वैलेंटाइन डे का त्यौहार किस कारण मनाया जाता है?...


play
user

munmun

Volunteer

2:01

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेकिन वैलेंटाइन डे जो है एक व्यक्ति के नाम पर रखा गया है और इसका नाम है वैलेंटाइन था इस प्यार के दिन की कहानी की शुरुआत प्यार से भरा प्यार से बराबर नहीं हो रही है कहानी दुष्ट राजा और कृपालु संत वैलेंटाइन के बीच में मुठभेड़ के बारे में है और इस दिन की शुरुआत जो है रूम की तीसरी सदी से जहां एक अत्याचारी राजा हुआ करता था और जिसका नाम क्लॉडियस था और रोम के राजा का मानना था कि अकेला सफाई शादीशुदा सफाई के मुकाबले जंग के लिए एक उचित और प्रभावशाली सिपाही बन सकता क्योंकि शादीशुदा सिपाही को हर वक्त इस बार की चिंता लगी रहती थी कि उसके मर जाने के बाद उसके परिवार का क्या होगा तो इसकी जो इसकी चिंता में जो है वह जंग में अपना पूरा ध्यान नहीं दे पाता तो यही सोचकर जो क्लॉडियस राजा ने ऐलान किया कि उसके राज्य का कोई सिपाहियों शादी नहीं करेगा और जिस किसी ने शादी की है उसे उसके आदेश का जन्मदिन किया तो उस को कड़ी सजा दी जाएगी तो राधा के इस फैसले से जो है सभी सिपाही दुखी थे और उन्होंने यह पता यह भी बताया था कि यह फैसला गलत है लेकिन राजा के डर से किसी इसका जवाब उल्लंघन करने का हिम्मत नहीं किया और दो इसलिए क्या हुआ जो वह वैलेंटाइन जो था जो संत वैलेंटाइन था उसमें उसको यह नाइंसाफी लगी तो उसने यह चलते जो है सिपाहियों की चुप करके उनकी शादी करवाने की सोची और उसने उनकी शादी करवाने में जो हेल्प की और इसी तरह वैलेंटाइन डे बहुत ही सिपाहियों की गुप्त शादी करवा चुके थे तो उसके बाद जो यश जब यह सच छुप नहीं पाए और फिर उसके बाद राजा को इस बात का पता चला और वैलेंटाइन को जो है सजा ए मौत की सजा सुनाई दी और सुना दी उन्हें जेल के अंदर डाल दिया गया एक दिन जलाया और जिला का नाम था ऑस्ट्रेलिया और तो उसकी उसकी ज्योति एक बंदी बेटी थी उसे वैलेंटाइन के पास बसी हुई है जादुई ताकत के बारे में बताता इसलिए वह वैलेंटाइन के पास जाकर उन्हें उन से विनती करने लगा कि उसकी बेटी की आंखें की रोशनी जो है अभी देवी शक्ति से ठीक कर दें उन्होंने जो है उसकी बेटी फ्री टिकट

lekin valentine day jo hai ek vyakti ke naam par rakha gaya hai aur iska naam hai valentine tha is pyar ke din ki kahani ki shuruat pyar se bhara pyar se barabar nahi ho rahi hai kahani dusht raja aur kripalu sant valentine ke beech mein muthbhed ke bare mein hai aur is din ki shuruat jo hai room ki teesri sadi se jaha ek atyachari raja hua karta tha aur jiska naam kladiyas tha aur roam ke raja ka manana tha ki akela safaai shaadishuda safaai ke muqable jung ke liye ek uchit aur prabhavshali sipahi ban sakta kyonki shaadishuda sipahi ko har waqt is baar ki chinta lagi rehti thi ki uske mar jaane ke baad uske parivar ka kya hoga toh iski jo iski chinta mein jo hai vaah jung mein apna pura dhyan nahi de pata toh yahi sochkar jo kladiyas raja ne elaan kiya ki uske rajya ka koi sipaahiyon shadi nahi karega aur jis kisi ne shadi ki hai use uske aadesh ka janamdin kiya toh us ko kadi saza di jayegi toh radha ke is faisle se jo hai sabhi sipahi dukhi the aur unhone yah pata yah bhi bataya tha ki yah faisla galat hai lekin raja ke dar se kisi iska jawab ullanghan karne ka himmat nahi kiya aur do isliye kya hua jo vaah valentine jo tha jo sant valentine tha usme usko yah nainsafi lagi toh usne yah chalte jo hai sipaahiyon ki chup karke unki shadi karwane ki sochi aur usne unki shadi karwane mein jo help ki aur isi tarah valentine day bahut hi sipaahiyon ki gupt shadi karva chuke the toh uske baad jo yash jab yah sach chup nahi paye aur phir uske baad raja ko is baat ka pata chala aur valentine ko jo hai saza a maut ki saza sunayi di aur suna di unhe jail ke andar daal diya gaya ek din jalaya aur jila ka naam tha austrailia aur toh uski uski jyoti ek bandi beti thi use valentine ke paas basi hui hai jaduii takat ke bare mein batata isliye vaah valentine ke paas jaakar unhe un se vinati karne laga ki uski beti ki aankhen ki roshni jo hai abhi devi shakti se theek kar de unhone jo hai uski beti free ticket

लेकिन वैलेंटाइन डे जो है एक व्यक्ति के नाम पर रखा गया है और इसका नाम है वैलेंटाइन था इस प्

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  423
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!