user

xyz

nothing

1:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे हठयोग जितने भी आज योगासन लेना जैसा भी हो गए हाथियों के क्या है कि जैसे राज्यों पतंजलि का उसमें सिंपल बात की आशंका है मौसम कौन सा है जिसमें आप बैठ सके ध्यान में भाषण दिए उन्होंने कोई डिस्क्रिप्शन में दिया जाए मयूर आसन पद्मासन योग प्राणायाम में उन्होंने कहा कि सांस को होल्ड का कोई डिटेल नहीं बताया कि कॉमन पीपल को कैसे क्या किया जाए कि उनका मंजू चंचल है उसको चंचल तक हम करी जाए और जो बीमारियों से ग्रसित है तो शुभ काम करके उसको राजयोग ध्यान की तरफ लेकर जाएगा उन्होंने भी कई मान्यताएं हैं विधान संहिता है यह हठयोग है जो 100 ग्राम में लिखिए अनिकेत रत्नावली चिंता करके हठयोग में भी कई बुक से जो थोड़ा-थोड़ा भाषा में कहते हैं कि के साथ इंग्लिश की कोई चीज करना व्हाट्सएप होता है लेकिन मैं उसमें कहा गया कि इसका मतलब सूर्य नाड़ी थामने ठंडी नारी नारी होती है एक राइट होती है सूर्य नाड़ी चलाती है और लेफ्ट होती है वह चंद्र नाड़ी कर दी तो हमारी बॉडी में बैलेंस नहीं रहता है सूर्य और चंद्र का तो उसको बैलेंस करने के लिए हट क्यों किया जाता है

dekhe hathyog jitne bhi aaj yogasan lena jaisa bhi ho gaye haathiyo ke kya hai ki jaise rajyo patanjali ka usme simple baat ki ashanka hai mausam kaun sa hai jisme aap baith sake dhyan mein bhashan diye unhone koi description mein diya jaaye mayur aasan padmasana yog pranayaam mein unhone kaha ki saans ko hold ka koi detail nahi bataya ki common pipal ko kaise kya kiya jaaye ki unka manju chanchal hai usko chanchal tak hum kari jaaye aur jo bimariyon se grasit hai toh shubha kaam karke usko rajyog dhyan ki taraf lekar jaega unhone bhi kai manyatae hain vidhan sanhita hai yah hathyog hai jo 100 gram mein likhiye aniket ratnavali chinta karke hathyog mein bhi kai book se jo thoda thoda bhasha mein kehte hain ki ke saath english ki koi cheez karna whatsapp hota hai lekin main usme kaha gaya ki iska matlab surya naadi thamne thandi nari nari hoti hai ek right hoti hai surya naadi chalati hai aur left hoti hai vaah chandra naadi kar di toh hamari body mein balance nahi rehta hai surya aur chandra ka toh usko balance karne ke liye hut kyon kiya jata hai

देखे हठयोग जितने भी आज योगासन लेना जैसा भी हो गए हाथियों के क्या है कि जैसे राज्यों पतंजलि

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  1403
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Tushar Kant

Yoga Instructor

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्यों क्या होता है इसलिए मनुष्य शारीरिक और मानसिक तौर पर पूरी तरह से मजबूत बनता है और मनुष्य यह दौड़ बाकी जिंदगी में जो थकान और बीमारियां होती है उसके बंद करने की छमता बनती है और वह भी काफी लंबे समय तक इलाज फ्री डिलीवरी और पूरी तरह से स्वस्थ रहता है और तारीख दैनिक चीजों को काम करते हुए अपने जीवन को सुखी से मिटा सकता है यह ऑडियो का धन्यवाद

kyon kya hota hai isliye manushya sharirik aur mansik taur par puri tarah se majboot baata hai aur manushya yah daudh baki zindagi mein jo thakan aur bimariyan hoti hai uske band karne ki kshamta banti hai aur vaah bhi kaafi lambe samay tak ilaj free delivery aur puri tarah se swasth rehta hai aur tarikh dainik chijon ko kaam karte hue apne jeevan ko sukhi se mita sakta hai yah audio ka dhanyavad

क्यों क्या होता है इसलिए मनुष्य शारीरिक और मानसिक तौर पर पूरी तरह से मजबूत बनता है और मनुष

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  113
WhatsApp_icon
user

Parul Garkhel

Yoga Instructor

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एचडी हॉट योगा जो हम नॉनवेज में आसन और प्राणायाम करते हैं कि हाथियों के टैक्स के अंदर आता है तो हड्डियों का के और मिनटों में टेक्स्ट योग प्रदीपिका टिप्पू खाती है जो कि स्वात्मा नाम ने लिखी है इंद्रनाथ के टाइम से बचना है तो इसमें आसन प्राणायाम मुद्रा बंध और लास्ट में नादानुसंधान जो की समाधि है अल्टीमेट गोल आफ होता उसका वर्णन किया गया जो भी हमसे जिगर आशना लो मोला सलाम करते हैं वह हम हटा योगा के अंदर अंतर्गत करते हैं हम हटा योगा ही कर रहे हो

hd hot yoga jo hum nonveg mein aasan aur pranayaam karte hain ki haathiyo ke tax ke andar aata hai toh haddiyon ka ke aur minaton mein text yog pradipika tippu khati hai jo ki swatma naam ne likhi hai indranath ke time se bachna hai toh isme aasan pranayaam mudra bandh aur last mein nadanusandhan jo ki samadhi hai ultimate gol of hota uska varnan kiya gaya jo bhi humse jigar aashna lo mola salaam karte hain vaah hum hata yoga ke andar antargat karte hain hum hata yoga hi kar rahe ho

एचडी हॉट योगा जो हम नॉनवेज में आसन और प्राणायाम करते हैं कि हाथियों के टैक्स के अंदर आता ह

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  253
WhatsApp_icon
user

Anjit Suhag

Yoga Instructor

1:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अंखियों का जो है का काफी पुराने समय से चाहे देश नदियों गाड़ी है तो इसमें स्पेशल टाइप ज्यादा नहीं है जैसे कि आमंत्रण वगैरह या फिर ज्यादा लंबी मेडिटेशन उस टाइप की योगा नहीं आते होगा इसमें आसना प्राणायामा क्लींजिंग टेक्निक्स और कुछ मेडिटेशन पर ध्यान बंद आज होते हैं उन पर ध्यान दिया जाता है इसमें जो भी आसमां करते हैं उसमें लंबे समय तक होल्डिंग करते हैं और बिल्कुल स्लोली होते स्टैटिक टाइप होगा उसको बोल सकते हैं जैसे कि एक हफ्ता ना होते हैं उसमें डायनामिक होती है की एक फौज के बाद दूसरा पॉज दूसरे के बाद पेशाब और लेकिन हां अच्छा ही होगा में आज जैसे कोई एक फौज में गिर जा सके सिरसासना में गए तो सिरसासना को 10:15 20 मिनट तक होल्ड करना होता है या फिर धनु रास ना में गए तो उसमें तीन से 4 मिनट का होल्ड होता है अर्धा मत्स्येंद्रासन पांच से 10 मिनट का तो इसमें हर रचना में लंबे समय तक कोल्ड होता है और इसमें प्राणायाम होता है अंदाज़ पर ध्यान दिया जाता है और क्लींजिंग टेक्निक्स पर ध्यान दिया जाता है इसमें स्पिरिचुअल पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया जाता है धन्यवाद

ankhiyon ka jo hai ka kaafi purane samay se chahen desh nadiyon gaadi hai toh isme special type zyada nahi hai jaise ki aamantran vagera ya phir zyada lambi meditation us type ki yoga nahi aate hoga isme asana pranayama klinjing techniques aur kuch meditation par dhyan band aaj hote hai un par dhyan diya jata hai isme jo bhi asaman karte hai usme lambe samay tak holding karte hai aur bilkul slowly hote Static type hoga usko bol sakte hai jaise ki ek hafta na hote hai usme dynamic hoti hai ki ek fauj ke baad doosra pause dusre ke baad peshab aur lekin haan accha hi hoga mein aaj jaise koi ek fauj mein gir ja sake sirsasna mein gaye toh sirsasna ko 10 15 20 minute tak hold karna hota hai ya phir dhanu ras na mein gaye toh usme teen se 4 minute ka hold hota hai ardha matsyendrasan paanch se 10 minute ka toh isme har rachna mein lambe samay tak cold hota hai aur isme pranayaam hota hai andaaz par dhyan diya jata hai aur klinjing techniques par dhyan diya jata hai isme Spiritual par zyada dhyan nahi diya jata hai dhanyavad

अंखियों का जो है का काफी पुराने समय से चाहे देश नदियों गाड़ी है तो इसमें स्पेशल टाइप ज्याद

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  111
WhatsApp_icon
user
0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हट हट हट हट का मतलब होता है मतलब के नाम पर लोगों को ऐसा लगता है कि हाथियों की हड्डी तोड़ दिया जिसमें बहुत पैसा के साथियों ऐसा कुछ नहीं है अंखियों का शादी करती ह कार हो सका दिन

hut hut hut hut ka matlab hota hai matlab ke naam par logo ko aisa lagta hai ki haathiyo ki haddi tod diya jisme bahut paisa ke sathiyo aisa kuch nahi hai ankhiyon ka shadi karti h car ho saka din

हट हट हट हट का मतलब होता है मतलब के नाम पर लोगों को ऐसा लगता है कि हाथियों की हड्डी तोड़ द

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  196
WhatsApp_icon
user

Acharya Yogesh Mishra

Astrologer,Yoga Instructor & Motivational Speaker

1:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

व्हाट यू का मतलब होता है कि योग की यह परंपरा है हट हट मतलब होता है कि शारीरिक स्थिति व्यवस्थित शरीर को विभिन्न आसनों के आधार पर साधना की हॉट ट्यूब हठयोग में कई नाम आपको मिलेंगे आपको जैसे मशीन राशन हो गया सिद्धासन हो गया कुरमा सुन हो गया पवन मुक्त आसन हो गया मयूरासन के ढेर सारे आसन होते हैं जिसमें शरीर को सादा जाता है और दूसरी प्रक्रिया में बता दो हाथियों का मतलब होता है होता है सूर्योदय होता है चंद्र सूर्य नाड़ी चंद्र नाड़ी जो हमारी तुलना सिका की जो तू बीमार है ना लेफ्ट एंड राइट सूर्य नाड़ी चंद्र नाड़ी लेफ्ट साइड की जो पोषण होती है उसको चंद्र नाड़ी बोलते हैं राइट साइड की पूरी नारी बोलते हैं या दूसरे शब्दों में कहें तो उसको इडा और पिंगला नाड़ी अभी बोलते हैं उन दोनों से शब्द लिखे हठयोग बना है दिनेश सर इसमें स्वास्थ्य स्वास्थ्य को भी रुकना शामिल होता शरीर को विभिन्न आसनों में रुकना उस दिन तक पूर्ण करना भी शामिल होता है और जो युग में पूरक रेचक कुंभक ताश की तीन प्रक्रिया व्रत मतलब होता है सास को लेना रिचेक मतलब होता है सास को छोड़ना और कुंभ मतलब होता है रुकना इस परंपरा में जो चीजें की जाती है

what you ka matlab hota hai ki yog ki yah parampara hai hut hut matlab hota hai ki sharirik sthiti vyavasthit sharir ko vibhinn aasanon ke aadhaar par sadhna ki hot tube hathyog mein kai naam aapko milenge aapko jaise machine raashan ho gaya siddhasan ho gaya kurma sun ho gaya pawan mukt aasan ho gaya mayurasan ke dher saare aasan hote hain jisme sharir ko saada jata hai aur dusri prakriya mein bata do haathiyo ka matlab hota hai hota hai suryoday hota hai chandra surya naadi chandra naadi jo hamari tulna sika ki jo tu bimar hai na left and right surya naadi chandra naadi left side ki jo poshan hoti hai usko chandra naadi bolte hain right side ki puri nari bolte hain ya dusre shabdon mein kahein toh usko ida aur pingla naadi abhi bolte hain un dono se shabd likhe hathyog bana hai dinesh sir isme swasthya swasthya ko bhi rukna shaamil hota sharir ko vibhinn aasanon mein rukna us din tak purn karna bhi shaamil hota hai aur jo yug mein purak rechak kumbhak tash ki teen prakriya vrat matlab hota hai saas ko lena richek matlab hota hai saas ko chhodna aur kumbh matlab hota hai rukna is parampara mein jo cheezen ki jaati hai

व्हाट यू का मतलब होता है कि योग की यह परंपरा है हट हट मतलब होता है कि शारीरिक स्थिति व्यवस

Romanized Version
Likes  172  Dislikes    views  2473
WhatsApp_icon
user

Anil Ramola

Yoga Instructor | Engineer

1:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हाथियों की एक्टिविटी योग की विवाह योग शरीर को हम थोड़ा बलपूर्वक या फिर ऐसा करके जो अभ्यास करेंगे उत्तम हाथों में लेते हैं जैसे कि आपने हाथियों के बारे में बाबा रामदेव का पतंजलि योग सूत्र की एक विधा है जिसमें हम शरीर के विभिन्न भागों को बलपूर्वक की दिशा में जंगल में क्या करने की कोशिश करते हैं तो हम हैं यम नियम आसन प्राणायाम ध्यान और समाधि शिवा देखना क्या मतलब है कि बलपूर्वक अपने शरीर को विभिन्न भागों में मोर नाचते कि हमें विभिन्न प्रकार के मैसेज करता हूं क्योंकि वक्त भी होंगे कि हमारी जो चर्चा होगी उनके बारे में आपको बताएंगे अभी के लिए इतना ही काफी होगा या मासिक ना समझ पाए पूर्वक किया गया संयोग से धन्यवाद

haathiyo ki activity yog ki vivah yog sharir ko hum thoda balapurvak ya phir aisa karke jo abhyas karenge uttam hathon mein lete hain jaise ki aapne haathiyo ke bare mein baba ramdev ka patanjali yog sutra ki ek vidhaa hai jisme hum sharir ke vibhinn bhaagon ko balapurvak ki disha mein jungle mein kya karne ki koshish karte hain toh hum hain yum niyam aasan pranayaam dhyan aur samadhi shiva dekhna kya matlab hai ki balapurvak apne sharir ko vibhinn bhaagon mein mor naachte ki hamein vibhinn prakar ke massage karta hoon kyonki waqt bhi honge ki hamari jo charcha hogi unke bare mein aapko batayenge abhi ke liye itna hi kaafi hoga ya maasik na samajh paye purvak kiya gaya sanyog se dhanyavad

हाथियों की एक्टिविटी योग की विवाह योग शरीर को हम थोड़ा बलपूर्वक या फिर ऐसा करके जो अभ्यास

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  141
WhatsApp_icon
user

Reena Arya

Yoga Instructor

1:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नाम से ही पता चल रहा है कि हर्ट यू पूर्वक किया गया योग जबरदस्ती हठयोग में आते हैं जो प्रतिक्रियाओं का मतलब बताएं शरीर का शोधन होता है योग चिकित्सा जो कहा जाता है ना उसमें कराया जिसे पतंजलि है हम लोग भी कराते हैं लेकिन इसलिए नहीं करा पाती देते हैं नौली होते हुए देखने जाते हैं कि कैसे होता है यह कैसी है यह कैसे हुआ सोच में आंखों के लिए बहुत अच्छा किया जाता है साड़ी भी हमारे सिस्टम पर काम किया जाता है एक रबर नेति होती 133 वेदों में तो हमारे फ़िलहाल सूत्र नेती एक सूत का धागा होता है उसको नाक के थ्रू डालते हैं मुंह से निकालते हैं तो हमारे सारे जितना भी फेस है इसीलिए आप के लिए बहुत अच्छा होता है निकालते हैं उसको कैसे भी आती है पूरा शोधन क्रिया के लिए

naam se hi pata chal raha hai ki heart you purvak kiya gaya yog jabardasti hathyog mein aate hain jo pratikriyaon ka matlab bataye sharir ka sodhan hota hai yog chikitsa jo kaha jata hai na usme karaya jise patanjali hai hum log bhi karate hain lekin isliye nahi kara pati dete hain nauli hote hue dekhne jaate hain ki kaise hota hai yah kaisi hai yah kaise hua soch mein aankho ke liye bahut accha kiya jata hai saree bhi hamare system par kaam kiya jata hai ek rubber neti hoti 133 vedo mein toh hamare filhal sutra neti ek sut ka dhaga hota hai usko nak ke through daalte hain mooh se nikalate hain toh hamare saare jitna bhi face hai isliye aap ke liye bahut accha hota hai nikalate hain usko kaise bhi aati hai pura sodhan kriya ke liye

नाम से ही पता चल रहा है कि हर्ट यू पूर्वक किया गया योग जबरदस्ती हठयोग में आते हैं जो प्रति

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  1312
WhatsApp_icon
play
user

Dr. Anjani Kumar

Yoga Instructor

0:36

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे शरीर के अंदर होती है उसमें 1 अप्रैल तक ले जाने के लिए विज्ञान है उसको हसीना

hamare sharir ke andar hoti hai usme 1 april tak le jaane ke liye vigyan hai usko hasina

हमारे शरीर के अंदर होती है उसमें 1 अप्रैल तक ले जाने के लिए विज्ञान है उसको हसीना

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  510
WhatsApp_icon
user

Subhav Sharma

Yoga Expert

1:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिल्कुल पृथ्वीलोक सबसे पुराना योगा करें उसमें लिखा जाता है दो अक्षरों से बना है आकाश सूर्य मतलब गर्मी जरा अनाड़ी उठा का मतलब और चंद्रमा तारीफ तो हमारे दोनों रहे हैं आपके शरीर में उर्जा भी है और आपके शरीर में ठंडक भी है उन दोनों को जो बैलेंस होता है उसे अपन हठयोग बोलते हैं तब हक में कितना सुनाते हैं इसमें सुनाते हैं खड़े होकर बैठ कर पेट के बल लेट पेट के बल लेट कर इसमें फिर आपके बनाया जाता है और शर्ट कर्म करेंगे अखियां मतलब हमारी ज्योति नाम कैसे देखें एक साथ दिखती हैं हर युग में जिससे कि इंसान आध्यात्मिक तौर पर बहुत शांत रखता है तो यह टीका उपलब्ध है

bilkul prithwilok sabse purana yoga kare usme likha jata hai do aksharon se bana hai akash surya matlab garmi zara anadi utha ka matlab aur chandrama tareef toh hamare dono rahe hain aapke sharir mein urja bhi hai aur aapke sharir mein thandak bhi hai un dono ko jo balance hota hai use apan hathyog bolte hain tab haq mein kitna sunaate hain isme sunaate hain khade hokar baith kar pet ke bal late pet ke bal late kar isme phir aapke banaya jata hai aur shirt karm karenge akhiyan matlab hamari jyoti naam kaise dekhen ek saath dikhti hain har yug mein jisse ki insaan aadhyatmik taur par bahut shaant rakhta hai toh yah tika uplabdh hai

बिल्कुल पृथ्वीलोक सबसे पुराना योगा करें उसमें लिखा जाता है दो अक्षरों से बना है आकाश सूर्य

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  134
WhatsApp_icon
user

Yogendra Kumar Sharma

Yoga Instructor

0:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं आपसे बात बताना चाहूंगा जैसे हमारे ऋषि-मुनियों ने कोई भी वर्ड बनाया कोई भी एक वाक्य शब्द बनाया उसकी शब्द से उसका अर्थ निकलता है कि मुझे अपनी समाधि में नहीं चला जाऊंगा जब तक मैं अपनी हट्टोरी नहीं करूंगा कि मैंने सोचा था कि मुझे अपनी समाधि समाधि में नहीं चला जाऊंगा तो मेरा होगा नीतियों का म्यूजिक दृढ़ निश्चय सॉलिडिटी आप किसी मान के चलिए सोया नहीं आए उसके लिए कोशिश करूंगा उसको पूरा करके रहूंगा

main aapse baat batana chahunga jaise hamare rishi muniyon ne koi bhi word banaya koi bhi ek vakya shabd banaya uski shabd se uska arth nikalta hai ki mujhe apni samadhi mein nahi chala jaunga jab tak main apni hattori nahi karunga ki maine socha tha ki mujhe apni samadhi samadhi mein nahi chala jaunga toh mera hoga nitiyon ka music dridh nishchay saliditi aap kisi maan ke chaliye soya nahi aaye uske liye koshish karunga usko pura karke rahunga

मैं आपसे बात बताना चाहूंगा जैसे हमारे ऋषि-मुनियों ने कोई भी वर्ड बनाया कोई भी एक वाक्य शब्

Romanized Version
Likes  88  Dislikes    views  1413
WhatsApp_icon
user

Sushil Ranakoti

Yoga Expert

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हठयोग हठयोग जिसमें आपका बड़ा बड़ा नारी अबला नारी आज हमारी दुआएं होती हैं जैसे हम आपको पता ही होगा जैसे हम कुछ टाइम के लिए दो-तीन घंटे में एक नासिका से श्वास लेने लेते हैं और कुछ समय बाद हम दूसरे नासिका से श्वास लेते हैं तो यह है कि इन दोनों की अधिसूचना जहां हम दोनों नासिका हूं सिर्फ एक ही समय में सांस ले सकें वह हट योग का एक पेज है तो हट योग करने की जरूरत तरीके हैं वह यही है जो एक साइबर मार्च कर रहे हैं ना फिर चाहे वह पश्चिमोत्तानासन हो या वह चक्रासन हो यह बताना कानून और हड्डियों का एक विषय यह है कि जब भी आप इसी पोजीशन में बैठे मान लीजिए कि आप आपस में बैठे हैं टनाटन किया उसके बाद आपको प्रपोज करना बहुत जरूरी है वरना आपको बहुत जरूरी है जैसे क्योंकि हर जवाब झुकते पश्चिमोत्तानासन मैं तो आपकी जीत के टीवी झुकती है और उसको सही पोजीशन वाहन लाने के लिए आपको चक्रासन करना पड़ता है जिसके कारण आप की रेट क्या थी दूसरी पोजीशन में जाते अपोजिशन करना जरूरी है तो करते हुए आतिफ ग्रेडिंग तकनीक होती है वह सुषुम्ना नाड़ी को जगाती है जो हमारी रीड की हड्डी में बिल्कुल शांत अवस्था आरएफसी को जागृत करना होता है और जब जागृत हो जाती सुषुम्ना नाड़ी हम दोनों नागौर से इसी समय में सांस लेते हैं इसी को हठयोग के प्राप्त करना बोलते हैं और हठयोग का प्रसिद्ध हुई है जो मैंने आपको बताया

hathyog hathyog jisme aapka bada bada nari abhla nari aaj hamari duaen hoti hai jaise hum aapko pata hi hoga jaise hum kuch time ke liye do teen ghante mein ek nasika se swas lene lete hai aur kuch samay baad hum dusre nasika se swas lete hai toh yah hai ki in dono ki adhisuchana jaha hum dono nasika hoon sirf ek hi samay mein saans le sake vaah hut yog ka ek page hai toh hut yog karne ki zarurat tarike hai vaah yahi hai jo ek cyber march kar rahe hai na phir chahen vaah pashchimottanasan ho ya vaah chakrasan ho yah bataana kanoon aur haddiyon ka ek vishay yah hai ki jab bhi aap isi position mein baithe maan lijiye ki aap aapas mein baithe hai tanatan kiya uske baad aapko propose karna bahut zaroori hai varna aapko bahut zaroori hai jaise kyonki har jawab jhukate pashchimottanasan main toh aapki jeet ke TV jhukti hai aur usko sahi position vaahan lane ke liye aapko chakrasan karna padta hai jiske karan aap ki rate kya thi dusri position mein jaate opposition karna zaroori hai toh karte hue atif grading taknik hoti hai vaah sushumna naadi ko jagati hai jo hamari read ki haddi mein bilkul shaant avastha chahiye ko jagrit karna hota hai aur jab jagrit ho jaati sushumna naadi hum dono nagaur se isi samay mein saans lete hai isi ko hathyog ke prapt karna bolte hai aur hathyog ka prasiddh hui hai jo maine aapko bataya

हठयोग हठयोग जिसमें आपका बड़ा बड़ा नारी अबला नारी आज हमारी दुआएं होती हैं जैसे हम आपको पता

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  110
WhatsApp_icon
user
0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जॉब तो सब एक ही प्रकार से होते हैं वह हाल के समय में जितने लोग हमारे साथ भी हमारे स्टेशन से किसी को हद से ज्यादा लोगों किसी का भाग दिखाना चाहते हैं

job toh sab ek hi prakar se hote hain vaah haal ke samay mein jitne log hamare saath bhi hamare station se kisi ko had se zyada logo kisi ka bhag dikhana chahte hain

जॉब तो सब एक ही प्रकार से होते हैं वह हाल के समय में जितने लोग हमारे साथ भी हमारे स्टेशन स

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  143
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे शरीर में दो नाडिया होती हैं सूर्य नाड़ी चंद्र नाड़ी है जो हमारा बाया नाक होता है बाएं तरफ का हिस्सा व चंद्र है और दाईं तरफ का हिस्सा सूर्य है इन दोनों का मिलन हमारे सुषुम्ना नाड़ी होती है जो कि हमारी बीचो-बीच होती है तो हमारी सूर्य नाड़ी चंद्र नाड़ी का मिलन सुषुम्ना में होता है और यही ससुरा में जाकर यह जाकर हमारी कुंडली में सीधा असर करता है और कुंडली से जाकर ही सुधीर रे मारी चक्रों का भेद है हमारे शरीर में पूरे सात चक्र होते हैं तो धीरे-धीरे हमारे साढू चक्रों का भेदन होने लगता है तो यही क्रिया पूरी तरीके से हमें मोक्ष के द्वार पर ले जाती है यानी कि मुक्ति यही हठयोग हैं नई हड्डियों का सिद्धांत है धन्यवाद

hamare sharir mein do nadia hoti hain surya naadi chandra naadi hai jo hamara baya nak hota hai baen taraf ka hissa va chandra hai aur dain taraf ka hissa surya hai in dono ka milan hamare sushumna naadi hoti hai jo ki hamari beechon beech hoti hai toh hamari surya naadi chandra naadi ka milan sushumna mein hota hai aur yahi sasura mein jaakar yah jaakar hamari kundali mein seedha asar karta hai aur kundali se jaakar hi sudheer ray mari chakron ka bhed hai hamare sharir mein poore saat chakra hote hain toh dhire dhire hamare sadhu chakron ka bhedan hone lagta hai toh yahi kriya puri tarike se hamein moksha ke dwar par le jaati hai yani ki mukti yahi hathyog hain nayi haddiyon ka siddhant hai dhanyavad

हमारे शरीर में दो नाडिया होती हैं सूर्य नाड़ी चंद्र नाड़ी है जो हमारा बाया नाक होता है बाए

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  718
WhatsApp_icon
user

Dr Hemant Patil

Yoga Expert

3:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तमिल है हवा और बॉडी शरीर और मनोज के लिए दो घोड़े होते जब दोनों एक साथ चलते तो मन दोनों में से एक भी इन बैलेंस हो जाता है छोटे बच्चे से बुढ़ापे का मिलेगा लोग काम मोक्ष मोक्ष बेस्ट ऑडियो में कर दिया भाई यह जो हो गए यह मंच से ज्यादा पहले लिए थे जिनका शरीर तंदुरुस्त है उसको मालूम है बहुत ही अंदर पेनलेस बॉडी बॉडी चॉइस वेस्टइंडीज के अंदर कुछ भी दर्द नहीं हो जाएगा

tamil hai hawa aur body sharir aur manoj ke liye do ghode hote jab dono ek saath chalte toh man dono mein se ek bhi in balance ho jata hai chote bacche se budhape ka milega log kaam moksha moksha best audio mein kar diya bhai yah jo ho gaye yah manch se zyada pehle liye the jinka sharir tandurust hai usko maloom hai bahut hi andar painless body body choice WestIndies ke andar kuch bhi dard nahi ho jaega

तमिल है हवा और बॉडी शरीर और मनोज के लिए दो घोड़े होते जब दोनों एक साथ चलते तो मन दोनों में

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  330
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Gyan Ranjan Maharaj

Founder & Director - Kashyap Yogpith

1:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका पसंद है हठयोग क्या है यह क्यों देखेंगे प्राचीनतम सुख की पद्धति है जिसके द्वारा हम शारीरिक और मानसिक तौर पर दुर्बल व्यक्तियों को सफल बनाने का काम करते हैं वीडियो के द्वारा आत्म साक्षात्कार भी किया जा सकता है या माली जी हठयोग आत्म साक्षात्कार करने की एक पद्धति है शारीरिक और मानसिक तौर पर हम बिल्कुल सफल हो सकते हैं ऑडियो करने वाला व्यक्ति का आत्मबल आत्मशक्ति और बहुत सारे ऐसे बीमारियों से निजात पा सकते हैं वस्तुतः हठयोग थोड़ा सा योग से हटके एक कठिन युवक में इसे हम लोग काउंटिंग करते हैं धन्यवाद

aapka pasand hai hathyog kya hai yah kyon dekhenge prachintam sukh ki paddhatee hai jiske dwara hum sharirik aur mansik taur par durbal vyaktiyon ko safal banane ka kaam karte hain video ke dwara aatm sakshatkar bhi kiya ja sakta hai ya maali ji hathyog aatm sakshatkar karne ki ek paddhatee hai sharirik aur mansik taur par hum bilkul safal ho sakte hain audio karne vala vyakti ka atmabal atmashakti aur bahut saare aise bimariyon se nijat paa sakte hain vastutah hathyog thoda sa yog se hatake ek kathin yuvak mein ise hum log counting karte hain dhanyavad

आपका पसंद है हठयोग क्या है यह क्यों देखेंगे प्राचीनतम सुख की पद्धति है जिसके द्वारा हम शार

Romanized Version
Likes  30  Dislikes    views  957
WhatsApp_icon
user

Avisekh Kashyap

Yoga Instructor

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अंखियों के अंतर्गत कपालभाति आता है नवनीत प्रिया यह सब हठयोग में आता है आठ मतलब इसीलिए पूर्वक करना मान लीजिए हम लोग वहां पर किसी ने सरकार को 10 राउंड तक ही सीमित कर दिया गया कलेक्टर टाइप का आतंकवादी क्रमण करना और हठयोग कहलाता है

ankhiyon ke antargat kapalbhati aata hai navneet priya yah sab hathyog mein aata hai aath matlab isliye purvak karna maan lijiye hum log wahan par kisi ne sarkar ko 10 round tak hi simit kar diya gaya collector type ka aatankwadi kraman karna aur hathyog kehlata hai

अंखियों के अंतर्गत कपालभाति आता है नवनीत प्रिया यह सब हठयोग में आता है आठ मतलब इसीलिए पूर्

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  366
WhatsApp_icon
user

Ratnesh Choubey

Yoga Trainer

1:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए इसमें भी सबके अलग-अलग मत हैं वैसे आप देखेंगे तो प्रकृति सखियां चंद्र और सूर्य 1 साल 2 साल 3 साल 5 साल 1 घंटा दो घंटा पड़े हुए उसको काटते हैं सूर्य व चंद्रमा के

dekhiye isme bhi sabke alag alag mat hain waise aap dekhenge toh prakriti sakhiyan chandra aur surya 1 saal 2 saal 3 saal 5 saal 1 ghanta do ghanta pade hue usko katatey hain surya va chandrama ke

देखिए इसमें भी सबके अलग-अलग मत हैं वैसे आप देखेंगे तो प्रकृति सखियां चंद्र और सूर्य 1 साल

Romanized Version
Likes  152  Dislikes    views  2479
WhatsApp_icon
user

Sanjeev Kumar

Yoga | Naturopathy

1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पति पत्नी को आंगनवाड़ी मासिक मीटिंग दिखाओ वीडियो गाना

pati patni ko anganwadi maasik meeting dikhaao video gaana

पति पत्नी को आंगनवाड़ी मासिक मीटिंग दिखाओ वीडियो गाना

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  414
WhatsApp_icon
user

Ashutosh Mishra

Yoga Instructor

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हठयोग है जैसे कोई भी आसना करते हैं हरा चना के बाद आराम जरूर करना है लगातार नहीं करना है और योग विश करना है क्या हो रहा है ब्लड सरकुलेशन कैसे हो रहा है स्टेज कहां हुआ है अपनी बॉडी पर ध्यान देना प्रैक्टिस के बाद आत्मा के बाद जान दे दे

hathyog hai jaise koi bhi asana karte hain hara chana ke baad aaram zaroor karna hai lagatar nahi karna hai aur yog wish karna hai kya ho raha hai blood sarakuleshan kaise ho raha hai stage kahaan hua hai apni body par dhyan dena practice ke baad aatma ke baad jaan de de

हठयोग है जैसे कोई भी आसना करते हैं हरा चना के बाद आराम जरूर करना है लगातार नहीं करना है और

Romanized Version
Likes  37  Dislikes    views  374
WhatsApp_icon
user

Dr. Rahul

Yoga Instructor

0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हठयोग में जो है अंखियों के बारे में बोला गया है ह कारक का चित्र सूर्य का रस चंदोली चंदोली होगा क्योंकि गलतियां सूर्य और चंद्र नाड़ी कैसे होता है राइट नॉस्ट्रिल दोनों कम हो जाता है तो सूचना का प्रवाह होता है तो हठयोग

hathyog mein jo hai ankhiyon ke bare mein bola gaya hai h kaarak ka chitra surya ka ras chandoli chandoli hoga kyonki galtiya surya aur chandra naadi kaise hota hai right nastril dono kam ho jata hai toh soochna ka pravah hota hai toh hathyog

हठयोग में जो है अंखियों के बारे में बोला गया है ह कारक का चित्र सूर्य का रस चंदोली चंदोली

Romanized Version
Likes  153  Dislikes    views  2593
WhatsApp_icon
user

Girijakant Singh

Founder/ President Yog Bharati Foundation Trust

1:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कि आरटीओ क्या है आज ऐसा केस का नाम से हट मींस जबरदस्ती फोर्स और योग योगा वाइफ फोर्स में जो है वैसे तो हाथों को जो है वह विद्या है जिससे बहुत सारे योगी बहुत सारे महायोगी इस संसार सागर से सहज रूप से पार हो गए इन्होंने जो है अपने साक्षात्कार किया और इसका जो है इसके जो है वह आदमी जो भी भगवान शिव को माना जाता है और उसी उन्ही से उससे ज्वाई हथियों चलता है और मानता यह भी है कि हठयोग का विद्या का जो सरपंच मत्स्येंद्रनाथ और इसके बाद जो है गोरखनाथ ने जो है भगवान आदिनाथ भगवान शिव के श्री मुख से इसका श्रवण किया था और वही श्रवण योग परंपरा जो है वह पुरुष के रूप में आगे स्थान प्रीत हो गई इसमें जो है कई अपने को क्रियाएं हैं जो कि जाती हैं और इसके माध्यम से भी जैसे राज्यों के माध्यम से आत्म साक्षात्कार करते हैं इसी प्रकार से हट योग की क्रियाओं के माध्यम से विलो आत्म साक्षात्कार करते हैं इसमें योगासन का भी अभ्यास है और इसमें जो है प्राणायाम वगैरह भी हैं कुंडली वगैरा भी प्रणाली राधे-राधे और मुद्रा बंद बगैरा इन सब का समावेश है और इसमें जो है और योगेश गुरु संतरा के द्वारा चलते हैं धन्यवाद

aapka prashna hai ki rto kya hai aaj aisa case ka naam se hut means jabardasti force aur yog yoga wife force mein jo hai waise toh hathon ko jo hai vaah vidya hai jisse bahut saare yogi bahut saare mahayogi is sansar sagar se sehaz roop se par ho gaye inhone jo hai apne sakshatkar kiya aur iska jo hai iske jo hai vaah aadmi jo bhi bhagwan shiv ko mana jata hai aur usi unhi se usse jwai hathiyon chalta hai aur manata yah bhi hai ki hathyog ka vidya ka jo sarpanch matsyendranath aur iske baad jo hai gorakhnath ne jo hai bhagwan adinath bhagwan shiv ke shri mukh se iska shravan kiya tha aur wahi shravan yog parampara jo hai vaah purush ke roop mein aage sthan prateet ho gayi isme jo hai kai apne ko kriyaen hai jo ki jaati hai aur iske madhyam se bhi jaise rajyo ke madhyam se aatm sakshatkar karte hai isi prakar se hut yog ki kriyaon ke madhyam se willow aatm sakshatkar karte hai isme yogasan ka bhi abhyas hai aur isme jo hai pranayaam vagera bhi hai kundali vagera bhi pranali radhe radhe aur mudra band bagaira in sab ka samavesh hai aur isme jo hai aur Yogesh guru santara ke dwara chalte hai dhanyavad

आपका प्रश्न है कि आरटीओ क्या है आज ऐसा केस का नाम से हट मींस जबरदस्ती फोर्स और योग योगा वा

Romanized Version
Likes  131  Dislikes    views  1851
WhatsApp_icon
user

Ankit Bhardwaj

Yoga Instructor

0:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गोरखनाथ आहट को देसी कलयुग में अलग-अलग चीजें आया था जो दोनों एक दूसरे से मिले हुए हैं उसमें कोई ज्यादा डिफरेंस परंपरा

gorakhnath aahat ko desi kalyug mein alag alag cheezen aaya tha jo dono ek dusre se mile hue hain usme koi zyada difference parampara

गोरखनाथ आहट को देसी कलयुग में अलग-अलग चीजें आया था जो दोनों एक दूसरे से मिले हुए हैं उसमें

Romanized Version
Likes  74  Dislikes    views  1060
WhatsApp_icon
user

Sunil Verma

Yoga Instructor

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हठयोग तो देखिए है जिसको जिस आसन को आप अपनी अपनी क्षमता से ज्यादा करें या अपनी क्षमता से बाहर ओके करते हैं और मन में उसके प्रति थोड़ा सा ऐसा भाव बनाकर नहीं कि आप की क्षमता से क्षमता के विरोध करते हैं तो वह आसन हठयोग में आते हैं उसी को हमारी ओर कहते हैं

hathyog toh dekhiye hai jisko jis aasan ko aap apni apni kshamta se zyada kare ya apni kshamta se bahar ok karte hain aur man mein uske prati thoda sa aisa bhav banakar nahi ki aap ki kshamta se kshamta ke virodh karte hain toh vaah aasan hathyog mein aate hain usi ko hamari aur kehte hain

हठयोग तो देखिए है जिसको जिस आसन को आप अपनी अपनी क्षमता से ज्यादा करें या अपनी क्षमता से बा

Romanized Version
Likes  156  Dislikes    views  2543
WhatsApp_icon
user

Dr Abhinav Chaturvedi

yoga Instructor, Physiotherapist, Naturopath

0:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो ट्रेडिशनल योग पद्धति है जो पद पतंजलि योग सूत्र में लिखी हुई है एडवांस एडवांस चाहिए होती है बैलेंस रिक्वायर्ड रहती है बॉडी का बहुत अच्छा होना चाहिए उसके लिए आप की अच्छी होनी चाहिए

jo traditional yog paddhatee hai jo pad patanjali yog sutra mein likhi hui hai advance advance chahiye hoti hai balance required rehti hai body ka bahut accha hona chahiye uske liye aap ki achi honi chahiye

जो ट्रेडिशनल योग पद्धति है जो पद पतंजलि योग सूत्र में लिखी हुई है एडवांस एडवांस चाहिए होती

Romanized Version
Likes  147  Dislikes    views  2460
WhatsApp_icon
user

Dr. K.S Verma

Yoga Teacher

0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

योग के कई अमेरिकन अलार्म को

yog ke kai american alarm ko

योग के कई अमेरिकन अलार्म को

Romanized Version
Likes  155  Dislikes    views  2503
WhatsApp_icon
user

Puneet Kumar

Yoga Instructor

0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अशोक चंद्रा कि हम किसी भी आसन पर किसी परफॉर्म को एक अपना बहुत मतलब की एक किसी पोस्ट को मिंटन काफी टाइम तक रखना के द्वारा क्या जब कोई लड़कियों करते तो उसके अंदर डिस्टिक इंटरनल सिस्टम पावर

ashok chandra ki hum kisi bhi aasan par kisi perform ko ek apna bahut matlab ki ek kisi post ko mintan kaafi time tak rakhna ke dwara kya jab koi ladkiyon karte toh uske andar district internal system power

अशोक चंद्रा कि हम किसी भी आसन पर किसी परफॉर्म को एक अपना बहुत मतलब की एक किसी पोस्ट को मिं

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  346
WhatsApp_icon
user

Jitendra Kumar

Disciple of Swami Niranjananand Sarswati

2:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हठयोग में यदि इसका शब्द पर जाएंगे तो हट योग संबंधित लोगों को लगता है कि जिद्दी आदमी है या हट किए हुए हैं लेकिन योग की भाषा में हमारे शरीर में पीड़ा और पिंगला दो महत्वपूर्ण नारी है हमारे शरीर में पुरानी गाड़ियों की संख्या बहत्तर हजार है उसमें से तीन माता पिंगला सुषुम्ना 18 मिनट में दो को प्रदान किया गया है कि हम और थामीरा और पिंगला नाड़ी को बैलेंस करने के लिए हड्डियों का अभ्यास करते हैं ऐसे मनुष्य जो है कभी-कभी पूरा जो है कारगिल रहता है कभी-कभी सुस्त हो जाता है इस कंडीशन में भी सूर्य नाड़ी अधिक सक्रिय है तो जगदीश चंद्र नारी सक्रिय हो जाता है तो ऐसी स्थिति पैदा नहीं हो के माध्यम से नारी को जो है एक शाम की अवस्था लाते हैं यह सब सामान्य तौर पर अपने नाक कैसे जाने ना को बंद करके बाय फेसवास लेंगे और छोड़ेंगे फिर बाय को बंद करके देख पाएंगे एकनाथ जो है बंद रहता है उससे स्वस्थ रहता है और इस स्थिति में हमारा कोई कार जो है परफेक्शन नहीं आता है ऊपर लाने के लिए दोनों लड़ना बहुत जरूरी है दोनों नारनाडी उससे भी हो जाता है जिससे हमारा गांव सरकार जो है कोई डिसीजन सूर्य नाड़ी चंद्र नाड़ी को सिल्की करने का मन कर रहा है और इसमें सबसे पहले सेट करना सिखाया जाता है मस्तान के प्रत्याशियों को सजाते मुद्राएं का अभ्यास दिखाया था स्थिरता लाने के लिए गिरता लाने के लिए प्रतिहार का अभ्यास किया जाता है शरीर को बनाने के लिए स्पेशल दिखाइए और प्रकार

hathyog mein yadi iska shabd par jaenge toh hut yog sambandhit logo ko lagta hai ki jiddi aadmi hai ya hut kiye hue hain lekin yog ki bhasha mein hamare sharir mein peeda aur pingla do mahatvapurna nari hai hamare sharir mein purani gadiyon ki sankhya bahattar hazaar hai usme se teen mata pingla sushumna 18 minute mein do ko pradan kiya gaya hai ki hum aur thamira aur pingla naadi ko balance karne ke liye haddiyon ka abhyas karte hain aise manushya jo hai kabhi kabhi pura jo hai kargil rehta hai kabhi kabhi sust ho jata hai is condition mein bhi surya naadi adhik sakriy hai toh jagdish chandra nari sakriy ho jata hai toh aisi sthiti paida nahi ho ke madhyam se nari ko jo hai ek shaam ki avastha laate hain yah sab samanya taur par apne nak kaise jaane na ko band karke bye face wash lenge aur chodenge phir bye ko band karke dekh payenge eknath jo hai band rehta hai usse swasthya rehta hai aur is sthiti mein hamara koi car jo hai parafekshan nahi aata hai upar lane ke liye dono ladna bahut zaroori hai dono narnadi usse bhi ho jata hai jisse hamara gaon sarkar jo hai koi decision surya naadi chandra naadi ko silki karne ka man kar raha hai aur isme sabse pehle set karna sikhaya jata hai mastan ke pratyashiyon ko sajate mudraen ka abhyas dikhaya tha sthirta lane ke liye girta lane ke liye pratihar ka abhyas kiya jata hai sharir ko banane ke liye special dikhaaiye aur prakar

हठयोग में यदि इसका शब्द पर जाएंगे तो हट योग संबंधित लोगों को लगता है कि जिद्दी आदमी है या

Romanized Version
Likes  161  Dislikes    views  2524
WhatsApp_icon
user

Jyoti Chelani

Yoga Instructor

0:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आहट जाऊंगा तेरा डेफिनेशन टाइप्स आफ आसना जिसमें हम एबिलिटी लाने की कोशिश करते हैं और एग्जांपल क्योंकि वह होते हैं जो कंटिन्यू स्प्रे कलर बहुत सारे अलार्म्स करते हैं लेकिन एक आसान होता है उसी को पकड़ कर रखते हैं लाइफ टाइम के लिए और हम यह नहीं कह सकते कि 1 आसन आप ने कर लिया तो बाप का परफेक्ट हो गया आज ना में स्थिरता लाना आसन करते हुए फिरता लाना सिरम सुखामा सनम टेटस हटी रोक एक ही आसन काम करते रहो आपको लगेगा कि आपकी कर रहे हैं आसन लेकिन धीमे धीमे धीमे धीमे वहीं आ कर आपको आप की गहराई में लेकर जाएगा - 8 योगा

aahat jaunga tera definition types of asana jisme hum ability lane ki koshish karte hai aur example kyonki vaah hote hai jo continue spray color bahut saare alarms karte hai lekin ek aasaan hota hai usi ko pakad kar rakhte hai life time ke liye aur hum yah nahi keh sakte ki 1 aasan aap ne kar liya toh baap ka perfect ho gaya aaj na mein sthirta lana aasan karte hue phirta lana serum sukhama sanam tetas hati rok ek hi aasan kaam karte raho aapko lagega ki aapki kar rahe hai aasan lekin dhime dhime dhime dhime wahi aa kar aapko aap ki gehrai mein lekar jaega 8 yoga

आहट जाऊंगा तेरा डेफिनेशन टाइप्स आफ आसना जिसमें हम एबिलिटी लाने की कोशिश करते हैं और एग्जां

Romanized Version
Likes  29  Dislikes    views  434
WhatsApp_icon
user

Manoj Kumar Gudsele

Yoga Instructor

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लाती है जिसने हां और था जो कि हमारे सूर्य चंद्र नाड़ी को डिनोट करता है इसमें इन दोनों फ्लो अपराना यह हमारे ऊर्जा के प्रवाह माने जाते हैं एक चंद्र और सूर्य यानी ठंडा और गर्म चंद्र ठंडा प्रकृति का होता है सूर्य गरम प्रकृति का होता है इन दोनों के मध्य सामंजस्य बनाना ही हट योग है जिसको हम शरीर मन और अन्य क्रियाओं के द्वारा उनको किया जाता है आसन प्रतिक्रियाएं इस तरह से पार्टियों का जो है कांबिनेशन है उसमें काफी मार्च को बताया है साथ के अंग हैं तो वह डिफरेंट टेक्निक्स हैं तो इस प्रकार के हड्डियों फॉर्म क्या है

lati hai jisne haan aur tha jo ki hamare surya chandra naadi ko denote karta hai isme in dono flow aparana yah hamare urja ke pravah maane jaate hain ek chandra aur surya yani thanda aur garam chandra thanda prakriti ka hota hai surya garam prakriti ka hota hai in dono ke madhya samanjasya banana hi hut yog hai jisko hum sharir man aur anya kriyaon ke dwara unko kiya jata hai aasan pratikriyaen is tarah se partiyon ka jo hai combination hai usme kaafi march ko bataya hai saath ke ang hain toh vaah different techniques hain toh is prakar ke haddiyon form kya hai

लाती है जिसने हां और था जो कि हमारे सूर्य चंद्र नाड़ी को डिनोट करता है इसमें इन दोनों फ्लो

Romanized Version
Likes  29  Dislikes    views  498
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
hath yog ke aasan ; hath yog kya hai ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!