मेडिटेशन क्या है?...


user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका सवाल है बहन स्टेशन क्या है तो इस दौर में स्टेशन की व्याख्या करना चाहिए और एक बाजारीकरण करना चाहिए तो आपको कई तरह से इसका एक अलग अलग परिभाषा ही मिल जाएगी कि इसे मेडिटेशन करते हैं इस तरह करें तो अभी से मेडिटेशन करते हैं लेकिन आप तब उस चीज को मेडिटेशन समझे जिसको आप अपनी जिंदगी में आराम से अप्लाई कर पाए आप उसी को जी पाए तभी वह चीज है वह मेडिटेशन है क्या मैं कुछ करुंगा अपनी तरफ से आपको बहुत सरल से सरल भाषा में समझाने का पिटिशन का अर्थ होता है सिर्फ वर्तमान में जीना वर्तमान कौन सा वर्तमान वर्तमान का अर्थ होता है कि उस क्षण में जीना जिस क्षण में आपको नहीं आप फ्यूचर की सोच लो लव पिक्चर में जीरो नहीं आप फास्ट में जीरो तो आप भूतकाल में है ना भविष्य में केवल वर्तमान में और जब भी जो भी मुंह में इस तरह से आपकी जिंदगी में आता जब भी आप बैठे बैठे ध्यान के नाम पर मुझे नहीं पता कि लोग किस तरह से आप क्या सोचते हैं लेकिन जेसीबी की अलग अलग अलग अलग बताते हैं तो आप जब भी कोशिश करें कभी इस तरह से अपने आप अपना अवलोकन करने का कि आपको मेडिटेशन करना आप बैठे और आपको ध्यान देना है अपने अंदर के अंदर विचार क्या चल रहा है आपके अंदर जो विचार चल रहा है तो आप ध्यान देंगे क्या वह विचार फास्ट का है या फ्यूचर का है या तो भूतकाल का होगा विचार या तो भविष्य का होगा तो आप वहां पर कोशिश करेंगे कि जब आपका विचार न फ्यूचर का होना पास्टर को उस मोमेंट का हो बल्कि आपको लगे कोई विचार ही नहीं चल रहा आपके अंदर तो आप समझ लीजिए यही मेडिटेशन है और आप बिल्कुल इस चीज को अप्लाई करिए और जब आपका यह पहले 2 सेकंड का 3 सेकंड का उस 5 सेकंड हुआ 10 सेकंड हुआ फिर 12 सेकंड होगा 15 सेकंड होगा धीरे-धीरे आप 1 मिनट तक पहुंचेंगे तो आपको यह लगेगा कि आपके अंदर एक नई ऊर्जा प्रवाहित हो रही है आपको आप अपने आप को बहुत एंजॉय महसूस करेंगे यह मेडिटेशन हुआ सही अर्थों में यही मेडिटेशन है बाकी मिल जाएगी बहुत बड़ा बाजार है इस बाजार में आजकल ध्यान भी बिकने लग गया है तो आप से मेरा निवेदन है कि आप सही दिशा यूज़ करें और सही चीज को पकड़े वही चीज पकड़े जिसे आप अपनी जिंदगी में अप्लाई कर सके और अप्लाई करने के बाद आप परिणाम किसी उस परिणाम पर पहुंचे आपको लगता कि परिणामा सही दिशा में पहुंच रहे तो भी आप उस दिशा में जाएं अदर वाइज आप उसे वहीं पर फुलस्टॉप लगा दे धन्यवाद

namaskar aapka sawaal hai behen station kya hai toh is daur me station ki vyakhya karna chahiye aur ek bajarikaran karna chahiye toh aapko kai tarah se iska ek alag alag paribhasha hi mil jayegi ki ise meditation karte hain is tarah kare toh abhi se meditation karte hain lekin aap tab us cheez ko meditation samjhe jisko aap apni zindagi me aaram se apply kar paye aap usi ko ji paye tabhi vaah cheez hai vaah meditation hai kya main kuch karunga apni taraf se aapko bahut saral se saral bhasha me samjhane ka pitishan ka arth hota hai sirf vartaman me jeena vartaman kaun sa vartaman vartaman ka arth hota hai ki us kshan me jeena jis kshan me aapko nahi aap future ki soch lo love picture me zero nahi aap fast me zero toh aap bhootkaal me hai na bhavishya me keval vartaman me aur jab bhi jo bhi mooh me is tarah se aapki zindagi me aata jab bhi aap baithe baithe dhyan ke naam par mujhe nahi pata ki log kis tarah se aap kya sochte hain lekin JCB ki alag alag alag alag batatey hain toh aap jab bhi koshish kare kabhi is tarah se apne aap apna avalokan karne ka ki aapko meditation karna aap baithe aur aapko dhyan dena hai apne andar ke andar vichar kya chal raha hai aapke andar jo vichar chal raha hai toh aap dhyan denge kya vaah vichar fast ka hai ya future ka hai ya toh bhootkaal ka hoga vichar ya toh bhavishya ka hoga toh aap wahan par koshish karenge ki jab aapka vichar na future ka hona pastor ko us moment ka ho balki aapko lage koi vichar hi nahi chal raha aapke andar toh aap samajh lijiye yahi meditation hai aur aap bilkul is cheez ko apply kariye aur jab aapka yah pehle 2 second ka 3 second ka us 5 second hua 10 second hua phir 12 second hoga 15 second hoga dhire dhire aap 1 minute tak pahunchenge toh aapko yah lagega ki aapke andar ek nayi urja pravahit ho rahi hai aapko aap apne aap ko bahut enjoy mehsus karenge yah meditation hua sahi arthon me yahi meditation hai baki mil jayegi bahut bada bazaar hai is bazaar me aajkal dhyan bhi bikne lag gaya hai toh aap se mera nivedan hai ki aap sahi disha use kare aur sahi cheez ko pakde wahi cheez pakde jise aap apni zindagi me apply kar sake aur apply karne ke baad aap parinam kisi us parinam par pahuche aapko lagta ki parinama sahi disha me pohch rahe toh bhi aap us disha me jayen other wise aap use wahi par fulastap laga de dhanyavad

नमस्कार आपका सवाल है बहन स्टेशन क्या है तो इस दौर में स्टेशन की व्याख्या करना चाहिए और एक

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  119
WhatsApp_icon
17 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Pramod Kushwaha

famous Motivational Guru N Painter

0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मोटिवेशनल गुरु प्रमोद कसवा गूगल में आपका स्वागत करता हूं गोकुल परिवार से आप ने प्रश्न किया मेडिटेशन मेडिटेशन मेडिकल मेडिकल मतलब मेडिकल मतलब स्वस्थ करना कुछ ऐसी दवाई है जो आपको स्वस्थ करती है तो मैं स्टेशन मन को स्वस्थ और मन को स्वस्थ करना और आगरा को स्वस्थ करना उसे मेडिटेशन कहते हैं

Motivational guru pramod kaswa google me aapka swaagat karta hoon gokul parivar se aap ne prashna kiya meditation meditation medical medical matlab medical matlab swasth karna kuch aisi dawai hai jo aapko swasth karti hai toh main station man ko swasth aur man ko swasth karna aur agra ko swasth karna use meditation kehte hain

मोटिवेशनल गुरु प्रमोद कसवा गूगल में आपका स्वागत करता हूं गोकुल परिवार से आप ने प्रश्न किया

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  59
WhatsApp_icon
user

Girijakant Singh

Founder/ President Yog Bharati Foundation Trust

1:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए आपका प्रश्न है कि मेडिटेशन क्या है मेडिटेशन क्या है मतलब ध्यान क्या है तो जो योग के अष्टांग है उसमें जो है उसमें जो बहिरंग साधन हैं क्योंकि उसमें धारणा ध्यान और समाधि उसमें ध्यान जो है वह आता है धारणा के बाद तो महर्षि पतंजलि ने ध्यान की परिभाषा में कहा है कि तक प्रत्येक ध्यानं अर्थात आप जिस वस्तु का मन लगा रहे हैं उस पर ध्यान कर रहे हैं उसका उस जो आप परिचित है उसमें उसका कर एकाकार हो जाता है तो वह ध्यान है अर्थात जो चीज आप किसी भी चीज पर चंद्राकार वस्तु है या साकार वस्तु है आप उसके मन को केंद्रित करते हैं मन को लगाते हैं और उसमें जो है कोई किसी प्रकार की कोई रुकावट ना हो कोई वृत्ति रवाना हो कोई विचार ना आए और आपको केवल भी वस्तु मात्र का ही ध्यान रहे तो वह ध्यान कहलाता है और यह निरंतर अभ्यास के बाद होता है लेकिन ध्यान का अभ्यास कभी सीधे नहीं होता ना कि वे ध्यान रखता है इसके लिए आपको पहले जो है आपको योगासनों का भी अभ्यास करना पड़ेगा इसके बाद आप प्राणायाम का अभ्यास करें इसके बाद आप ध्यान का अभ्यास करें तो आपको ध्यान लग पाएगा अन्यथा जो है आपको जो है आपका शरीर ध्यान के लिए तैयार नहीं हो पाता है उसमें आपको योगासन और प्राणायाम करने के बाद ही आपका शरीर का ध्यान के लिए तैयार हो पाता है धन्यवाद

dekhiye aapka prashna hai ki meditation kya hai meditation kya hai matlab dhyan kya hai toh jo yog ke ashtanga hai usme jo hai usme jo bahirang sadhan hain kyonki usme dharana dhyan aur samadhi usme dhyan jo hai vaah aata hai dharana ke baad toh maharshi patanjali ne dhyan ki paribhasha mein kaha hai ki tak pratyek dhyanan arthat aap jis vastu ka man laga rahe hain us par dhyan kar rahe hain uska us jo aap parichit hai usme uska kar ekakar ho jata hai toh vaah dhyan hai arthat jo cheez aap kisi bhi cheez par chandrakar vastu hai ya saakar vastu hai aap uske man ko kendrit karte hain man ko lagate hain aur usme jo hai koi kisi prakar ki koi rukavat na ho koi vriti rawana ho koi vichar na aaye aur aapko keval bhi vastu matra ka hi dhyan rahe toh vaah dhyan kehlata hai aur yah nirantar abhyas ke baad hota hai lekin dhyan ka abhyas kabhi sidhe nahi hota na ki ve dhyan rakhta hai iske liye aapko pehle jo hai aapko yogasanon ka bhi abhyas karna padega iske baad aap pranayaam ka abhyas kare iske baad aap dhyan ka abhyas kare toh aapko dhyan lag payega anyatha jo hai aapko jo hai aapka sharir dhyan ke liye taiyar nahi ho pata hai usme aapko yogasan aur pranayaam karne ke baad hi aapka sharir ka dhyan ke liye taiyar ho pata hai dhanyavad

देखिए आपका प्रश्न है कि मेडिटेशन क्या है मेडिटेशन क्या है मतलब ध्यान क्या है तो जो योग के

Romanized Version
Likes  173  Dislikes    views  2185
WhatsApp_icon
user

Dr. Kartik Kumar

Yoga Instructor

2:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेडिटेशन क्या है स्टेशन का हिंदी अर्थ ध्यान ध्यान के बारे में हमारे किरण संहिता में इसे तीन प्रकार के बयान कहा गया फूल या नुकसान और ज्योतिष पर हम तो एबीसी पूछे नहीं करेंगे तो किस समय अधिक लगेगा लेकिन कुछ लाना चाहेंगे बाहर और शरीर के अंदर कुछ निश्चित पॉइंट है जहां पर हम अपनी आंखों की रोशनी को एक जगह मिलाकर केंद्रित करते हैं तो शरीर के अंदर जो भी अंत स्रावी ग्रंथियां है वह सक्रिय होती है अल्फा कण के सक्रिय होती है और शरीर के विभिन्न स्थानों पर कुछ आम इस अचानक सेवन करता क्या संभव हो पाता है समर्थ सद्गुरु के निर्देशन में बैठकर करने वाले करने वाले अभ्यास के बाद इसे स्वर्वेद में इंगित किया गया है शत-शत चेतन करण को यह कहूं लेयर मिलाए उर्दू में को चढ़ता को अन्य कोई उपाय आंखों की दोनों रोशनी को एक जगह विशिष्ट केंद्रों पर मिलाना या ध्यान की प्रथम अवस्था है उसे हमारे ग्रंथ पतंजलि योग सूत्र में ध्यान की परिभाषा दिया गया कि अप्रत्यक्ष तांता ध्यान किसी एक वस्तु पर चेतना को यह का स्थान पर अपनी बात अपने अपने आत्मा की किरण को सुरक्षित एक जगह विशेष केंद्र पर लगाना है जानकारी असमर्थ हो पाता है समर्थ सद्गुरु के निर्देशन में आप जान को यदि सीखना चाहते हैं उस पर के ध्यान कोशिश कर अपने जीवन में बदलाव लाना टुकड़े विहंगम योग साथ में रख के सर आप जहां हैं वहीं आपको भी हंगामे ध्यान सिखाया जाएगा और प्रवेश पहुंचा दिया जाएगा आप संपर्क करें 7:00 विरोधी वाले 8121

meditation kya hai station ka hindi arth dhyan dhyan ke bare mein hamare kiran sanhita mein ise teen prakar ke bayan kaha gaya fool ya nuksan aur jyotish par hum toh ABC pooche nahi karenge toh kis samay adhik lagega lekin kuch lana chahenge bahar aur sharir ke andar kuch nishchit point hai jaha par hum apni aankho ki roshni ko ek jagah milakar kendrit karte hai toh sharir ke andar jo bhi ant srawi granthiyan hai vaah sakriy hoti hai alpha kan ke sakriy hoti hai aur sharir ke vibhinn sthano par kuch aam is achanak seven karta kya sambhav ho pata hai samarth sadguru ke nirdeshan mein baithkar karne waale karne waale abhyas ke baad ise swarved mein ingit kiya gaya hai shat shat chetan karan ko yah kahun layer milae urdu mein ko chadhta ko anya koi upay aankho ki dono roshni ko ek jagah vishisht kendron par milana ya dhyan ki pratham avastha hai use hamare granth patanjali yog sutra mein dhyan ki paribhasha diya gaya ki apratyaksh tanta dhyan kisi ek vastu par chetna ko yah ka sthan par apni baat apne apne aatma ki kiran ko surakshit ek jagah vishesh kendra par lagana hai jaankari asamarth ho pata hai samarth sadguru ke nirdeshan mein aap jaan ko yadi sikhna chahte hai us par ke dhyan koshish kar apne jeevan mein badlav lana tukde vihangam yog saath mein rakh ke sir aap jaha hai wahi aapko bhi hangame dhyan sikhaya jaega aur pravesh pohcha diya jaega aap sampark kare 7 00 virodhi waale 8121

मेडिटेशन क्या है स्टेशन का हिंदी अर्थ ध्यान ध्यान के बारे में हमारे किरण संहिता में इसे ती

Romanized Version
Likes  118  Dislikes    views  1510
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Gyan Ranjan Maharaj

Founder & Director - Kashyap Yogpith

1:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका क्वेश्चन है वेजिटेशन क्या है तो आपको मैं बताना चाहूंगा मैं ट्यूशन का अर्थ होता है ध्यान किसी एक बिंदु को बारंबार लगातार और देखते रहने की क्रिया को मिशन खा जाता है चाहे वह बिंदु कुछ भी हो सकता है बहुत लोग अपने लक्ष्य को ही बारंबार देखते हैं वह इमिटेशन हैं कुछ लोग अपनी आंखें बंद करके अपने आते-जाते श्वास को देखते हैं वह भी मीट एक्शन है बहुत लोग दोनों बेटियों के मध्य जो आज्ञा चक्र उस जगह को देखते हैं तो उससे जगह को आप अगर स्थिति की कल्पना करें कि उस जगह पर ओम लिखा हुआ है उसे ओम को आप लगातार आंख बंद करके अनुभव है क्यों हम लिखा हुआ है और उस जगह पर अपना ध्यान रखो बिल्कुल टिकाए रखें उस बिंदु पर कोशिशें करनी है कि आपका ध्यान कहीं ना भटके बिल्कुल सही में टेशन है बार बार बार बार बार बार और पुनः एक ही चीज को देखना ध्यान है धन्यवाद

aapka question hai vegetation kya hai toh aapko main bataana chahunga main tuition ka arth hota hai dhyan kisi ek bindu ko barambar lagatar aur dekhte rehne ki kriya ko mission kha jata hai chahen vaah bindu kuch bhi ho sakta hai bahut log apne lakshya ko hi barambar dekhte hain vaah imitation hain kuch log apni aankhen band karke apne aate jaate swas ko dekhte hain vaah bhi meat action hai bahut log dono betiyon ke madhya jo aagya chakra us jagah ko dekhte hain toh usse jagah ko aap agar sthiti ki kalpana kare ki us jagah par om likha hua hai use om ko aap lagatar aankh band karke anubhav hai kyon hum likha hua hai aur us jagah par apna dhyan rakho bilkul tikaye rakhen us bindu par koshishein karni hai ki aapka dhyan kahin na bhatke bilkul sahi mein teshan hai baar baar baar baar baar baar aur punh ek hi cheez ko dekhna dhyan hai dhanyavad

आपका क्वेश्चन है वेजिटेशन क्या है तो आपको मैं बताना चाहूंगा मैं ट्यूशन का अर्थ होता है ध्य

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  989
WhatsApp_icon
user

आचार्य प्रशांत

IIT-IIM Alumnus, Ex Civil Services Officer, Mystic

9:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मल्टी शिवानी क्या कुछ ना कुछ करना अंगों के अलावा और कुछ पूछते हो पिक्चर मैंने क्या बोला कुछ याद करने की कोशिश के बारे में खत्म करना दिमाग में टेंशन करते हो कौन देखेगा देखेगा हम परमपिता परमात्मा के अनेक ले जाते हैं आनंद के दाता हैं वह ज्ञानी हैं तो उनसे वह सारी शक्तियां प्राप्त करते हैं हम उनसे कनेक्ट करते हैं अपने आप अपनी पुत्री कौन सी मिलाते हैं क्योंकि हम यह हमारी उत्पत्ति उन्हीं से हुई है पंचम पर चंदामामा 3 के बच्चों के लिए चंपा संसार के लिए मंगल के लिए चंदा मामा क्या कहेंगे बता रहे हो हम परमपिता परमात्मा के पास जाते हैं वह दया के सागर हो बड़े ज्ञानी एवं शक्तियां लेते हैं अन्ना ने बताया वह जैसे भी थे तुम कैसे होगी तुमने सुन लिया यह सब आध्यात्मिक और दोनों के लिए है बच्चों का नाम नहीं है जीवन मुक्त के कुछ समझे को समर्पित करने का नाम है ध्यान पूरा जीवन ही पूरा जीवन ही के उपक्रम में खुद बन जाए ध्यान है उन्हें इतना बड़ा हो क्यों तुम्हारा पूरा जीवन ही मांग ले ध्यान पूर्वक पूरा बुद्धिमान ज्ञानवान जीवन के किसी कोने में घटने वाली घटना नहीं हो सकती ध्यान को जीवन का आधार होना होगा ध्यान को जीवन सचिंद्र होना होगा ध्यान पहले आएगा और ध्यान निर्धारित करेगा जीवन में चलेगा क्या नहीं चलेगा होना होगा इसलिए नहीं हो सकती क्योंकि हमें मानती हर्षित होती है 20 मिनट में हूं मुझे कोई क्रिया नहीं हो सकती तुम्हारे सारे कर्मों का फल की तरफ ज्यादा ध्यान है इसीलिए ध्यान अपने आप में कोई विशेष करिया करिया नहीं हो सकता छोटे बच्चे को खिलाना हटाने वाला ध्यान सलवार झुनझुना बच्चों के लिए तलवार वयस्कों के लिए करने वाला ध्यान कर लो जी गए थे मेडिटेशन सेंटर के बच्चों के लिए है जो बच्चे हो तो मैं कहूंगा वहीं चायवाला ध्यान कुर्बानी मांगता है संपत काजल आंख फड़के 4 दिन तस्वीर गीत क्या भगवान की प्राप्ति की बात कर रही है कैसे प्राप्त करें घर में रखें रखेंगे रखेंगे खराब तो नहीं रखनी पड़ती है ना खोल कर दूसरी और क्या करना है प्राप्त होगी फ्री वही सब बातें जो जिंदगी चल रही है उसी में देखना होगा कि क्या हो सकता है इस संदर्भ में मेरे जीवन को ध्यान

multi shivani kya kuch na kuch karna angon ke alava aur kuch poochhte ho picture maine kya bola kuch yaad karne ki koshish ke bare mein khatam karna dimag mein tension karte ho kaun dekhega dekhega hum parampita paramatma ke anek le jaate hai anand ke data hai vaah gyani hai toh unse vaah saree shaktiyan prapt karte hai hum unse connect karte hai apne aap apni putri kaun si milaate hai kyonki hum yah hamari utpatti unhi se hui hai pancham par chandamama 3 ke baccho ke liye champa sansar ke liye mangal ke liye chanda mama kya kahenge bata rahe ho hum parampita paramatma ke paas jaate hai vaah daya ke sagar ho bade gyani evam shaktiyan lete hai anna ne bataya vaah jaise bhi the tum kaise hogi tumne sun liya yah sab aadhyatmik aur dono ke liye hai baccho ka naam nahi hai jeevan mukt ke kuch samjhe ko samarpit karne ka naam hai dhyan pura jeevan hi pura jeevan hi ke upakram mein khud ban jaaye dhyan hai unhe itna bada ho kyon tumhara pura jeevan hi maang le dhyan purvak pura buddhiman gyaanvaan jeevan ke kisi kone mein ghatane wali ghatna nahi ho sakti dhyan ko jeevan ka aadhar hona hoga dhyan ko jeevan sachindra hona hoga dhyan pehle aayega aur dhyan nirdharit karega jeevan mein chalega kya nahi chalega hona hoga isliye nahi ho sakti kyonki hamein maanati harshit hoti hai 20 minute mein hoon mujhe koi kriya nahi ho sakti tumhare saare karmon ka fal ki taraf zyada dhyan hai isliye dhyan apne aap mein koi vishesh Caria Caria nahi ho sakta chote bacche ko khilana hatane vala dhyan salwar jhunjhuna baccho ke liye talwar vayaskon ke liye karne vala dhyan kar lo ji gaye the meditation center ke baccho ke liye hai jo bacche ho toh main kahunga wahi chayvala dhyan kurbani mangta hai sampat kajal aankh fadake 4 din tasveer geet kya bhagwan ki prapti ki baat kar rahi hai kaise prapt kare ghar mein rakhen rakhenge rakhenge kharab toh nahi rakhni padti hai na khol kar dusri aur kya karna hai prapt hogi free wahi sab batein jo zindagi chal rahi hai usi mein dekhna hoga ki kya ho sakta hai is sandarbh mein mere jeevan ko dhyan

मल्टी शिवानी क्या कुछ ना कुछ करना अंगों के अलावा और कुछ पूछते हो पिक्चर मैंने क्या बोला

Romanized Version
Likes  543  Dislikes    views  2352
WhatsApp_icon
user

Akash Mishra

Yoga Expert | Author | Naturopathist | Acupressure Specialist |

2:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है मेडिटेशन क्या है लेकिन मेडिटेशन शब्द जो है उसका अर्थ ध्यान बताया जाता है लेकिन वास्तव में यदि हम ध्यान और मेडिटेशन को इंडिविजिबल तरीके से एनालिसिस करें इन दोनों शब्दों की तुझे दोनों एक दूसरे के पूर्ण रूप से पर्यायवाची नहीं है उसके कारण यह है कि मेडिटेशन एक अलग तरीके से किया जाता है तनक तरीका है उसका क्योंकि मेडिटेशन का अर्थ ही होता है कि आंखें बंद करके बैठ जाना और अपनी श्वास पर ध्यान देना या इस प्रकार की कोई चीज और मोस्ट ऑफ द लोग तो मेडिटेशन का अर्थ समझते हैं आंख बंद करके बैठ जाना लेकिन वास्तव में ध्यान का अर्थ होता है कि अपने विचारों को नियंत्रित करना रूप देना लेकिन धारणा ध्यान और समाधि 3 शब्द प्रयुक्त होते ही उपयोग में इनका वर्णन मिलता है ठंडा का अर्थ होता है किसी एक बिंदु पर फोकस ओं जाना ध्यान का अर्थ होता है उस फोकस को बरसा देना काफी अधिक समय के लिए उस फोकस को बनाए रखना और समाधि का अर्थ होता है वह फोकस जब हमेशा के लिए बरकरार हो जाए आप सभी जितने भी सामाजिक जो हमारे ऊपर प्रभाव है उन प्रभाव से दूर हो जाए तो वह समाधि हो जाती है तो ध्यान और मेडिटेशन दोनों अलग-अलग है मेरे अनुसार और मेडिटेशन का अर्थ यह माना जा क्या के बंद करके बैठ जाना ध्यान का अर्थ है अपने विचारों को रोक लेना अपने विचारों को नियंत्रित कर लेना और सुनने मुझे यह आपके प्रश्न का उत्तर था मेरा नाम आकाश मिश्रा यूट्यूब चैनल आकार श्लोक नाम से यूट्यूब पर है तो कृपया इस चैनल को सब्सक्राइब करें शेयर करें लाइक करें और कमेंट करें धन्यवाद

aapka prashna hai meditation kya hai lekin meditation shabd jo hai uska arth dhyan bataya jata hai lekin vaastav mein yadi hum dhyan aur meditation ko indivijibal tarike se analysis kare in dono shabdon ki tujhe dono ek dusre ke purn roop se paryayvachi nahi hai uske karan yah hai ki meditation ek alag tarike se kiya jata hai tanak tarika hai uska kyonki meditation ka arth hi hota hai ki aankhen band karke baith jana aur apni swas par dhyan dena ya is prakar ki koi cheez aur most of the log toh meditation ka arth samajhte hain aankh band karke baith jana lekin vaastav mein dhyan ka arth hota hai ki apne vicharon ko niyantrit karna roop dena lekin dharana dhyan aur samadhi 3 shabd prayukt hote hi upyog mein inka varnan milta hai thanda ka arth hota hai kisi ek bindu par focus on jana dhyan ka arth hota hai us focus ko barsa dena kaafi adhik samay ke liye us focus ko banaye rakhna aur samadhi ka arth hota hai vaah focus jab hamesha ke liye barkaraar ho jaaye aap sabhi jitne bhi samajik jo hamare upar prabhav hai un prabhav se dur ho jaaye toh vaah samadhi ho jaati hai toh dhyan aur meditation dono alag alag hai mere anusaar aur meditation ka arth yah mana ja kya ke band karke baith jana dhyan ka arth hai apne vicharon ko rok lena apne vicharon ko niyantrit kar lena aur sunne mujhe yah aapke prashna ka uttar tha mera naam akash mishra youtube channel aakaar shlok naam se youtube par hai toh kripya is channel ko subscribe kare share kare like kare aur comment kare dhanyavad

आपका प्रश्न है मेडिटेशन क्या है लेकिन मेडिटेशन शब्द जो है उसका अर्थ ध्यान बताया जाता है ले

Romanized Version
Likes  81  Dislikes    views  555
WhatsApp_icon
user

xyz

nothing

2:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कृष्ण है मेडिटेशन क्या है मेडिटेशन यानी के ध्यान ध्यान अष्टांग योग में सातवें नंबर पर आता है और यह उस परम तत्व को प्राप्त करने का साधन है अपने आपको जानने का एक तरीका है इसके माध्यम से हम अपने स्वरूप को पहचान सकते हैं अब मैं इसको एक एग्जांपल के तौर पर समझाने की कोशिश करता हूं कि ध्यान क्या है धारणा में क्या होता है कि आप जो कि आज आम लोग उसको ध्यान समझते हैं वह ध्यान नहीं है वह धारणा है ध्यान से पहले की अवस्था होती है जिसमें हम आंखें बंद करके किसी भी चीज पर या अपने इस देवता पर हम धारणा करने की कोशिश करते हैं हम उस पर एकाग्रता लाने की कोशिश करते हैं उसमें तीन चीजें होती हैं एक तो ध्यान जो प्रोसेस करने वाला होता है व्यक्ति दूसरा जिस पर ध्यान किया जा रहा है वह या कोई चीज कोई विचार वह दूसरी चीज हो गई और तीसरी होती है प्रोसेस जो प्रक्रिया हो रही है धारणा में यह तीन चीजें होती हैं मैं वह और मैं उसको देखने की कोशिश कर रहा हूं या जानने की कोशिश कर रहा हूं इसका आभास होना यह प्रक्रिया यह प्रोसेस यह तीन चीज होती है और ध्यान में मैं और वो सिर्फ दो लोग होते हैं उसमें प्रोसेस खत्म हो जाता है मैं और वह होते हैं और समाधि में मैं ही वह हूं बस में मिक्स हो जाता हूं मैं मर्ज हो जाता हूं उसमें तो एक एग्जांपल के तौर पर समझाने की मैंने कोशिश की थी तो ध्यान वह साधना है जो हमें शादी तक पहुंचाती है हमें उस परम लक्ष्य तक पहुंचाती है अपने आपको जानने की प्रक्रिया है धन्यवाद

krishna hai meditation kya hai meditation yani ke dhyan dhyan ashtanga yog mein satve number par aata hai aur yah us param tatva ko prapt karne ka sadhan hai apne aapko jaanne ka ek tarika hai iske madhyam se hum apne swaroop ko pehchaan sakte hain ab main isko ek example ke taur par samjhane ki koshish karta hoon ki dhyan kya hai dharana mein kya hota hai ki aap jo ki aaj aam log usko dhyan samajhte hain vaah dhyan nahi hai vaah dharana hai dhyan se pehle ki avastha hoti hai jisme hum aankhen band karke kisi bhi cheez par ya apne is devta par hum dharana karne ki koshish karte hain hum us par ekagrata lane ki koshish karte hain usme teen cheezen hoti hain ek toh dhyan jo process karne vala hota hai vyakti doosra jis par dhyan kiya ja raha hai vaah ya koi cheez koi vichar vaah dusri cheez ho gayi aur teesri hoti hai process jo prakriya ho rahi hai dharana mein yah teen cheezen hoti hain main vaah aur main usko dekhne ki koshish kar raha hoon ya jaanne ki koshish kar raha hoon iska aabhas hona yah prakriya yah process yah teen cheez hoti hai aur dhyan mein main aur vo sirf do log hote hain usme process khatam ho jata hai aur vaah hote hain aur samadhi mein main hi vaah hoon bus mein mix ho jata hoon main merge ho jata hoon usme toh ek example ke taur par samjhane ki maine koshish ki thi toh dhyan vaah sadhna hai jo hamein shadi tak pohchti hai hamein us param lakshya tak pohchti hai apne aapko jaanne ki prakriya hai dhanyavad

कृष्ण है मेडिटेशन क्या है मेडिटेशन यानी के ध्यान ध्यान अष्टांग योग में सातवें नंबर पर आता

Romanized Version
Likes  312  Dislikes    views  2534
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Amit Agrawal Rishiyog

Yoga Acupressure Expert

1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका पिछले मेडिटेशन क्या है मेडिटेशन इंग्लिश का वर्ड हिंदी में से हम ध्यान कहते हैं ध्यान आपके मन को एकाग्र करने की विधि है और युक्तियां गरम परिभाषा के अनुसार बात करें तो उस ईश्वर से जोड़ने की एक प्रक्रिया है मेडिटेशन में अंतिम स्थिति को हम समाधि कहते हैं और मेडिटेशन में प्रारंभिक स्तर पर हम सांसो पर अपने आप को केंद्रित करना प्राणायाम और योग के माध्यम से सीखते हैं अगर हम ध्यान की शुरुआती स्तर की बात करें तो आप कुछ देर आंखें बंद करके बैठ सकते हैं या शवासन में लेट कर भी योग निंद्रा कर सकते हैं ध्यान की प्रक्रिया पूरी एकाग्रता सांसो पर इस तरह आप कुछ देर बंद आंखों से एकाग्रता बना सकते हैं या फिर आप गायत्री मंत्र महामृत्युंजय मंत्र या ओमकार जैसे मंत्रों के उच्चारण करके भी आप ध्यान की प्रक्रिया कर सकते हैं हरि ओम

aapka pichle meditation kya hai meditation english ka word hindi mein se hum dhyan kehte hain dhyan aapke man ko ekagra karne ki vidhi hai aur yuktiyan garam paribhasha ke anusaar baat kare toh us ishwar se jodne ki ek prakriya hai meditation mein antim sthiti ko hum samadhi kehte hain aur meditation mein prarambhik sthar par hum saanso par apne aap ko kendrit karna pranayaam aur yog ke madhyam se sikhate hain agar hum dhyan ki shuruati sthar ki baat kare toh aap kuch der aankhen band karke baith sakte hain ya shavasan mein late kar bhi yog nindra kar sakte hain dhyan ki prakriya puri ekagrata saanso par is tarah aap kuch der band aankho se ekagrata bana sakte hain ya phir aap gayatri mantra mahamrityunjay mantra ya omkar jaise mantron ke ucharan karke bhi aap dhyan ki prakriya kar sakte hain hari om

आपका पिछले मेडिटेशन क्या है मेडिटेशन इंग्लिश का वर्ड हिंदी में से हम ध्यान कहते हैं ध्यान

Romanized Version
Likes  378  Dislikes    views  2540
WhatsApp_icon
user

Ashish Lavania

Yoga Trainer

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेडिटेशन क्या है मेडिटेशन होता है ध्यान जो हम ध्यान लगा सकते हैं उसे कहते मेडिटेशन काट रहा है ध्यान लगा रहा है मेडिट्रीट कर रहा है यह होता है मेडिटेशन इसे कैसे लगाया जाता है इसे बिल्कुल शांति से अब सुखासन में बैठकर पद्मासन जो आप कंफर्टेबल हो सुखासन ज्यादा कंफर्टेबल होता है पद्मासन से तो आप दौर मिलेगा स्टार्ट करो तो सुखासन में बैठी है आप वायु मुद्रा लगा सकते हैं अगर आपको पेट वगैरह से संबंधित कोई परेशानी है पन्ना ज्ञान मुद्रा में बैठे ठीक है और उसके बाद अपनी आंखें बंद करिए दोनों आंखों से पलकों के बीच में बिल्कुल दोनों जो आपके पलक है ठीक है उन दोनों के बीच में जो माथे पर बिल्कुल बीच में नाक के ऊपर जरूरत है आंखों से उसे देखें और फिर गहरी थावरिया गहरी सांस छोड़िए और उम्र नाम को चरण कर सकते तो सबसे बेस्ट है ताकि वाइब्रेशन में बॉडी बस यह करिए कुछ भी थोड़े दिन देखे कुछ दिन आपके दिमाग जो है बहुत सिंपल नहीं लगेगा इधर-उधर की बातें आएंगे बहुत सारी चीजें सोचने को आएंगी मैं जब आप कंटिन्यू करेंगे तो धीमे-धीमे आपको जो है उसमें मन लगने लग जाएगा और आप ध्यान लगाने में बिल्कुल परफेक्ट होते चले आएंगे धीमे-धीमे करके

meditation kya hai meditation hota hai dhyan jo hum dhyan laga sakte hai use kehte meditation kaat raha hai dhyan laga raha hai meditrit kar raha hai yah hota hai meditation ise kaise lagaya jata hai ise bilkul shanti se ab sukhasan mein baithkar padmasana jo aap Comfortable ho sukhasan zyada Comfortable hota hai padmasana se toh aap daur milega start karo toh sukhasan mein baithi hai aap vayu mudra laga sakte hai agar aapko pet vagera se sambandhit koi pareshani hai panna gyaan mudra mein baithe theek hai aur uske baad apni aankhen band kariye dono aankho se palakon ke beech mein bilkul dono jo aapke palak hai theek hai un dono ke beech mein jo mathe par bilkul beech mein nak ke upar zarurat hai aankho se use dekhen aur phir gehri thavriya gehri saans chodiye aur umr naam ko charan kar sakte toh sabse best hai taki vibration mein body bus yah kariye kuch bhi thode din dekhe kuch din aapke dimag jo hai bahut simple nahi lagega idhar udhar ki batein aayenge bahut saree cheezen sochne ko aayengi main jab aap continue karenge toh dhime dhime aapko jo hai usme man lagne lag jaega aur aap dhyan lagane mein bilkul perfect hote chale aayenge dhime dhime karke

मेडिटेशन क्या है मेडिटेशन होता है ध्यान जो हम ध्यान लगा सकते हैं उसे कहते मेडिटेशन काट रहा

Romanized Version
Likes  185  Dislikes    views  1744
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों आपका दोस्त आपका जिओ का फ्रेंड इसलिए बोल रहा हूं दोस्त आपका प्रश्न है कि मेडिटेशन क्या होता है मेडिसिन क्या है ध्यान मेडिसन है मन की शांति मेडिटेशन है और एकांत में अपने आप को जागृत करना मेडिटेशन है और मेडिटेशन करने से बहुत फायदे हैं मेडिसिन करने से आपका दिमाग स्वस्थ रहता है मेडिसिन करने से आपकी मेमोरी अच्छी रहती है मेडिसिन करने से आपका डीपी अच्छा रहता है मेडिसिन गजब की बहुत सी बीमारियां भाग जाती है मेडिसिन करने से जवाब कमाए न्यूट्रल होता है तो आपकी बॉडी के अंदर जितने ग्लैंड से जितने रसों का रिसाव होता है बॉडी के फायदे भी होते हैं वह प्रॉपर वे में होते हैं और आपका डाइजेशन सिस्टम भी बहुत अच्छा रहता है आपका साइड बहुत अच्छा रहता है मेडिटेशन तो बहुत बीमारी को कंट्रोल करता है तो मेडिटेशन बहुत अच्छी चीज है अब कर ऑल मेडिसिन करने के लिए अनुलोम-विलोम भ्रामरी और उसकी यह तीनों प्रणाम करें कमाल का फायदा आपको मिलेगा 5 मिनट तीनों करें स्वस्थ आदमी बहुत बढ़िया ओके

namaskar doston aapka dost aapka jio ka friend isliye bol raha hoon dost aapka prashna hai ki meditation kya hota hai medicine kya hai dhyan medicine hai man ki shanti meditation hai aur ekant mein apne aap ko jagrit karna meditation hai aur meditation karne se bahut fayde medicine karne se aapka dimag swasthya rehta hai medicine karne se aapki memory achi rehti hai medicine karne se aapka dipi accha rehta hai medicine gajab ki bahut si bimariyan bhag jaati hai medicine karne se jawab kamaye neutral hota hai toh aapki body ke andar jitne gland se jitne rason ka rishav hota hai body ke fayde bhi hote hain vaah proper ve mein hote hain aur aapka digestion system bhi bahut accha rehta hai aapka side bahut accha rehta hai meditation toh bahut bimari ko control karta hai toh meditation bahut achi cheez hai ab kar all medicine karne ke liye anulom vilom bhramari aur uski yah tatvo pranam kare kamaal ka fayda aapko milega 5 minute tatvo kare swasthya aadmi bahut badhiya ok

नमस्कार दोस्तों आपका दोस्त आपका जिओ का फ्रेंड इसलिए बोल रहा हूं दोस्त आपका प्रश्न है कि मे

Romanized Version
Likes  147  Dislikes    views  1049
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार अब उसने मेडिटेशन किया है तो दिखी मेडिटेशन का शाब्दिक अर्थ होता है ध्यान लगाना हां जी ध्यान लगाना और इसी हैं आर्ट ऑफ लिविंग भी कहा जाता है यह प्रकार का अचार का तरीका है

namaskar ab usne meditation kiya hai toh dikhi meditation ka shabdik arth hota hai dhyan lagana haan ji dhyan lagana aur isi hain art of living bhi kaha jata hai yah prakar ka achaar ka tarika hai

नमस्कार अब उसने मेडिटेशन किया है तो दिखी मेडिटेशन का शाब्दिक अर्थ होता है ध्यान लगाना हां

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  10
WhatsApp_icon
user

Raghuveer Singh

👤Teacher & Advisor🙏

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपस में मेडिटेशन का अर्थ क्या होता देखी मेडिटेशन का मतलब होता है ध्यान ही होगा ध्यान करना और योग करना मेडिटेशन का हिंदी अर्थ होता है जिसका मतलब है कि आप अपने संपूर्ण जितने भी क्रियाकलाप है मन में जो कुछ भी बातें चल रही है भावना इग्नोर करके हैं अपने मन को स्थिर करते हैं उसे योगा

aapas mein meditation ka arth kya hota dekhi meditation ka matlab hota hai dhyan hi hoga dhyan karna aur yog karna meditation ka hindi arth hota hai jiska matlab hai ki aap apne sampurna jitne bhi kriyakalap hai man mein jo kuch bhi batein chal rahi hai bhavna ignore karke hain apne man ko sthir karte hain use yoga

आपस में मेडिटेशन का अर्थ क्या होता देखी मेडिटेशन का मतलब होता है ध्यान ही होगा ध्यान करना

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  221
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जय श्री कृष्णा आपने पूछा कि मेडिटेशन क्या मैटर चश्मा मतलब ही ध्यान करना इसका ध्यान करो ईश्वर को कसने को एक ही बात है या कोई ईस्ट का ध्यान करो कैंसिल के या इसके खुली आंखों से फोटो को देखें फिर बंद करके फोटो को देखते रहें यह ध्यान है मैंने जान को मेडिसिन को एक बात मेरे से इंग्लिश कहते हिंदी में ध्यान करते तो मैंने काफी ऑडियो से अपलोड किए हो ना आप ध्यान पूर्वक सुने अपना जीवन सफल बनाएं मेरी शुभकामनाएं आपके साथ हरे कृष्णा जी कृष्ण कृष्ण कृष्ण कृष्ण

jai shri krishna aapne poocha ki meditation kya matter chashma matlab hi dhyan karna iska dhyan karo ishwar ko kasane ko ek hi baat hai ya koi east ka dhyan karo cancel ke ya iske khuli aakhon se photo ko dekhen phir band karke photo ko dekhte rahein yah dhyan hai maine jaan ko medicine ko ek baat mere se english kehte hindi me dhyan karte toh maine kaafi audio se upload kiye ho na aap dhyan purvak sune apna jeevan safal banaye meri subhkamnaayain aapke saath hare krishna ji krishna krishna krishna krishna

जय श्री कृष्णा आपने पूछा कि मेडिटेशन क्या मैटर चश्मा मतलब ही ध्यान करना इसका ध्यान करो ईश्

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  243
WhatsApp_icon
user
0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बीके मेडिटेशन यानी की बहन कोई भी काम करें आप जैसे योगा कर रहे थे उससे पहले हम मेडिटेशन करते क्योंकि हमारा जितना भी कंसंट्रेट आउटसाइड कंसंट्रेट रहते हैं वह हमारा आपके जैसी ट्यूशन में आता है तो मेडिटेशन एक बहुत ही इंपॉर्टेंट होता है जिसके चलते आप पॉजिटिव एनर्जी चेंज कर सकते हर सिटीजन में दो मेडिटेशन स्टेशन में एक इंपॉर्टेंट सहमत हो गए आज का डेट में

BK meditation yani ki behen koi bhi kaam kare aap jaise yoga kar rahe the usse pehle hum meditation karte kyonki hamara jitna bhi concentrate outside concentrate rehte hain vaah hamara aapke jaisi tuition mein aata hai toh meditation ek bahut hi important hota hai jiske chalte aap positive energy change kar sakte har citizen mein do meditation station mein ek important sahmat ho gaye aaj ka date mein

बीके मेडिटेशन यानी की बहन कोई भी काम करें आप जैसे योगा कर रहे थे उससे पहले हम मेडिटेशन करत

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  150
WhatsApp_icon
user

NotInterested

NotInterested

0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैडिटेशन को योग बोलती है और इसका मतलब यह होता है कि कोई एक पार्टी कूलर चीज के ऊपर हम लोग ध्यान रखें और वह पार्टी कूलर चीज को अपना मन में बसा कर उसे कंसंट्रेट करके उसका योग करें

meditation ko yog bolti hai aur iska matlab yah hota hai ki koi ek party cooler cheez ke upar hum log dhyan rakhen aur vaah party cooler cheez ko apna man mein basa kar use concentrate karke uska yog karen

मैडिटेशन को योग बोलती है और इसका मतलब यह होता है कि कोई एक पार्टी कूलर चीज के ऊपर हम लोग ध

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  199
WhatsApp_icon
user

Ridhima

Mass Communications Student

0:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ध्यान या मेडिटेशन एक ऐसी मानसिक आवाज

dhyan ya meditation ek aisi mansik awaaz

ध्यान या मेडिटेशन एक ऐसी मानसिक आवाज

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  215
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
मेडिटेशन क्या है ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!