क्या लोग कुछ साबित करने या सहानुभूति पाने के लिए आत्महत्या का प्रयास करते हैं?...


user

Minnie Chopra

Rehabilitation Psychologist

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कुछ परसेंटेज ओं की फिल्मी अटेंशन सीकिंग या कोई प्रूफ पॉइंट क्यों करना चाहते थे किसी को या किसी की याद सिंपति गेम करना चाहते थे वह भी रीजन देखा देखा गया है देखा जा सकता है छोरी कर तो कई हो सकते हैं बटन मेरी को मैक्सिमम कैसे सोते हैं उन सब की लॉन्ग टर्म उनका एक फिगर रहता है मतलब और आपने कर लिया वह कई सालों से कोई प्रॉब्लम नहीं होती हो तो प्रॉब्लम आसपास के लोग देख नहीं पाते और कभी उनको यह विश्वास नहीं होता कि उनकी मदद की जा सकती है सबसे बड़ी प्रॉब्लम यही है आरजू इश्यू है सबसे दुख भरी बात यही है कि जो इंसान सुसाइड करते हैं उनको यह लगता है क्योंकि कोई मदद कर नहीं सकता जबकि यह सही नहीं है उनकी देखने की मदद की जा सकती है

kuch percentage yuvaon ki filmy attention seeking ya koi proof point kyon karna chahte the kisi ko ya kisi ki yaad simpati game karna chahte the wah bhi reason dekha dekha gaya hai dekha ja sakta hai chhori kar toh kai ho sakte hain button meri ko maximum kaise sote hain un sab ki long term unka ek figure rehta hai matlab aur aapne kar liya wah kai salon se koi problem nahi hoti ho toh problem aaspass ke log dekh nahi paate aur kabhi unko yeh vishwas nahi hota ki unki madad ki ja sakti hai sabse badi problem yahi hai aaraju issue hai sabse dukh bhari baat yahi hai ki jo insaan suicide karte hain unko yeh lagta hai kyonki koi madad kar nahi sakta jabki yeh sahi nahi hai unki dekhne ki madad ki ja sakti hai

कुछ परसेंटेज ओं की फिल्मी अटेंशन सीकिंग या कोई प्रूफ पॉइंट क्यों करना चाहते थे किसी को या

Romanized Version
Likes  33  Dislikes    views  445
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr Amit Kumar

Assistant Professor

1:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विश्व का सबसे बड़ा रीजन भेजो डिप्रेशन होता है जब आदमी डिप्रेशन में होता है उसको सबसे बेस्ट ऑप्शन लगता है वह साइट कंटेंट को बीमारी हो गई है ठीक है वह बिल्कुल ठीक नहीं हो सकता है तो वहां पर भी वह मुझे डिप्रेशन में चला जाता है और फिर वह चाहते हैं कि बस मेरी लाइफ खत्म हो जाएगा कुछ करने की जरूरत है कुछ ऐसे जरूरी प्रेगनेंसी सो कर देते हैं कार्टून

vishwa ka sabse bada reason bhejo depression hota hai jab aadmi depression mein hota hai usko sabse best option lagta hai wah site content ko bimari ho gayi hai theek hai wah bilkul theek nahi ho sakta hai toh wahan par bhi wah mujhe depression mein chala jata hai aur phir wah chahte hain ki bus meri life khatam ho jayega kuch karne ki zarurat hai kuch aise zaroori pregnancy so kar dete hain cartoon

विश्व का सबसे बड़ा रीजन भेजो डिप्रेशन होता है जब आदमी डिप्रेशन में होता है उसको सबसे बेस्ट

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  435
WhatsApp_icon
user

महेश हिन्दू

विधार्थी

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार भाइयों बहनों लोग कुछ साबित करने या सहानुभूति पाने की आत्महत्या का प्रयास करते हैं तो ऐसा है कि भैया आत्महत्या तो 1 लोगों को कुछ चारा नहीं दिखता है कोई बचाव कार्य नहीं दिखता है उसकी जिंदगी में उसको कुछ नहीं दिखता है या आप डिप्रेशन का शिकार हो जाता है तब आप है परिसर है पारिवारिक आर्थिक सामाजिक या अपनी खुद की कोई भी समस्या भी है उसका निपटारा उसे कैसे नहीं मिलता है लेकिन कहीं नहीं मिलता है तो फिर कुछ जिंदगी कैसे जिए जान भी जाते जाते हैं तो लोगों को उसे भावना से देखते हैं इसलिए वह आत्महत्या करने का सबसे बड़ा कारण चाहिए कि वह जो भी गलती करता है उसकी समस्या नहीं सुनी जाती है तो वह देखता है कि ऐसे में कब तक जिऊंगा और अगर जी भी लूंगा तो इससे क्या साबित होगा इसीलिए सानू होती तो कुछ नहीं है पीछे घर परिवार में दुखी होता है लेकिन हां एक बात है कि उसका तो वह दुख सारा मैटर जाते आत्महत्या करने से लेकिन मेरे हिसाब से आत्महत्या करना कि अगर इस यात्रा में क्या होती रहेगी तो फिर सब आत्महत्या कर लेंगे फिर कानून किस लिए प्रशासन किस लिए घर परिवार किस लिए होता है फिर समाज किस लिए कोट बगैरा कचरी सब किसके लिए काय के लिए बनी है कृषि की आत्महत्या तो जायज नहीं ठहराया जा सकता लेकिन हां अब जैसे गरीब लोग होते हैं उनका तो निपटारा नहीं होता तो क्या करते हैं घर से या पत्नी से बच्चों से या माता-पिता से परेशान हो जाते हैं या औलाद से माता-पिता परेशान हो जाती तो वह तो मैं क्या कर लेती क्योंकि उन्हें कोई सुझाव मिलता नहीं है

namaskar bhaiyo bahanon log kuch saabit karne ya sahanubhuti pane ki atmahatya ka prayas karte hai toh aisa hai ki bhaiya atmahatya toh 1 logo ko kuch chara nahi dikhta hai koi bachav karya nahi dikhta hai uski zindagi mein usko kuch nahi dikhta hai ya aap depression ka shikaar ho jata hai tab aap hai parisar hai parivarik aarthik samajik ya apni khud ki koi bhi samasya bhi hai uska niptara use kaise nahi milta hai lekin kahin nahi milta hai toh phir kuch zindagi kaise jiye jaan bhi jaate jaate hai toh logo ko use bhavna se dekhte hai isliye wah atmahatya karne ka sabse bada kaaran chahiye ki wah jo bhi galti karta hai uski samasya nahi suni jati hai toh wah dekhta hai ki aise mein kab tak jiunga aur agar ji bhi lunga toh isse kya saabit hoga isliye sanu hoti toh kuch nahi hai peeche ghar parivar mein dukhi hota hai lekin haan ek baat hai ki uska toh wah dukh saara matter jaate atmahatya karne se lekin mere hisab se atmahatya karna ki agar is yatra mein kya hoti rahegi toh phir sab atmahatya kar lenge phir kanoon kis liye prashasan kis liye ghar parivar kis liye hota hai phir samaj kis liye coat bagera kachari sab kiske liye kya ke liye bani hai krishi ki atmahatya toh jayaz nahi thehraya ja sakta lekin haan ab jaise garib log hote hai unka toh niptara nahi hota toh kya karte hai ghar se ya patni se baccho se ya mata pita se pareshan ho jaate hai ya aulad se mata pita pareshan ho jati toh wah toh main kya kar leti kyonki unhein koi sujhaav milta nahi hai

नमस्कार भाइयों बहनों लोग कुछ साबित करने या सहानुभूति पाने की आत्महत्या का प्रयास करते हैं

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  552
WhatsApp_icon
user

Dr Sanjana Seth

Psychologist & Psychotherapist

1:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्यों कहीं कैसे होते हैं बॉर्डर लाइन पर्सनैलिटी डिसऑर्डर उसमें होते हैं उसमें क्या होता है कि वह ऐसे सुसाइड का वह नहीं पर वह छोटा छोटा अपनी लिस्ट को काटना छोटे-छोटे निशान लेट से लगा ले अपनी स्क्रीन पर अपनी बॉडी पर कुछ और करने के लिए टेंशन चेकिंग भी होता है उसको मदद के लिए कहीं ना कहीं उसने भी जो प्रशन है जो यह साइंस दिखा रहा है नौटंकी और ड्रामा कर रहे हैं जब मैट्रिक्स हैं या लोग कहते हैं कैसे करते रहते हैं कुछ नहीं करेगी अंदर जब हम यह किसी को हैंडल करते हैं तो एक कहीं छुपा हुआ क्यों दिखाई देता है 100 में दिखाई देता है कि जो एक कमजोरी दिखाई देती है कि वह नहीं बे नॉट एबल टू को पैदा जो day-to-day उनके सरकमस्टेंसस हैं कोई उनके इंटरपर्सनल रिलेशनशिप है कुछ ऐसा डिजिटल की बात करते हैं इसका एबीसी देखते हैं तो भी बिहेवियर हो गया सी कौन सी बस हो गया होता एमपी3 बैंड खोज व ज्ञाता हो रहा है

kyon kahin kaise hote hai border line personality disorder usme hote hai usme kya hota hai ki wah aise suicide ka wah nahi par wah chota chota apni list ko kaatna chote chhote nishaan late se laga le apni screen par apni body par kuch aur karne ke liye tension checking bhi hota hai usko madad ke liye kahin na kahin usne bhi jo prashn hai jo yeh science dikha raha hai nautanki aur drama kar rahe hai jab matrix hai ya log kehte hai kaise karte rehte hai kuch nahi karegi andar jab hum yeh kisi ko handle karte hai toh ek kahin chupa hua kyon dikhai deta hai 100 mein dikhai deta hai ki jo ek kamzori dikhai deti hai ki wah nahi be not Abal to ko paida jo day-to-day unke circumstances hai koi unke intaraparsanal Relationship hai kuch aisa digital ki baat karte hai iska ABC dekhte hai toh bhi behaviour ho gaya si kaun si bus ho gaya hota mp band khoj va gyaata ho raha hai

क्यों कहीं कैसे होते हैं बॉर्डर लाइन पर्सनैलिटी डिसऑर्डर उसमें होते हैं उसमें क्या होता है

Romanized Version
Likes  32  Dislikes    views  446
WhatsApp_icon
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है क्या कुछ लोग साबित करने यह सहानुभूति पाने के लिए आत्महत्या का प्रयास करते हैं जी हां करते हैं

aapka prashna hai kya kuch log saabit karne yah sahanubhuti paane ke liye atmahatya ka prayas karte hain ji haan karte hain

आपका प्रश्न है क्या कुछ लोग साबित करने यह सहानुभूति पाने के लिए आत्महत्या का प्रयास करते ह

Romanized Version
Likes  332  Dislikes    views  4514
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!