जब आप यात्रा पर हों तो योग का अभ्यास कैसे करें?...


चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यात्रा पर है तो योग का अभ्यास कैसे करें या आपका प्रश्न बहुत ही अच्छा है पहले तो आप यह अपने पर मैनेजमेंट करें कि आप यात्रा किस से कर रहे हैं हवाई जहाज से कर रहे हैं या ट्रेन से कट रहे हैं या अपनी निजी वाहन से कर रहे हैं या बाइक से कर रहे हैं वैसे कर रहे हैं तो आप इतना समय निकाल सकते हैं ब्रह्म मुहूर्त में सुबह के समय हवाई जहाज ट्रेन में ट्रेन में जा रहे हैं तो कोई स्टेशन आ जाता है जहां रुक जाती है 2 से 5 मिनट वहां पर भी आप कर सकते हैं निजी गाड़ी है तो भी आप कहीं भी गाड़ी खड़ी करके रुक सकते हैं हवाई जहाज की बात आती है तो हवाई जहाज में सिर्फ आप सूक्ष्म व्यायाम पैरों की हाथों पर सूक्ष्म व्यायाम कर सकते हैं और प्राणायाम कर सकते हैं थोड़ा ध्यान कर सकते हैं यह आपकी यात्रा में ही अभ्यास कितने ही किए जाते हैं

yatra par hai toh yog ka abhyas kaise kare ya aapka prashna bahut hi accha hai pehle toh aap yah apne par management kare ki aap yatra kis se kar rahe hain hawai jahaj se kar rahe hain ya train se cut rahe hain ya apni niji vaahan se kar rahe hain ya bike se kar rahe hain waise kar rahe hain toh aap itna samay nikaal sakte hain Brahma muhurt me subah ke samay hawai jahaj train me train me ja rahe hain toh koi station aa jata hai jaha ruk jaati hai 2 se 5 minute wahan par bhi aap kar sakte hain niji gaadi hai toh bhi aap kahin bhi gaadi khadi karke ruk sakte hain hawai jahaj ki baat aati hai toh hawai jahaj me sirf aap sukshm vyayam pairon ki hathon par sukshm vyayam kar sakte hain aur pranayaam kar sakte hain thoda dhyan kar sakte hain yah aapki yatra me hi abhyas kitne hi kiye jaate hain

यात्रा पर है तो योग का अभ्यास कैसे करें या आपका प्रश्न बहुत ही अच्छा है पहले तो आप यह अपने

Romanized Version
Likes  38  Dislikes    views  987
WhatsApp_icon
22 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Somit Yoga Varanasi

Yoga Trainer and Astrologer

0:43
Play

Likes  66  Dislikes    views  1318
WhatsApp_icon
user

dipti choudhary

Yoga Trainer

1:04
Play

Likes  100  Dislikes    views  1144
WhatsApp_icon
play
user

Dr. R. K. Gupta

Yoga & Nature Care Health center

0:47

Likes  136  Dislikes    views  1494
WhatsApp_icon
user

inderjeet singh

Yoga Trainer

0:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब हम यात्रा पर होते हैं तो बाकी भी काम करते हैं खाना भी खाते हैं नींद भी लेते हैं अपने काम भी करते हैं फोन पर बात भी करते हैं सारे काम करते हैं ऐसे बीच में से टाइम निकाल कर योग भी कर सकते हैं कोई बड़ी बात नहीं है जल्दी उठकर थोड़ा सा अपना जहां पर आप रुके हुए हैं डिस्टर्ब ना हो तो अपना समय पर उठकर थोड़ा सा ट्रेन के आपको थोड़ी जगह तो मिल ही जाएगी जहां भी भी आ जाता करते रहते हैं जाएंगे कर सकते टाइम मैनेजमेंट करना होगा बाकी सारा अपनी रुचि पर डिपेंड करता है अब बाकी सारे कामों के साथ जो भी हम कर सकते हैं कोई बड़ी बात नहीं है इसमें

jab hum yatra par hote hain toh baki bhi kaam karte hain khana bhi khate hain neend bhi lete hain apne kaam bhi karte hain phone par baat bhi karte hain saare kaam karte hain aise beech me se time nikaal kar yog bhi kar sakte hain koi badi baat nahi hai jaldi uthakar thoda sa apna jaha par aap ruke hue hain disturb na ho toh apna samay par uthakar thoda sa train ke aapko thodi jagah toh mil hi jayegi jaha bhi bhi aa jata karte rehte hain jaenge kar sakte time management karna hoga baki saara apni ruchi par depend karta hai ab baki saare kaamo ke saath jo bhi hum kar sakte hain koi badi baat nahi hai isme

जब हम यात्रा पर होते हैं तो बाकी भी काम करते हैं खाना भी खाते हैं नींद भी लेते हैं अपने का

Romanized Version
Likes  106  Dislikes    views  1211
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जब आप यात्रा कर रहे हो तो योगाभ्यास कैसे करें तो जब भी आप यात्रा कर रहे हो तो आप बेड के सूक्ष्म व्यायाम कर सकते हैं हाथ पैरों को हिलाना जितने हमारे जॉइंट से उस जॉइंट को हिलाना बैठे-बैठे यह सब के लिए सकती है सुख के नाम से मिल जाएंगे और और इसका ध्यान रखना जहां पर भी आप उठे हैं या फिर परमात्मा को याद कर लीजिए तो किसी भी आप यात्रा में जाते हुए इस तरह साथियों का प्यार

jab aap yatra kar rahe ho toh yogabhayas kaise kare toh jab bhi aap yatra kar rahe ho toh aap bed ke sukshm vyayam kar sakte hain hath pairon ko hilana jitne hamare joint se us joint ko hilana baithe baithe yah sab ke liye sakti hai sukh ke naam se mil jaenge aur aur iska dhyan rakhna jaha par bhi aap uthe hain ya phir paramatma ko yaad kar lijiye toh kisi bhi aap yatra me jaate hue is tarah sathiyo ka pyar

जब आप यात्रा कर रहे हो तो योगाभ्यास कैसे करें तो जब भी आप यात्रा कर रहे हो तो आप बेड के सू

Romanized Version
Likes  39  Dislikes    views  1050
WhatsApp_icon
user

kuldeep mod

Yoga Instructor

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ओके जब हम लंबी यात्रा पर होते हैं दूर तीन-तीन दिन की यात्रा पर तो उस दौरान हम लोग को पूरा पैटर्न फॉलो नहीं कर पाते जो हम पहले करते तो इसको मैं पूरी तरीके से इसकी नहीं करना है इसमें आप यह कर सकते हैं कि बैठे-बैठे अब सूक्ष्म व्यायाम कर सकते हैं स्वयं के अंतर्गत अपने जैसे शरीर के जो जॉइंट से जॉइंट को घुमा लिया थोड़ा गर्दन वगैरह को कल आए तो सबको मालूम है जब थोड़ा जॉइंट कमेंट कर ले अच्छे से और अपने बैठे-बैठे जितना संभव हो सके उतना कर उसके बाद प्राणायाम जरूर करें प्राणायामा बैठे-बैठे कर सकते हैं और हम से तो यह जो आपका डेली रूटीन है इसको स्किप ना करें और उसमें प्राणायाम और साथ में वह मेड करके आप अपनी यात्रा में भी योग को कंटिन्यू रख सकते हैं

ok jab hum lambi yatra par hote hain dur teen teen din ki yatra par toh us dauran hum log ko pura pattern follow nahi kar paate jo hum pehle karte toh isko main puri tarike se iski nahi karna hai isme aap yah kar sakte hain ki baithe baithe ab sukshm vyayam kar sakte hain swayam ke antargat apne jaise sharir ke jo joint se joint ko ghuma liya thoda gardan vagera ko kal aaye toh sabko maloom hai jab thoda joint comment kar le acche se aur apne baithe baithe jitna sambhav ho sake utana kar uske baad pranayaam zaroor kare pranayama baithe baithe kar sakte hain aur hum se toh yah jo aapka daily routine hai isko skip na kare aur usme pranayaam aur saath me vaah made karke aap apni yatra me bhi yog ko continue rakh sakte hain

ओके जब हम लंबी यात्रा पर होते हैं दूर तीन-तीन दिन की यात्रा पर तो उस दौरान हम लोग को पूरा

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  116
WhatsApp_icon
user

loveena bhatt

Yoga Trainer,fashion Designer & social Worker

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्ते आप ने सवाल किया है जब आप यात्रा पर हो तो योग का अभ्यास कैसे करें तो यात्रा करते समय योग का अभ्यास करना मैं आपको कुछ आसन बताती हूं जो हम बैठकर भी कर सकते हैं यात्रा के दौरान तो उसमें आता है तू स्वयं हो गया लोम विलोम है कपालभाति है यहां बिजली बैठकर भी कर सकते हैं इसमें ज्यादा कुछ परेशानी नहीं है थैंक यू

namaste aap ne sawaal kiya hai jab aap yatra par ho toh yog ka abhyas kaise kare toh yatra karte samay yog ka abhyas karna main aapko kuch aasan batati hoon jo hum baithkar bhi kar sakte hain yatra ke dauran toh usme aata hai tu swayam ho gaya lom vilom hai kapalbhati hai yahan bijli baithkar bhi kar sakte hain isme zyada kuch pareshani nahi hai thank you

नमस्ते आप ने सवाल किया है जब आप यात्रा पर हो तो योग का अभ्यास कैसे करें तो यात्रा करते समय

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  228
WhatsApp_icon
user

Gyanchand Soni

Yoga Instructor.

0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यात्रा के दौरान जिस जगह रुके होटल में रुके तो आप होटल में योगा कर सकते जहां भी आपका रुकने का प्रोग्राम होगा बाद योगा कर सकते धन्यवाद आपका दिन शुभ रहे

yatra ke dauran jis jagah ruke hotel me ruke toh aap hotel me yoga kar sakte jaha bhi aapka rukne ka program hoga baad yoga kar sakte dhanyavad aapka din shubha rahe

यात्रा के दौरान जिस जगह रुके होटल में रुके तो आप होटल में योगा कर सकते जहां भी आपका रुकने

Romanized Version
Likes  232  Dislikes    views  3310
WhatsApp_icon
play
user

Narendar Gupta

प्राकृतिक योगाथैरिपिस्ट एवं योगा शिक्षक,फीजीयोथैरीपिस्ट

1:10

Likes  269  Dislikes    views  3368
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यात्रा पर हूं तो योग का अभ्यास कैसे करें यात्रा पर हो तो आप कर सकते हैं बैठ सकते हैं और कोई दिक्कत नहीं लेकिन हाथ साफ सुथरा जगह जगह होनी चाहिए गंदी मेरी जगह मिलोगे ना आती हो और उसमें आप आसन पर बैठने वाले आसन कर सकते हैं अभी ब्रेकिंग का भर्ती का परिणाम देखना है आशा करते समय आ गया

yatra par hoon toh yog ka abhyas kaise kare yatra par ho toh aap kar sakte hain baith sakte hain aur koi dikkat nahi lekin hath saaf suthara jagah jagah honi chahiye gandi meri jagah miloge na aati ho aur usme aap aasan par baithne waale aasan kar sakte hain abhi breaking ka bharti ka parinam dekhna hai asha karte samay aa gaya

यात्रा पर हूं तो योग का अभ्यास कैसे करें यात्रा पर हो तो आप कर सकते हैं बैठ सकते हैं और को

Romanized Version
Likes  153  Dislikes    views  4032
WhatsApp_icon
user

Shailesh Kumar Dubey

Yoga Teacher , Retired Government Employee

0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रश्न है जब यात्रा पर हो तो योग का अभ्यास कैसे करें इसका उत्तर है जब आप यात्रा में हैं ट्रेन में हैं बस में हैं प्राणायाम कर लीजिए और सब संभव नहीं है पूरा पीटी आसन संभव नहीं है सुरेंद्र बस कार संभव नहीं है तो सीट पर बैठे बैठे पर्सन सिद्धासन में बैठकर के और प्राणायाम कर लीजिए करें योग रहें निरोग

prashna hai jab yatra par ho toh yog ka abhyas kaise kare iska uttar hai jab aap yatra me hain train me hain bus me hain pranayaam kar lijiye aur sab sambhav nahi hai pura PT aasan sambhav nahi hai surendra bus car sambhav nahi hai toh seat par baithe baithe person siddhasan me baithkar ke aur pranayaam kar lijiye kare yog rahein nirog

प्रश्न है जब यात्रा पर हो तो योग का अभ्यास कैसे करें इसका उत्तर है जब आप यात्रा में हैं ट्

Romanized Version
Likes  90  Dislikes    views  2419
WhatsApp_icon
user

Vijay Sharma

Yoga Trainer (P.G.D.Y.)

0:26
Play

Likes  61  Dislikes    views  879
WhatsApp_icon
user

Neelam Chauhan

Yoga Teacher

1:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कि यात्रा के दौरान योगाभ्यास कैसे करें यात्रा के दौरान योगासन तो नहीं कर सकते हैं लेकिन आप प्रणब कर सकते हो मुद्रा कर सकते हो ध्यान भी कर सकते हो तो आप प्रणब कमर गर्दन सीधी करके आप जांच में भी बैठे बैठकर जा रहे हो आप अनुलोम विलोम कपालभाति कर सकते हो मनी मनी ओम का ध्यान करें ठीक है तो आपका ध्यान भी हो जाएगा आपका प्रणब भी हो जाएगा और दोनों हाथों का मुद्रा में रखे जोर से भी आपको सही लगे ज्ञान मुद्रा मुद्रा मुद्रा सूर्य मुद्रा पृथ्वी मुद्रा वरुण मुद्रा आपके शरीर के लिए आपको करें तो आपको मुद्रा के लाभ भी मिल जाएंगे तो आप इस तरीके से आप अपने रूटीन को बरकरार बनाकर रख सकते हैं आप योगासन ना करके प्राणायाम और ध्यान मुद्रा कर सकते हो

aapka prashna hai ki yatra ke dauran yogabhayas kaise kare yatra ke dauran yogasan toh nahi kar sakte hain lekin aap pranab kar sakte ho mudra kar sakte ho dhyan bhi kar sakte ho toh aap pranab kamar gardan seedhi karke aap jaanch me bhi baithe baithkar ja rahe ho aap anulom vilom kapalbhati kar sakte ho money money om ka dhyan kare theek hai toh aapka dhyan bhi ho jaega aapka pranab bhi ho jaega aur dono hathon ka mudra me rakhe jor se bhi aapko sahi lage gyaan mudra mudra mudra surya mudra prithvi mudra varun mudra aapke sharir ke liye aapko kare toh aapko mudra ke labh bhi mil jaenge toh aap is tarike se aap apne routine ko barkaraar banakar rakh sakte hain aap yogasan na karke pranayaam aur dhyan mudra kar sakte ho

आपका प्रश्न है कि यात्रा के दौरान योगाभ्यास कैसे करें यात्रा के दौरान योगासन तो नहीं कर सक

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  335
WhatsApp_icon
user

Vinita Mishra

Meditation

9:33
Play

Likes  77  Dislikes    views  943
WhatsApp_icon
user

Girijakant Singh

Founder/ President Yog Bharati Foundation Trust

1:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी बहुत अच्छा प्रश्न आपका आपका प्रश्न है जब आप यात्रा पर हैं तो आप योगाभ्यास कैसे कर सकते हैं तो दो चीजें हैं इसमें कि अगर आप यात्रा पर हैं तो कितनी लंबी यात्रा पर है मान लीजिए आप सुबह 4:00 बजे उठकर यात्रा पर जाते हैं और आपको 8:10 बजे तक पहुंचा अगर उससे बस या ट्रेन में हैं तो आप प्राणायाम का अभ्यास कर सकते हैं आपको लाभ होगा इसके अलावा द्वारा कई दिनों की यात्रा पर निकले हुए हैं तो आपका जहां पर नाइट स्टे हो तो वहां पर आप युवा संघ भी करें प्राणायाम भी करें मेडिटेशन वही करें और साथ ही साथ योग में यही एक लाभ है कि अगर आप जिम कर रहे होते या मॉर्निंग बात कर रहे हो तो आप बस में नहीं कर सकते नहीं कर सकते हैं उसका व्यास आसानी से कर सकते हैं प्रणाम करें मेडिटेशन करें और अगर जहां पर आप स्टे किए हैं वहां पर आप आसानी से योगासन भी कर सकते हैं धन्यवाद

ji bahut accha prashna aapka aapka prashna hai jab aap yatra par hain toh aap yogabhayas kaise kar sakte hain toh do cheezen hain isme ki agar aap yatra par hain toh kitni lambi yatra par hai maan lijiye aap subah 4 00 baje uthakar yatra par jaate hain aur aapko 8 10 baje tak pohcha agar usse bus ya train mein hain toh aap pranayaam ka abhyas kar sakte hain aapko labh hoga iske alava dwara kai dino ki yatra par nikle hue hain toh aapka jaha par night stay ho toh wahan par aap yuva sangh bhi kare pranayaam bhi kare meditation wahi kare aur saath hi saath yog mein yahi ek labh hai ki agar aap gym kar rahe hote ya morning baat kar rahe ho toh aap bus mein nahi kar sakte nahi kar sakte hain uska vyas aasani se kar sakte hain pranam kare meditation kare aur agar jaha par aap stay kiye hain wahan par aap aasani se yogasan bhi kar sakte hain dhanyavad

जी बहुत अच्छा प्रश्न आपका आपका प्रश्न है जब आप यात्रा पर हैं तो आप योगाभ्यास कैसे कर सकते

Romanized Version
Likes  159  Dislikes    views  2227
WhatsApp_icon
user

꧁༺Dℛ.LATA PATHAK༻꧂

Founder & Director - Real Lifetime Yoga Foundation

3:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों आपका प्रश्न है जब आप यात्रा पर हो तो योग का अभ्यास कैसे करें मेरा जवाब बहुत सिंपल है दोस्तों आप जब यात्रा में होते हैं तो आपको आपकी बैठने के लिए खड़े होने की सोने की जगह पर्याप्त मात्रा में मिलती है यदि ऐसी जगह आपको मिल सकती है तो आप वहां पर बैठकर आसानी से सूक्ष्म क्रिया का अभ्यास कर सकते हैं यौगिक सूक्ष्म क्रिया से आपके शरीर की एक 1 + 1 एक्सल आसानी से खुल जाएंगे आपके शरीर में किसी भी प्रकार के अकड़न जकड़न तनाव नहीं रहेगा यात्रा में अक्सर ऐसा देखा गया है कि अकड़न जकड़न तनाव की वजह से हाथ पैर में काफी दर्द आ जाता है और हमारी यात्रा काफी कष्टकारी हो जाती है ऐसे में सूक्ष्म क्रिया आपको काफी राहत देती हैं इसके साथ ही साथ आप जैसी आप को जगह मिली है उसे हिसाब से स्क्रैचिंग करें ताड़ासन आप बैठकर भी कर सकते हैं अर्ध कटिचक्रासन दिया बैठकर कर सकते हैं इस तरह से आप कोणासन ऐसे आशना स्कूल का चयन करें जिसे आप कम स्थान पर आसानी से कर सकते हैं स्ट्रेचिंग प्लस रिलैक्सेशन वाले आसना सब जानकारी इससे आपके शरीर को काफी आराम मिलेगा और आपका शरीर जो है वह चुस्त-दुरुस्त रहेगा खुला वातावरण यदि आपको मिलता है तो आप ऐसे में अनुलोम-विलोम का व्यास जरूर करें अनुलोम विलोम प्राणायाम से आपके मस्तिष्क की कार्य क्षमता काफी अच्छी हो जाती है बैलेंस आपकी बॉडी का बहुत अच्छा हो जाता है सूर्य नाड़ी चंद्र नाड़ी पर बैलेंस बहुत अच्छा हो जाता है तो आपका मन और शरीर दोनों सुचारू रूप से कार्य करने लायक रहते हैं इसके साथ ही साथ आ पत्रिका का अभ्यास करते हैं तो आपका शरीर रोग प्रतिरोधक क्षमता को काफी एक्टिव बनाए रखता है भ्रामरी आपके मस्तिष्क की कार्य क्षमता को बढ़ाकर रखता है ऐसे कुछ आस ना और कुछ प्राणायाम का सच आप अपनी यात्रा पर शामिल कर सकते हैं इसके साथ ही साथ संतुलित आहार कीजिए नियमित रूप से जल का सेवन कीजिए योग के साथ योग में होकर अपनी यात्रा को सुगम बनाइए इश्क करते रहिए थैंक यू सो मच

namaskar doston aapka prashna hai jab aap yatra par ho toh yog ka abhyas kaise kare mera jawab bahut simple hai doston aap jab yatra mein hote hain toh aapko aapki baithne ke liye khade hone ki sone ki jagah paryapt matra mein milti hai yadi aisi jagah aapko mil sakti hai toh aap wahan par baithkar aasani se sukshm kriya ka abhyas kar sakte hain yaugik sukshm kriya se aapke sharir ki ek 1 1 excel aasani se khul jaenge aapke sharir mein kisi bhi prakar ke akadan jakdan tanaav nahi rahega yatra mein aksar aisa dekha gaya hai ki akadan jakdan tanaav ki wajah se hath pair mein kaafi dard aa jata hai aur hamari yatra kaafi kashtakari ho jaati hai aise mein sukshm kriya aapko kaafi rahat deti hain iske saath hi saath aap jaisi aap ko jagah mili hai use hisab se skraiching kare tadasan aap baithkar bhi kar sakte hain ardh katichakrasan diya baithkar kar sakte hain is tarah se aap konasan aise aashna school ka chayan kare jise aap kam sthan par aasani se kar sakte hain stretching plus Relaxation waale asana sab jaankari isse aapke sharir ko kaafi aaram milega aur aapka sharir jo hai vaah chust durast rahega khula vatavaran yadi aapko milta hai toh aap aise mein anulom vilom ka vyas zaroor kare anulom vilom pranayaam se aapke mastishk ki karya kshamta kaafi achi ho jaati hai balance aapki body ka bahut accha ho jata hai surya naadi chandra naadi par balance bahut accha ho jata hai toh aapka man aur sharir dono sucharu roop se karya karne layak rehte hain iske saath hi saath aa patrika ka abhyas karte hain toh aapka sharir rog pratirodhak kshamta ko kaafi active banaye rakhta hai bhramari aapke mastishk ki karya kshamta ko badhakar rakhta hai aise kuch aas na aur kuch pranayaam ka sach aap apni yatra par shaamil kar sakte hain iske saath hi saath santulit aahaar kijiye niyamit roop se jal ka seven kijiye yog ke saath yog mein hokar apni yatra ko sugam banaiye ishq karte rahiye thank you so match

नमस्कार दोस्तों आपका प्रश्न है जब आप यात्रा पर हो तो योग का अभ्यास कैसे करें मेरा जवाब बहु

Romanized Version
Likes  123  Dislikes    views  1634
WhatsApp_icon
user

Ashish Rawat

Yoga Teacher

1:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड मेरा नाम यूट्यूब चैनल में स्वाध्याय आयोग रूप सवाल पूछा गया है जब आप यात्रा पर हो तो योग का अभ्यास कैसे करें अब योगासन तो नहीं कर सकते यात्रा करते समय लेकिन मैं आपको एक रिलैक्सेशन बताता हूं जिसे आप कहीं भी कर सकते हैं आप कहीं भी यात्रा कर रहे हो बस में यात्रा कर रहे हो ट्रेन में यात्रा कर रहे हो आप कार में यात्रा कर रहे हो या फिर प्लेन में यात्रा कर रहे हो आप कहीं भी यात्रा कर रहे हो आप यह कर सकते हैं इसका नाम है निस्पंद भाव निस्पंद भाव में क्या करना होता है आज ही भी हो आप बैठ जाएं अपने शरीर को पूरा ढीला छोड़ दें और अपनी आंखें बंद कर दे अब आपको करना क्या है आंखें बंद करके आपको चारों तरफ आपके जो चारों तरफ है उन आवाजों को सुनना है आपका काम अभी सिर्फ सुनने का ही है इसमें ना आपकी कोई सवाल आने से यह किसकी आवाज़ किस चीज की है यह आवाज क्यों आ रही है यह आवाज के बारे में कुछ भी हो मिला आपको कोई भी उसके बारे में थॉट नहीं लेकर आने आपका काम है उसको सुनना आप जितना अपने चारों तरफ जितनी भी आवाज को सुनते हैं उनके बारे में सोचना नहीं है ठीक है इसको कहते हैं निस्वार्थ भाव आप देखेंगे आपकी यात्रा कितनी अच्छी होती है अगर आप इस स्वभाव को अपनाएंगे तो मुझे यहां तक लगता है आपकी यात्रा बहुत अच्छी होगी आप रिलैक्स फील करेंगे और आपका माइंड और आपकी बॉडी एकदम एनर्जी ठीक होगी धन्यवाद

hello friend mera naam youtube channel mein swaadhyaay aayog roop sawaal poocha gaya hai jab aap yatra par ho toh yog ka abhyas kaise kare ab yogasan toh nahi kar sakte yatra karte samay lekin main aapko ek Relaxation batata hoon jise aap kahin bhi kar sakte hain aap kahin bhi yatra kar rahe ho bus mein yatra kar rahe ho train mein yatra kar rahe ho aap car mein yatra kar rahe ho ya phir plane mein yatra kar rahe ho aap kahin bhi yatra kar rahe ho aap yah kar sakte hain iska naam hai nispand bhav nispand bhav mein kya karna hota hai aaj hi bhi ho aap baith jayen apne sharir ko pura dheela chod de aur apni aankhen band kar de ab aapko karna kya hai aankhen band karke aapko charo taraf aapke jo charo taraf hai un avajon ko sunana hai aapka kaam abhi sirf sunne ka hi hai isme na aapki koi sawaal aane se yah kiski awaz kis cheez ki hai yah awaaz kyon aa rahi hai yah awaaz ke bare mein kuch bhi ho mila aapko koi bhi uske bare mein thought nahi lekar aane aapka kaam hai usko sunana aap jitna apne charo taraf jitni bhi awaaz ko sunte hain unke bare mein sochna nahi hai theek hai isko kehte hain niswarth bhav aap dekhenge aapki yatra kitni achi hoti hai agar aap is swabhav ko apanaenge toh mujhe yahan tak lagta hai aapki yatra bahut achi hogi aap relax feel karenge aur aapka mind aur aapki body ekdam energy theek hogi dhanyavad

हेलो फ्रेंड मेरा नाम यूट्यूब चैनल में स्वाध्याय आयोग रूप सवाल पूछा गया है जब आप यात्रा पर

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  215
WhatsApp_icon
play
user

Sharmila Mukherjee

Owner, Yoga Beauty Coaching & Health Center, Lucknow

0:45

Likes  18  Dislikes    views  274
WhatsApp_icon
user

Acharya Krishna Deo

Wellness Guru, Corporate Trng

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज सुबह थोड़ा ध्यान करना बहुत अच्छा ध्यान हो गया यह काफी रख देंगे जान तुम प्यार करेगा और बढ़िया मुझे इलेक्ट्रिक का बिल कैसे जाएगा

aaj subah thoda dhyan karna bahut accha dhyan ho gaya yeh kaafi rakh denge jaan tum pyar karega aur badhiya mujhe electric ka bill kaise jayega

आज सुबह थोड़ा ध्यान करना बहुत अच्छा ध्यान हो गया यह काफी रख देंगे जान तुम प्यार करेगा और ब

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  234
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Gyan Ranjan Maharaj

Founder & Director - Kashyap Yogpith

1:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका क्वेश्चन बिल्कुल ही महत्वपूर्ण है जब आप यात्रा पर हो तो योग का अभ्यास कैसे करें तो देखिए उस समय तो मेरा मानना लिप क्रिया से निवृत्त हुई सकते हैं स्थानों पर करने में समस्या तो जरूर लेकिन आप अगर ट्रेन के साथ ट्रेन का सफर कर रहे हैं तो जो उसका सीट होता है उसे बाजार में बैठकर आप 10:15 मिनट आराम तो कर ही सकते हैं प्रणब भी आप कर लिए तो काफी है या कार से मेंटेन आकार से आपको यात्रा कर रहे हैं तो कार की पिछली सीट पर बैठ कर आप बड़े हम कर सकते हैं किसी बात अगर बस से यात्रा कर रहे हैं तो ऐसे ही बैठे-बैठे आप प्रणाम कर सकते हैं लेकिन हाईटेक पेट साफ होना जरूरी है यात्रा के समय में मैं यह नहीं कहूंगा कि आपको चाहता है उतर के आ जाना वगैरह करने का प्रयास करें ऐसा कुछ नहीं है यात्रा में अगर है तो प्राणायाम के लिए आप कर सकते हैं आप खुद कर रखना जरूरी गर्म पानी का प्रयोग कीजिए तो उसका फायदा आपको मिलेगा धन्यवाद

aapka question bilkul hi mahatvapurna hai jab aap yatra par ho toh yog ka abhyas kaise kare toh dekhiye us samay toh mera manana lip kriya se sevanervit hui sakte hai sthano par karne mein samasya toh zaroor lekin aap agar train ke saath train ka safar kar rahe hai toh jo uska seat hota hai use bazaar mein baithkar aap 10 15 minute aaram toh kar hi sakte hai pranab bhi aap kar liye toh kaafi hai ya car se maintain aakaar se aapko yatra kar rahe hai toh car ki pichali seat par baith kar aap bade hum kar sakte hai kisi baat agar bus se yatra kar rahe hai toh aise hi baithe baithe aap pranam kar sakte hai lekin hitech pet saaf hona zaroori hai yatra ke samay mein main yah nahi kahunga ki aapko chahta hai utar ke aa jana vagera karne ka prayas kare aisa kuch nahi hai yatra mein agar hai toh pranayaam ke liye aap kar sakte hai aap khud kar rakhna zaroori garam paani ka prayog kijiye toh uska fayda aapko milega dhanyavad

आपका क्वेश्चन बिल्कुल ही महत्वपूर्ण है जब आप यात्रा पर हो तो योग का अभ्यास कैसे करें तो दे

Romanized Version
Likes  36  Dislikes    views  975
WhatsApp_icon
user

꧁Dℰℰℙ ЅℋᎯℛℳᎯ꧂

Public Prossicutor ;(Sessions court Ahmedabad)

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है जब आप यात्रा में हो तो योग का अभ्यास कैसे करें तो योग यह एक पद्धति है उसके अंदर आसन प्राणायाम और यह सब सम्मिलित होता है योग केंद्र आसन जो होते हैं वह अलग-अलग स्थिति में किए जाते हैं प्राणायाम है वह बैठकर भी करा जा सकता है और ध्यान है ध्यान भी बैठकर किया जा सकता है तो आप अगर कहीं यात्रा कर रहे हो तो उस समय आपके पास सफिशिएंट जगह ना हो कि आप आसन कर सके तो आसन ना कर पाए तो ऐसी जगह पर या तो आप सिंपल पैरों को मोड़कर बैठ जाएं या मोड़ नहीं सकते पलाठी नहीं मार सकते तो पैर सीधे रखें या फिर आपके पास जगह हो तो आप पद्मासन में बैठ जाए उसके बाद ध्यान करें और प्राणायाम करें तो आपका जो जॉब करने का जो प्यास है वह निरंतर रहेगा और आसन की जगह नहीं है तो वहां आसन मत कीजिए श्री प्रयोग ध्यान प्राणायाम यही कीजिए

aapka sawaal hai jab aap yatra mein ho toh yog ka abhyas kaise kare toh yog yah ek paddhatee hai uske andar aasan pranayaam aur yah sab sammilit hota hai yog kendra aasan jo hote hain vaah alag alag sthiti mein kiye jaate hain pranayaam hai vaah baithkar bhi kara ja sakta hai aur dhyan hai dhyan bhi baithkar kiya ja sakta hai toh aap agar kahin yatra kar rahe ho toh us samay aapke paas sufficient jagah na ho ki aap aasan kar sake toh aasan na kar paye toh aisi jagah par ya toh aap simple pairon ko modakar baith jayen ya mod nahi sakte palathi nahi maar sakte toh pair sidhe rakhen ya phir aapke paas jagah ho toh aap padmasana mein baith jaaye uske baad dhyan kare aur pranayaam kare toh aapka jo job karne ka jo pyaas hai vaah nirantar rahega aur aasan ki jagah nahi hai toh wahan aasan mat kijiye shri prayog dhyan pranayaam yahi kijiye

आपका सवाल है जब आप यात्रा में हो तो योग का अभ्यास कैसे करें तो योग यह एक पद्धति है उसके अं

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  265
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!