कई नेता अपना दल बदल र है हैं। क्या वो सिर्फ़ अपने फ़ायदे का सोच रहें हैं? इसपर आप क्या कहना चाहेंगे?...


user

Piyush Goel

Mech Engg, Motivator.

1:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोस्तों गुड मॉर्निंग कृष्ण क्वेश्चन का जवाब देने के लिए जो लोग जो नेता इस तरह के निजी फायदे के लिए जलबिंदु नेताओं से तुम मुझे नफरत है मौके की तलाश में रहते हैं कभी भी अपनी एक ऐसी इमेज बनाओ यार आप कौन से जल में भी हो अजीत क्या है कौन सी भी दिल में हो आप जीत जाएं ऐसी मेज बनाया पाटिया पार्टी का मजाक बना रखी है लोकतंत्र

doston good morning krishna question ka jawab dene ke liye jo log jo neta is tarah ke niji fayde ke liye jalbindu netaon se tum mujhe nafrat hai mauke ki talash mein rehte hain kabhi bhi apni ek aisi image banao yaar aap kaunsi jal mein bhi ho ajit kya hai kaun si bhi dil mein ho aap jeet jayen aisi maze banaya patiya party ka mazak bana rakhi hai loktantra

दोस्तों गुड मॉर्निंग कृष्ण क्वेश्चन का जवाब देने के लिए जो लोग जो नेता इस तरह के निजी फायद

Romanized Version
Likes  115  Dislikes    views  1517
WhatsApp_icon
13 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Rahul Bharat

राजनैतिक विश्लेषक

1:40

Likes  116  Dislikes    views  3008
WhatsApp_icon
user

Dr. Rajesh Raval

Director, Rainbow Academy

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने कुछ है कई नेता अपना दल बदल रहा है क्या वे सिर्फ अपने फायदे को सोच रहे हैं तो मैं यह कहना चाहूंगा कुछ नहीं था जो बदल बदलते हैं जब उनको पता चलता है कि उन्होंने जो पब्लिक को वादे किए थे वह पूरा नहीं कर पाई थी कि उनकी पार्टी ने उसको सपोर्ट नहीं किया इसलिए वह अपनी पार्टी छोड़ते हैं और 10 बदल कर लेता है जो सिर्फ अपने स्वार्थ के लिए गाया को टिकट दिया जाएगा दूसरा दल गोल्ड नहीं दिया जाएगा कुछ काम करने का पूरी हैंड चाहिए काम कर सके

aapne kuch hai kai neta apna dal badal raha hai kya ve sirf apne fayde ko soch rahe hain toh main yeh kehna chahunga kuch nahi tha jo badal badalte hain jab unko pata chalta hai ki unhone jo public ko waade kiye the wah pura nahi kar payi thi ki unki party ne usko support nahi kiya isliye wah apni party chodte hain aur 10 badal kar leta hai jo sirf apne swarth ke liye gaaya ko ticket diya jayega doosra dal gold nahi diya jayega kuch kaam karne ka puri hand chahiye kaam kar sake

आपने कुछ है कई नेता अपना दल बदल रहा है क्या वे सिर्फ अपने फायदे को सोच रहे हैं तो मैं यह

Romanized Version
Likes  92  Dislikes    views  1801
WhatsApp_icon
user

Pankaj Mall

Life Coach, Trainer, Cyclist

1:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पॉलिटिक्स में विचारधारा आईडियोलॉजी या कैसी सोच है उससे ज्यादा इंपॉर्टेंट लोगों के लिए सत्ता में बने रहना होता है और यह किसी भी प्रोफेशन के लिए लागू होता है जब तक आपको काम मिल रहा है जब तक आपके पास अथॉरिटी है लोग आपको पूछेंगे और डेमोक्रेसी में यही होता है अगर आपके हाथ में सत्ता नहीं है तो आप की पूछ नहीं होगी ऐसे लोग भी देखते हैं कि पार्टी बदलते हैं और वह देखते हैं कि कौन सी पार्टी के जीतने के चांस ज्यादा है कौन से पार्टी सरकार बनाएगी या किस पार्टी को लेकर के लोगों की सोच पॉजिटिव है मॉडल मोरालिटी पर नहीं जाएंगे कि क्या अच्छा है क्या बुरा है लेकिन यह जरूरी है पॉलीटिशियंस के लिए कि वह जब जीतकर के आते हैं तो काम करते हैं या नहीं करते हैं और यह जनता की भी जिम्मेदारी है कि आपका दिन को चुन रहे हैं किन को वोट कर रहे हैं उनसे हिसाब मांगे उनको प्रेशर में रखना जरूरी होता है क्योंकि वह हमारे लिए ही काम कर रहे हैं तो वह अपने फायदे के लिए नहीं लेकिन समाज के लिए उनको काम करना चाहिए और शायद हमारी भी जिम्मेदारी है कि वैसे लोगों को हम चुन करके सत्ता में बैठा है जो जाति धर्म से ऊपर उठकर के देश के बारे में सोचें समाज के बारे में सोचें और हम सब के लिए मेहनत करें देश को आगे बढ़े यही बात रहेगी तो इस बार वोट भी आप वैसे ही लोगों को दें जो सत्ता को संभाल सकते हैं जो देश को आगे बढ़ा सकते हैं धन्यवाद

politics mein vichardhara aidiyolaji ya kaisi soch hai usse zyada important logo ke liye satta mein bane rehna hota hai aur yeh kisi bhi profession ke liye laagu hota hai jab tak aapko kaam mil raha hai jab tak aapke paas authority hai log aapko puchenge aur democracy mein yahi hota hai agar aapke hath mein satta nahi hai toh aap ki puch nahi hogi aise log bhi dekhte hain ki party badalte hain aur wah dekhte hain ki kaun si party ke jitne ke chance zyada hai kaunsi party sarkar banaegi ya kis party ko lekar ke logo ki soch positive hai model morality par nahi jaenge ki kya accha hai kya bura hai lekin yeh zaroori hai politicians ke liye ki wah jab jeetkar ke aate hain toh kaam karte hain ya nahi karte hain aur yeh janta ki bhi jimmedari hai ki aapka din ko chun rahe hain kin ko vote kar rahe hain unse hisab mange unko pressure mein rakhna zaroori hota hai kyonki wah hamare liye hi kaam kar rahe hain toh wah apne fayde ke liye nahi lekin samaj ke liye unko kaam karna chahiye aur shayad hamari bhi jimmedari hai ki waise logo ko hum chun karke satta mein baitha hai jo jati dharm se upar uthakar ke desh ke bare mein sochen samaj ke bare mein sochen aur hum sab ke liye mehnat karein desh ko aage badhe yahi baat rahegi toh is baar vote bhi aap waise hi logo ko de jo satta ko sambhaal sakte hain jo desh ko aage badha sakte hain dhanyavad

पॉलिटिक्स में विचारधारा आईडियोलॉजी या कैसी सोच है उससे ज्यादा इंपॉर्टेंट लोगों के लिए सत्त

Romanized Version
Likes  95  Dislikes    views  2287
WhatsApp_icon
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारा भारत का दुर्भाग्य है कि हमारी भारत की राजनीति गंदी राजनीति है जो स्वार्थी लालची हैं जो स्वार्थ और लालच के लिए यह दीपक जल जाए तो इस देश को भी भेज देते हैं और देश को बेचना ही है कि जो तुम सोचो जो देश का दुश्मन है जो भारतीय लोगों के दुश्मन हैं उन लोगों के तुम गले मिल रहे हो उन लोगों के उन लोगों के पैरों में पढ़ रहे हो तो भारतीय अस्मिता को देखकर अपने साथ के लिए कुछ भी कर सकते हैं क्योंकि तुम देख रहे हो कि केक सीए क्र्रिश का यह विश्वास नहीं रहता अटल बिहारी जैसे इंदिरा गांधी जैसे मीटर कम है जो मर तो सकते हैं लेकिन पार्टी में पोस्ट सकते हैं ऐसे भी हमें बहुत बढ़िया सकता है लेकिन आज के यंत्र दोनों गिरगिट की तरह रंग बदलने वाले इन राजनीतिज्ञों की कोई सूचना नहीं है आज इस पार्टी में कल उस पार्टी में कंपन का पति की पार्टी में घुस जाए और किसी और पार्टी में चला जाए इनके लिए तो सत्ता ज्ञाना एकमात्र इनका उद्देश्य है ये सी के लिए राजनीति करते हैं जिन्हें आप देश की सेवा के बारे में सोचते हैं ना देश के विकास के बारे में सोचते हैं नौकरी राष्ट्रीयता है तो भारतीय कानून कुछ ऐसे कठोर होने चाहिए एक व्यक्ति नहीं दिखे पार्टी को ज्वाइन किया दोपहर यदि उस पार्टी किस चीज का है तो पहले वह से रिजाइन एमएलए एमपी सी डिजाइन करें और उसके पास तो किसी पार्टी को बदल और उसके बाद सूचित करें खास होना चाहिए लेकिन हमारे दुनिया में कमजोर हमें इतनी कमजोर है और जो इनको नहीं कर पाती होगी 1 दिन प्रतिदिन दल बदलने का स्वास्थ्य कर्मचारी भी राजनीति का कोई भी रास्ता सही नहीं हो पा रहा है इसी कम गंदी राजनीति का परिणाम है कि तुम देख लो दिन प्रतिदिन हमारे यहां घोटाले होते हैं दिन प्रतिदिन हमारे होते हैं बिगर मोदी जैसे करोड़ों करोड़ों रुपए ले करके भाग जाते हैं इस राजनीतिक संरक्षण से होता है भारतीय राजनीति बहुत गंदी है यह तो स्वार्थी हैं लालची हैं

hamara bharat ka durbhagya hai ki hamari bharat ki raajneeti gandi raajneeti hai jo swaarthi lalchi hain jo swarth aur lalach ke liye yah deepak jal jaaye toh is desh ko bhi bhej dete hain aur desh ko bechna hi hai ki jo tum socho jo desh ka dushman hai jo bharatiya logo ke dushman hain un logo ke tum gale mil rahe ho un logo ke un logo ke pairon mein padh rahe ho toh bharatiya asmita ko dekhkar apne saath ke liye kuch bhi kar sakte hain kyonki tum dekh rahe ho ki cake ca krrish ka yah vishwas nahi rehta atal bihari jaise indira gandhi jaise meter kam hai jo mar toh sakte hain lekin party mein post sakte hain aise bhi hamein bahut badhiya sakta hai lekin aaj ke yantra dono girgit ki tarah rang badalne waale in rajaneetigyon ki koi soochna nahi hai aaj is party mein kal us party mein kampan ka pati ki party mein ghus jaaye aur kisi aur party mein chala jaaye inke liye toh satta gyana ekmatra inka uddeshya hai ye si ke liye raajneeti karte hain jinhen aap desh ki seva ke bare mein sochte hain na desh ke vikas ke bare mein sochte hain naukri rastriyata hai toh bharatiya kanoon kuch aise kathor hone chahiye ek vyakti nahi dikhe party ko join kiya dopahar yadi us party kis cheez ka hai toh pehle vaah se resign mla mp si design kare aur uske paas toh kisi party ko badal aur uske baad suchit kare khaas hona chahiye lekin hamare duniya mein kamjor hamein itni kamjor hai aur jo inko nahi kar pati hogi 1 din pratidin dal badalne ka swasthya karmchari bhi raajneeti ka koi bhi rasta sahi nahi ho paa raha hai isi kam gandi raajneeti ka parinam hai ki tum dekh lo din pratidin hamare yahan ghotale hote hain din pratidin hamare hote hain bigger modi jaise karodo karodo rupaye le karke bhag jaate hain is raajnitik sanrakshan se hota hai bharatiya raajneeti bahut gandi hai yah toh swaarthi hain lalchi hain

हमारा भारत का दुर्भाग्य है कि हमारी भारत की राजनीति गंदी राजनीति है जो स्वार्थी लालची हैं

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  1
WhatsApp_icon
user

Vikas Singh

Political Analyst

0:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए जो नेता पार्टी को चेंज करते हैं कहीं न कहीं उनके उनके पास अपने निजी स्वार्थ का मामला होता है देखिए सपूत कभी अगर कांग्रेस पार्टी का कोई सांसद है उसने क्षेत्र में एक भी काम नहीं किया है अब काम नहीं किया है तो कांग्रेस पार्टी अगर फिर उसे टिकट देगी तो वह पक्का है रे गा तो उस डर से वह पार्टी को चेंज करते हैं और कोई बात नहीं है बीजेपी में भी ऐसा है अगर बीजेपी पार्टी के शत्रुघ्न सिन्हा ने कांग्रेस पार्टी जॉइन किया है तो बीजेपी केंद्र से उन्हें बहुत पैसा मिला होगा मिला होगा लेकिन उन्होंने इतना अच्छा काम नहीं किया वह किया होगा अब काम नहीं किया है तो दोबारा अगर चुनाव लड़ेंगे तो जीत नहीं पाएंगे इसलिए उन्होंने पार्टी को चेंज कर दिया और पार्टी को चेंज करने के बाद भी वह हारेंगे धन्यवाद

dekhiye jo neta party ko change karte hain kahin na kahin unke unke paas apne niji swarth ka maamla hota hai dekhiye sapoot kabhi agar congress party ka koi saansad hai usne kshetra mein ek bhi kaam nahi kiya hai ab kaam nahi kiya hai toh congress party agar phir use ticket degi toh vaah pakka hai ray ga toh us dar se vaah party ko change karte hain aur koi baat nahi hai bjp mein bhi aisa hai agar bjp party ke shatrughan sinha ne congress party join kiya hai toh bjp kendra se unhe bahut paisa mila hoga mila hoga lekin unhone itna accha kaam nahi kiya vaah kiya hoga ab kaam nahi kiya hai toh dobara agar chunav ladenge toh jeet nahi payenge isliye unhone party ko change kar diya aur party ko change karne ke baad bhi vaah harenge dhanyavad

देखिए जो नेता पार्टी को चेंज करते हैं कहीं न कहीं उनके उनके पास अपने निजी स्वार्थ का मामला

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  351
WhatsApp_icon
user

मोहित निषाद

सामाजिक चिंतक (पत्रकार)

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार नेताओं का जो चैनल और क्षेत्र है वह आप लोग देखिए और लगातार देख रहे हैं राजनीति करता है समझ चुका हूं किन नेताओं को सिर्फ और सिर्फ अपने स्वार्थ दिखाई देता है मैं आप ही व्यक्ति समाज पार्टी से मतलब जहां भी अपना ही नजर आता है अपना हित साधने के लिए दल बदल कानून लाया गया था यहां केवल दल बदल कानून का झूलता रहा था तो हमें भी रात को भी सचेत रहना होगा कि आने वाले आगामी चुनाव में हमें ऐसे निष्ठावान चरित्रवान और ईमानदार नेताओं पर चयन करके लोकसभा विधानसभा में भेजना चाहिए जितनी हमारी क्षेत्र का हमारे देश का हमारे प्रदेश का धन्यवाद

namaskar netaon ka jo channel aur kshetra hai vaah aap log dekhiye aur lagatar dekh rahe hain raajneeti karta hai samajh chuka hoon kin netaon ko sirf aur sirf apne swarth dikhai deta hai aap hi vyakti samaj party se matlab jaha bhi apna hi nazar aata hai apna hit sadhane ke liye dal badal kanoon laya gaya tha yahan keval dal badal kanoon ka jhulta raha tha toh hamein bhi raat ko bhi sachet rehna hoga ki aane waale aagaami chunav mein hamein aise nisthawan charitravan aur imaandaar netaon par chayan karke lok sabha vidhan sabha mein bhejna chahiye jitni hamari kshetra ka hamare desh ka hamare pradesh ka dhanyavad

नमस्कार नेताओं का जो चैनल और क्षेत्र है वह आप लोग देखिए और लगातार देख रहे हैं राजनीति कर

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  153
WhatsApp_icon
user
0:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं वह तो फायदे के साथ साथ जो देश का अच्छा कर रहा है उसके साथ जाने की कोशिश कर रहे

nahi vaah toh fayde ke saath saath jo desh ka accha kar raha hai uske saath jaane ki koshish kar rahe

नहीं वह तो फायदे के साथ साथ जो देश का अच्छा कर रहा है उसके साथ जाने की कोशिश कर रहे

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  4
WhatsApp_icon
user
1:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए भारत की राजनीति कुछ सालों से एक ऐसी राजनीति चल पड़ी है जहां नेता बनना जो है वह सबसे ज्यादा फायदे का काम है अगर आप सत्ताधारी पार्टी की तरफ है और आप की हालत काफी अच्छी है तब तो ठीक है तब आप काफी उस पार्टी को ऑपरेशन करेंगे लेकिन जैसे ही देखा गया क्या आपके हाथ से सत्ता जाने लगी है यह आपको कोई उम्मीद नहीं थी कि आप वापस जो है उसी पार्टी का उसी सत्ता का हिस्सा बन पाएंगे तो कई लोग जहां पर नेता जो है बदल बदल देते हैं क्योंकि इसका जो कानून को भारत में बिजी है पहली घटना को बढ़ा दो कि नहीं था जो है पैदल क्यों चलते हैं बहुत सारे नेताओं की राजनीति महत्वाकांक्षा है जो है वह बहुत बड़ी होती है उन्हें बहुत जल्दी समय पर बड़े बच्चे ही होते हैं आप उदाहरण इस थे कि कांग्रेस में इतनी तेज चला प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ज्योर्थी उन्होंने अपना दल बदल लिया वह भी सी वह शिवसेना किधर चली गई अब इतनी बड़ी नेताजी बीजेपी को कांग्रेस में आ गए यह सिर्फ एक उदाहरण मात्र है लेकिन इससे साफ पता चलता है कि नेताओं की राजनीतिक महत्वाकांक्षा की पूरी नहीं हो पाती है तब वह बदल लेते हैं आप और सबसे बड़ी बात यह है कि दल बदलने का जो सिस्टम हमारे को बड़ा आसान है हालांकि आ गया राम नाम की ज्योति राथी कांग्रेस के उन का उदाहरण बहुत रो लेते हैं कि उनके उदाहरण को देखते हुए जो दल बदल गया कि आप थोड़ा मुश्किल कर देगा लेकिन आज भी यह पता है कि आपको अब अपने पद से इस्तीफा देकर आप दूसरी पार्टी में जाना जाना है और आपकी जो लोग तो है उसका फायदा जो दूसरी पार्टी को मिल जाएगा तो नेताओं के दिल बदले का मुख्य कारण नहीं होता कि जब आप की राजनीतिक महत्वाकांक्षा ही पूरी नहीं हो पाती हैं और अब राजनीतिक तौर पर इतना बड़ा काम नहीं कर पाते हैं आपकी पार्टी जो है वापस उस तक पहुंचने के पास भी नहीं था जो या बदल बदल लेते हैं सिंपल सी बात है

dekhie bharat ki rajneeti kuch salon se ek aisi rajneeti chal padi hai jaha neta banana jo hai wah sabse zyada fayde ka kaam hai agar aap sattadhari party ki taraf hai aur aap ki halat kaafi acchi hai tab toh theek hai tab aap kaafi us party ko operation karenge lekin jaise hi dekha gaya kya aapke hath se satta jaane lagi hai yeh aapko koi ummid nahi thi ki aap wapas jo hai usi party ka usi satta ka hissa ban payenge toh kai log jaha par neta jo hai badal badal dete hain kyonki iska jo kanoon ko bharat mein busy hai pehli ghatna ko badha do ki nahi tha jo hai paidal kyon chalte hain bahut saare netaon ki rajneeti mahatvakansha hai jo hai wah bahut badi hoti hai unhein bahut jaldi samay par bade bacche hi hote hain aap udaharan is the ki congress mein itni tez chala pravakta priyanka chaturvedi jyorthi unhone apna dal badal liya wah bhi si wah shivsena kidhar chali gayi ab itni badi netaji bjp ko congress mein aa gaye yeh sirf ek udaharan matra hai lekin isse saaf pata chalta hai ki netaon ki raajnitik mahatvakansha ki puri nahi ho pati hai tab wah badal lete hain aap aur sabse badi baat yeh hai ki dal badalne ka jo system hamare ko bada aasaan hai halaki aa gaya ram naam ki jyoti raashi congress ke un ka udaharan bahut ro lete hain ki unke udaharan ko dekhte hue jo dal badal gaya ki aap thoda mushkil kar dega lekin aaj bhi yeh pata hai ki aapko ab apne pad se istifa dekar aap dusri party mein jana jana hai aur aapki jo log toh hai uska fayda jo dusri party ko mil jayega toh netaon ke dil badle ka mukhya kaaran nahi hota ki jab aap ki raajnitik mahatvakansha hi puri nahi ho pati hain aur ab raajnitik taur par itna bada kaam nahi kar paate hain aapki party jo hai wapas us tak pahuchne ke paas bhi nahi tha jo ya badal badal lete hain simple si baat hai

देखिए भारत की राजनीति कुछ सालों से एक ऐसी राजनीति चल पड़ी है जहां नेता बनना जो है वह सबसे

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  367
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सभी अपना फायदा ही सोच रहे हैं सब अपने तुच्छ स्वार्थ में गिरे हुए हैं इसलिए दल बदल रहे हैं

sabhi apna fayda hi soch rahe hain sab apne tucch swarth mein gire hue hain isliye dal badal rahe hain

सभी अपना फायदा ही सोच रहे हैं सब अपने तुच्छ स्वार्थ में गिरे हुए हैं इसलिए दल बदल रहे हैं

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
user
0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जय सीताराम आपका प्रश्न है कई नेता अपना दल बदल रहे हैं क्या वह सिर्फ अपने फायदे का सोच रहे हैं इस पर आप क्या करना चाहते हैं जय भोलेनाथ सुनिए व्रत श्री कहते ने इस संसार में हर मनुष्य द्वारा लाइक करें व्यक्ति स्वार्थी व संसार है जिसका स्वास्थ्य जहां पूरा हो रहा है उस स्वास्थ्य बस वह उस जगह चला जाए जैसे आप समझिए दूसरी राजनीतिक पार्टी वाले नेताओं को लगता था कि हमारी हमारी पार्टी बहुत अच्छी है बहुत आगे हो तो अच्छा करें भले बुरा करते थे लेकिन आज हमारे मोदी जी आ गए जय सीताराम उनके आने से सबके अंदर के पास जो है वह बाहर आ गये उन्होंने गंदगी को निकल के सामने लग दिया उनको लगता है कि उन पर उपाय या तो वह टांडा बस हो जाए या तो वह युद्ध कर युद्ध करने की सिम की है ही नहीं वह भी डर नहीं सकते इसलिए वह सेंड आदत हो जाएंगे जय सीताराम

jai sitaram aapka prashna hai kai neta apna dal badal rahe kya vaah sirf apne fayde ka soch rahe hain is par aap kya karna chahte hain jai bholenaath suniye vrat shri kehte ne is sansar mein har manushya dwara like kare vyakti swaarthi va sansar hai jiska swasthya jaha pura ho raha hai us swasthya bus vaah us jagah chala jaaye jaise aap samjhiye dusri raajnitik party waale netaon ko lagta tha ki hamari hamari party bahut achi hai bahut aage ho toh accha kare bhale bura karte the lekin aaj hamare modi ji aa gaye jai sitaram unke aane se sabke andar ke paas jo hai vaah bahar aa gaye unhone gandagi ko nikal ke saamne lag diya unko lagta hai ki un par upay ya toh vaah tanda bus ho jaaye ya toh vaah yudh kar yudh karne ki sim ki hai hi nahi vaah bhi dar nahi sakte isliye vaah send aadat ho jaenge jai sitaram

जय सीताराम आपका प्रश्न है कई नेता अपना दल बदल रहे हैं क्या वह सिर्फ अपने फायदे का सोच रहे

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  1
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

केवल अपने फायदे के लिए

keval apne fayde ke liye

केवल अपने फायदे के लिए

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  6
WhatsApp_icon
user
0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए बिल्कुल सही है कहीं नहीं तो दिल बदल रहे हैं और राजनीति ही इसी का नाम है संरचना के साथ आप अपने हिसाब से अपने फायदे के लिए अपने नुकसान देखते हुए दल बदलते हैं उनका फायदा भी है कुछ नेता ऐसे हैं जैसे

dekhiye bilkul sahi hai kahin nahi toh dil badal rahe hain aur raajneeti hi isi ka naam hai sanrachna ke saath aap apne hisab se apne fayde ke liye apne nuksan dekhte hue dal badalte hain unka fayda bhi hai kuch neta aise hain jaise

देखिए बिल्कुल सही है कहीं नहीं तो दिल बदल रहे हैं और राजनीति ही इसी का नाम है संरचना के स

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!