पंचकर्म का क्या लाभ है?...


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कर्मा कासते एकदम सही हो जाता है जो हमारे शरीर के अंदर कचरा है वर्षा निकल जाता है पंचकर्म के माध्यम से आप एकदम स्वास्थ्य निर्मल निरोगी हो जाता है आज कर्मा के माध्यम से कई प्रकार की बीमारियां दूर हो जाती हैं तो 1 वर्ष में आपको पंच कर्मा करना चाहिए

karma caste ekdam sahi ho jata hai jo hamare sharir ke andar kachra hai varsha nikal jata hai panchkarm ke madhyam se aap ekdam swasthya nirmal nirogee ho jata hai aaj karma ke madhyam se kai prakar ki bimariyan dur ho jaati hain toh 1 varsh me aapko punch karma karna chahiye

कर्मा कासते एकदम सही हो जाता है जो हमारे शरीर के अंदर कचरा है वर्षा निकल जाता है पंचकर्म क

Romanized Version
Likes  35  Dislikes    views  709
WhatsApp_icon
9 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Yog Guru Gyan Ranjan Maharaj

Founder & Director - Kashyap Yogpith

3:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका क्वेश्चन है पंचकर्म का क्या लाभ है दिखे पंचकर्म के एक नहीं उसके बहुत सारे लाभ है कि उसका नाम ही है पंचकर्म यानी 5 तरह से इस विधि को कराया जाता है किया जाता है जिसमें मुक्ता पांच तरह के हमारे शरीर को होता है जिसमें फर्स्ट हमारा रक्त शोधन हो जाता है रक्त शुद्ध हो जाता है हमारे शरीर का रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि हो जाती है हमारे स्टॉक शरीर से बाहर हो जाते हैं शरीर के अंदर जो भी एलर्जी या संक्रमण किसम खाना पहले से विद्यमान होती है वह सारे चीज दूर हो जाते हैं और व्यक्ति का स्किन डिजीज या नाक से संबंधित स्वास्थ्य संबंधित या याद से संबंधित किसी भी तरह का की समस्या आगरा है यह सारे पंचकर्म के द्वारा दूर हो जाते हैं और व्यक्ति को नया जीवन महसूस होने लगता है जैसे कपड़े को साफ कर लिया जाता है तो पढ़ने में अच्छा लगता है और बिल्कुल अलग टाइप का फील होता है वैसे ही शरीर में अलग टाइप का सील होने लगता है लगता है कि कोई चीज हमारे शरीर को इस टाइप से ऐसा हो हमारा शरीर बिल्कुल सारे के सारे हमारा ब्रेन हमारा पेट हमारा शरीर हमारे फेफड़े सारे जितने भी इंटरनल ऑर्गन से लेकर स्टनर ऑर्गन हैं सारे के सारे शुद्ध हो जाते हैं सारे मल मूत्र भी शुद्ध हो जाते हैं क्योंकि पंचकर्म में सारी चीजों पर ध्यान दिया जाता है पेट साफ करने से लेकर ब्लड साफ करने से लेकर स्क्रीन से लेकर बेन संबंधित आंख नाक कान स्वास नाल सब पर ध्यान दे जाता है पंचकर्म सब के सब पंचकर्म के बाद शुद्ध जाते हैं का महीने में दो बार पंचकर्म की क्रिया की जाए और योग प्रॉपर करते रहे व्यक्ति तो हमें लगता है कि जल्दी बुढ़ापा आएगा ही नहीं ऐसा माना गया कितना तक आप सक्षम है करने में तभी संभव है धन्यवाद

aapka question hai panchkarm ka kya labh hai dikhe panchkarm ke ek nahi uske bahut saare labh hai ki uska naam hi hai panchkarm yani 5 tarah se is vidhi ko karaya jata hai kiya jata hai jisme mukta paanch tarah ke hamare sharir ko hota hai jisme first hamara rakt sodhan ho jata hai rakt shudh ho jata hai hamare sharir ka rog pratirodhak kshamta me vriddhi ho jaati hai hamare stock sharir se bahar ho jaate hain sharir ke andar jo bhi allergy ya sankraman kisam khana pehle se vidyaman hoti hai vaah saare cheez dur ho jaate hain aur vyakti ka skin disease ya nak se sambandhit swasthya sambandhit ya yaad se sambandhit kisi bhi tarah ka ki samasya agra hai yah saare panchkarm ke dwara dur ho jaate hain aur vyakti ko naya jeevan mehsus hone lagta hai jaise kapde ko saaf kar liya jata hai toh padhne me accha lagta hai aur bilkul alag type ka feel hota hai waise hi sharir me alag type ka seal hone lagta hai lagta hai ki koi cheez hamare sharir ko is type se aisa ho hamara sharir bilkul saare ke saare hamara brain hamara pet hamara sharir hamare fefade saare jitne bhi internal organ se lekar stanar organ hain saare ke saare shudh ho jaate hain saare mal mutra bhi shudh ho jaate hain kyonki panchkarm me saari chijon par dhyan diya jata hai pet saaf karne se lekar blood saaf karne se lekar screen se lekar ban sambandhit aankh nak kaan swas naal sab par dhyan de jata hai panchkarm sab ke sab panchkarm ke baad shudh jaate hain ka mahine me do baar panchkarm ki kriya ki jaaye aur yog proper karte rahe vyakti toh hamein lagta hai ki jaldi budhapa aayega hi nahi aisa mana gaya kitna tak aap saksham hai karne me tabhi sambhav hai dhanyavad

आपका क्वेश्चन है पंचकर्म का क्या लाभ है दिखे पंचकर्म के एक नहीं उसके बहुत सारे लाभ है कि उ

Romanized Version
Likes  228  Dislikes    views  6756
WhatsApp_icon
user

Gyanchand Soni

Yoga Instructor.

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पंचकर्म से हमारी कायाकल्प हो जाती है काया एकदम गायक नहीं हो जाता है जितने भी वह होता है उस सब के सब समाप्त हो जाते हैं उसके अलावा शरीर कांति युक्त है एलर्जी वगैरह किसी भी तरह का कोई रोग है दूषित पदार्थ होते हैं सब के सब निकल जाते हैं मन में शांति रखिए मन प्रफुल्लित रहता है हर दृष्टि से पंचकर्म योग्य करना चाहिए धन्यवाद आपका दिन शुभ रहे

panchkarm se hamari kayakalp ho jaati hai kaaya ekdam gayak nahi ho jata hai jitne bhi vaah hota hai us sab ke sab samapt ho jaate hain uske alava sharir kanti yukt hai allergy vagera kisi bhi tarah ka koi rog hai dushit padarth hote hain sab ke sab nikal jaate hain man me shanti rakhiye man prafullit rehta hai har drishti se panchkarm yogya karna chahiye dhanyavad aapka din shubha rahe

पंचकर्म से हमारी कायाकल्प हो जाती है काया एकदम गायक नहीं हो जाता है जितने भी वह होता है उस

Romanized Version
Likes  234  Dislikes    views  2944
WhatsApp_icon
play
user

Narendar Gupta

प्राकृतिक योगाथैरिपिस्ट एवं योगा शिक्षक,फीजीयोथैरीपिस्ट

0:47

Likes  214  Dislikes    views  2447
WhatsApp_icon
play
user

Dr. Rishi Mishra

Ayurvedic Doctor

0:26

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत बड़ा गेट ऑफ तैनाती बॉडी को अपनी समान

bahut bada gate of tainati body ko apni saman

बहुत बड़ा गेट ऑफ तैनाती बॉडी को अपनी समान

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  235
WhatsApp_icon
user
1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तो हमारी बॉडी से कबूतर आने में देर से 200 साल तक भी एक क्वालिटी ऑफ लाइफ की एक अच्छी जिंदगी जीते थे तो आज अगर आप बिना किसी रोक के जीना चाहते हैं अपनी बीमारियों को कंट्रोल में या किसी को कोई चित्र की बीमारी खरीदी जाती है गाय की जाती है मालिश की जाती है

toh hamari body se kabootar aane mein der se 200 saal tak bhi ek quality of life ki ek achi zindagi jeete the toh aaj agar aap bina kisi rok ke jeena chahte hain apni bimariyon ko control mein ya kisi ko koi chitra ki bimari kharidi jaati hai gaay ki jaati hai maalish ki jaati hai

तो हमारी बॉडी से कबूतर आने में देर से 200 साल तक भी एक क्वालिटी ऑफ लाइफ की एक अच्छी जिंदगी

Romanized Version
Likes  24  Dislikes    views  343
WhatsApp_icon
user

Dr. Uma shankar Chaturvedi

Retired Professor (Ayurvedic)

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उद्गम की बॉडी विल फिकेशन का बेटा है इसका प्रयोग करने से बीमारी के आने की संभावना नगण्य हो जाती है क्योंकि जो भी आशिक एलिमेंट्स जिनकी इंबैलेंस सी बीमारी होती है उसकी प्रकृति की उसके लेवल को बैलेंस होता है बात के चित्र कब जमा है मगर बात बढ़ा हुआ था

udgam ki body will fikeshan ka beta hai iska prayog karne se bimari ke aane ki sambhavna naganya ho jaati hai kyonki jo bhi aashik elements jinki imbailens si bimari hoti hai uski prakriti ki uske level ko balance hota hai baat ke chitra kab jama hai magar baat badha hua tha

उद्गम की बॉडी विल फिकेशन का बेटा है इसका प्रयोग करने से बीमारी के आने की संभावना नगण्य हो

Romanized Version
Likes  36  Dislikes    views  463
WhatsApp_icon
user

Dr. Alok Sharma

Ayurvedic Doctor

0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वृद्धा अवस्था में शरीर में प्राण विद्या दिया होने के होने पर धरने परीक्षण कराते हैं तो शरीर से जोधपुर टॉक्सिन से दोपहर 2:00 से शरीर से बाहर निकल जाते हैं आप स्वस्थ रहो करते हैं आपकी आयु बढ़ती है

vriddha avastha mein sharir mein praan vidya diya hone ke hone par dharne parikshan karate hain toh sharir se jodhpur toxin se dopahar 2 00 se sharir se bahar nikal jaate hain aap swasth raho karte hain aapki aayu badhti hai

वृद्धा अवस्था में शरीर में प्राण विद्या दिया होने के होने पर धरने परीक्षण कराते हैं तो शरी

Romanized Version
Likes  201  Dislikes    views  1731
WhatsApp_icon
user

Dr. Mitramahesh

Ayurvedic Doctors

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पंचकर्म के द्वारा शरीर का शुद्धिकरण होता है रूप मुक्ति होती है परंतु पंचकर्म के जो औषध है वह सर्व सुलभ नहीं है उसकी ज्यादा लोगों को जानकारी भी नहीं है और की रागनी आयुर्वेद वालों ने साउथ ही भर से जो प्रेरित किया था उसने लोग करोड़ों करोड़ों रुपया कमा कर के अभी बैठ गए हैं और उसका प्रचार भी नहीं करते पहले वोट प्रचार किया आयुर्वेद की जो सिस्टम है उसमें भी हजारों लाखों लोग कुशल से आई रेजिमेंट के सिस्टम में तीनों दोस्त को कंट्रोल में करना होता है पंचकर्म के अनुसार सभी की शुद्धिकरण की होती करनी होती है शरीर के अंग उपांग के अंदर जितने भी जहरीले पदार्थ और जो सारे अशुद्धियां मिल गई उसको दूर करनी पड़ती है उसको दूर करने के बाद सभी के सप्त धातुओं का सूचीकरण शुद्धीकरण होकर के व्यक्ति संपूर्ण रोगमुक्त हो करके दीर्घायु प्राप्त कर सकता है आप हमारे आर्यसमाज आयुर्वेद हॉस्पिटल डॉट कॉम वेबसाइट को वीडियोस को आप देखिए उसका कड़ी करिए आर्य समाज आयुर्वेदिक औषध निर्माण प्रयोगशाला के जोक्स ओं का सूची पति उसका भी आप आ जाइए और अच्छे होने के लिए किसी भी प्राणघातक और असाध्य रोगों से मुक्ति लेना हो जो 20 25 से सागर से शरीर को हानि पहुंचाता है ऐसे लोगों कम लोग अच्छा करते हैं कोरोनावायरस को भी अच्छा करने का मेरे पास पुलिस सिस्टम में पुरुष यदि आप हमारा संपर्क कर सकते हैं धन्यवाद

panchkarm ke dwara sharir ka shuddhikaran hota hai roop mukti hoti hai parantu panchkarm ke jo awasadhi hai vaah surv sulabh nahi hai uski zyada logo ko jaankari bhi nahi hai aur ki ragni ayurveda walon ne south hi bhar se jo prerit kiya tha usne log karodo karodo rupya kama kar ke abhi baith gaye hain aur uska prachar bhi nahi karte pehle vote prachar kiya ayurveda ki jo system hai usme bhi hazaro laakhon log kushal se I regiment ke system me tatvo dost ko control me karna hota hai panchkarm ke anusaar sabhi ki shuddhikaran ki hoti karni hoti hai sharir ke ang upang ke andar jitne bhi zahreele padarth aur jo saare ashuddhiyan mil gayi usko dur karni padti hai usko dur karne ke baad sabhi ke sapt dhatuon ka suchikaran shudhikaran hokar ke vyakti sampurna rogmukt ho karke dirghayu prapt kar sakta hai aap hamare aryasamaj ayurveda hospital dot com website ko videos ko aap dekhiye uska kadi kariye arya samaj ayurvedic awasadhi nirmaan prayogshala ke jokes on ka suchi pati uska bhi aap aa jaiye aur acche hone ke liye kisi bhi pranaghatak aur asadhya rogo se mukti lena ho jo 20 25 se sagar se sharir ko hani pohchta hai aise logo kam log accha karte hain coronavirus ko bhi accha karne ka mere paas police system me purush yadi aap hamara sampark kar sakte hain dhanyavad

पंचकर्म के द्वारा शरीर का शुद्धिकरण होता है रूप मुक्ति होती है परंतु पंचकर्म के जो औषध है

Romanized Version
Likes  93  Dislikes    views  681
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!