फोबिया के कारण क्या हो सकते हैं?...


play
user
0:36

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

घटक होता है कि लेकर 28 को लोग बेहोश हो जाते हैं प्रत्याशी घटना घटी हो जिसकी वजह से उसको उसको फोबिया होने लगाओ मन में बहुत ही अंदर गया है सेट किया है इसी कारण से कालू जी कल भी हो सकते हैं

ghatak hota hai ki lekar 28 ko log behosh ho jaate hain pratyashi ghatna ghati ho jiski wajah se usko usko phobia hone lagao man mein bahut hi andar gaya hai set kiya hai isi karan se kalu ji kal bhi ho sakte hain

घटक होता है कि लेकर 28 को लोग बेहोश हो जाते हैं प्रत्याशी घटना घटी हो जिसकी वजह से उसको उस

Romanized Version
Likes  160  Dislikes    views  2523
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr. Jyoti Gupta

Assistant Professor

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दो चीजों की आउट हो गया है

do chijon ki out ho gaya hai

दो चीजों की आउट हो गया है

Romanized Version
Likes  153  Dislikes    views  2507
WhatsApp_icon
user

Sheetal Singh

Clinical Psychologist

2:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आंसू गैस के कारण कई प्रकार के हो सकते हैं कोई भी ऐसा कर मार्केटिंग के जन्म के बाद कुछ होते होते तो आपके सामने कुछ ऐसी चीज हुई होगी तो जल्दी दो तरीके से बोलता है कोई ऐसा किसी को काटा आपको नहीं पता किसी और को पटा 71 मॉडल ढकने वाली चीज नुकसान हो तो क्या मतलब लक्ष्मी गार्डन

aansu gas ke kaaran kai prakar ke ho sakte hain koi bhi aisa kar marketing ke janam ke baad kuch hote hote toh aapke saamne kuch aisi cheez hui hogi toh jaldi do tarike se bolta hai koi aisa kisi ko kaata aapko nahi pata kisi aur ko pata 71 model dhakane wali cheez nuksan ho toh kya matlab laxmi garden

आंसू गैस के कारण कई प्रकार के हो सकते हैं कोई भी ऐसा कर मार्केटिंग के जन्म के बाद कुछ होते

Romanized Version
Likes  30  Dislikes    views  480
WhatsApp_icon
user

Shweta Dharamdasani

Rehabilitation Psychologist

2:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फोबिया के बहुत सारे कारण होते हैं कुछ कारण होते हैं जो भी देख लेते हम बच्चों को सिखाते हैं कि आप खाना खा लेता जाएगा तो या कुत्ता काट लेगा तो बच्चा सीख जाता है ना कि कुत्ता कोई ऐसी चीज है जिससे डरना रूप में लाते हैं सीखते हैं या हमारे आस पास के वातावरण में होती है वहां के बच्चे को हमने बचपन में डरा दिया तो वह कहीं ना कहीं डर है हमने देखा कि पापा भी है मम्मी भी डरती हैं तो बच्चा क्योंकि अपने आसपास में देता तो बच्चा भी डरने लग जाता है पर अगर आप किसी से पूछे क्योंकि इसी से क्यों डर लगता है तो वह बता नहीं पाते तो कुछ हो गया जहां हमें हमें अटैक कर लेगा लोग होने जस्ट कर लेंगे तो कुछ अंदर का भाग जाएंगे तो लोग हमें याद करेंगे नहीं कर आ जाएंगे तो हम को जाएंगे तो हम बता नहीं पाते कि आगे क्या होगा वहां से शुरू हो जाते पति पत्नी करती है अक्सर हम देखते हैं कि पापा मम्मी बीपी पिक्चर

phobia ke bahut saare kaaran hote hain kuch kaaran hote hain jo bhi dekh lete hum baccho ko sikhate hain ki aap khana kha leta jayega toh ya kutta kaat lega toh baccha seekh jata hai na ki kutta koi aisi cheez hai jisse darna roop mein late hain sikhate hain ya hamare aas paas ke vatavaran mein hoti hai wahan ke bacche ko humne bachpan mein daraa diya toh wah kahin na kahin dar hai humne dekha ki papa bhi hai mummy bhi darti hain toh baccha kyonki apne aaspass mein deta toh baccha bhi darane lag jata hai par agar aap kisi se poochhe kyonki isi se kyon dar lagta hai toh wah bata nahi paate toh kuch ho gaya jaha humein humein attack kar lega log hone just kar lenge toh kuch andar ka bhag jaenge toh log humein yaad karenge nahi kar aa jaenge toh hum ko jaenge toh hum bata nahi paate ki aage kya hoga wahan se shuru ho jaate pati patni karti hai aksar hum dekhte hain ki papa mummy BP picture

फोबिया के बहुत सारे कारण होते हैं कुछ कारण होते हैं जो भी देख लेते हम बच्चों को सिखाते हैं

Romanized Version
Likes  41  Dislikes    views  508
WhatsApp_icon
user

Minnie Chopra

Rehabilitation Psychologist

2:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फोबिया को पहले अगर हम समझने की कोशिश करें तो फोबिया एक ऐसी हम हम सबको किसी ना किसी चीज से डर लगता है लेकिन जब वह दर हमें हमारी रोजमर्रा के कामों को करने में रोक लगाता है और हम इतनी डर जाते हैं कि पूरा समय सिर्फ घबराए हुए रहते हैं और चीजों को अवॉइड करते हैं या किसी जगह में जाने को अघोरी करते हैं जाना नहीं चाहते तो उसको है मनोविज्ञान में फोबिया का का नाम देते हैं वह भी आखिरी जंग अगर नाम आना चाहिए तो डेफिनटली अगर हम की छोरी में जाना चाहे तो हेरिडिटी कॉल मिला जरूर है रिपोर्ट में लेकिन ओवर पीरियड आफ टाइम हम उसको आप पक्का नहीं कर पाए हैं उनको stop-loss नहीं कर पाए हैं हेरेडिटरी का यह कहता है कि हम ब्रेन में कुछ ऐसे न्यूरोट्रांसमीटर्स होती हैं हमारे ब्रेन में कूदे थे केमिकल होते हैं जो अगर सही तरह से फंक्शन नहीं करते तो उसकी वजह से हम किसी चीज को हम किसी चीज के पास में जाना चाहते यह कई कैसेट में ताजा दिया है कई दूसरे के साथ में यह भी देखा गया है कि हमें जो हमारे लाइफ के रियल नाम क्या एक्सपीरियंस होते हैं जो हमारी जो हमें एक सीरियल है जो अपनी लाइफ में मिलते हैं उसकी वजह से सोदिया डेवलप हो जाता कि कुडिया थेरेपी से कम कर दी आसान होते हैं कई बार फोबिया से हमारी एंजायटी इतनी बढ़ जाती है कि उसमें फिर कई बार हमें काय काय के पास जाकर हमें दवाइयां लेनी पड़ती है और वह दिखाइए अभी से कि हमारे ब्रेन में जो न्यूरोट्रांसमीटर उसमें केमिकल ने अदालत को ठीक करते हैं जिसकी वजह से फिर जो 18 साइट घबराहट क्यों होती है अब बिन बताए या बहुत ही हाई लेवल की उसको उस पर हम कंट्रोल कर सकते हैं तो है रितिका इफेक्ट पाया गया है रिंगटोन जो कि हमारी टीम की जो आप क्यों नहीं देते कि जो केमिकल है जो न्यूरोट्रांसमीटर है जो कनेक्शन क्यों बनते हैं उसने कई बार प्रॉब्लम होती है

phobia ko pehle agar hum samjhne ki koshish karein toh phobia ek aisi hum hum sabko kisi na kisi cheez se dar lagta hai lekin jab wah dar humein hamari rozmarra ke kaamo ko karne mein rok lagata hai aur hum itni dar jaate hai ki pura samay sirf ghabraye hue rehte hai aur chijon ko avoid karte hai ya kisi jagah mein jaane ko aghori karte hai jana nahi chahte toh usko hai manovigyan mein phobia ka ka naam dete hai wah bhi aakhiri jung agar naam aana chahiye toh definatali agar hum ki chhori mein jana chahe toh heriditi call mila zaroor hai report mein lekin over period of time hum usko aap pakka nahi kar paye hai unko stop-loss nahi kar paye hai hereditary ka yeh kahata hai ki hum brain mein kuch aise nyurotransamitars hoti hai hamare brain mein kude the chemical hote hai jo agar sahi tarah se function nahi karte toh uski wajah se hum kisi cheez ko hum kisi cheez ke paas mein jana chahte yeh kai kaiset mein taaza diya hai kai dusre ke saath mein yeh bhi dekha gaya hai ki humein jo hamare life ke real naam kya experience hote hai jo hamari jo humein ek serial hai jo apni life mein milte hai uski wajah se sodiya develop ho jata ki kudiya therepy se kam kar di aasaan hote hai kai baar phobia se hamari anxiety itni badh jati hai ki usme phir kai baar humein kya kya ke paas jaakar humein davaiyan leni padti hai aur wah dikhaaiye abhi se ki hamare brain mein jo Neurotransmitter usme chemical ne adalat ko theek karte hai jiski wajah se phir jo 18 site ghabarahat kyon hoti hai ab bin bataye ya bahut hi high level ki usko us par hum control kar sakte hai toh hai ritika effect paya gaya hai ringtone jo ki hamari team ki jo aap kyon nahi dete ki jo chemical hai jo Neurotransmitter hai jo connection kyon bante hai usne kai baar problem hoti hai

फोबिया को पहले अगर हम समझने की कोशिश करें तो फोबिया एक ऐसी हम हम सबको किसी ना किसी चीज से

Romanized Version
Likes  42  Dislikes    views  501
WhatsApp_icon
user

Dr. PRAVINA MISHRA

REHABILITATION PSYCHOLOGIST

0:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल बिल्कुल

bilkul bilkul

बिल्कुल बिल्कुल

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  461
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!