लोग हमारा मजाक क्यों उड़ाते हैं?...


play
user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बेटा तुम्हारा यह पृष्ठ यह कह रहा है कि तुम अंतर्मुखी तृप्ति के हो तुम लोगों से घुलना मिलना कम पसंद करते हो तुम एकांत पसंद करते हो तुम्हारे विचार लोगों से कम मिलते हैं रियलिटी है बच्चों आपका मजाक कोई नहीं हो रहा था अपितु आपको क्योंकि आपस में प्रवृत्ति के नहीं हो इसलिए लोग आप पर हावी हो जाते हैं आपकी बात से भी जो है बड़ी कमजोर है आपको लोगों से गुल्ला मिलना चाहिए और चिड़िया मत जितना आप चलेंगे जितना आप यकीन करेंगे कि लोग मेरा मजाक उड़ा रहे हैं तो मतलब आप आश्चर्य की बात यह संसार जो है आप को जीने देगा सब लोग मजाक उड़ाना चालू कर यह है कि उनके साथ मिले उसे क्या हुआ दक्षिण अफ्रीका का किस्सा है गांधी जी का जो एक बटन था वह ऊपर लग गया है कि नीचे लग गया है इस प्रकार से ऊपर नीचे बटन लग गए उन्हें देखकर गांधी जी भी उन्हें देखकर कैसे लगे तो वकीलों ने कहा कि आप की जो शर्ट के बटन है उल्टे सीधे लग रहे हैं लेकिन आप क्यों ऐसे गांधी जी ने कहा कि जब मेरे मित्र हैं तो मैं भी हूं इसलिए मैं मेरे कहने का तात्पर्य केवल मजाक करना कम कर दिया जब आप लोगों में खुलेंगे तो आपको यह फिर होना बंद हो जाएगा और जब तक आप ऐसा फील करते रहेंगे कि लोग मेरी मजाक उड़ा रहे हैं तो आप को यह समझ जी का मेन सिटी काम कर जाएगा इसलिए हो सके जितना आप लोगों से मिलनसार ता रखी है अपनी बात से अली का विस्तार कीजिए लोगों से जितने भी लेंगे आपका ज्ञान बढ़ेगा आपकी बोलने की शक्ति बढ़ेगी

beta tumhara yeh prishth yeh keh raha hai ki tum antarmukhi tripti ke ho tum logo se ghulna milna kam pasand karte ho tum ekant pasand karte ho tumhare vichar logo se kam milte hain reality hai baccho aapka mazak koi nahi ho raha tha apitu aapko kyonki aapas mein pravritti ke nahi ho isliye log aap par havi ho jaate hain aapki baat se bhi jo hai badi kamjor hai aapko logo se gulla milna chahiye aur chidiya mat jitna aap chalenge jitna aap yakin karenge ki log mera mazak uda rahe hain toh matlab aap aashcharya ki baat yeh sansar jo hai aap ko jeene dega sab log mazak udana chalu kar yeh hai ki unke saath mile use kya hua dakshin africa ka kissa hai gandhi ji ka jo ek button tha wah upar lag gaya hai ki niche lag gaya hai is prakar se upar niche button lag gaye unhein dekhkar gandhi ji bhi unhein dekhkar kaise lage toh vakilon ne kaha ki aap ki jo shirt ke button hai ulte sidhe lag rahe hain lekin aap kyon aise gandhi ji ne kaha ki jab mere mitra hain toh main bhi hoon isliye main mere kehne ka tatparya keval mazak karna kam kar diya jab aap logo mein khulenge toh aapko yeh phir hona band ho jayega aur jab tak aap aisa feel karte rahenge ki log meri mazak uda rahe hain toh aap ko yeh samajh ji ka main city kaam kar jayega isliye ho sake jitna aap logo se milansaar ta rakhi hai apni baat se ali ka vistar kijiye logo se jitne bhi lenge aapka gyaan badhega aapki bolne ki shakti badhegi

बेटा तुम्हारा यह पृष्ठ यह कह रहा है कि तुम अंतर्मुखी तृप्ति के हो तुम लोगों से घुलना मिलना

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  25
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!