क्या आयुर्वेदिक दर्द निवारक दवाओं के कोई दुष्प्रभाव हैं?...


play
user
1:16

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है आयुर्वेद में बहुत तरीके के दर्द को कंट्रोल करने वाले सलूशन पूजा करने में मदद में राम बेचन राजभर का वेतन कितनी खराब होती है शबाना ने कहा कि उनके दर्द की दवाई खानी पड़ती है तभी वह दर्द करते हुए प्रदूषण के कारण किया जाता है इंडिकेशन की बात करें तो आयुर्वेदिक बिना पानी पतासे

koi side effect nahi hota hai ayurveda mein bahut tarike ke dard ko control karne wale salution puja karne mein madad mein ram bechan rajbhar ka vetan kitni kharab hoti hai shabana ne kaha ki unke dard ki dawai khaani padti hai tabhi wah dard karte hue pradushan ke kaaran kiya jata hai indication ki baat karein toh ayurvedic bina pani patase

कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है आयुर्वेद में बहुत तरीके के दर्द को कंट्रोल करने वाले सलूशन पू

Romanized Version
Likes  36  Dislikes    views  434
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr. Samir Sapcota

Ayurvedic Doctors

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विपिन की लड़की क्यों लड़को जैसे चुचियों पाउडर के पुराना हो जाने क्या आयुर्वेदिक चिकित्सा भी बोल सकती खाते ही कल से मेरी की कोई मतलब धीरे धीरे धीरे जाकर ठीक होता है

vipin ki ladki kyon ladko jaise chuchiyon powder ke purana ho jaane kya ayurvedic chikitsa bhi bol sakti khate hi kal se meri ki koi matlab dhire dhire dhire jaakar theek hota hai

विपिन की लड़की क्यों लड़को जैसे चुचियों पाउडर के पुराना हो जाने क्या आयुर्वेदिक चिकित्सा भ

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  445
WhatsApp_icon
user

vasa nilesh

Ayurvedic

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन कोई टेंपल रन

lekin koi temple run

लेकिन कोई टेंपल रन

Romanized Version
Likes  40  Dislikes    views  532
WhatsApp_icon
user
0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

साइड इफेक्ट तो नहीं होता है ऐसे भी होता है एक ही होता है

side effect toh nahi hota hai aise bhi hota hai ek hi hota hai

साइड इफेक्ट तो नहीं होता है ऐसे भी होता है एक ही होता है

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  111
WhatsApp_icon
user

Dr. Rajesh Shrotriya

Ayurvedic Doctor

1:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

होता है होता होता है क्यों होता है मतलब देखिए इसमें जैसे आयुर्वेदा प्रकृति से रिलेटेड है और प्रकृति मतलबी टीचर एंड द रूल ऑफ नेचर नेचर का एक रूल है क्या अति सर्वत्र वर्जित है तो आप किसी भी चीज को अच्छी चीज को भी अगर ज्यादा लोंग टाइम तक लेते हैं तो आपको नुकसान करता है एक सिंपल सा मैं आपको एग्जांपल दे दूं जैसे हल्दी है तो लोग बोलते हल्दी बहुत अच्छा है ठीक है और अगर हल्दी आप रोज उसको एक्स्ट्रा क्वांटिटी में मतलब कोई मेरे पास व्हाट्सएप पेशेंट आता है जो एक चमकी रोज दूध के साथ लेते हैं और ऐसे हैं तो लॉन्ग टाइम तक जरूरत नहीं है और फिर भी लेकिन कोई ना कोई आस्किंग का इशू या गले की खराश और खांसी यह सब उसे मैनिपुलेट होता है वैसे मैं ठीक है जैसे मेथीदाना है राइट तो लोग लेते हैं कि मैं थी बहुत अच्छी है वायु कम करती है लेकिन अगर आपको सूट नहीं हुआ विदाउट प्रिसक्रिप्शन ऑफ कर डॉक्टर मतलब आपने आयुर्वेदिक डॉक्टर को बिना उसकी वजह से इंटरेस्ट में ब्लीडिंग तक हो सकता है मेथी की वजह से लोग सोचते हैं कि कभी नुकसान करता है अगर किसी भी चीज के लिए आपको ऐड ट्रीटमेंट अगर आपको लेना है कोई भी आयुर्वेदिक चीज नेचुरल चीज भी तो किसी ना किसी डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए

hota hai hota hota hai kyon hota hai matlab dekhiye isme jaise ayurveda prakriti se related hai aur prakriti matlabi teacher and the rule of nature nature ka ek rule hai kya ati sarvatra varjit hai toh aap kisi bhi cheez ko achi cheez ko bhi agar zyada long time tak lete hain toh aapko nuksan karta hai ek simple sa main aapko example de doon jaise haldi hai toh log bolte haldi bahut accha hai theek hai aur agar haldi aap roj usko extra quantity mein matlab koi mere paas whatsapp patient aata hai jo ek chumki roj doodh ke saath lete hain aur aise hain toh long time tak zarurat nahi hai aur phir bhi lekin koi na koi asking ka issue ya gale ki kharash aur khansi yah sab use mainipulet hota hai waise main theek hai jaise methidana hai right toh log lete hain ki main thi bahut achi hai vayu kam karti hai lekin agar aapko suit nahi hua without prescription of kar doctor matlab aapne ayurvedic doctor ko bina uski wajah se interest mein bleeding tak ho sakta hai methi ki wajah se log sochte hain ki kabhi nuksan karta hai agar kisi bhi cheez ke liye aapko aid treatment agar aapko lena hai koi bhi ayurvedic cheez natural cheez bhi toh kisi na kisi doctor ki salah zaroor leni chahiye

होता है होता होता है क्यों होता है मतलब देखिए इसमें जैसे आयुर्वेदा प्रकृति से रिलेटेड है

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  142
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!