आसन का अर्थ क्या है?...


user

Princy Sonik

Yoga Instructor

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आसन का अर्थ होता है एक तो मैच जिस पर बिठाकर मत जिसको बिछाकर आप बैठते हैं और दूसरा आसन का मतलब होता है जिससे में बैठकर आपको सुख की अनुभूति होती है उसे सुखासन है लोगों को बैठकर उसमें अच्छा लगता है वज्रासन हैं लोगों को बैटरी उसमें अच्छा लगता है जिसमें बैठकर आपको लगे कि आपकी बॉडी का मतलब लेवल कम हो रहा है पेन खत्म हो रहा है वह सब है

aasan ka arth hota hai ek toh match jis par bithakar mat jisko bichakar aap baithate hain aur doosra aasan ka matlab hota hai jisse mein baithkar aapko sukh ki anubhuti hoti hai use sukhasan hai logon ko baithkar usmein accha lagta hai vajrasan hain logon ko battery usmein accha lagta hai jisme baithkar aapko lage ki aapki body ka matlab level kam ho raha hai pen khatam ho raha hai vaah sab hai

आसन का अर्थ होता है एक तो मैच जिस पर बिठाकर मत जिसको बिछाकर आप बैठते हैं और दूसरा आसन का म

Romanized Version
Likes  69  Dislikes    views  890
WhatsApp_icon
22 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Yogendra Kumar Sharma

Yoga Instructor

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो महर्षि पतंजलि योगा के योगा के कैदी हैं लेता है तो आदमी के बारे में बताते हैं कि अपने शरीर को ज्यादा से ज्यादा किसी खास स्थिति में रखा जाए उसे हम पाटेकर वीडियो बॉडी किसी खास हिस्से में ज्यादा से ज्यादा समय तक उसको स्थिरता को सुख प्रदान करें उसको आसन कहते हैं

jo maharshi patanjali yoga ke yoga ke kaidi hain leta hai toh aadmi ke bare mein batatey hain ki apne sharir ko zyada se zyada kisi khas sthiti mein rakha jaaye use hum patekar video body kisi khas hisse mein zyada se zyada samay tak usko sthirta ko sukh pradan karen usko aasan kehte hain

जो महर्षि पतंजलि योगा के योगा के कैदी हैं लेता है तो आदमी के बारे में बताते हैं कि अपने शर

Romanized Version
Likes  87  Dislikes    views  1354
WhatsApp_icon
user

xyz

nothing

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आवासन मतलब इस परम सुखम आश्रम स्तर मतलब स्टेशनों के बैठना मतलब बिल्कुल कंफर्टेबल उसने कोई डिस्काउंट नहीं होना चाहिए वह आसान है काशी विश्वनाथ बिना हिले दुले बैठे रह सकते हैं और सुख पूर्वक निधि डिस्क्रिप्शन निंदिया मयूर आसन पद्मासन

avasan matlab is param sukham aashram sthar matlab stationo ke baithana matlab bilkul Comfortable usne koi discount nahi hona chahiye vaah aasaan hai kashi vishwanath bina hile dule baithe reh sakte hain aur sukh purvak nidhi description nindiya mayur aasan padmasana

आवासन मतलब इस परम सुखम आश्रम स्तर मतलब स्टेशनों के बैठना मतलब बिल्कुल कंफर्टेबल उसने कोई ड

Romanized Version
Likes  113  Dislikes    views  1754
WhatsApp_icon
user

Ratnesh Choubey

Yoga Trainer

1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आसंदी के नियमों में हास नियम आसन प्राणायाम शरीर को बाहरी दूसरे हमारी बारी है उनको हमने स्वस्थ और सुदृढ़ बनाने के लिए हम आसन करते हैं और शरीर को जो भीतरी अंग अंग है उनको हम स्वस्थ करने के लिए उनकी परिस्थिति के लिए हम प्राणायाम करते हैं तो आसन से हमारे बाहरी शरीर को बल मिलता है और वह सुदृढ़ होता है आज संडे की अलग-अलग प्रक्रियाएं हैं वैसे और सभी अपने अपने तरीके से आसन को कराते हैं लेकिन मुख्य पर कुछ ऐसे आसन है जो एक योगी को करना चाहिए जैसे पद्मासन आपका मत्स्यासन है तो आसन के दो लाभ हैं वह हमारे शरीर के बाहरी अंग के लिए

asandi ke niyamon mein Haas niyam aasan pranayaam sharir ko baahri dusre hamari baari hai unko humne swasth aur sudridh banaane ke liye hum aasan karte hain aur sharir ko jo bheetari ang ang hai unko hum swasth karne ke liye unki paristhiti ke liye hum pranayaam karte hain toh aasan se hamare baahri sharir ko bal milta hai aur vaah sudridh hota hai aaj sunday ki alag alag prakriyaen hain waise aur sabhi apne apne tarike se aasan ko karate hain lekin mukhya par kuch aise aasan hai jo ek yogi ko karna chahiye jaise padmasana aapka matsyasan hai toh aasan ke do labh hain vaah hamare sharir ke baahri ang ke liye

आसंदी के नियमों में हास नियम आसन प्राणायाम शरीर को बाहरी दूसरे हमारी बारी है उनको हमने स्व

Romanized Version
Likes  159  Dislikes    views  2499
WhatsApp_icon
user

Acharya Yogesh Mishra

Astrologer,Yoga Instructor & Motivational Speaker

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पतंजलि योग सूत्र में आसन की परिभाषा सिर्फ एक लाइन दे घड़ी गई कि इस खील सुखा सनम शरीर की वह स्थिति जिसमें व्यक्ति को सुख की प्राप्ति हो लेकिन इतना करने के बाद जो उसके बाद के युग से संबंधित ग्रंथ आए जैसे कि हठयोग आया हट योग प्रदीपिका है ऐसे ग्रंथों में कई तरह के आसनों का उल्लेख इन पतंजलि योग सूत्र हम बात करें तो उन्होंने कुछ ही आसन जैसे पद्मासन हो गया शासन हो गया शासन हो गया इन्हीं चीजों की बात किया कि हम शासन लंबे समय तक ध्यान लगा सके जाएं हम कर सके अंतत ओशो की ध्यान की परंपरा पर लेकर जाएगा

patanjali yog sutra mein aasan ki paribhasha sirf ek line de ghadi gayi ki is khiil sukha sanam sharir ki vaah sthiti jisme vyakti ko sukh ki prapti ho lekin itna karne ke baad jo uske baad ke yug se sambandhit granth aaye jaise ki hathyog aaya hut yog pradipika hai aise granthon mein kai tarah ke aasanon ka ullekh in patanjali yog sutra hum baat karen toh unhone kuch hi aasan jaise padmasana ho gaya shasan ho gaya shasan ho gaya inhin chijon ki baat kiya ki hum shasan lambe samay tak dhyan laga sake jayen hum kar sake antat osho ki dhyan ki parampara par lekar jaega

पतंजलि योग सूत्र में आसन की परिभाषा सिर्फ एक लाइन दे घड़ी गई कि इस खील सुखा सनम शरीर की वह

Romanized Version
Likes  170  Dislikes    views  2506
WhatsApp_icon
user

Dr. Kartik Kumar

Yoga Instructor

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आसन आसन शब्द का अर्थ है कि हम जिससे एक विशेष स्थिति को हम आसन करते हैं जिस की परिभाषा है इस सिरम सुखम आश्रम स्थित सुपर का की स्थिति को हम आसन कहते हैं हाथियों की संख्या किरण सरिता हठयोग प्रदीपिका में अलग-अलग बताई गई है इसमें बच्ची सहित में 15 है लेकिन हमारे आतंक चौरासी की संख्या में लेकर चलते हैं कहीं 8400000 की संख्या में लेकर चलते हैं अंत में ऐसा आया है कि जैसे जिलों की संख्या अनंत है उनकी संख्या अनंत और जब हम उस अनंत आसन को उस अनंत परमात्मा से सुमिरन से कम उस स्थिति को प्राप्त कर लेते हैं जहां पर हम इस धरा धाम पर इस ग्रुप में हम या सीधा शब्द में जाने सिर्फ सुख पूर्वक करने की स्थिति को हम आसन कैसे जिसमें वज्रासन पदमासन शास्त्र निर्णय की रागनी उठा तनी में आरामदायक आतंकी आतंकी हमला लेते हैं अभ्यास

aasan aasan shabd ka arth hai ki hum jisse ek vishesh sthiti ko hum aasan karte hain jis ki paribhasha hai is serum sukham aashram sthit super ka ki sthiti ko hum aasan kehte hain haathiyo ki sankhya kiran sarita hathyog pradipika mein alag alag batai gayi hai isme bachi sahit mein 15 hai lekin hamare aatank Chaurasi ki sankhya mein lekar chalte hain kahin 8400000 ki sankhya mein lekar chalte hain ant mein aisa aaya hai ki jaise jilon ki sankhya anant hai unki sankhya anant aur jab hum us anant aasan ko us anant paramatma se sumiran se kam us sthiti ko prapt kar lete hain jahan par hum is dhara dhaam par is group mein hum ya seedha shabd mein jaane sirf sukh purvak karne ki sthiti ko hum aasan kaise jisme vajrasan padamasan shastra nirnay ki ragni utha tani mein aaramadayak aatanki aatanki hamla lete hain abhyas

आसन आसन शब्द का अर्थ है कि हम जिससे एक विशेष स्थिति को हम आसन करते हैं जिस की परिभाषा है इ

Romanized Version
Likes  124  Dislikes    views  2042
WhatsApp_icon
user

Girijakant Singh

Founder/ President Yog Bharati Foundation Trust

0:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नौटंकी जो महर्षि पतंजलि की परिभाषा दी थी स्थिर सुखमा संदेश अवस्था में जो है वह देर तक सुख पूर्वक एक्सप्रेस ना आए उसकी आतंकवाद चाहे वह बैठकर हो चाहे वो खड़े हो करो लेकिन बैठे अगर देखा जाए तो है 84 लाख जो मनुष्य की 84 84 लाख आसन बताएं फिर जो है उन्होंने कहा कि 8400000 आसन कौन करेगा कौन आएगा तो उसकी डेट

nautanki jo maharshi patanjali ki paribhasha di thi sthir sukhma sandesh avastha mein jo hai vaah der tak sukh purvak express na aaye uski aatankwad chahen vaah baithkar ho chahen vo khade ho karo lekin baithe agar dekha jaaye toh hai 84 lakh jo manushya ki 84 84 lakh aasan batayen phir jo hai unhone kaha ki 8400000 aasan kaun karega kaun aayega toh uski date

नौटंकी जो महर्षि पतंजलि की परिभाषा दी थी स्थिर सुखमा संदेश अवस्था में जो है वह देर तक सुख

Romanized Version
Likes  142  Dislikes    views  1721
WhatsApp_icon
user

Foram M Sheth

Yoga Instructor

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आशीष शब्द का अर्थ जो भी हम किया करते हैं शरीर से वह आसन मतलब जो भी जिसमें हम कल मिलेंगे हम बैठे हुए हैं तो बैठे हुए भी हम कन्वेनिएंट है तो वह हम आसन कर रहे हैं जिसकी पोजीशन में है वह सुखद पोजीशन में मतलब के कन्वीनर पूरी करने ज्यादा से ज्यादा टाइम तक हम बैठ सके वह आसान होता है

aashish shabd ka arth jo bhi hum kiya karte hain sharir se vaah aasan matlab jo bhi jisme hum kal milenge hum baithe hue hain toh baithe hue bhi hum kanwenient hai toh vaah hum aasan kar rahe hain jiski position mein hai vaah sukhad position mein matlab ke kanwinar puri karne zyada se zyada time tak hum baith sake vaah aasaan hota hai

आशीष शब्द का अर्थ जो भी हम किया करते हैं शरीर से वह आसन मतलब जो भी जिसमें हम कल मिलेंगे हम

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  452
WhatsApp_icon
user

Ashish Tandon

Yoga Teacher

0:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यही पतंजलि मनी के तत्वों की मित्रता की अनुभूति होने लगती है तो व्हाट्सएप

yahi patanjali money ke tatvon ki mitrata ki anubhuti hone lagti hai toh whatsapp

यही पतंजलि मनी के तत्वों की मित्रता की अनुभूति होने लगती है तो व्हाट्सएप

Romanized Version
Likes  64  Dislikes    views  825
WhatsApp_icon
user

Jitendra Kumar

Disciple of Swami Niranjananand Sarswati

2:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आसन का अर्थ विमर्श पतंजलि के अनुसार के अनुसार हिंदी संस्करण में परिभाषित किया गया है जिसमें आनंद और सुख का अनुभव कर सकें और इसी बात करें तो इसमें बहुत पुरानी है उसका जो पोस्टर है उतनी आसान है लेकिन हम हमारे जीवन में जो जो दिल्ली यूजर्स है उसमें कठिन आसन के द्वारा अपने शरीर को मजबूती प्रदान करते हैं हमारे शरीर में जो है प्राण 6130 है डिस्टर्ब होने के कारण विभिन्न प्रकार की व्याधियों हमारे द्वारा शरीर में पुरानी गुर्जर लगता है तो हमें द्वारा शरीर को मजबूत कर सकते हैं और ध्यान के लिए तैयारी भी है कि किसी भी लंबे समय तक योग का मेडिसन के लिए या फिर ध्यान के लिए आपको सबसे पहले आसन का अभ्यास करना जरूरी होता है विभिन्न प्रकार के आसन सिखाया जाता है पद्मासन पद्मासन सिद्धासन व ध्यान करते हैं और और इस प्रकार जो है यदि घेरंड संहिता के बाद क्या तो उसमें 84084 आत्मा में सबसे प्रमुख आसन 3289 की चर्चा की जाती है तो इस प्रकार आम का टक्कर आज के सामाजिक जीवन में हर गृहस्थ जीवन यात्रा ऑफिस में कार्य कर रहे हैं आसमान में लोगों के लिए जो है सिलेक्शन करके आप को चुस्त-दुरुस्त बना सकते हैं

aasan ka arth vimarsh patanjali ke anusaar ke anusaar hindi sanskaran mein paribhashit kiya gaya hai jisme anand aur sukh ka anubhav kar sakein aur isi baat karen toh isme bahut purani hai uska jo poster hai utani aasaan hai lekin hum hamare jeevan mein jo jo delhi users hai usmein kathin aasan ke dwara apne sharir ko majbuti pradan karte hain hamare sharir mein jo hai praan 6130 hai disturb hone ke karan vibhinn prakar ki vyadhiyon hamare dwara sharir mein purani gurjar lagta hai toh hamein dwara sharir ko mazboot kar sakte hain aur dhyan ke liye taiyari bhi hai ki kisi bhi lambe samay tak yog ka medicine ke liye ya phir dhyan ke liye aapko sabse pehle aasan ka abhyas karna zaroori hota hai vibhinn prakar ke aasan sikhaya jata hai padmasana padmasana siddhasan v dhyan karte hain aur aur is prakar jo hai yadi gherand sanhita ke baad kya toh usmein 84084 aatma mein sabse pramukh aasan 3289 ki charcha ki jaati hai toh is prakar aam ka takkar aaj ke samajik jeevan mein har grihasth jeevan yatra office mein karya kar rahe hain aasman mein logon ke liye jo hai selection karke aap ko chust durast bana sakte hain

आसन का अर्थ विमर्श पतंजलि के अनुसार के अनुसार हिंदी संस्करण में परिभाषित किया गया है जिसमे

Romanized Version
Likes  156  Dislikes    views  2493
WhatsApp_icon
user

Jitendra rao

Yoga Instructor

1:07
Play

Likes  34  Dislikes    views  422
WhatsApp_icon
user

Avisekh Kashyap

Yoga Instructor

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आतंक पूर्वक घटनाक्रम चलाता है आजकल में किसने दिए जाने वाला स्थान मयूराक्षी सर्वांगासन स्टैंडिंग आसान है दिल्ली करने वाला गैस वेल्डिंग फॉरवर्ड एंड वज्रासन समूह के आसन होते हैं यह सब क्या होता है हमारा हार्डवेयर हार्डवेयर दुरुस्त रखता है आसन प्राणायाम प्राणायाम सॉफ्टवेयर पहन पजामा रे मन खुशी मिलती है वही हार जाता है

aatank purvak ghatanaakram chalata hai aajkal mein kisne diye jaane vala sthan mayurakshi sarvangasan standing aasaan hai delhi karne vala gas Welding forward and vajrasan samuh ke aasan hote hain yah sab kya hota hai hamara Hardware Hardware durast rakhta hai aasan pranayaam pranayaam software pahan payjama ray man khushi milti hai wahi haar jata hai

आतंक पूर्वक घटनाक्रम चलाता है आजकल में किसने दिए जाने वाला स्थान मयूराक्षी सर्वांगासन स्टै

Romanized Version
Likes  31  Dislikes    views  396
WhatsApp_icon
play
user

Pawan Dubey

Yoga Meditation Nutrition Reiki NLP EFT

0:44

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कार्टून आपका अगर फिलकल एनाटॉमी की बात करें तो आपका जैसे ब्लड की बात करें ब्लड सरकुलेशन की तो एक खास पोजीशन में आपका अलग तरीके से व्यक्त होता है एक अलग ही पोजीशन में अलग तरीके से अगर बात करें नहीं रोका तो उसमें भी कई बातें हैं अगर मेंटल स्टेट की बात करें तो एक खास पोजीशन में जवाब बैठता कमेंट लिस्ट एक अलग ही बन जाता है वीकली अपना मेंटल स्टेट या फिर कल जो भी आप की कंडीशन है उसको चेंज करने के लिए मेनू प्लेट करने के लिए है

cartoon aapka agar filakal anatomy ki baat karen toh aapka jaise blood ki baat karen blood sarakuleshan ki toh ek khas position mein aapka alag tarike se vyakt hota hai ek alag hi position mein alag tarike se agar baat karen nahi roka toh usmein bhi kai batein hain agar mental state ki baat karen toh ek khas position mein jawab baithta comment list ek alag hi ban jata hai weekly apna mental state ya phir kal jo bhi aap ki condition hai usko change karne ke liye menu plate karne ke liye hai

कार्टून आपका अगर फिलकल एनाटॉमी की बात करें तो आपका जैसे ब्लड की बात करें ब्लड सरकुलेशन की

Romanized Version
Likes  65  Dislikes    views  832
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Gyan Ranjan Maharaj

Founder & Director - Kashyap Yogpith

0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका क्वेश्चन है आसन का अर्थ क्या है तो देखिए आशंका योग के मुताबिक योग के मुताबिक के आसन का अर्थ स्थिर सुखमा सनम अर्थात जिस तरीके से ही शासन में आप श्रद्धा पूर्वक सुप्रभात बैठ सके उससे पूछो हम आशा करते हैं धन्यवाद

aapka question hai aasan ka arth kya hai toh dekhiye ashanka yog ke mutabik yog ke mutabik ke aasan ka arth sthir sukhma sanam arthat jis tarike se hi shasan mein aap shraddha purvak suprabhat baith sake usse pucho hum asha karte hain dhanyavad

आपका क्वेश्चन है आसन का अर्थ क्या है तो देखिए आशंका योग के मुताबिक योग के मुताबिक के आसन क

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  1124
WhatsApp_icon
user

Sunil Verma

Yoga Instructor

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आतंकी सिटी आफ स्थिति में स्थिर सुखमा सनम स्थिति में किसी भी स्थिति में आप ज्यादा देर तक वेट सके हम अपने शरीर करते हैं इस पर कंट्रोल नियंत्रित करते थे वही आसन होते हैं जिससे सुकम आसन जेसीबी से आप सुख का अनुभव करें जोशी और बैठने में आपको सुख की अनुभूति हुई आसन होता है

aatanki city of sthiti mein sthir sukhma sanam sthiti mein kisi bhi sthiti mein aap zyada der tak wait sake hum apne sharir karte hain is par control niyantrit karte the wahi aasan hote hain jisse sukam aasan JCB se aap sukh ka anubhav karen joshi aur baithne mein aapko sukh ki anubhuti hui aasan hota hai

आतंकी सिटी आफ स्थिति में स्थिर सुखमा सनम स्थिति में किसी भी स्थिति में आप ज्यादा देर तक वे

Romanized Version
Likes  37  Dislikes    views  481
WhatsApp_icon
user

Dr. Rahul

Yoga Instructor

0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आसन चरमसुख मौसम की स्थिति में आराम पूर्वक बैठ सकते हैं आशंका से आसान तरीके का होता है खड़े होकर करने वाला आसन बैक लेटर करने वाला आसान ध्यानात्मक आसन

aasan charamsukh mausam ki sthiti mein aaram purvak baith sakte hain ashanka se aasaan tarike ka hota hai khade hokar karne vala aasan back letter karne vala aasaan dhyanatmak aasan

आसन चरमसुख मौसम की स्थिति में आराम पूर्वक बैठ सकते हैं आशंका से आसान तरीके का होता है खड़े

Romanized Version
Likes  153  Dislikes    views  2567
WhatsApp_icon
user

Dr Abhinav Chaturvedi

yoga Instructor, Physiotherapist, Naturopath

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो हम कर रहे हैं जो हमारी मुद्राएं हैं वह आसन हैं हम जो योगी एक्सरसाइज कर रहे हैं वह आसन होते ही बैठ के आसन करते हैं खड़े हो क्या करते हैं लेट के आसन करते हैं लिखने में चैट करते हैं उन्हें बैठ कर आप करते हैं गोमुखासन है राशन है पश्चिमोत्तानासन है आपकी झटके नौकासन करते हैं सेतुबंध आसन करते हैं उल्टा लेटर आप भुजंगासन करते हैं सर पसंद करते हैं शासन करते हैं

jo hum kar rahe hain jo hamari mudraen hain vaah aasan hain hum jo yogi exercise kar rahe hain vaah aasan hote hi baith ke aasan karte hain khade ho kya karte hain let ke aasan karte hain likhne mein chat karte hain unhe baith kar aap karte hain gomukhasan hai raashan hai pashchimottanasan hai aapki jhatake naukasan karte hain setubandh aasan karte hain ulta letter aap bhujangasan karte hain sir pasand karte hain shasan karte hain

जो हम कर रहे हैं जो हमारी मुद्राएं हैं वह आसन हैं हम जो योगी एक्सरसाइज कर रहे हैं वह आसन ह

Romanized Version
Likes  139  Dislikes    views  2521
WhatsApp_icon
user

Nij Kumar

Yoga Instructor

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक शब्द आता ही स्थिर सुखमा सनम आ जाए जो बैठ जाए तो जितने भी नाम आत्मा के नाम

ek shabd aata hi sthir sukhma sanam aa jaaye jo baith jaaye toh jitne bhi naam aatma ke naam

एक शब्द आता ही स्थिर सुखमा सनम आ जाए जो बैठ जाए तो जितने भी नाम आत्मा के नाम

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  204
WhatsApp_icon
user

Sanjay Yadav

Yoga Trainer/Actor

0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आतंकवाद संगठन मतलब है कि शासन में आप बैठते हो पोजीशन इंग्लिश में उसका मतलब की पोजीशन में शारीरिक अक्षम बनाए जो हमारे लिए अच्छा हो कौन सी पोजीशन में करूं कि वह हमारी रीढ़ की हड्डी है

aatankwad sangathan matlab hai ki shasan mein aap baithate ho position english mein uska matlab ki position mein sharirik aksham banaye jo hamare liye accha ho kaun si position mein karun ki vaah hamari reedh ki haddi hai

आतंकवाद संगठन मतलब है कि शासन में आप बैठते हो पोजीशन इंग्लिश में उसका मतलब की पोजीशन में श

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  24
WhatsApp_icon
user

Dr. K.S Verma

Yoga Teacher

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आश्रम से संबंध है इस तर्क से कम 100 आसन यह तो पतंजलि ने कहा इस संसार से बैठना आसान है परंतु अधिक M2 से उनको दूर करने के लिए

aashram se sambandh hai is tark se kam 100 aasan yah toh patanjali ne kaha is sansar se baithana aasaan hai parantu adhik M2 se unko dur karne ke liye

आश्रम से संबंध है इस तर्क से कम 100 आसन यह तो पतंजलि ने कहा इस संसार से बैठना आसान है परंत

Romanized Version
Likes  171  Dislikes    views  2457
WhatsApp_icon
user

Norang sharma

Social Worker

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों बुक्कल पर सुन रहे मेरे सभी बुद्धिजीवी श्रोताओं को मेरा प्यार भरा नमस्कार आज का सवाल है आसन का क्या अर्थ है दोस्तों आसन एक तो वह होता है जिस पर हम बैठकर अपनी पूजा पद्धति या तमाम धार्मिक कर्मकांड करते हैं और 1 आसन वह होता है जो एक पोस्टर का नाम है बॉडी पोस्चर यानी सुख पूर्वक फिरता से दीर्घकाल तक बैठने का नाम ही आसन है मन को स्थिर करने के लिए शरीर को स्थिर करना जरूरी है इतनी आसन से तन भी स्वस्थ रहेगा और मन की तो दोस्तों हमारी लंबे समय तक एक ही पोस्टर में बैठने की आदत आज छूट चुकी है इसलिए पहले हम तमाम तरीके के आसनों के जरिए स्वयं को हेल्दी रखने की कोशिश करते थे आज दोबारा हम प्रकृति की ओर लौट रहे हैं इसलिए आसन और प्राणायाम हमारे जीवन का एक अभिन्न अंग है हमें अपनी दोनों को स्वस्थ रखने के लिए आसनों का अपने जीवन में अभ्यास करना चाहिए जैसे सुखासन हो गया ताड़ासन हो गया तमाम तरीके के आसन है धन्यवाद

namaskar doston bukkal par sun rahe mere sabhi buddhijeevi shrotaon ko mera pyar bhara namaskar aaj ka sawaal hai aasan ka kya arth hai doston aasan ek toh vaah hota hai jis par hum baithkar apni puja paddhatee ya tamaam dharmik karmakand karte hain aur 1 aasan vaah hota hai jo ek poster ka naam hai body posture yani sukh purvak phirta se dirghakal tak baithne ka naam hi aasan hai man ko sthir karne ke liye sharir ko sthir karna zaroori hai itni aasan se tan bhi swasth rahega aur man ki toh doston hamari lambe samay tak ek hi poster me baithne ki aadat aaj chhut chuki hai isliye pehle hum tamaam tarike ke aasanon ke jariye swayam ko healthy rakhne ki koshish karte the aaj dobara hum prakriti ki aur lot rahe hain isliye aasan aur pranayaam hamare jeevan ka ek abhinn ang hai hamein apni dono ko swasth rakhne ke liye aasanon ka apne jeevan me abhyas karna chahiye jaise sukhasan ho gaya tadasan ho gaya tamaam tarike ke aasan hai dhanyavad

नमस्कार दोस्तों बुक्कल पर सुन रहे मेरे सभी बुद्धिजीवी श्रोताओं को मेरा प्यार भरा नमस्कार आ

Romanized Version
Likes  81  Dislikes    views  1327
WhatsApp_icon
user

Sanjeev Kumar

Yoga | Naturopathy

0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आतंकी अथवा शिकायत के साथ में बैठ सकते हैं आपको भी दिखाते हैं दिखाओ

aatanki athva shikayat ke saath mein baith sakte hain aapko bhi dikhate hain dikhaao

आतंकी अथवा शिकायत के साथ में बैठ सकते हैं आपको भी दिखाते हैं दिखाओ

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  272
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
aasan shabd ka arth kya hai ; aasan kya hai ; aasan ka arth ; aasan ka arth kya hai ; aasan shabd ka arth ; asan ka kya arth hai ; आसन का क्या अर्थ है ; aasan kise kahate hain ; आसन का अर्थ ; आसन का अर्थ क्या है ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!