्रकार के फल खा सकता हूं आप साथी का आहार विहा फल तो खा सकते

Romanized Version
Likes  47  Dislikes    views  1248
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  66  Dislikes    views  1461
WhatsApp_icon
user

Neelam Chauhan

Yoga Teacher

0:15
Play

Likes  34  Dislikes    views  406
WhatsApp_icon
user

Rekha Agarwal

Yoga Teacher

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फ्रेंड शार्पेस्ट ने कहा कि फल खा सकते हैं कोडिंग खा सकते हैं

friend sharpest ne kaha ki fal kha sakte hain coding kha sakte hain

फ्रेंड शार्पेस्ट ने कहा कि फल खा सकते हैं कोडिंग खा सकते हैं

Romanized Version
Likes  43  Dislikes    views  310
WhatsApp_icon
user

Somit Yoga Varanasi

Yoga Trainer and Astrologer

0:20
Play

Likes  79  Dislikes    views  1782
WhatsApp_icon
play
user

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अवतल तकरीबन सारे गीत आ जाते हैं और आजकल जैसे गर्मी का मौसम है इसमें तरबूज की रानी की यह सारे मन को शांत पल तू सारी साथ में आते हैं परंतु जो पित्त को शांत करेंगे जो मैंने आपको करते हैं है हम तो सब T20 करते हैं अतः शिकायत की रेसिपी रहते हैं उसकी गर्मी शांत होती है

avatal takareeban saare geet aa jaate hain aur aajkal jaise garmi ka mausam hai isme tarabuj ki rani ki yah saare man ko shaant pal tu saree saath mein aate hain parantu jo pitt ko shaant karenge jo maine aapko karte hain hai hum toh sab T20 karte hain atah shikayat ki recipe rehte hain uski garmi shaant hoti hai

अवतल तकरीबन सारे गीत आ जाते हैं और आजकल जैसे गर्मी का मौसम है इसमें तरबूज की रानी की यह सा

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  315
WhatsApp_icon
user
0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हरिओम अनुष्का शास्त्री कहानी सभी प्रकार के पल कहां कहां गए थे सभी प्रकार के फल का सेवन कर सकते हैं क्योंकि पर हमारे जितने भी होते होते ही आते हैं तो फलों का सेवन निश्चित रूप से अच्छा माना गया है हमारे विचारों के लिए हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक होता है क्योंकि तरह से हमारी बॉडी में डिटॉक्सिफिकेशन का काम करता है जिसने भी जितने भी पदार्थ बॉडी से निकालता है फलों का सेवन कर सकते हैं यह हमारे लिए बहुत ही उपयुक्त पदार्थों की कैटेगरी में आते हैं

hariom anushka shastri kahani sabhi prakar ke pal kaha kaha gaye the sabhi prakar ke fal ka seven kar sakte hain kyonki par hamare jitne bhi hote hote hi aate hain toh falon ka seven nishchit roop se accha mana gaya hai hamare vicharon ke liye hamare swasthya ke liye bahut labhdayak hota hai kyonki tarah se hamari body me ditaksifikeshan ka kaam karta hai jisne bhi jitne bhi padarth body se nikalata hai falon ka seven kar sakte hain yah hamare liye bahut hi upyukt padarthon ki category me aate hain

हरिओम अनुष्का शास्त्री कहानी सभी प्रकार के पल कहां कहां गए थे सभी प्रकार के फल का सेवन कर

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  163
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!