सात्विक खाद्य पदार्थ स्वस्थ मन और शरीर का संतुलन कैसे बनाए रखते हैं?...


user

Dr Reny Miglani

Homeopathic Doctor

0:44
Play

Likes  99  Dislikes    views  1244
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr N R Ahirwar (BAMS)

Ayurvedic Doctor

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैंने आपको बताया ना चाहिए प्याज अदरक की मात्राएं हुए आदमी को लेना चाहिए एंटीऑक्सीडेंट होती है उसमें

maine aapko bataya na chahiye pyaaz adrak ki matraen hue aadmi ko lena chahiye Antioxidant hoti hai usmein

मैंने आपको बताया ना चाहिए प्याज अदरक की मात्राएं हुए आदमी को लेना चाहिए एंटीऑक्सीडेंट होती

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  389
WhatsApp_icon
play
user

Dr. Anuj Dupta

Director and chief ayurvedic consultant and founder of Mantra Ayurveda.

0:38

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

साथ में खाना खाने से हमारी बॉडी में अच्छे विचारों का समावेश होता है और मन हमारा शांत होता है क्योंकि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ मन का वास हो सकता है इसलिए शरीर और मन के संतुलन को बनाए रखने के लिए साथी पदार्थ खाना बहुत जरूरी है आजकल के वातावरण में जंक फूड खाना पीना बहुत प्रचलित है लेकिन यह हमारे साथ हमारे प्रकृति को भी खराब कर रहा है जिससे हमारे अंदर गलत संस्कार आते हैं इसलिए मेरा अपना मानना है कि साथ में खाना ही सबसे अच्छा खाना होता है उसे ही आपका शरीर का समुचित विकास हो सकता है

saath mein khana khane se hamari body mein acche vicharon ka samavesh hota hai aur man hamara shaant hota hai kyonki swasthya sharir mein hi swasthya man ka was ho sakta hai isliye sharir aur man ke santulan ko banaye rakhne ke liye sathi padarth khana bahut zaroori hai aajkal ke vatavaran mein junk food khana peena bahut prachalit hai lekin yah hamare saath hamare prakriti ko bhi kharab kar raha hai jisse hamare andar galat sanskar aate hain isliye mera apna manana hai ki saath mein khana hi sabse accha khana hota hai use hi aapka sharir ka samuchit vikas ho sakta hai

साथ में खाना खाने से हमारी बॉडी में अच्छे विचारों का समावेश होता है और मन हमारा शांत होता

Romanized Version
Likes  24  Dislikes    views  312
WhatsApp_icon
user

Dr. Mitramahesh

Ayurvedic Doctors

2:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सात्विक और मांसाहार भी नर्सरी के अंदर जाकर के ना सही को ठीक करके उसका पतन हो करके ब्लड को मास्को हड्डी को और सभी के साथ धातु को स्वस्थ और दीर्घायु बनाते हैं सातवीं के अंदर खाने से मनुष्य के शरीर के लिए यह जो आयुर्वेद के वैज्ञानिकों ने जो उसकी सिस्टम का रिसर्च किया प्राचीन लाखों साल पहले उस समय ही यह सारा निर्धारित हो चुका है कि व्यक्ति सात्विक भोजन करेंगे तो उसके सभी केंद्र पवित्रता होगी उसके मन में स्थिरता आएगी भजन शास्त्री को पवित्र नहीं होता है और यह शुद्ध और इस तरह और मांसाहारी होता है उत्तरी के अंदर चंचल पड़ता है शरीर के अंदर और प्रकृति के भावना कैसी होती है आप लोग की जो मैं लिखा है और कितने की है गाड़ी वगैरह का वह खाने से आपके अंदर सा सिक्का रहेगी भैंस वाला घी खाने से और दिल के सिवा के और तेल जो आप लोग खाएंगे और खाने से आपके शरीर के अंदर एक प्रकार का राशि के और कुछ तामसिक भावनाएं पैदा होगी सभी की संतुलन को बिगाड़ रहे आप लोग उसका अनुभव कर सकते हैं हम लोग तो बहुत अच्छी तरह से अनुभव किया है और राई विज्ञान के अनुसार इसका परीक्षण भी हम लोग करते हैं तो आप यह सारी चीजों से मुक्त हुई है जैसे कि कोई भी प्रकार का मिर्च को हो उसको आप दिल के आप उसके मूंगफली और दूसरा कोई तेल के अंदर आप इसको खाएंगे तिल कातिल होगा और उसके बाद स्त्री पुरुष का जोश एक्सीडेंट संसद होगा तो वक्त व्यक्ति का वीर्य स्खलन आधे मिनिटामिल जितेंद्र हो जाएगा और वही मिर्चा गाय के घी के अंदर मोबाइल टच आफ आएंगे तो आप लोग विजय का अच्छी तरह से स्तंभन कर पाएंगे और अब लोगों का वीर्य स्खलित नहीं होगा और आप अच्छी तरह से संतुलन और संभल की प्रक्रिया स्त्री-पुरुष कर पाएंगे यह सारी बातों को आप लोगों को बहुत अच्छी तरह से समझ नहीं चाहिए कि शास्त्री खानपान और सात्विक आहार मनुष्य के सेक्सी श्री पुरुष के सेक्स संभोग बगैर के लिए एक महान उसकी नियति और उसकी प्रक्रिया को जन्म देता है आप लोग उसके अनुसार चलिए और आप आर्य समाज आयुर्वेद hospitals.com हमारी जो वेबसाइट है उसके वीडियो को अच्छी तरह से अभ्यास कीजिए और इस बातों को अधिक जानकारी लेने के लिए आप हमारा व्यक्तिगत और हमारा संपर्क कर सकते हैं धन्यवाद

Satvik aur mansahaari bhi nursery ke andar jaakar ke na sahi ko theek karke uska patan ho karke blood ko moscow haddi ko aur sabhi ke saath dhatu ko swasth aur dirghayu banate hain satvi ke andar khane se manushya ke sharir ke liye yah jo ayurveda ke vaigyaniko ne jo uski system ka research kiya prachin laakhon saal pehle us samay hi yah saara nirdharit ho chuka hai ki vyakti Satvik bhojan karenge toh uske sabhi kendra pavitrata hogi uske man me sthirta aayegi bhajan shastri ko pavitra nahi hota hai aur yah shudh aur is tarah aur masahari hota hai uttari ke andar chanchal padta hai sharir ke andar aur prakriti ke bhavna kaisi hoti hai aap log ki jo main likha hai aur kitne ki hai gaadi vagera ka vaah khane se aapke andar sa sikka rahegi bhains vala ghee khane se aur dil ke siva ke aur tel jo aap log khayenge aur khane se aapke sharir ke andar ek prakar ka rashi ke aur kuch tamasik bhaavnaye paida hogi sabhi ki santulan ko bigad rahe aap log uska anubhav kar sakte hain hum log toh bahut achi tarah se anubhav kiya hai aur rai vigyan ke anusaar iska parikshan bhi hum log karte hain toh aap yah saari chijon se mukt hui hai jaise ki koi bhi prakar ka mirch ko ho usko aap dil ke aap uske mungfaali aur doosra koi tel ke andar aap isko khayenge til kaatil hoga aur uske baad stree purush ka josh accident sansad hoga toh waqt vyakti ka virya skhalan aadhe minitamil jitendra ho jaega aur wahi mircha gaay ke ghee ke andar mobile touch of aayenge toh aap log vijay ka achi tarah se stambhan kar payenge aur ab logo ka virya skhalit nahi hoga aur aap achi tarah se santulan aur sambhal ki prakriya stree purush kar payenge yah saari baaton ko aap logo ko bahut achi tarah se samajh nahi chahiye ki shastri khanpan aur Satvik aahaar manushya ke sexy shri purush ke sex sambhog bagair ke liye ek mahaan uski niyati aur uski prakriya ko janam deta hai aap log uske anusaar chaliye aur aap arya samaj ayurveda hospitals com hamari jo website hai uske video ko achi tarah se abhyas kijiye aur is baaton ko adhik jaankari lene ke liye aap hamara vyaktigat aur hamara sampark kar sakte hain dhanyavad

सात्विक और मांसाहार भी नर्सरी के अंदर जाकर के ना सही को ठीक करके उसका पतन हो करके ब्लड को

Romanized Version
Likes  132  Dislikes    views  810
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्योंकि उसके साथ सद्बुद्धि जो है वह शांति रहती है और आप के बौद्धिक क्षमता बढ़ती है शादी का हाथ के साथ जैसे दूध है मक्खन है कि हर शाख सब्जियां हैं पल हैं बदाम हैं कि मेरे हैं यह सारे सात्विक आहार में आते हैं तो इसके साथ ही शाम तक आपका फीस वृद्धि नहीं होगी उतना आपका व्यवहार जो है वह

kyonki uske saath sadbuddhi jo hai vaah shanti rehti hai aur aap ke baudhik kshamta badhti hai shadi ka hath ke saath jaise doodh hai makhan hai ki har shakh sabjiyan hain pal hain badaam hain ki mere hain yah saare Satvik aahaar mein aate hain toh iske saath hi shaam tak aapka fees vriddhi nahi hogi utana aapka vyavhar jo hai vaah

क्योंकि उसके साथ सद्बुद्धि जो है वह शांति रहती है और आप के बौद्धिक क्षमता बढ़ती है शादी का

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  315
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!