आयुर्वेद के अनुसार, एक व्यक्ति को उठने के बाद क्या करना चाहिए?...


play
user

Dr. Amit Hardia

Panchkarma Specialist

1:03

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अकॉर्डिंग टो आयुर्वेद सबसे पहले सुबह उठकर चाहे थोड़ा सा जल पानी की मात्रा बड़ी की मात्रा में लेकर जितना आवश्यक है लेकिन सोच के नहीं जाना चाहिए सोच से आने के बाद जो है उसे नियमित रूप से व्यायाम क्या योग आदि क्रियाएं करना चाहिए उसके बाद वह अपने निमित कारणों के जो डेली रूटीन है उसमें ओके जा सकता है अगर बिल्कुल आइडियल दिनचर्या की बात करें तो आज भी उसकी पूरी विशेष एक कल्पना की गई है जिसमें कि व्यक्ति को सुबह उठकर दंत ध्वनि की जो हम कर रहे हैं ब्रशिंग करते हैं वह और इसके अलावा नाक में दो-दो बूंद ऑयल डालने का बताया गया है कान में बुक दो-दो बूंद आयल डालने को बताया गया है और इसके अलावा स्नान का महत्व है व्यायाम का महत्व है इस तरीके झरिया का वर्णन

according toe ayurveda sabse pehle subah uthakar chahen thoda sa jal paani ki matra badi ki matra mein lekar jitna aavashyak hai lekin soch ke nahi jana chahiye soch se aane ke baad jo hai use niyamit roop se vyayam kya yog aadi kriyaen karna chahiye uske baad vaah apne nimit karanon ke jo daily routine hai usme ok ja sakta hai agar bilkul ideal dincharya ki baat kare toh aaj bhi uski puri vishesh ek kalpana ki gayi hai jisme ki vyakti ko subah uthakar dant dhwani ki jo hum kar rahe hain brushing karte hain vaah aur iske alava nak mein do do boond oil dalne ka bataya gaya hai kaan mein book do do boond oil dalne ko bataya gaya hai aur iske alava snan ka mahatva hai vyayam ka mahatva hai is tarike jhariya ka varnan

अकॉर्डिंग टो आयुर्वेद सबसे पहले सुबह उठकर चाहे थोड़ा सा जल पानी की मात्रा बड़ी की मात्रा म

Romanized Version
Likes  115  Dislikes    views  1500
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr. Mitramahesh

Ayurvedic Doctors

2:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आयुर्वेद साइंस के अनुसार प्रत्येक मनुष्य को बचपन से अपने बच्चों को ठीक करके उसको अच्छा साधना और उसकी आदतों को बैलेंस के साथ अपने आपका जीवन पद्धति को परिवर्तन करके बिल्कुल आयुर्वेद विज्ञान के अनुसार चलाना चाहिए प्रत्येक व्यक्ति को प्रतिदिन सुबह में सूर्योदय से 2 या 3 घंटे पड़े उठ जाना चाहिए उत्तर के पहले शरीर की शुद्धि के लिए मल मूत्र को शरीर से निष्कासित करना चाहिए दांत और जीभ की सफाई करना चाहिए अच्छी तरह से स्नान करना चाहिए सभी को अच्छी तरह से पहुंचना चाहिए और उसके बाद आप लोग योगासन और दंड बैठक का व्यायाम करिए उसके बाद आप लोग परमात्मा की उपासना करिए उपासना के बाद आप लोगों के हवन यज्ञ बगैर को करिए और संपूर्ण शाकाहारी बंद करके गेहूं के पराठे 23 डेढ़ सौ 200 ग्राम की मात्रा में दो या तीन पर 8 से आप लोग आते लोग उसके साथ चाहिए और सभी को थोड़ा विश्राम दीजिए और उसके बाद आपकी पढ़ाई-लिखाई जाएंगे या फिर सभी के नीचे कर्मों के बारे में आप सोचिए और ऊपरी पटिया चलाएंगे तो आप स्वयं के जीवन को हर हमेशा निरोगी रख पाएंगे कोई औषध किया वह हमेशा जरूरत नहीं पड़ेगी और बाई चांस कोई प्रकार का कोई प्रॉब्लम हो जाए आपका शरीर के पाचन पाचन क्रिया को हमेशा क्षेत्र की परचरी के भजन पाचन क्रिया ठीक रहेगी तो आपके ब्लड नहीं बिगड़ेगा महासचिव याद ही नहीं होगी आप लोग यह जो आयुर्वेद साइंस की हमने लाइट सिस्टम बताइए उसके अनुसार आप का नियम किसे चलिए लिए हमसे नहीं चलेंगे तो आपको कोई न कोई महा रोक साजन रोग से बाहर भी म्हारो हो जाएगा और मोबाइल एसेसरी की अशुद्धि करने वाले लोगों को ज्यादा उसका नुकसान किया है वो लोग हजारों हजारों की संख्या में मर रहे है लाखो लाखो लोग उसके वायरस के अंदर आकर के म्यूजिक अवस्था में पड़े हुए हैं तो आप लोग आयुर्वेदिक सिस्टम के सारे नियम नीति नियम को पालन करिए आपके परिवार को इस नीति नियम से पालन करवाइए आपका समाज व्यवस्था देश जाति धर्म को आप लोग ऊंचा उठाइए और वेद धर्म के अनुसार चली विधि के आयुर्वेदिक जो विज्ञान है उसका अनुसार चाहिए मनुष्य जीवन की श्रेष्ठता का पुल बस यही साइंसे मूलभूत इसाइंस को पकड़ कर के आप लोग सभी को हमेशा स्वस्थ रखे पवित्र रखी धन्यवाद

ayurveda science ke anusaar pratyek manushya ko bachpan se apne baccho ko theek karke usko accha sadhna aur uski aadaton ko balance ke saath apne aapka jeevan paddhatee ko parivartan karke bilkul ayurveda vigyan ke anusaar chalana chahiye pratyek vyakti ko pratidin subah me suryoday se 2 ya 3 ghante pade uth jana chahiye uttar ke pehle sharir ki shudhi ke liye mal mutra ko sharir se nishkasit karna chahiye dant aur jeebh ki safaai karna chahiye achi tarah se snan karna chahiye sabhi ko achi tarah se pahunchana chahiye aur uske baad aap log yogasan aur dand baithak ka vyayam kariye uske baad aap log paramatma ki upasana kariye upasana ke baad aap logo ke hawan yagya bagair ko kariye aur sampurna shakahari band karke gehun ke parathe 23 dedh sau 200 gram ki matra me do ya teen par 8 se aap log aate log uske saath chahiye aur sabhi ko thoda vishram dijiye aur uske baad aapki padhai likhai jaenge ya phir sabhi ke niche karmon ke bare me aap sochiye aur upari partiyan chalayenge toh aap swayam ke jeevan ko har hamesha nirogee rakh payenge koi awasadhi kiya vaah hamesha zarurat nahi padegi aur bai chance koi prakar ka koi problem ho jaaye aapka sharir ke pachan pachan kriya ko hamesha kshetra ki parchari ke bhajan pachan kriya theek rahegi toh aapke blood nahi bigadega mahasachiv yaad hi nahi hogi aap log yah jo ayurveda science ki humne light system bataiye uske anusaar aap ka niyam kise chaliye liye humse nahi chalenge toh aapko koi na koi maha rok sajan rog se bahar bhi mharo ho jaega aur mobile esesari ki ashuddhi karne waale logo ko zyada uska nuksan kiya hai vo log hazaro hazaro ki sankhya me mar rahe hai lakho lakho log uske virus ke andar aakar ke music avastha me pade hue hain toh aap log ayurvedic system ke saare niyam niti niyam ko palan kariye aapke parivar ko is niti niyam se palan karavaiye aapka samaj vyavastha desh jati dharm ko aap log uncha uthaiye aur ved dharm ke anusaar chali vidhi ke ayurvedic jo vigyan hai uska anusaar chahiye manushya jeevan ki shreshthata ka pool bus yahi sainse mulbhut isains ko pakad kar ke aap log sabhi ko hamesha swasth rakhe pavitra rakhi dhanyavad

आयुर्वेद साइंस के अनुसार प्रत्येक मनुष्य को बचपन से अपने बच्चों को ठीक करके उसको अच्छा साध

Romanized Version
Likes  148  Dislikes    views  1503
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!