क्या PTSD एक आजीवन विकार है?...


play
user

Jyoti Bhardwaj

Psychologist, Counsellor

0:18

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर इसको साइकोएजुकेशन दी जाए साइकोएनालिसिस सीबीटी जंगली सीबीटी कॉग्निटिव बिहेवियरल थेरेपी होती हैं अगर फ्री टू यू कैन गेट रिड आफ बीपीएससी

agar isko saikoejukeshan di jaye saikoenalisis cbt jungli cbt kagnitiv biheviyaral therepy hoti hain agar free to you can gate read of BPSC

अगर इसको साइकोएजुकेशन दी जाए साइकोएनालिसिस सीबीटी जंगली सीबीटी कॉग्निटिव बिहेवियरल थेरेपी

Romanized Version
Likes  158  Dislikes    views  2240
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Minnie Chopra

Rehabilitation Psychologist

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप ही टीएनपीएल लाइव फ्रॉम डिसऑर्डर थेरेपी सेंटर फॉर वुमेन में मेरी वीडियो देखो की सेंटर कोड 1 मिनट कर सकते हैं और किसी की याद में लॉन्ग टर्म पैसा नहीं है जो सोसायटी की बात कही है गोरखपुरिया की बात करें आप मुझे लगता है कि पीटीएसडी का प्रोसेस थेरेपी का थोड़ा लंबा ही करता है

aap hi TNPL live from disorder therepy center for women mein meri video dekho ki center code 1 minute kar sakte hain aur kisi ki yaad mein long term paisa nahi hai jo sociaty ki baat kahi hai gorakhapuriya ki baat karein aap mujhe lagta hai ki PTSD ka process therepy ka thoda lamba hi karta hai

आप ही टीएनपीएल लाइव फ्रॉम डिसऑर्डर थेरेपी सेंटर फॉर वुमेन में मेरी वीडियो देखो की सेंटर को

Romanized Version
Likes  46  Dislikes    views  514
WhatsApp_icon
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

7:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है क्या पीटीए सभी का जीवन बेकार है नहीं बिटिया सयानी की रोमांटिक स्ट्रेस डिसऑर्डर पीटीएसडी कोई अधिकार नहीं है उससे बाहर निकला जाता है लंबा टाइम लगता है थोड़ा लेकिन हो जाता है क्लियर जैसे घर में कैसे फैमिली की फैमिली में के फैमिली मेंबर में किसी की डेथ हुई तो हम कुछ टाइम के लिए सैड होते हैं फिर धीरे-धीरे वक्त के साथ सब ठीक हो जाता है बस ऐसा ही होता है ठीक है जैसे मैं आपको थोड़ा सा बताओगी तो रोमांटिक स्टेटस 1836 टीएसडीसी भैया दुखद घटना न्यूज़ दुर्घटना मौत जो किसी का शिकार होने या उसका साक्षी बनने के कारण ट्रिगर होती है ठीक है ट्रांसलेटेड जिसे काबू किया जा सकता है जी हां पीटीएसडी दादी मां की एक ऐसी स्थिति होती है जब किसी भैया भैया दुखद घटना जैसे युद्ध मैंने आपको पहले भी बताया कि दुर्घटना मौत धोखेबाजी का शिकार होने उसका साक्षी बनने के कारण ट्रिगर होती है इसके लक्षणों में फ्लैशबैक बुरे सपने आना और गंभीर चिंता और घटना के बारे में कब करने वाले विचारों का आना शामिल होता है इसका इलाज आमतौर पर साइकोथेरेपी जैसे कि कॉग्निटिव बिहेवियर थेरेपी कॉग्निटिव थेरेपी एक्सपोर्ट थेरेपी जी हा इंडिय आदि से किया जाता है इसके अलावा अगर दवाई की जरूरत पड़े तो दवाई जैसे के एंटीडिप्रेसेंट एंटी एग्जिट प्रोजएसी नदी दी जाती है वैसे ही वह सेक्रेट इसका काम है दवाई का तो उससे भी इलाज किया जाता है अगर बहुत ज्यादा जरूरत पड़ी तो हालांकि उनके पीडीएफ के उपचार की कहा जाए कि धुक्कम जाने पहचाने मगर असरकारक तरीके भी है तो वह भी मैं आपको बताऊंगी शायद अगर किसी को हुआ है तो जो साइकोलॉजिस्ट है वह यह काम कर सकती है तो घर पर भी अगर उपचार होता है तो ठीक है वरना फिर से कॉलेज के पास ले जाइए ओके जैसे कि एक कबूतर पीटीएसपी दुखद घटनाओं से गुजरने वाले कई लोगों को इन यादों से निकलने में वक्त लगता है और कठिनाई भी होती है लेकिन इसका यह मतलब नहीं होता है कि उन सभी को पीटीएसडी है आमतौर पर यह लोग समय के साथ खुद ही बेहतर होते जाते हैं जैसे मैंने आपको पहले बताया था वैसे ही लेकिन यदि इसके लक्षण गंभीर होते हैं होते जाए और कई महीनों या सालों तक बने रहे तो यह पीटीएसडी हो सकता है ठीक है तो एक्सटेसी या इंडिया में ठीक है पीसीएम बीएससी उपचार पीटीएसडी के उपचार में उपयोगी हो सकते हैं ब्रेन इमेजिंग प्रयोगों से पता चला कि किस प्रकार एक्सटेसी या इंडिया में इसे प्रयोग में लाने वालों में उत्साह से भरे भाव पैदा करती है लंदन का कॉलेज है क्या नाम है उसका अर्थ इंपिरियल कॉलेज या उसमें और लंदन के बलम के मेडिसिन डिपार्टमेंट में रोबिन कार कार हॉट हैरिस के अनुसार उन्होंने जो कहा है उसके अनुसार उन्होंने देखा कि एक्सटेसी एमडीएम दिमाग के संविधान एंड समृति वाले हिस्से में रक्त प्रवाह को कम करती है यह किसके साथ है ठीक है उसका पैसा को संबंधित हो सकता है जिसे लोग नशीली दवा लेने के बाद अनुभव करता है हालांकि न्यूरोसाइकोफार्मोकोलॉजी के प्रोफ़ेसर भी है एडमिन जी सराफा और डेविड नट के अनुसार परिणाम यह बताता है कि एमबीए में चिकित्सक प्रयोग से चिंता और पृथ्वी का उपचार हो सकता है लेकिन इसमें सावधान रहने की भी जरूरत है क्योंकि खुद और लोगों पर किया गया था रोगियों पर इसका समान प्रभाव देखने के लिए रोगियों पर विश करने की जरूरत कार हॉट हरीश के अनुसार स्वस्थ लोगों में एमडीएम दुखदाई हो यादों को कम किया इससे यह विचार आया कि यह पीटीएसडी के रोगियों की मदद भी कर सकती है ठीक है यह मैंने बहुत टाइम पर एक लेख पढ़ा था उसमें मुझे याद है बेबी तो मैंने आपको बताया कि शायद आपके काम में लग जाए और यह सही है एक साइकोलॉजिस्ट इलाज कर सकते हैं और इलाज कर सकते हैं उसमें वह कौन से नहीं करेंगे फिर आप भी देखें दवाई की जरूरत है तो दवाई देकर तो होता है यह चीज ठीक है मेडिटेशन टेक्निक्स के कारण तनाव के शिकार लोगों का तनाव ट्रांसलेशंस तकनीक के माध्यम से 10 दिनों में कम किया जा सकता है जी हां इसको हाइपर बताइए आदमी में सबसे ज्यादा न्यूज़ बताइए आज नॉर्मल रिपब्लिक होती है उसमें अगर किसी को है पिटियसली तो भी यूज किया जा सकता है लेकिन फिर फिर हेरा जाती है जो शोधकर्ता एक अमृता को युद्ध के शिकार समाधि पर शोध किया उस टाइम पर उन्होंने जिसमें यह आश्चर्यजनक नतीजे सामने आए की आर्मी मेडिकल कम पर एक कर्नल ब्रैंडिस ने बताया था कि इससे पहले किए गए शोधों में देखा गया कि 30 दिनों में 9% लोगों का तनाव खत्म हो गया था जी हां अब तुझे कितना फायदा कारक है वीडियो सलीम लाभ लाइव टाइम लिखकर रहता ही नहीं है समझ रहे हो जो मैं आपको बता रहे हो जी हां लेकिन ट्रांसलेट इन मेडिटेशन से 10 दिनों में ही इन लोगों का तनाव बेहद कम हो गया उन्होंने अपने इस सोच में 11 प्रतिभागियों को जो 11% प्रतिभागियों का पहले 10 दिनों और फिर 30 दिनों के ट्रांस ट्रांस डिटेल मेडिटेशन के बाद अध्ययन किया और पाया कि इससे पीटीएसडी का स्तर 30% तक कम हो गया सूची 30% तक कम हो गया था यह रिसर्च है मैं नहीं कर रही हूं यह साइकोलॉजि है आंखों के आगे की जिन्होंने यह पूरा रिसर्च किया है इसका मतलब है एपीएसडी कभी आजीवन विकार नहीं होता है ठीक है उसका भी दवाई से नाता है दवाई से और तो दवाई के पहले हम उसको काउंसलिंग खैराती और टेस्टिंग के थ्रू हम उनका पीटीएसडी खत्म कर सकते हैं स्टेप बाय स्टेप धीरे-धीरे थोड़ी लंबी प्रक्रिया है लॉन्ग कृपया है लेकिन हो सकता है तो आजीवन बिका पीटीएसडी नहीं रहता आपका दिन शुभ हो धन्यवाद

aapka prashna hai kya PTA sabhi ka jeevan bekar hai nahi bitiya sayani ki romantic stress disorder PTSD koi adhikaar nahi hai usse bahar nikala jata hai lamba time lagta hai thoda lekin ho jata hai clear jaise ghar mein kaise family ki family mein ke family member mein kisi ki death hui toh hum kuch time ke liye sad hote hai phir dhire dhire waqt ke saath sab theek ho jata hai bus aisa hi hota hai theek hai jaise main aapko thoda sa bataogi toh romantic status 1836 TSDC bhaiya dukhad ghatna news durghatna maut jo kisi ka shikaar hone ya uska sakshi banne ke karan trigger hoti hai theek hai translated jise kabu kiya ja sakta hai ji haan PTSD dadi maa ki ek aisi sthiti hoti hai jab kisi bhaiya bhaiya dukhad ghatna jaise yudh maine aapko pehle bhi bataya ki durghatna maut dhokhebaji ka shikaar hone uska sakshi banne ke karan trigger hoti hai iske lakshano mein flashback bure sapne aana aur gambhir chinta aur ghatna ke bare mein kab karne waale vicharon ka aana shaamil hota hai iska ilaj aamtaur par psychotherapy jaise ki kagnitiv behaviour therapy kagnitiv therapy export therapy ji ha indiye aadi se kiya jata hai iske alava agar dawai ki zarurat pade toh dawai jaise ke Antidepressant anti exit projaesi nadi di jaati hai waise hi vaah sekret iska kaam hai dawai ka toh usse bhi ilaj kiya jata hai agar bahut zyada zarurat padi toh halaki unke pdf ke upchaar ki kaha jaaye ki dhukkam jaane pehchane magar asarakarak tarike bhi hai toh vaah bhi main aapko bataungi shayad agar kisi ko hua hai toh jo psychologist hai vaah yah kaam kar sakti hai toh ghar par bhi agar upchaar hota hai toh theek hai varna phir se college ke paas le jaiye ok jaise ki ek kabootar PTSP dukhad ghatnaon se guzarne waale kai logo ko in yaadon se nikalne mein waqt lagta hai aur kathinai bhi hoti hai lekin iska yah matlab nahi hota hai ki un sabhi ko PTSD hai aamtaur par yah log samay ke saath khud hi behtar hote jaate hai jaise maine aapko pehle bataya tha waise hi lekin yadi iske lakshan gambhir hote hai hote jaaye aur kai mahinon ya salon tak bane rahe toh yah PTSD ho sakta hai theek hai toh ecstasy ya india mein theek hai PCM bsc upchaar PTSD ke upchaar mein upyogi ho sakte hai brain imaging prayogon se pata chala ki kis prakar ecstasy ya india mein ise prayog mein lane walon mein utsaah se bhare bhav paida karti hai london ka college hai kya naam hai uska arth impiriyal college ya usme aur london ke balam ke medicine department mein robin car car hot harric ke anusaar unhone jo kaha hai uske anusaar unhone dekha ki ecstasy MDM dimag ke samvidhan and samriti waale hisse mein rakt pravah ko kam karti hai yah kiske saath hai theek hai uska paisa ko sambandhit ho sakta hai jise log nashili dawa lene ke baad anubhav karta hai halaki nyurosaikofarmokolaji ke professor bhi hai admin ji sarafa aur devid nat ke anusaar parinam yah batata hai ki mba mein chikitsak prayog se chinta aur prithvi ka upchaar ho sakta hai lekin isme savdhaan rehne ki bhi zarurat hai kyonki khud aur logo par kiya gaya tha rogiyon par iska saman prabhav dekhne ke liye rogiyon par wish karne ki zarurat car hot harish ke anusaar swasthya logo mein MDM dukhdai ho yaadon ko kam kiya isse yah vichar aaya ki yah PTSD ke rogiyon ki madad bhi kar sakti hai theek hai yah maine bahut time par ek lekh padha tha usme mujhe yaad hai baby toh maine aapko bataya ki shayad aapke kaam mein lag jaaye aur yah sahi hai ek psychologist ilaj kar sakte hai aur ilaj kar sakte hai usme vaah kaunsi nahi karenge phir aap bhi dekhen dawai ki zarurat hai toh dawai dekar toh hota hai yah cheez theek hai meditation techniques ke karan tanaav ke shikaar logo ka tanaav transaleshans taknik ke madhyam se 10 dino mein kam kiya ja sakta hai ji haan isko hyper bataye aadmi mein sabse zyada news bataye aaj normal Republic hoti hai usme agar kisi ko hai pitiyasali toh bhi use kiya ja sakta hai lekin phir phir hera jaati hai jo shodhkarta ek amrita ko yudh ke shikaar samadhi par shodh kiya us time par unhone jisme yah aashcharyajanak natije saamne aaye ki army medical kam par ek colonel braindis ne bataya tha ki isse pehle kiye gaye shodhon mein dekha gaya ki 30 dino mein 9 logo ka tanaav khatam ho gaya tha ji haan ab tujhe kitna fayda kaarak hai video salim labh live time likhkar rehta hi nahi hai samajh rahe ho jo main aapko bata rahe ho ji haan lekin translate in meditation se 10 dino mein hi in logo ka tanaav behad kam ho gaya unhone apne is soch mein 11 pratibhagiyon ko jo 11 pratibhagiyon ka pehle 10 dino aur phir 30 dino ke trans trans detail meditation ke baad adhyayan kiya aur paya ki isse PTSD ka sthar 30 tak kam ho gaya suchi 30 tak kam ho gaya tha yah research hai nahi kar rahi hoon yah psycology hai aankho ke aage ki jinhone yah pura research kiya hai iska matlab hai APSD kabhi aajivan vikar nahi hota hai theek hai uska bhi dawai se nataa hai dawai se aur toh dawai ke pehle hum usko kaunsaling khairati aur testing ke through hum unka PTSD khatam kar sakte hai step bye step dhire dhire thodi lambi prakriya hai long kripya hai lekin ho sakta hai toh aajivan bika PTSD nahi rehta aapka din shubha ho dhanyavad

आपका प्रश्न है क्या पीटीए सभी का जीवन बेकार है नहीं बिटिया सयानी की रोमांटिक स्ट्रेस डिसऑर

Romanized Version
Likes  305  Dislikes    views  4342
WhatsApp_icon
user

Girijakant Singh

Founder/ President Yog Bharati Foundation Trust

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है क्या पीटीएसडी एक आजीवन बिका है अजी नहीं ऐसा नहीं है आप किसी अच्छे हैं साइट पर साइकिल या से साइक्लोजेस्ट के देखरेख में ट्रीटमेंट तो यह कोई लाइलाज बीमारी नहीं है और इसके लिए आप भी करें मेडिटेशन भी अगर संभव है तो और भी अच्छी बात है धन्यवाद

aapka prashna hai kya PTSD ek aajivan bika hai aji nahi aisa nahi hai aap kisi acche hain site par cycle ya se saiklojest ke dekhrekh mein treatment toh yah koi laailaaj bimari nahi hai aur iske liye aap bhi kare meditation bhi agar sambhav hai toh aur bhi achi baat hai dhanyavad

आपका प्रश्न है क्या पीटीएसडी एक आजीवन बिका है अजी नहीं ऐसा नहीं है आप किसी अच्छे हैं साइट

Romanized Version
Likes  101  Dislikes    views  1926
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Amit Agrawal Rishiyog

Yoga Acupressure Expert

1:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है पीटीएसडी का जीवन बेकार है beta3 अर्थात पोस्ट एमेटिक स्ट्रेस डिसऑर्डर यह कोई आजीवन अधिकार नहीं है अगर आप थोड़ा सा प्रयास करें किसी अच्छे साइक्लोजेस्ट साइकेट्रिस्ट या किसी अच्छे डॉक्टर के संपर्क में रहे तो आप इससे बहुत जल्दी निकल कर आ सकते हैं कई बार जीवन में कोई ऐसी घटना होती है जो भयानक रूप से उसके साथ घटित होती है और वह उसको लगातार उस में खोया रहता है तब यह समस्या और उन विचारों से निकल नहीं पाता उस घटना से उभर नहीं पाता तो लंबे समय तक परेशान करती है लेकिन ऐसा होता नहीं है आप इससे बहुत जल्दी निकल सकते हैं सिर्फ आप पॉजिटिव रहिए जो अतीत में जो हो चुका उसको भूल जाइए और आप पूरा जीवन पड़ा हुआ है उस कोशिका और आनंद का जो ईश्वर ने आपको दी है आपके पास कितना कीमती जीवन है उसका सोचिए और प्राणायाम और ध्यान को करिए आप कौन सिम ले सकते हैं काउंसलिंग से आपको आराम मिलेगा और उस से निकल कर आई है आप नेगेटिव इट इस ए पॉजिटिविटी में आई है आप नेगेटिविटी में ही फंसे हुए हैं जो हो चुका वह उसे भूल जाइए तब आप इससे उबर पाएंगे ऐसा कुछ भी नहीं है कहीं से कहीं तक एक परसेंट भी ऐसा दिमाग में नेगेटिव थॉट मत लाइए की आजीवन बेकार है आप इससे बहुत जल्दी छुटकारा पा सकते हैं हरि ओम

aapka prashna hai PTSD ka jeevan bekar hai beta3 arthat post emetic stress disorder yah koi aajivan adhikaar nahi hai agar aap thoda sa prayas kare kisi acche saiklojest psychiatrist ya kisi acche doctor ke sampark mein rahe toh aap isse bahut jaldi nikal kar aa sakte hain kai baar jeevan mein koi aisi ghatna hoti hai jo bhayanak roop se uske saath ghatit hoti hai aur vaah usko lagatar us mein khoya rehta hai tab yah samasya aur un vicharon se nikal nahi pata us ghatna se ubhar nahi pata toh lambe samay tak pareshan karti hai lekin aisa hota nahi hai aap isse bahut jaldi nikal sakte hain sirf aap positive rahiye jo ateet mein jo ho chuka usko bhool jaiye aur aap pura jeevan pada hua hai us koshika aur anand ka jo ishwar ne aapko di hai aapke paas kitna kimti jeevan hai uska sochiye aur pranayaam aur dhyan ko kariye aap kaun sim le sakte hain kaunsaling se aapko aaram milega aur us se nikal kar I hai aap Negative it is a positivity mein I hai aap negativity mein hi fanse hue hain jo ho chuka vaah use bhool jaiye tab aap isse ubar payenge aisa kuch bhi nahi hai kahin se kahin tak ek percent bhi aisa dimag mein Negative thought mat laiye ki aajivan bekar hai aap isse bahut jaldi chhutkara paa sakte hain hari om

आपका प्रश्न है पीटीएसडी का जीवन बेकार है beta3 अर्थात पोस्ट एमेटिक स्ट्रेस डिसऑर्डर यह कोई

Romanized Version
Likes  139  Dislikes    views  1675
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!