एक प्रेरक वक्ता के रूप में, आपको क्या प्रेरित करता है?...


user

Rakesh Tiwari

Life Coach, Management Trainer

2:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है एक प्रेरक वक्ता के रूप में आपको क्या प्रेरित करता है एक प्रेरक वक्ता के रूप में लोगों से बात करना लोगों के बौद्धिक स्तर को समझना उच्च स्तर को समझकर उनकी रुचि और उपयोगिता के अनुसार संवाद करना जिससे उनको एक समाधान का रास्ता मिले जिससे उनको अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में उत्साह और ऊर्जा मिले जब मैं अपने ऑडियंस के अपने श्रोता समूह के चेहरे पर जब संतुष्टि का भाव जब पढ़ता हूं या संवाद में जब महसूस करता हूं यह होता ओके व्यर्थ की संतुष्टि का भाव आपको निरंतर प्रेरित करता है कि आप इनकी अच्छाई के लिए दिन के हित के लिए उनका उत्साह बनाए रखने के लिए कुछ न कुछ नया कहानी के रूप मैं बोध कथाओं के रूप में 10 साल के रूप में महापुरुषों की जीवनी यह सारा वृतांत बताते रहें जिससे लोगों की जीवन की दिशा और अपने लक्ष्य को हासिल कर सकें यही बातें प्रेरक वक्ता के रूप में हमेशा प्रेरित करते हैं अपने ऑडियंस के अपने रोता रोता समूह के चेहरे पर संतुष्टि प्रसन्नता एवं उत्साह का भाव और बढ़िया करने के लिए वेट करता है

aapka prashna hai ek prerak vakta ke roop me aapko kya prerit karta hai ek prerak vakta ke roop me logo se baat karna logo ke baudhik sthar ko samajhna ucch sthar ko samajhkar unki ruchi aur upayogita ke anusaar samvaad karna jisse unko ek samadhan ka rasta mile jisse unko apne lakshya ko prapt karne me utsaah aur urja mile jab main apne adiyans ke apne shrota samuh ke chehre par jab santushti ka bhav jab padhata hoon ya samvaad me jab mehsus karta hoon yah hota ok vyarth ki santushti ka bhav aapko nirantar prerit karta hai ki aap inki acchai ke liye din ke hit ke liye unka utsaah banaye rakhne ke liye kuch na kuch naya kahani ke roop main bodh kathao ke roop me 10 saal ke roop me mahapurushon ki jeevni yah saara vritant batatey rahein jisse logo ki jeevan ki disha aur apne lakshya ko hasil kar sake yahi batein prerak vakta ke roop me hamesha prerit karte hain apne adiyans ke apne rota rota samuh ke chehre par santushti prasannata evam utsaah ka bhav aur badhiya karne ke liye wait karta hai

आपका प्रश्न है एक प्रेरक वक्ता के रूप में आपको क्या प्रेरित करता है एक प्रेरक वक्ता के रूप

Romanized Version
Likes  264  Dislikes    views  2564
WhatsApp_icon
10 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Liyakat Ali Gazi

Motivational Speaker, Life Coach & Soft Skills Trainer 📲 9956269300

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक प्रेरक वक्ता जो है वह हमेशा अपने फॉलोअर्स को अपने अनुयायियों को अपने साथियों को अपने प्रशिक्षकों प्रशिक्षकों को वह जो है उनके उद्देश्यों को लक्ष्य को पूरा करने के लिए प्रेरित करता रहता है प्रेरक वक्ता हमेशा नए-नए विचार उत्पन्न करता है 9 विचारों के साथ में लोगों को कैसे लक्ष्य प्राप्त किया जाए उसकी ओर प्रेरित करता है और जब कभी भी लोग निराश होते हैं तो उनमें नई उर्जा उत्पन्न करता है

ek prerak vakta jo hai vaah hamesha apne followers ko apne anuyayiyon ko apne sathiyo ko apne prashikshon prashikshon ko vaah jo hai unke udyeshyon ko lakshya ko pura karne ke liye prerit karta rehta hai prerak vakta hamesha naye naye vichar utpann karta hai 9 vicharon ke saath me logo ko kaise lakshya prapt kiya jaaye uski aur prerit karta hai aur jab kabhi bhi log nirash hote hain toh unmen nayi urja utpann karta hai

एक प्रेरक वक्ता जो है वह हमेशा अपने फॉलोअर्स को अपने अनुयायियों को अपने साथियों को अपने प्

Romanized Version
Likes  507  Dislikes    views  6790
WhatsApp_icon
user

Nita Nayyar

Writer ,Motivational Speaker, Social Worker n Counseller.

2:13
Play

Likes  97  Dislikes    views  1706
WhatsApp_icon
user

Amita Sharma

Motivational and Personality development Speaker Instagram: amita_rak, Youtube:Dear Jindagi

1:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो डियर ज़िंदगी को कल मैं आपका बहुत स्वागत है एक प्रेरक वक्ता के रूप में आपको क्या प्रेरित करता है लिखिए जब भी कोई इंसान कुछ बोलता है हम किसी से इंटरनेट करते हैं कोई बात करते हैं तो एक मोटिवेशनल स्पीकर जो होता है उसको यह होता है कि वह किसी के दुखती रग को समझ सके उसको क्या प्रॉब्लम है आप उसको प्रेरणा दे सके उसमें कुछ पॉजिटिविटी भर सके उसमें खुशी दे सके तो यह सबसे पहले यही प्रश्न होता है कि आप में यह भावना पहले से है कि आप सब के लिए कुछ कर सके हम सभी अपने सामर्थ्य के अनुसार चाहे तो सबके लिए प्रेरणास्रोत बन सकते हैं मोटिवेट कर सकते हैं लाइफ में छोटी-छोटी बातें हैं जैसे पॉजिटिव रहना खुशी बांटना किसी को ऊपर उठाना किसी से भी बात करें तो उसकी पॉजिटिव उसके बारे में आपका नहीं तो जो कि आपको दूसरों की नजर में ऊंचा उठाती है तो अपने जीवन को किसी से भी कंपेयर मत कीजिए और सबके लिए प्रेमभाव रखिए तू यह प्रेरणा जो आपके मन में है यह प्रेरित करती है कि हम दूसरों को भी जो अभी अज्ञान है या जिनको यह समझ नहीं है हम दूसरों को भी यह बात प्रेरणा के मौसम में खुशियां बांटे कीप अप थे गुड वर्क

hello dear zindagi ko kal main aapka bahut swaagat hai ek prerak vakta ke roop me aapko kya prerit karta hai likhiye jab bhi koi insaan kuch bolta hai hum kisi se internet karte hain koi baat karte hain toh ek Motivational speaker jo hota hai usko yah hota hai ki vaah kisi ke dukhti rug ko samajh sake usko kya problem hai aap usko prerna de sake usme kuch positivity bhar sake usme khushi de sake toh yah sabse pehle yahi prashna hota hai ki aap me yah bhavna pehle se hai ki aap sab ke liye kuch kar sake hum sabhi apne samarthya ke anusaar chahen toh sabke liye preranasrot ban sakte hain motivate kar sakte hain life me choti choti batein hain jaise positive rehna khushi bantana kisi ko upar uthana kisi se bhi baat kare toh uski positive uske bare me aapka nahi toh jo ki aapko dusro ki nazar me uncha uthaati hai toh apne jeevan ko kisi se bhi compare mat kijiye aur sabke liye premabhav rakhiye tu yah prerna jo aapke man me hai yah prerit karti hai ki hum dusro ko bhi jo abhi agyan hai ya jinako yah samajh nahi hai hum dusro ko bhi yah baat prerna ke mausam me khushiya bante keep up the good work

हेलो डियर ज़िंदगी को कल मैं आपका बहुत स्वागत है एक प्रेरक वक्ता के रूप में आपको क्या प्रेर

Romanized Version
Likes  86  Dislikes    views  834
WhatsApp_icon
user

S Bajpay

Yoga Expert | Beautician & Gharelu Nuskhe Expert

1:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राम राम जी की आपका प्रश्न एक प्रेरक वक्ता के रूप में आपको क्या पेश करता है मैं आप लोगों के वक्ता के रूप में मैं आपके जो भी प्रश्न आते हैं जो मुझे समझ में आते मुझे अच्छी तरह से समझ में आते मैं उन्हीं का उत्तर देना चाहती हूं यह नहीं कि हर एक प्रश्न का उत्तर दे दो मुझे लगता है डर में जवाब सही से नहीं दे पा रहे हो तो अगला सुन कर के क्या सोचेगा मुझे तुम्हें जब देख लेती हूं समझ लेती हूं पढ़ लेती हूं कि मैं इसमें कुछ बोल सकती हूं मेरे बोलने से इसको कुछ सहायता मिलेगी तभी मैं प्रश्न का उत्तर दी थी और मेरी जब तक हाथ मेरे दिल नहीं करता है कि एक प्रश्न का उत्तर सही नहीं दे पा रही हूं तो मुझे अंदर से खुद अच्छा नहीं लगता जब तक मेरा जब तक मेरा मन नहीं होता है मेरा दिल जब तक हवाई नहीं देता मैं नहीं देती बिल्कुल होता है आपका तो उत्तर भी उसी हिसाब से मैं जब तक अच्छी तरह से समझ में नहीं आता ना बिल्कुल प्रश्न का उत्तर नहीं देती आप लोगों को समझ में आज आपका दिन शुभ हो

ram ram ji ki aapka prashna ek prerak vakta ke roop me aapko kya pesh karta hai main aap logo ke vakta ke roop me main aapke jo bhi prashna aate hain jo mujhe samajh me aate mujhe achi tarah se samajh me aate main unhi ka uttar dena chahti hoon yah nahi ki har ek prashna ka uttar de do mujhe lagta hai dar me jawab sahi se nahi de paa rahe ho toh agla sun kar ke kya sochega mujhe tumhe jab dekh leti hoon samajh leti hoon padh leti hoon ki main isme kuch bol sakti hoon mere bolne se isko kuch sahayta milegi tabhi main prashna ka uttar di thi aur meri jab tak hath mere dil nahi karta hai ki ek prashna ka uttar sahi nahi de paa rahi hoon toh mujhe andar se khud accha nahi lagta jab tak mera jab tak mera man nahi hota hai mera dil jab tak hawai nahi deta main nahi deti bilkul hota hai aapka toh uttar bhi usi hisab se main jab tak achi tarah se samajh me nahi aata na bilkul prashna ka uttar nahi deti aap logo ko samajh me aaj aapka din shubha ho

राम राम जी की आपका प्रश्न एक प्रेरक वक्ता के रूप में आपको क्या पेश करता है मैं आप लोगों के

Romanized Version
Likes  316  Dislikes    views  2771
WhatsApp_icon
user

Ananya Rai Parashar

Life Coach | Writer/Social Activists /Blogger

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि जिंदगी आसान हो कभी-कभी तो हम नहीं चाहते हैं अभी मेरे साथ हो जाता है और हमारे हौसले टूट जाते हैं जो बिखर जाते हैं समझ में नहीं आता हम क्या करें हम हर सप्ताह के रूप में मुझे सब लोग मुझे सुनने के लिए बाइक उम्मीद एक आशा की किरण लोगों की नजरों में समझा दिखाई देती और मेरी तरफ को टकटकी लगाकर सीधे अपनी जिंदगी की कुछ नामों से लड़ने के लिए कुछ पॉजिटिव वाइब्स ढूंढता है बाय क्षण मात्र मेरे लिए बहुत सुखद होता है बहुत ही ज्यादा प्रेरित करता है

jaisa ki hum sabhi jante hain ki zindagi aasaan ho kabhi kabhi toh hum nahi chahte hain abhi mere saath ho jata hai aur hamare hausale toot jaate hain jo bikhar jaate hain samajh me nahi aata hum kya kare hum har saptah ke roop me mujhe sab log mujhe sunne ke liye bike ummid ek asha ki kiran logo ki nazro me samjha dikhai deti aur meri taraf ko taktaki lagakar sidhe apni zindagi ki kuch namon se ladane ke liye kuch positive vibes dhundhta hai bye kshan matra mere liye bahut sukhad hota hai bahut hi zyada prerit karta hai

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि जिंदगी आसान हो कभी-कभी तो हम नहीं चाहते हैं अभी मेरे साथ हो जा

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  127
WhatsApp_icon
user

Punit Bhatnagar

Life & Business Coach

2:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मैं पुनीत हूं पुरी भटनागर मोटिवेशनल स्पीकर लाइफ एंड बिजनेस को पूछा जा रहा है कि एक प्रेरक वक्ता के रूप में आपको क्या प्रेरित करता है व्हाट इंस्पायर्स मी मुझे क्या प्रेरित करता है सपनों के अलावा शायद दुनिया में कोई ऐसी शक्ति नहीं है जो किसी को भी प्रेरित कर सकती है हम दो ही तरह से प्रेरित होते हैं या तो अपने इयर्स के माध्यम से या फिर अपनी ड्रीम्स के माध्यम से अपनी जो पीर वाला जो मामला है जब हम फीयर के माध्यम से प्रेरित होते हैं इस पर होते हैं मोटिवेट होते हैं तो फिर हमको बहुत हद तक आगे बढ़ने के लिए मदद करता है जैसे एक बच्चे को पियर है कि अगर मैं पढ़ाई नहीं करूंगा तो फेल हो जाऊंगा ज्यादा पढ़ाई और यह जो पियर है उसका कारण बनता है उसके मोटिवेशन का लेकिन जब वही स्थिति किसी और के लिए होती है इसका नजरिया पॉजिटिव होता है उसका दृष्टिकोण बहुत अलग है पॉजिटिव है तो वह सोचता है कि मैं फर्स्ट आने के लिए पढ़ाई करूंगा क्लास में दोनों बच्चे हैं एक बच्चा फेल हो जाने के डर से पढ़ाई कर रहा है और एक बच्चा नंबर वन आने के लिए पढ़ाई कर रहा है जीतने के लिए पढ़ाई कर रहा है एक क्रिकेटर जो है वह सिर्फ इसलिए खेल रहा है क्योंकि उसको वह हारना नहीं चाहता लेकिन एक क्रिकेटर जो है वह सिर्फ इसलिए खेल रहा है कि उसको प्रदेश के लिए खेलना है उसको अपने लिए खेलना है और उसको जीतने के लिए खेलना है प्रेरक वक्ता एक मोटिवेशनल स्पीकर के रूप में मैं अपने आपको तभी मोटिवेटेड महसूस करता हूं जब मुझे लगता है कि अभी तो शुरुआत है अभी अंत नहीं हुआ है बहुत सारे लोगों तक पहुंचना है इनको जरूरत है उस ज्ञान की उस डायरेक्शन कि जिस डायरेक्शंस के कारण आप अपने ड्रिंक पहुंचते हैं और वह जो ड्रीम आपकी जिंदगी में जब आता है तो डिसिशन का जो लेवल है वह आपको अपने ड्रीम के लिए आगे लेकर जाता है अगर आप लोग मुझसे बात करना चाहते हैं तो मेरा फोन नंबर जहां पर अवेलेबल है आप मुझसे बात कर सकते हैं हम ऑलवेज विद यू विश यू ऑल द बेस्ट

namaskar main puneeth hoon puri bhatanagar Motivational speaker life and business ko poocha ja raha hai ki ek prerak vakta ke roop mein aapko kya prerit karta hai what inspayars me mujhe kya prerit karta hai sapnon ke alava shayad duniya mein koi aisi shakti nahi hai jo kisi ko bhi prerit kar sakti hai hum do hi tarah se prerit hote hain ya toh apne years ke madhyam se ya phir apni dreams ke madhyam se apni jo pir vala jo maamla hai jab hum fear ke madhyam se prerit hote hain is par hote hain motivate hote hain toh phir hamko bahut had tak aage badhne ke liye madad karta hai jaise ek bacche ko piyar hai ki agar main padhai nahi karunga toh fail ho jaunga zyada padhai aur yah jo piyar hai uska karan banta hai uske motivation ka lekin jab wahi sthiti kisi aur ke liye hoti hai iska najariya positive hota hai uska drishtikon bahut alag hai positive hai toh vaah sochta hai ki main first aane ke liye padhai karunga class mein dono bacche hain ek baccha fail ho jaane ke dar se padhai kar raha hai aur ek baccha number van aane ke liye padhai kar raha hai jitne ke liye padhai kar raha hai ek cricketer jo hai vaah sirf isliye khel raha hai kyonki usko vaah harana nahi chahta lekin ek cricketer jo hai vaah sirf isliye khel raha hai ki usko pradesh ke liye khelna hai usko apne liye khelna hai aur usko jitne ke liye khelna hai prerak vakta ek Motivational speaker ke roop mein main apne aapko tabhi motivated mahsus karta hoon jab mujhe lagta hai ki abhi toh shuruaat hai abhi ant nahi hua hai bahut saare logon tak pahunchana hai inko zaroorat hai us gyaan ki us direction ki jis dayrekshans ke karan aap apne drink pahunchate hain aur vaah jo dream aapki zindagi mein jab aata hai toh decision ka jo level hai vaah aapko apne dream ke liye aage lekar jata hai agar aap log mujhse baat karna chahte hain toh mera phone number jahan par available hai aap mujhse baat kar sakte hain hum always with you wish you all the best

नमस्कार मैं पुनीत हूं पुरी भटनागर मोटिवेशनल स्पीकर लाइफ एंड बिजनेस को पूछा जा रहा है कि एक

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  274
WhatsApp_icon
play
user

Kankan Sarmah

Psychologist

1:10

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न एक प्रवक्ता के रूप में आपको क्या प्रेरित करते हैं चली जितने सारे शब्द में अपने स्पीड में में इस्तेमाल करता हूं या जिस हिसाब से मैं अपने लोगों के साथ बर्ताव करता हूं जो बातें हम सेशंस में वक्ता के रूप में हम बोलते हैं मैं बस उन्हीं चीजों को मैं खुद करता हूं मैं कुछ भी जल्दी उठता हूं एक्सरसाइज कभी करता हम अपने खान-पान रहन-सहन में भी मैं थोड़ा सा ध्यान देता हूं मैं हर लोगों के साथ में मिल जाता हूं मैं सबके साथ बातें करता हूं चाहे वह बड़े हो या छोटे हो मैं भी कभी भी भेदभाव नहीं रखता मेरे दिमाग में ऐसा कुछ नहीं है अंधविश्वास में बिल्कुल नहीं करता हूं बस जो मैंने आज किया है मुझे इतना पता है कि कल वही मेरा फल है अगर मैं आज कुछ नहीं करूंगा तो कल वह मेरे लिए कुछ नहीं है तो मैं बस वर्तमान में जीता हूं और वर्तमान में रहकर मैं अपना भविष्य बनाता हूं लेकिन भविष्य के बारे में सोचता नहीं धन्यवाद

aapka prashna ek pravakta ke roop mein aapko kya prerit karte hain chali jitne saare shabd mein apne speed mein mein istemal karta hoon ya jis hisab se main apne logon ke saath bartaav karta hoon jo batein hum seshans mein vakta ke roop mein hum bolte hain main bus unhin chijon ko main khud karta hoon main kuch bhi jaldi uthata hoon exercise kabhi karta hum apne khan pan rahan sahan mein bhi main thoda sa dhyan deta hoon main har logon ke saath mein mil jata hoon main sabke saath batein karta hoon chahen vaah bade ho ya chhote ho main bhi kabhi bhi bhedbhav nahi rakhta mere dimag mein aisa kuch nahi hai andhavishvas mein bilkul nahi karta hoon bus jo maine aaj kiya hai mujhe itna pata hai ki kal wahi mera fal hai agar main aaj kuch nahi karunga toh kal vaah mere liye kuch nahi hai toh main bus vartmaan mein jita hoon aur vartmaan mein rahkar main apna bhavishya banata hoon lekin bhavishya ke bare mein sochta nahi dhanyavad

आपका प्रश्न एक प्रवक्ता के रूप में आपको क्या प्रेरित करते हैं चली जितने सारे शब्द में अपन

Romanized Version
Likes  81  Dislikes    views  1997
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

10:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत प्रिय प्रश्न की प्रेरक वक्ता के रूप में आपको क्या प्रेरित करता है बहुत सुंदर अति सुंदर प्रश्न प्रश्न होने चाहिए जो ज्ञान और इंसान की इंसान की मैं प्रेरक वक्ता बाद में हूं लेकिन एक प्रेरणा देने वाली इंसान क्यों डिस्ट्रिक्ट की प्रेरणा देकर उसका जीवन बदलने में अगर हमें कामयाबी मिल जाती उसकी कमियों को दूर करने में उसको निकालने में उसको यह एहसास कराने में क्या आपने अपनी पहचान कीजिए और आपने अपनी पहचान की वस्तु स्थिति का ज्ञान प्राप्त कर लेता है अच्छे बुरे का स्थान प्राप्त कर लेता है ज्ञान प्राप्त कर लेता है तो निश्चित रूप से जब किसी इंसान को सफलता मिलती है जो हमें भी सफलता मिलती है हमें भी ऐसा लगता है कि हमने वास्तव में सफलता प्राप्त की हमारा जीवन विद्यार्थियों से जुड़ा हुआ है और हम कोशिश करते हैं कितने विद्यार्थियों के जीवन को हम एक सफल जीवन के रूप में बदलें और उनको एक श्रेष्ठ जीवन दें और उनको एक मान सकते जिससे कि उनका जीवन बदल जाए अगर दुखी को दुख दूर करने में दुखी के दुख दूर करने में बीमारी बीमार व्यक्ति की बीमारियों की भूत को हल्का करने में मानसिक दृष्टि की परेशानियों को दूर करने में और सामाजिक व्यक्ति की समस्याओं को हल करने में राजनीतिक समस्याओं के हल करने में अपनी भूमिका निभाने में और वह भी सच और वह भी उचित रूप से तो सफलता का हमारे सामने प्रारूप आता है तो हम स्वयं भी प्रेरित होते हैं कि हमारे इस प्रयास से दसवीं 50 लोगों की जिंदगी बदलनी है वह अपने कार्य क्षेत्र में सफल हुए हैं और उनकी सफलता को देखते हुए हम भी प्रेरित होते हैं कि हमें और लोगों के साथ सफलता के लिए कदम उठाना चाहिए दूसरी सबसे बड़ी चीज यह है देहांत इन लोगों को प्रेरणा देते हैं हमसे यह कहते हैं कि जो आपको हमसे मिला है वह आप आगे लोगों को दें क्योंकि आप सफल हो गए आपकी समस्याएं हल हो गई हैं लेकिन आप के संपर्क में आने वाले अगर बहुत से लोग दुखी और समस्याओं से झूठ है और वह मात्र आपकी सिर्फ प्रेरणा देने से या मात्र आपके सहयोग से अगर उनका जीवन भी सफल हो जाता है तो मैं मान के चलता हूं हमारी दी गई प्रणाम हमारा प्रेरणा सफल हो गया घृणा देखिए धोनी के लिए अपने अंदर ज्ञान शक्ति इच्छा होनी चाहिए यह प्रश्न मैंने देखा मैं तैयार हो रहा था लेकिन प्रिंट मैंने अलिफ प्रश्न का उत्तर देना उचित समझा इस प्रश्न में एक बहुत बड़ी अदम शक्ति छिपी हुई है और उस शक्ति के माध्यम से कर मुझे मिला है तो मैं डॉक्टर को नहीं दूंगा तुरंत मैंने इस प्रश्न का उत्तर देना उचित समझा अपनी अपनी हर व्यक्ति अलग-अलग स्तर से गुजरता है जीवन यापन तक का एक जैसा होता है लेकिन उसके जीने का तरीका डिफरेंट होता है उसकी मानसिकता पर उसकी स्थिति पर उसके पारिवारिक वातावरण पर एक अच्छी सोच बना लेता है एक अच्छी अपने चारों तरफ संस्कार की रचना कर लेता है तो वह एक अच्छा जीवन जीता और दूसरों के लिए भी वह एक आदर्शवादी बन जाता है लेकिन ना हम देते हैं सामने वाला उसे कैसे शिकार करता है उसका एक आपको कटु सच बताना चाहूंगा जट्टी इंटरनेट और यह इलेक्ट्रॉनिक मीडिया लोगों की जानकारी के लिए इतनी अधिक जानकारी लोग हासिल कर लेते हैं कि वह बजाएं ज्ञान के अज्ञान के दलदल में फंस जाते हैं तो वहां प्रेरणा उनके लिए बहुत मायने नहीं रखती और वह समझते यह तो हमें पता है मैं आप क्या बताने तो हमें पता है हम क्या सोचते हैं अगर पता है तो इस दलदल में क्यों करते हो तो क्या कहते हैं क्या उनकी समझ है यह ज्ञान भी तो जरूरी है अगर यह ज्ञान नहीं होगा तो हम अधूरे रह जाएंगे देखिए एक बात ध्यान रखें एक बर्तन में एक ही चीज आ सकती है अतुलसिया जाया जाया जाए अगर दोनों चीजें आपको उस बर्तन में डालनी है तो बर्तन खाली करना पड़ेगा पहले चाय का उपभोग करना पड़ेगा तो डाल सकते हैं कि कब बुक करना पड़ेगा तो चाय डाल सकते हैं एक मोटिवेशनल और एक कह सकता है लेकिन आम आदमी बात नहीं समझ सकता जानता हूं लेकिन देख कर भी अनदेखा कर दिया तो उस व्यक्ति के लिए ज्ञान और ज्ञान में कोई फर्क नहीं है तो मैं एक अपने आपको अगर इस पन्ना के बहुत से लोगों को अगर ना में चाहिए सफलता का जीवन जीते हैं और मैं मान के चलता हूं कि मेरी इस सेवक वाणी संयम विदेशी चंदे से लोगों की जिंदगी में बदलाव आता है तो मैं मान लूंगा कि मैं एक अच्छा प्रेरक वक्ता हूं और मैं प्रेरित होता हूं वह घटना इस प्रकार की आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण दसवीं की परीक्षा में दसवीं की पढ़ाई के दौरान टूटने की नौबत आ गई जबकि मैं संध्या स्कूल में पढ़ता था वॉलेट मिनी आंख में आंसू मन में गम मस्जिद चिंता क्योंकि बच्चे ही था परेशान एक बच्चे की भावना एक बच्चे के ग्रुप को धरती दे कोई भी मां बाप नहीं देख सकते जबकि वह भी मजबूर थे उनकी मजबूरी हम समझ रहे थे हमारी मजबूरी को समझ रहे थे इसलिए थी कि मेरे को लग रहा था मेरा जीवन अंधकार हो गया मैं इस धरती पर बहुत हो गया और अब मेरे जीने का क्या मकसद है दिमाग की कोने में था भगवान अगर एक रास्ता बंद करता तो दूसरा रास्ता जरुर करता है अपनी राजस्थान की कुलदेवी मां जीण भवानी पर भरोसा भरोसा करते हैं इसलिए भरोसा करते हैं कि दुख में हमेशा भगवान ही साथ देता है भगवान इंसान के रूप में किसी को भेज देता है विश्वास बचपन से घर में संस्कार मिले भगवान के प्रति आस्था मिली भक्ति मिली चलिए जब भी संदेश मिला कि अब आप पढ़ाई बंद कर दो तो तेज ना बस मैंने पिताजी को जवाब भी दे दिया मैं पढ़ाई नहीं छोडूंगा कि मुझे रिक्शा चलाना पड़े क्या मुझे स्टेशन पुलिसगिरी करना पड़े मैंने हिम्मत जुटाई घर से बाहर निकल लूंगा लेकिन पढ़ाई नहीं छोडूंगा यह देखकर माता-पिता की बहुत दुखी हूं पिताजी ने कहा विदाउट आता जी की दुकान से दूध जाओ मेरे मन बनाने के लिए मैं आपके आंसू पहुंचकर और आंखें नीचे करके दूध लेने दुकान पर चला गया मेरी इस रूप को देखकर मेरे चेहरे के

bahut priya prashna ki prerak vakta ke roop mein aapko kya prerit karta hai bahut sundar ati sundar prashna prashna hone chahiye jo gyaan aur insaan ki insaan ki main prerak vakta baad mein hoon lekin ek prerna dene waali insaan kyon district ki prerna dekar uska jeevan badalne mein agar hamein kamyabi mil jaati uski kamiyon ko dur karne mein usko nikalne mein usko yah ehsaas karane mein kya aapne apni pehchaan kijiye aur aapne apni pehchaan ki vastu sthiti ka gyaan prapt kar leta hai acche bure ka sthan prapt kar leta hai gyaan prapt kar leta hai toh nishchit roop se jab kisi insaan ko safalta milti hai jo hamein bhi safalta milti hai hamein bhi aisa lagta hai ki humne vaastav mein safalta prapt ki hamara jeevan vidyarthiyon se juda hua hai aur hum koshish karte hain kitne vidyarthiyon ke jeevan ko hum ek safal jeevan ke roop mein badale aur unko ek shreshtha jeevan dein aur unko ek maan sakte jisse ki unka jeevan badal jaaye agar dukhi ko dukh dur karne mein dukhi ke dukh dur karne mein bimari bimar vyakti ki bimariyon ki bhoot ko halka karne mein mansik drishti ki pareshaaniyon ko dur karne mein aur samajik vyakti ki samasyaon ko hal karne mein raajnitik samasyaon ke hal karne mein apni bhumika nibhane mein aur vaah bhi sach aur vaah bhi uchit roop se toh safalta ka hamare saamne prarup aata hai toh hum swayam bhi prerit hote hain ki hamare is prayas se dasavi 50 logon ki zindagi badalni hai vaah apne karya kshetra mein safal hue hain aur unki safalta ko dekhte hue hum bhi prerit hote hain ki hamein aur logon ke saath safalta ke liye kadam uthaana chahiye dusri sabse badi cheez yah hai dehant in logon ko prerna dete hain humse yah kehte hain ki jo aapko humse mila hai vaah aap aage logon ko dein kyonki aap safal ho gaye aapki samasyaen hal ho gayi hain lekin aap ke sampark mein aane waale agar bahut se log dukhi aur samasyaon se jhuth hai aur vaah matra aapki sirf prerna dene se ya matra aapke sahyog se agar unka jeevan bhi safal ho jata hai toh main maan ke chalta hoon hamari di gayi pranam hamara prerna safal ho gaya ghrina dekhiye dhoni ke liye apne andar gyaan shakti iccha honi chahiye yah prashna maine dekha main taiyar ho raha tha lekin print maine aleph prashna ka uttar dena uchit samjha is prashna mein ek bahut badi adam shakti chipi hui hai aur us shakti ke madhyam se kar mujhe mila hai toh main doctor ko nahi dunga turant maine is prashna ka uttar dena uchit samjha apni apni har vyakti alag alag sthar se guzarta hai jeevan yaapan tak ka ek jaisa hota hai lekin uske jeene ka tarika different hota hai uski mansikta par uski sthiti par uske parivarik vatavaran par ek achi soch bana leta hai ek achi apne charo taraf sanskar ki rachna kar leta hai toh vaah ek accha jeevan jita aur dusron ke liye bhi vaah ek aadarshvaadi ban jata hai lekin na hum dete hain saamne vala use kaise shikaar karta hai uska ek aapko katu sach bataana chahunga jatti internet aur yah electronic media logon ki jaankari ke liye itni adhik jaankari log hasil kar lete hain ki vaah bajaen gyaan ke agyan ke duldula mein fans jaate hain toh wahan prerna unke liye bahut maayne nahi rakhti aur vaah samajhte yah toh hamein pata hai main aap kya batane toh hamein pata hai hum kya sochte hain agar pata hai toh is duldula mein kyon karte ho toh kya kehte hain kya unki samajh hai yah gyaan bhi toh zaroori hai agar yah gyaan nahi hoga toh hum adhure reh jaenge dekhiye ek baat dhyan rakhen ek bartan mein ek hi cheez aa sakti hai atulsiya jaaya jaaya jaaye agar dono cheezen aapko us bartan mein daalni hai toh bartan khaali karna padega pehle chai ka upbhog karna padega toh daal sakte hain ki kab book karna padega toh chai daal sakte hain ek Motivational aur ek keh sakta hai lekin aam aadmi baat nahi samajh sakta jaanta hoon lekin dekh kar bhi andekha kar diya toh us vyakti ke liye gyaan aur gyaan mein koi fark nahi hai toh main ek apne aapko agar is panna ke bahut se logon ko agar na mein chahiye safalta ka jeevan jeete hain aur main maan ke chalta hoon ki meri is sevak vani sanyam videshi chande se logon ki zindagi mein badlav aata hai toh main maan lunga ki main ek accha prerak vakta hoon aur main prerit hota hoon vaah ghatna is prakar ki aarthik sthiti kamjor hone ke karan dasavi ki pariksha mein dasavi ki padhai ke dauran tutne ki naubat aa gayi jabki main sandhya school mein padhata tha wallet mini aankh mein aansu man mein gum masjid chinta kyonki bacche hi tha pareshan ek bacche ki bhavna ek bacche ke group ko dharti de koi bhi maa baap nahi dekh sakte jabki vaah bhi majboor the unki majburi hum samajh rahe the hamari majburi ko samajh rahe the isliye thi ki mere ko lag raha tha mera jeevan andhakar ho gaya main is dharti par bahut ho gaya aur ab mere jeene ka kya maksad hai dimag ki kone mein tha bhagwan agar ek rasta band karta toh doosra rasta zaroor karta hai apni rajasthan ki kuldevi maa gene bhawani par bharosa bharosa karte hain isliye bharosa karte hain ki dukh mein hamesha bhagwan hi saath deta hai bhagwan insaan ke roop mein kisi ko bhej deta hai vishwas bachpan se ghar mein sanskar mile bhagwan ke prati astha mili bhakti mili chaliye jab bhi sandesh mila ki ab aap padhai band kar do toh tez na bus maine pitaji ko jawab bhi de diya main padhai nahi chodunga ki mujhe riksha chalana pade kya mujhe station pulisgiri karna pade maine himmat jutai ghar se bahar nikal lunga lekin padhai nahi chodunga yah dekhkar mata pita ki bahut dukhi hoon pitaji ne kaha without aata ji ki dukaan se doodh jao mere man banaane ke liye main aapke aansu pahuchkar aur aankhen neeche karke doodh lene dukaan par chala gaya meri is roop ko dekhkar mere chehre ke

बहुत प्रिय प्रश्न की प्रेरक वक्ता के रूप में आपको क्या प्रेरित करता है बहुत सुंदर अति सुंद

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  1054
WhatsApp_icon
user

Suresh Jeswani

Life Coach

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक प्रेरक वक्ता एनी की मोटिवेशन स्पीकर के रूप में मुझे यह चीज प्रेरित करती है कि हम लोग वैसे ही कितने बकबक करते रहते हैं लेकिन मुझे स्तर से दिखते हैं कि मैं कुछ ऐसा उनको बोलूंगा और उनके जीवन में उन को प्रेरणा मिलेगी तो यह जो चीजें मुझे हमेशा प्रेरित करके कि मेरे बोलने भर से किसी को बदल जीवन का कोई रास्ता मिल जाता है किसी को कोई एक्शन देने का रास्ता मिल जाता है कि यहां किसी को अगर मानसिक तनाव है तो उसमें उसको राहत मिल जाती है कि मेरी सबसे बड़ी प्रेरणा की चीज है कि मैं मोटिवेशनल स्पीकर बना हूं और मुझे प्रेरित करता है फिर वैसे तुम कितनी बकबक करते रहते हैं चलो ऐसा कुछ बोले कि लोग जीवन में फर्क पड़ सिर्फ बोलने पर

ek prerak vakta any ki motivation speaker ke roop mein mujhe yah cheez prerit karti hai ki hum log waise hi kitne bakbak karte rehte hain lekin mujhe sthar se dikhte hain ki main kuch aisa unko boloonga aur unke jeevan mein un ko prerna milegi toh yah jo cheezen mujhe hamesha prerit karke ki mere bolne bhar se kisi ko badal jeevan ka koi rasta mil jata hai kisi ko koi action dene ka rasta mil jata hai ki yahan kisi ko agar mansik tanaav hai toh usmein usko rahat mil jaati hai ki meri sabse badi prerna ki cheez hai ki main Motivational speaker bana hoon aur mujhe prerit karta hai phir waise tum kitni bakbak karte rehte hain chalo aisa kuch bole ki log jeevan mein fark pad sirf bolne par

एक प्रेरक वक्ता एनी की मोटिवेशन स्पीकर के रूप में मुझे यह चीज प्रेरित करती है कि हम लोग वै

Romanized Version
Likes  40  Dislikes    views  500
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
acha chalta hoon ; acha chalta hu ; ek kadam safalta ki or ; प्रेरक ; प्रेरकों ; राजस्थान प्रेरक ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!