क्या भगवान है? यदि है तो कैसे?...


user

Anil Kumar Tiwari

Yoga, Meditation & Astrologer

3:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है क्या भगवान है यदि है तो कैसे पहला प्रश्न क्या भगवान है उत्तर यह कि भगवान है और फिर पूछते हैं कि यदि है तो कैसे-कैसे का मतलब यह हुआ आप देख रहे हैं आप सुन रहे हैं आप हर चीज को महसूस कर रहे हैं सूरज निकल रहा है चुप रहा है पृथ्वी घूम रही है आकाशगंगा में हजारों तारे नक्षत्र विचरण कर रहे हैं वनस्पतियां है पशु पक्षी जीव जंतु हैं सारा जीवन है पूरा संसार यह सब कैसे चल रहा है यह इस सब को चलाने वाली जो एक इनर्जी है जो एक ऊर्जा है जो एक ऊर्जा की व्यवस्था है उस व्यवस्था का नाम भगवान रखा गया है बड़ी कठिन व्यवस्था है गन्ने के अंदर मीठा रस भरना आंवले के अंदर खट्टा रस भरना अनार के अंदर लाल रंग रस भरना आपके अंदर बुद्धि का चलना आंखों से वाणी से बोलना महसूस करना जन्म होना और फिर जो जन्मा है उसकी मृत्यु होना संसार में जो कुछ भी जन्मता है वह 1 दिन मरण को प्राप्त होता है पशु-पक्षी हूं वनस्पति हो या कुछ भी संसार में जो आज है कल नहीं रहेगा इसकी जो व्यवस्था चलाने वाला है इसका जो संचालन करने वाला कौन है वही भगवान वही सब कर रहा है आप जन्मे हैं इस समय है 1 दिन ऐसा आएगा नहीं रहेंगे तो कहां चले जाएंगे फिर कहां से आए थे कहां से जन्मे थे शरीर के अंदर जो भोजन करते हैं उससे रस मजा खून मांस इज बनाने की एक फैक्ट्री शरीर के भीतर चल रही है यह सब कौन कर रहा है इसको करने वाले को ही भगवान कहते हैं पूछा ना भगवान क्या है यदि है तो कैसे हैं इसी तरह है यह जस्सार व्यवस्था चल रही है यह सारी व्यवस्था वही कर रहा है

aapka prashna hai kya bhagwan hai yadi hai toh kaise pehla prashna kya bhagwan hai uttar yah ki bhagwan hai aur phir poochhte hain ki yadi hai toh kaise kaise ka matlab yah hua aap dekh rahe hain aap sun rahe hain aap har cheez ko mehsus kar rahe hain suraj nikal raha hai chup raha hai prithvi ghum rahi hai akashganga mein hazaro taare nakshtra vichran kar rahe hain vanaspatiyan hai pashu pakshi jeev jantu hain saara jeevan hai pura sansar yah sab kaise chal raha hai yah is sab ko chalane wali jo ek inarji hai jo ek urja hai jo ek urja ki vyavastha hai us vyavastha ka naam bhagwan rakha gaya hai badi kathin vyavastha hai ganne ke andar meetha ras bharna aanvale ke andar khatta ras bharna anaar ke andar laal rang ras bharna aapke andar buddhi ka chalna aankho se vani se bolna mehsus karna janam hona aur phir jo janma hai uski mrityu hona sansar mein jo kuch bhi janmata hai vaah 1 din maran ko prapt hota hai pashu pakshi hoon vanaspati ho ya kuch bhi sansar mein jo aaj hai kal nahi rahega iski jo vyavastha chalane vala hai iska jo sanchalan karne vala kaun hai wahi bhagwan wahi sab kar raha hai aap janme hain is samay hai 1 din aisa aayega nahi rahenge toh kahaan chale jaenge phir kahaan se aaye the kahaan se janme the sharir ke andar jo bhojan karte hain usse ras maza khoon maas is banane ki ek factory sharir ke bheetar chal rahi hai yah sab kaun kar raha hai isko karne waale ko hi bhagwan kehte hain poocha na bhagwan kya hai yadi hai toh kaise hain isi tarah hai yah jassar vyavastha chal rahi hai yah saree vyavastha wahi kar raha hai

आपका प्रश्न है क्या भगवान है यदि है तो कैसे पहला प्रश्न क्या भगवान है उत्तर यह कि भगवान है

Romanized Version
Likes  155  Dislikes    views  1222
KooApp_icon
WhatsApp_icon
4 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
kya bhagwan hai ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!