मैं एक फेलियर हूँ क्या मैं UPSC क्लियर कर पाऊँगी?...


play
user

P Narahari (IAS)

IAS Officer-2001Batch-MP Cadre

1:57

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप अगर सहेली और है तो आप यूपीएससी क्लियर कर पाएंगे कि नहीं यह प्रश्न आपके मन में आना ही नहीं चाहिए सहेली और क्या होता है पहली और एक सामान्य स्थिति है और सिंदूर से उभरने के लिए प्रयास करना चाहिए क्या आपने और डिग्री पास नहीं की तो पास कर ले क्योंकि यूपीएससी के लिए केवल डिग्री पास करना पर्याप्त है क्योंकि इस मायने में देखा जा सकता है अगर किसी एक पति कलर परीक्षा में पास नहीं होना चाहिए और जीवन में कई सारे फेलियर देखने के बाद भी हम सफल हो सकते हैं सफलता व स्थिति है जब आप फ्री हो के सीढ़ियों को चढ़कर पाते हैं आप सफलताओं के शिर्डी को चढ़कर सफलता पाने पाने में ऐसा कोई बड़ी बात नहीं है लेकिन सहेली और होने के बाद भूत आप अगर परीक्षा में पास हो जाते हैं या फिर अपने लक्ष्य को हासिल करते हैं तो वहीं सफलता है ऐसा कोई व्यक्ति नहीं है जिसमें अपने जीवन में पहली बार नहीं देखा फ्री ली और हमें बहुत कुछ सिखाता है ट्वेल्थ में बहुत कुछ सिखाता है कि कैसे हम अपने जीवन में आगे चलकर किसी भी परीक्षा चाहे वह यूपीएससी आईएएस की ही क्यों ना हो या फिर कोई जीवन में आपने किसी और भी तरह की परीक्षा है हमें पास करने में और मजबूत बनाता है इसलिए कभी हताश ना हो सहेलियों एक सामान्य स्थिति है हर व्यक्ति फ्लोर से गुजरता है तो इसलिए मेरा आपसे अनुरोध है कि दृढ़ निश्चय ता के साथ सेल्फ कॉन्फिडेंस आत्मनिर्भरता को बढ़ाते हुए आगे बढ़ी नहीं थी आप

aap agar saheli aur hai toh aap upsc clear kar payenge ki nahi yeh prashna aapke man mein aana hi nahi chahiye saheli aur kya hota hai pehli aur ek samanya sthiti hai aur sindoor se ubharane ke liye prayas karna chahiye kya aapne aur degree paas nahi ki toh paas kar le kyonki upsc ke liye keval degree paas karna paryapt hai kyonki is maayne mein dekha ja sakta hai agar kisi ek pati color pariksha mein paas nahi hona chahiye aur jeevan mein kai saare failure dekhne ke baad bhi hum safal ho sakte hai safalta va sthiti hai jab aap free ho ke sidhiyon ko chadhakar paate hai aap safaltaon ke shirdi ko chadhakar safalta pane pane mein aisa koi baadi baat nahi hai lekin saheli aur hone ke baad bhoot aap agar pariksha mein paas ho jaate hai ya phir apne lakshya ko hasil karte hai toh wahi safalta hai aisa koi vyakti nahi hai jisme apne jeevan mein pehli baar nahi dekha free li aur humein bahut kuch sikhata hai twelfth mein bahut kuch sikhata hai ki kaise hum apne jeevan mein aage chalkar kisi bhi pariksha chahe wah upsc IAS ki hi kyon na ho ya phir koi jeevan mein aapne kisi aur bhi tarah ki pariksha hai humein paas karne mein aur majboot banata hai isliye kabhi hathaash na ho saheliyon ek samanya sthiti hai har vyakti floor se gujarat hai toh isliye mera aapse anurodh hai ki dridh nishchay ta ke saath self confidence aatmanirbharata ko badhate hue aage badhi nahi thi aap

आप अगर सहेली और है तो आप यूपीएससी क्लियर कर पाएंगे कि नहीं यह प्रश्न आपके मन में आना ही नह

Romanized Version
Likes  453  Dislikes    views  5305
KooApp_icon
WhatsApp_icon
4 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!