इस क्षेत्र को चुनने के लिए आपकी प्रेरणा कौन है?...


play
user
0:36

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे पापा हार्मोन इन बजाते हैं और उनको देखा सखी मैंने देखा और उसने भी हो गया संगीत में मुझे बड़ा अच्छा लगा कि हां यह को दूर करता है साथ में थोड़ा चलाता है और मुझे अपने गुरुजनों की मिली है और जो मेरे पिताजी की कॉपी चेक यहां बहुत बढ़िया कर रहे हो करते रहो करते रहो

mere papa hormone in bajaate hain aur unko dekha sakhi maine dekha aur usne bhi ho gaya sangeet mein mujhe bada accha laga ki haan yah ko dur karta hai saath mein thoda chalata hai aur mujhe apne gurujanon ki mili hai aur jo mere pitaji ki copy check yahan bahut badhiya kar rahe ho karte raho karte raho

मेरे पापा हार्मोन इन बजाते हैं और उनको देखा सखी मैंने देखा और उसने भी हो गया संगीत में मुझ

Romanized Version
Likes  77  Dislikes    views  1644
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चित्रकूट में में मेरी बहना की छूट है आदरणीय डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम साहब का जीवनी मदर टेरेसा की जीवनी स्वामी विवेकानंद की जीवनी सुभाष चंद्र बोस की जीवनी सरदार भगत सिंह चंद्रशेखर आजाद रामप्रसाद बिस्मिल अशफ़ाकउल्ला राजगुरु सुखदेव जैसे महान अमर शहीदों की मां की मां की सेवा के लिए 29 तारीख कार्यों के लिए अपने आप को समर्पित कर देना ही जीवन के लिए परम लक्ष्य जीवन का परम जो दूसरों के लिए जीते हैं उनका जीवन सार्थक है रामधारी सिंह दिनकर जैसे महान कवियों ने भी इसका समर्थन किया है और राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त ने शब्दों के साथ उसका समर्थन किया है विचार लो कि मृत्यु हो न मृत्यु से डरो कभी मरो परंतु यों मरो की याद तो प्रिंस अभी मस्त में जीवन तो वही साथ रखें इसके मर जाने के बाद में पंचतत्व में विलीन हो जाने के पश्चात भी सारा संसार उसकी यशोगाथा पुकारता रहे वही जीवन सार्थक हैं आप अभी क्यों लोहे को याद करें सभी ने कहा है कि कबीरा जब हम पैदा हुए जग हंसे हम रोए और ऐसी करनी कर चलो कि हम हंसे जग रोए ऐसा जब होगा जब आप अच्छे जने किसी कार्य करेंगे लोगों की शिवा करेंगे लोगों की सहायता करेंगे इंसानियत मात्र के लिए जिएंगे इंसानियत धर्म का पालन करेंगे तो निश्चित रूप से इस संसार आपके यशोगाथा को युगों युगों तक गाता रहेगा भगवान श्री राम की जीवनी पढ़कर देखो भगवान श्री कृष्ण की जीवनी पढ़ो उन्होंने भी चंदन मात्र की पानी मात्र की सेवा सहायता करने का विचार दिया है उनकी बीवियों से हमको शिक्षा लेकर के मानव मात्र की सहायता करनी चाहिए सेवा करनी चाहिए आपस में प्रेम पूर्ण भाई चांद भाई चारे के साथ में जीवन जीना चाहिए धार्मिक उन्माद धार्मिक धर्मांधता धार्मिक संकीर्णता जातिवाद से दूर रहना चाहिए छल कपट अंडा या धर्म से हमें तू रहना चाहिए

chitrakoot mein mein meri bahna ki chhut hai adaraniya doctor apj abdul kalam saheb ka jeevni mother teresa ki jeevni swami vivekananda ki jeevni subhash chandra bose ki jeevni sardar bhagat Singh chandrashekhar azad ramprasad bismil ashafakaulla raajguru sukhadeva jaise mahaan amar shaheedo ki maa ki maa ki seva ke liye 29 tarikh karyo ke liye apne aap ko samarpit kar dena hi jeevan ke liye param lakshya jeevan ka param jo dusro ke liye jeete hain unka jeevan sarthak hai ramdhari Singh dinkar jaise mahaan kaviyon ne bhi iska samarthan kiya hai aur rashtrya kavi maithalisharan gupt ne shabdon ke saath uska samarthan kiya hai vichar lo ki mrityu ho na mrityu se daro kabhi maro parantu yo maro ki yaad toh prince abhi mast mein jeevan toh wahi saath rakhen iske mar jaane ke baad mein panchatatwa mein vileen ho jaane ke pashchat bhi saara sansar uski yashogatha pukarta rahe wahi jeevan sarthak hain aap abhi kyon lohe ko yaad kare sabhi ne kaha hai ki kabira jab hum paida hue jag hanse hum ROYE aur aisi karni kar chalo ki hum hanse jag ROYE aisa jab hoga jab aap acche jane kisi karya karenge logo ki shiva karenge logo ki sahayta karenge insaniyat matra ke liye jeeenge insaniyat dharm ka palan karenge toh nishchit roop se is sansar aapke yashogatha ko yugon yugon tak gaata rahega bhagwan shri ram ki jeevni padhakar dekho bhagwan shri krishna ki jeevni padho unhone bhi chandan matra ki paani matra ki seva sahayta karne ka vichar diya hai unki beeviyon se hamko shiksha lekar ke manav matra ki sahayta karni chahiye seva karni chahiye aapas mein prem purn bhai chand bhai chaare ke saath mein jeevan jeena chahiye dharmik unmaad dharmik dharmandhata dharmik sankirnata jaatiwad se dur rehna chahiye chhal kapat anda ya dharm se hamein tu rehna chahiye

चित्रकूट में में मेरी बहना की छूट है आदरणीय डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम साहब का जीवनी मदर टेर

Romanized Version
Likes  174  Dislikes    views  3166
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!