जब भी कोई मुझसे कड़वी बात करता है मेरा दिमाग परेशान होने लगता है, मुझे ऐसे में क्या करना चाहिए?...


user

Gaurav Sharma

Health Counsellor

3:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार जब आपसे कोई कड़वी बात करता है तो आपका दिमाग परेशान होने लगता है आप जानना चाहते हैं मुझे ऐसा भी क्या करना चाहिए कि की मैडम सबसे पहले तो यह समझना चाहिए कि कड़वी बात हमारे लिए हितकारी है अथवा अधिकारी यदि हमें लगता है कि हितकारी है तो हमें यह समझना चाहिए कि कड़वी की कितनी भी हितकारी यू अथवा कड़वी दवाई यदि स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होती है तो उसे इस्तेमाल करना चाहिए उसी तरीके से कड़वी बात यदि हमारे व्यक्तित्व में उन्नति की सूचक बन रही हो या फिर व्यावहारिक तौर पर हमें कहीं ना कहीं उस सही करने का सुझाव दे रही हो तो वह कड़वी बात परेशान करने वाली नहीं होनी चाहिए नहीं आपको ऐसा करना चाहिए उस बात पर आप परेशान हो लेकिन अगर कोई बात ऐसी करता है जो वास्तव में आपके लिए सही नहीं है या आपके कॉन्फिडेंस को कहीं ना कहीं यूज कर रही है तो ऐसी परिस्थिति ऐसे व्यक्तित्व ऐसे स्थान से थोड़ा दूरी बना कर रखिए एक तरीका दूसरी एक बात का हमेशा ध्यान रखें कि बातें करने से केवल कुछ नहीं होता बातों से कुछ नहीं होता बात अच्छी होती या बुरी होती क्योंकि जब कोई आपसे कोई जानबूझकर कड़वी बातें करना शुरू करता है तो इसका मतलब यह होता है वह आपको दिमागी तौर पर परेशान करना चाहता है यदि आप परेशान होने लगी या आपके व्यक्तित्व में वह परेशानी दिखने लगी तो सामने वाला अपने उद्देश्य में सफल होगा आप ऐसा क्यों करना चाहते हो ऐसा आपको सोचना चाहिए कि और दूसरा इसके लिए आप नॉर्मल इन मेडिटेशन कर सकती हैं इसके अतिरिक्त अपने खान-पान में अगर आप अच्छा सुधार करें तो इस तरीके की चीज है दिमाग से खुद ही निकलने लगेंगे अच्छे साहित्य को पढ़िए म्यूजिक सुनना पसंद करती है तो म्यूजिक सुनिए जो भी जीवन में कड़वाहट है उसके बाद जब वह आपको परेशान आपको लगे कि आपको परेशान कर रहे हैं आप वह पढ़ने लगे जो आपको करना पसंद है अच्छा लगता है पिक रीडिंग भी कर सकते हैं सिंगिंग भी कर सकते हैं जिस ढंग से चाहे किसी ऐसे दोस्त से बात कर सकते बात करना आपको पसंद हो धन्यवाद आपका दिन शुभ रहे

namaskar jab aapse koi kadavi baat karta hai toh aapka dimag pareshan hone lagta hai aap janana chahte hain mujhe aisa bhi kya karna chahiye ki ki madam sabse pehle toh yah samajhna chahiye ki kadavi baat hamare liye hitkari hai athva adhikari yadi hamein lagta hai ki hitkari hai toh hamein yah samajhna chahiye ki kadavi ki kitni bhi hitkari you athva kadavi dawai yadi swasthya ke liye labhdayak hoti hai toh use istemal karna chahiye usi tarike se kadavi baat yadi hamare vyaktitva mein unnati ki suchak ban rahi ho ya phir vyavaharik taur par hamein kahin na kahin us sahi karne ka sujhaav de rahi ho toh vaah kadavi baat pareshan karne wali nahi honi chahiye nahi aapko aisa karna chahiye us baat par aap pareshan ho lekin agar koi baat aisi karta hai jo vaastav mein aapke liye sahi nahi hai ya aapke confidence ko kahin na kahin use kar rahi hai toh aisi paristithi aise vyaktitva aise sthan se thoda doori bana kar rakhiye ek tarika dusri ek baat ka hamesha dhyan rakhen ki batein karne se keval kuch nahi hota baaton se kuch nahi hota baat achi hoti ya buri hoti kyonki jab koi aapse koi janbujhkar kadavi batein karna shuru karta hai toh iska matlab yah hota hai vaah aapko dimagi taur par pareshan karna chahta hai yadi aap pareshan hone lagi ya aapke vyaktitva mein vaah pareshani dikhne lagi toh saamne vala apne uddeshya mein safal hoga aap aisa kyon karna chahte ho aisa aapko sochna chahiye ki aur doosra iske liye aap normal in meditation kar sakti hain iske atirikt apne khan pan mein agar aap accha sudhaar kare toh is tarike ki cheez hai dimag se khud hi nikalne lagenge acche sahitya ko padhiye music sunana pasand karti hai toh music suniye jo bhi jeevan mein kadawahat hai uske baad jab vaah aapko pareshan aapko lage ki aapko pareshan kar rahe hain aap vaah padhne lage jo aapko karna pasand hai accha lagta hai pic reading bhi kar sakte hain singing bhi kar sakte hain jis dhang se chahen kisi aise dost se baat kar sakte baat karna aapko pasand ho dhanyavad aapka din shubha rahe

नमस्कार जब आपसे कोई कड़वी बात करता है तो आपका दिमाग परेशान होने लगता है आप जानना चाहते हैं

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  214
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!