हरीताकी चूर्ण का उपयोग किसके लिए किया जाता है?...


user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सबसे पहले तो आयुर्वेद में ऐसी बहुत ही कम हो गया है जो मतलब तीनों दोषों का वात पित्त कफ इन तीनों संतुलन करें तो उस जो में हरित की भी एक है इसी बात पर टिका के तीनों को संतुलित रखने का काम करती है यह त्रिफला का एक प्रमुख घटक भी है जो कि पाचन के काम आती है यह अपने मीठे कड़वा और कसैला स्वाद के कारण पित्त को संतुलित करती है और यदि के कड़वे और कसैले स्वाद के कारण कफ को भी संतुलित करती है और यह अपने खट्टे स्वाद के कारण यह बात को भी संतुलित कर देती आते हैं मतलब कह सकते हैं कि ये वात पित्त कफ तीनों दोस्त को पूर्ण रूप से संतुलित करता है और उसके और भी कई फायदे हैं सबसे पहले तो यह पाचन में बहुत सहायता करती खाने को पचाने में बहुत सहायक सहायक है यह आप हरीतकी या फिर त्रिफला चूर्ण से स्नान भी कर सकते हैं इसके लिए 15 मिनट पहले बारिश शादी पार्टी में तीन-चार चम्मच लहसुन डालकर रख दें स्नान करें इससे अगर आपके हो रहे होंगे या फिर सूजन भी आई होगी तो उसमें यह लाभ करेगा इसके अलावा यह दस्त के रोगों में भी बहुत उपयोगी है इसके लिए आप हरड़ के फलों को ले ले और उनकी अच्छे से पीछे पीसकर चटनी बनाने अब इसी चटनी को दिन में एक-एक चम्मच तीन टाइम दिलवाले ले इसे क्या आप के दस्त बंद हो जाएंगे इसके अलावा इसका उपचार चीजों में भी होता है इसका उपयोग नहीं करना चाहिए बहुत उपयोगी है आप इसका एक से 2 ग्राम में 3 ग्राम तक के दिन इसका सेवन करें लेकिन यह याद रहेगी इसका सेवन एक महा से ज्यादा आप ना करें क्योंकि आपको नुकसान भी दे सकता है एक माता की इसका प्रयोग करें जिससे आपको सेक्स समस्याओं में भी काफी उपयोगी साबित होगा आते हैं इसके दुष्प्रभाव के बारे में ऐसे देश के कई सारे स्वास्थ्य लाभ है लेकिन अपने कसैले और धर्म प्रवृत्ति होने के कारण कभी-कभी विपरीत परिणाम भी दे देता तहसील ज्यादा लंबे समय तक उपयोग ना करें और 5 साल से कम के बच्चों को यह दे कभी दे ही ना इसके अलावा स्तनपान कराने वाली माताएं बहने इसको सेवन ना करें क्योंकि यह उनके शरीर में दूध का उत्पादन को कम कर सकता है धन्यवाद

sabse pehle toh ayurveda me aisi bahut hi kam ho gaya hai jo matlab tatvo doshon ka vaat pitt cough in tatvo santulan kare toh us jo me harit ki bhi ek hai isi baat par tika ke tatvo ko santulit rakhne ka kaam karti hai yah Triphala ka ek pramukh ghatak bhi hai jo ki pachan ke kaam aati hai yah apne meethe kadwa aur kasaila swaad ke karan pitt ko santulit karti hai aur yadi ke kadve aur kasaile swaad ke karan cough ko bhi santulit karti hai aur yah apne khatte swaad ke karan yah baat ko bhi santulit kar deti aate hain matlab keh sakte hain ki ye vaat pitt cough tatvo dost ko purn roop se santulit karta hai aur uske aur bhi kai fayde hain sabse pehle toh yah pachan me bahut sahayta karti khane ko pachane me bahut sahayak sahayak hai yah aap haritaki ya phir Triphala churn se snan bhi kar sakte hain iske liye 15 minute pehle barish shaadi party me teen char chammach lehsun dalkar rakh de snan kare isse agar aapke ho rahe honge ya phir sujan bhi I hogi toh usme yah labh karega iske alava yah dast ke rogo me bhi bahut upyogi hai iske liye aap harad ke falon ko le le aur unki acche se peeche piskar chatni banane ab isi chatni ko din me ek ek chammach teen time dilwale le ise kya aap ke dast band ho jaenge iske alava iska upchaar chijon me bhi hota hai iska upyog nahi karna chahiye bahut upyogi hai aap iska ek se 2 gram me 3 gram tak ke din iska seven kare lekin yah yaad rahegi iska seven ek maha se zyada aap na kare kyonki aapko nuksan bhi de sakta hai ek mata ki iska prayog kare jisse aapko sex samasyaon me bhi kaafi upyogi saabit hoga aate hain iske dushprabhav ke bare me aise desh ke kai saare swasthya labh hai lekin apne kasaile aur dharm pravritti hone ke karan kabhi kabhi viprit parinam bhi de deta tehsil zyada lambe samay tak upyog na kare aur 5 saal se kam ke baccho ko yah de kabhi de hi na iske alava stanpaan karane wali matayein behne isko seven na kare kyonki yah unke sharir me doodh ka utpadan ko kam kar sakta hai dhanyavad

सबसे पहले तो आयुर्वेद में ऐसी बहुत ही कम हो गया है जो मतलब तीनों दोषों का वात पित्त कफ इन

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  94
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!