क्या OCD सबसे खराब मानसिक रोगों में से एक है?...


play
user

Sonam Chhatwani

Counseling and Rehabilitation Psychologist

0:56

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सबसे खराब तो नहीं कहूंगी मैं यहां ठीक है सा और कंडीशन नहीं आती लोगों में स्टिग्मा है उसकी दोस्ती करना है किसके पास जाना है यह टिकट बाबू और के पास जाना है वो अभी भी बहुत नात शरीफ एचडी में

sabse kharab toh nahi kahungi main yahan theek hai sa aur condition nahi aati logo mein stigma hai uski dosti karna hai kiske paas jana hai yeh ticket babu aur ke paas jana hai vo abhi bhi bahut naath sharif hd mein

सबसे खराब तो नहीं कहूंगी मैं यहां ठीक है सा और कंडीशन नहीं आती लोगों में स्टिग्मा है उसकी

Romanized Version
Likes  31  Dislikes    views  426
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Sheetal Singh

Clinical Psychologist

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एचडी उल्टा है जो कहते हैं उसको तो जरूर ऐसा लगता है कि यह सबसे बुरी बीमारी है कि अभी इंडिया में आफ्टर डिप्रेशन टेबलेट मेडिसिन प्राइस

hd ulta hai jo kehte hain usko toh zaroor aisa lagta hai ki yeh sabse buri bimari hai ki abhi india mein after depression tablet medicine price

एचडी उल्टा है जो कहते हैं उसको तो जरूर ऐसा लगता है कि यह सबसे बुरी बीमारी है कि अभी इंडिया

Romanized Version
Likes  41  Dislikes    views  546
WhatsApp_icon
user

Shweta Dharamdasani

Rehabilitation Psychologist

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आर्थिक मानसिक रोगों की कोई रात ही तो नहीं है तो आराम हो जाता है ऐसे इंसान को प्रभावित होता है उनके आसपास के व्यक्ति प्रभावित होते हैं और इतने फंक्शनैलिटी काफी हद तक हम देखते हैं कि प्रभावित होती है तो मुझे तुम ही कहूंगी कि ज्यादा की कम बढ़ाओ अगर इंटर इंटर भी मुश्किल हो जाता है ओपीडी के साथ फंक्शन करता रोज मराठी

aarthik mansik rogo ki koi raat hi toh nahi hai toh aaram ho jata hai aise insaan ko prabhavit hota hai unke aaspass ke vyakti prabhavit hote hain aur itne fankshanailiti kaafi had tak hum dekhte hain ki prabhavit hoti hai toh mujhe tum hi kahungi ki zyada ki kam badhao agar inter inter bhi mushkil ho jata hai OPD ke saath function karta roj marathi

आर्थिक मानसिक रोगों की कोई रात ही तो नहीं है तो आराम हो जाता है ऐसे इंसान को प्रभावित होत

Romanized Version
Likes  49  Dislikes    views  479
WhatsApp_icon
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

2:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अब तो प्रश्न है क्या उलटीडी सबसे खराब मानसिक रोगों में से एक है सिर्फ उसी भी नहीं कोई भी रोग होता है वह खराब ही गिना जाता है क्यों अगर हम शारीरिक और मानसिक तरीके से ठीक नहीं है तो किसी को भी अच्छा नहीं लगेगा हर किसी को बुरा लगेगा और जिसको जो रोग हुआ है जो बीमारी हुई है वह उसे खतरनाक की लगेगी कि यार यह क्यों हो यह तो दुश्मन को भी ना हो हम अपने मन में ऐसा सोचते हैं कहीं ना कहीं कोई ना कोई जब बीमार होता है किसी का एक्सीडेंट हो जाता है यार एक्सीडेंट कभी दुश्मन को भी ना चल हो तैयार फेक्चर तो कभी दुश्मन को भी ना होती तो उसे भी मानसिक रोगों में से एक है वह चाहिए लेकिन खराब मानसिक रोग में से एक ऐसा नहीं कहा जाता था बहुत सारे स्पीडोफर ने ओसीडी ऑटिज्म बहुत है जो अलग-अलग मानसिक बीमार विकास जोगिंग वैसे ही उसको हाई लेवल में गिना जाता है किसी को भी लाइक्ली नहीं गिना जाता क्योंकि हर रोग की दवा होती है उपचार रहता है फिर आप इन्हें काउंसलिंग होता है ठीक है कि चिंता टेंशन घबराहट जो आप महसूस करते हैं ज्यादा दर्द हो जाए तो भी होता है फिर अगर कोई कार्य है जो आप अपनी चिंता को कम करने के लिए करता है तू हो जाता है कभी-कभी तो उसे लगता है कि मानसिक रोगी कोई भी हो वह बड़ा ही होता है खतरनाक होता है खराबी होता है उसमें से बाहर निकलना होता है और दोनों लोग मदद करें हमेशा में तू ही जिसको रोग हुआ है वह भी अगर साथ सरकार के साथ सका तू ही ग्रुप में से बाहर निकलने में अच्छे से सकरकेट इस मदद कर सकते और अच्छा रिजल्ट आ सकता है आपका दिन शुभ हो धन्यवाद गुड लक पर लाइफ केयर जॉय

ab toh prashna hai kya ulatidi sabse kharab mansik rogo mein se ek hai sirf usi bhi nahi koi bhi rog hota hai vaah kharab hi gina jata hai kyon agar hum sharirik aur mansik tarike se theek nahi hai toh kisi ko bhi accha nahi lagega har kisi ko bura lagega aur jisko jo rog hua hai jo bimari hui hai vaah use khataranaak ki lagegi ki yaar yah kyon ho yah toh dushman ko bhi na ho hum apne man mein aisa sochte hain kahin na kahin koi na koi jab bimar hota hai kisi ka accident ho jata hai yaar accident kabhi dushman ko bhi na chal ho taiyar fekchar toh kabhi dushman ko bhi na hoti toh use bhi mansik rogo mein se ek hai vaah chahiye lekin kharab mansik rog mein se ek aisa nahi kaha jata tha bahut saare spidofar ne OCD autism bahut hai jo alag alag mansik bimar vikas jogging waise hi usko high level mein gina jata hai kisi ko bhi laikli nahi gina jata kyonki har rog ki dawa hoti hai upchaar rehta hai phir aap inhen kaunsaling hota hai theek hai ki chinta tension ghabarahat jo aap mehsus karte hain zyada dard ho jaaye toh bhi hota hai phir agar koi karya hai jo aap apni chinta ko kam karne ke liye karta hai tu ho jata hai kabhi kabhi toh use lagta hai ki mansik rogi koi bhi ho vaah bada hi hota hai khataranaak hota hai kharabi hota hai usme se bahar nikalna hota hai aur dono log madad kare hamesha mein tu hi jisko rog hua hai vaah bhi agar saath sarkar ke saath saka tu hi group mein se bahar nikalne mein acche se sakaraket is madad kar sakte aur accha result aa sakta hai aapka din shubha ho dhanyavad good luck par life care joy

अब तो प्रश्न है क्या उलटीडी सबसे खराब मानसिक रोगों में से एक है सिर्फ उसी भी नहीं कोई भी र

Romanized Version
Likes  260  Dislikes    views  5464
WhatsApp_icon
user

Girijakant Singh

Founder/ President Yog Bharati Foundation Trust

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न ओसीडी का सबसे खराब मानसिक रोगों में से एक है रोक तो वैसे सभी फलों का नाम ही खतरा है लेकिन कोई भी हो हमें हमेशा पॉजिटिव सोचना चाहिए पॉजिटिव थिंक रखनी चाहिए और उसको प्रॉपर ट्रीटमेंट लेना चाहिए उसका और उसको बड़ा नहीं मानना चाहिए उसके पत्नी के टाइम नहीं रहना चाहिए क्योंकि जितना आप हम बड़ा बीमारी को मानेंगे उतना हम देर से सस्ता उतना को बड़ी बीमारी बनती जाती है हमारी निकट एबिचार भी उसको बढ़ाते हैं इसलिए पॉजिटिव रहे हैं धन्यवाद

aapka prashna OCD ka sabse kharab mansik rogo mein se ek hai rok toh waise sabhi falon ka naam hi khatra hai lekin koi bhi ho hamein hamesha positive sochna chahiye positive think rakhni chahiye aur usko proper treatment lena chahiye uska aur usko bada nahi manana chahiye uske patni ke time nahi rehna chahiye kyonki jitna aap hum bada bimari ko manenge utana hum der se sasta utana ko badi bimari banti jaati hai hamari nikat ebichar bhi usko badhate hain isliye positive rahe hain dhanyavad

आपका प्रश्न ओसीडी का सबसे खराब मानसिक रोगों में से एक है रोक तो वैसे सभी फलों का नाम ही खत

Romanized Version
Likes  92  Dislikes    views  1926
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Amit Agrawal Rishiyog

Yoga Acupressure Expert

1:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हापुस ने किया उसी की सबसे खतरनाक मानसिक रूप में से एक है जी ऐसा कुछ भी नहीं है हमें किसी भी रोग के प्रति नेगेटिव नहीं होना चाहिए यही हमारी एक बहुत बड़ी समस्या है और यह स्वाभाविक भी है जो हमें कोई रोग होता है तो हम उसके प्रत्येक नेगेटिव तक नकारात्मकता बना लेते हैं कि मुझे यह रोग हुआ है यह भयानक है या मुझे इस रोग से बहुत ज्यादा दिक्कत है तो ऐसा कुछ भी नहीं है आप उसके प्रति पॉजिटिव रहें और उससे उबरने का प्रयास करें और ओसीडी कोई ऐसी बहुत बड़ी समस्या नहीं है प्रारंभिक स्तर पर तो शुरुआती तौर पर खुद ब खुद कई बार प्रयासों से ही खत्म हो जाती है और आज तो काफी जो है वह ट्रीटमेंट्स वगैरह काफी अवेलेबल है और इसके साथ-साथ अगर आपको ओसीडी है तो आपको प्राणायाम और ध्यान भी बड़ा सपोर्ट करता है क्योंकि कई बार हम लोग उन्हीं विचारों में फंसे रहते हैं और इसीलिए यह डिसऑर्डर की समस्या हो जाती है तो ऐसी कोई समस्या नहीं है सबसे पहले आप किसी भी रोक को आपको सीडीए है तो आप अपने ओसीडी के प्रति के नेगेटिव थॉट निकालिए और जो है कि यह रोग ठीक नहीं होता या यह रोग मुझे हो गया है और बहुत बड़ा रोग है ऐसा कुछ भी नहीं आप और लोगों को देखिए इससे बड़े बड़े लोग परेशान हैं बड़े-बड़े लोगों से तो यह कुछ भी नहीं आप समस्या इसलिए हर रोग में हमें पॉजिटिव रहना चाहिए तभी हम उन लोगों से उबर पाते हैं थैंक यू

hapus ne kiya usi ki sabse khataranaak mansik roop mein se ek hai ji aisa kuch bhi nahi hai hamein kisi bhi rog ke prati Negative nahi hona chahiye yahi hamari ek bahut baadi samasya hai aur yah swabhavik bhi hai jo hamein koi rog hota hai toh hum uske pratyek Negative tak nakaratmakta bana lete hai ki mujhe yah rog hua hai yah bhayanak hai ya mujhe is rog se bahut zyada dikkat hai toh aisa kuch bhi nahi hai aap uske prati positive rahein aur usse ubarane ka prayas kare aur OCD koi aisi bahut baadi samasya nahi hai prarambhik sthar par toh shuruati taur par khud bsp khud kai baar prayaso se hi khatam ho jaati hai aur aaj toh kaafi jo hai vaah tritaments vagera kaafi available hai aur iske saath saath agar aapko OCD hai toh aapko pranayaam aur dhyan bhi bada support karta hai kyonki kai baar hum log unhi vicharon mein fanse rehte hai aur isliye yah disorder ki samasya ho jaati hai toh aisi koi samasya nahi hai sabse pehle aap kisi bhi rok ko aapko CDA hai toh aap apne OCD ke prati ke Negative thought nikaliye aur jo hai ki yah rog theek nahi hota ya yah rog mujhe ho gaya hai aur bahut bada rog hai aisa kuch bhi nahi aap aur logo ko dekhiye isse bade bade log pareshan hai bade bade logo se toh yah kuch bhi nahi aap samasya isliye har rog mein hamein positive rehna chahiye tabhi hum un logo se ubar paate hai thank you

हापुस ने किया उसी की सबसे खतरनाक मानसिक रूप में से एक है जी ऐसा कुछ भी नहीं है हमें किसी भ

Romanized Version
Likes  114  Dislikes    views  2178
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
एचडी में से ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!