सात्विक आहार के पीछे क्या विज्ञान है?...


user

Gyanchand Soni

Yoga Instructor.

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सात्विक आहार के पीछे एक ही बात है क्या एक ही है वह यह है कि सात्विक आहार लेने से हम बुरे होते हैं और हमारे मन विचार शुद्ध रहता है धन्यवाद आपका दिन शुभ

Satvik aahaar ke peeche ek hi baat hai kya ek hi hai vaah yah hai ki Satvik aahaar lene se hum bure hote hain aur hamare man vichar shudh rehta hai dhanyavad aapka din shubha

सात्विक आहार के पीछे एक ही बात है क्या एक ही है वह यह है कि सात्विक आहार लेने से हम बुरे ह

Romanized Version
Likes  248  Dislikes    views  2803
WhatsApp_icon
17 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Dr. R. K. Gupta

Yoga & Nature Care Health center

0:39

Likes  118  Dislikes    views  1129
WhatsApp_icon
user

Kavita gandhi

Founder and director Of Aasra Fitness hub....health and Fitness Expert ...Yoga Instructor ...instructor Of Aerobic .Zumba .pilate..physiotherapist Nutritionists and Weight Loss Expert

1:17
Play

Likes  62  Dislikes    views  1849
WhatsApp_icon
user
0:20
Play

Likes  43  Dislikes    views  367
WhatsApp_icon
play
user

Narendar Gupta

प्राकृतिक योगाथैरिपिस्ट एवं योगा शिक्षक,फीजीयोथैरीपिस्ट

1:46

Likes  223  Dislikes    views  1910
WhatsApp_icon
user

Ankit Bhardwaj

Yoga Instructor

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अफ्रीकी सब कुछ एनर्जी साइंस की है कि जिसमें हम कोई नेगेटिव एंड क्यूट नहीं कर रहे हैं अगर कोई एप्स पेड़ है पेड़ से पुल के बाद साला आया ठीक है कल आया अगर सबको हम नहीं लेते तो क्या करेगा पेड़ से नीचे गिरेगा राइस खराब होगा कि वे पैदा होगी ना और साइंस मानता है अभी तो इतने इतने बड़े लोग हैं या हम सुनते रहते हैं न्यूज़ पेपर्स वगैरह में कितने कुछ जो फिल्म स्टार के बहुत गंदे पैक

afriki sab kuch energy science ki hai ki jisme hum koi Negative and cute nahi kar rahe hai agar koi apps ped hai ped se pool ke baad sala aaya theek hai kal aaya agar sabko hum nahi lete toh kya karega ped se niche girega rice kharab hoga ki ve paida hogi na aur science manata hai abhi toh itne itne bade log hai ya hum sunte rehte hai news papers vagera mein kitne kuch jo film star ke bahut gande pack

अफ्रीकी सब कुछ एनर्जी साइंस की है कि जिसमें हम कोई नेगेटिव एंड क्यूट नहीं कर रहे हैं अगर क

Romanized Version
Likes  72  Dislikes    views  1241
WhatsApp_icon
user

Sanmukh rao

Yoga Expert

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शास्त्री कहावत जरूरी है सात्विक आहार सही आपका सब चीज ठीक होगा आपका व्यवहार भी ठीक होगा और हां कमान में कंट्रोल भी रहेगा बहुत अच्छा जो साथ में खाना खाएंगे आप तो शरीर को फायदा करेगा क्योंकि मां पर कंट्रोल में रहेगा और बिचारा कंट्रोल में रहेंगे साथ वाधवानी जो है आपके शरीर को बहुत फायदा करेगा जो है

shastri kahaavat zaroori hai Satvik aahaar sahi aapka sab cheez theek hoga aapka vyavhar bhi theek hoga aur haan kamaan mein control bhi rahega bahut accha jo saath mein khana khayenge aap toh sharir ko fayda karega kyonki maa par control mein rahega aur bichara control mein rahenge saath vadhvani jo hai aapke sharir ko bahut fayda karega jo hai

शास्त्री कहावत जरूरी है सात्विक आहार सही आपका सब चीज ठीक होगा आपका व्यवहार भी ठीक होगा और

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  362
WhatsApp_icon
user

Ganesh Prakash

Yoga Instructor

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

से कहां जाता है जैसा अन्न वैसा मन अगर हम दोनों चीजों से शारीरिक रूप से और मानसिक रूप से अगर हम देखेंगे तो इंसान जो है शाकाहारी प्राणी है और बाकी सारे जो प्राणी या है कुछ कुछ प्राणी है जो नॉनवेज के लिए पैदा हुए हैं और उनका हारी हुआ है लेकिन इंसान के लिए उसके जीवन भर के यात्रा में उसको अगर लाइट को निरोगी जिंदगी जो है निरोगी जीवन जीना है और माइंड जो है शांत एकदम पीसफुल बना करके अगर जीना है तो शाकाहारी होकर जिएंगे तो उसे बहुत मदद मिल सकता है

se kahaan jata hai jaisa ann waisa man agar hum dono chijon se sharirik roop se aur mansik roop se agar hum dekhenge toh insaan jo hai shakahari prani hai aur baki saare jo prani ya hai kuch kuch prani hai jo nonveg ke liye paida hue hain aur unka haari hua hai lekin insaan ke liye uske jeevan bhar ke yatra mein usko agar light ko nirogee zindagi jo hai nirogee jeevan jeena hai aur mind jo hai shaant ekdam peaceful bana karke agar jeena hai toh shakahari hokar jeeenge toh use bahut madad mil sakta hai

से कहां जाता है जैसा अन्न वैसा मन अगर हम दोनों चीजों से शारीरिक रूप से और मानसिक रूप से अग

Romanized Version
Likes  31  Dislikes    views  313
WhatsApp_icon
user

Mukesh Kumar

Yoga Instructor

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अब जैसे बहुत सारे जैसे अभी तो सिस्टम आ गया कि बोलो मांसाहार कभी यूज़ करने लग रहे हैं मांसाहार से हमारी बॉडी में यूरिक एसिड बढ़ जाता है अजीत समय किसी पशु को मारा जाता है उसी समय उसके बॉडी में बहुत सारी यूरिक एसिड अपने आप निकल जाते हैं और उस उस मांग को अगर लोग आते हैं तो उससे बहुत सारे हमारे बॉडी में नेगेटिव हार्मोन क्रिएट होने लगते हैं जो हमारे शरीर के लिए बहुत ही हानिकारक है और भविष्य में बहुत सारी बीमारियों को उत्पन्न करते हैं इस कारण हनुमान का हार को थोड़ा वर्जित कर रखते हैं

ab jaise bahut saare jaise abhi toh system aa gaya ki bolo mansahaari kabhi use karne lag rahe hain mansahaari se hamari body mein uric acid badh jata hai ajit samay kisi pashu ko mara jata hai usi samay uske body mein bahut saree uric acid apne aap nikal jaate hain aur us us maang ko agar log aate hain toh usse bahut saare hamare body mein Negative hormone create hone lagte hain jo hamare sharir ke liye bahut hi haanikarak hai aur bhavishya mein bahut saree bimariyon ko utpann karte hain is karan hanuman ka haar ko thoda varjit kar rakhte hain

अब जैसे बहुत सारे जैसे अभी तो सिस्टम आ गया कि बोलो मांसाहार कभी यूज़ करने लग रहे हैं मांसा

Romanized Version
Likes  30  Dislikes    views  395
WhatsApp_icon
user

Dr Naveen Jadhav

Ayurvedic Doctor

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

साथ ही कहा कि मुझे पहले जो अपना इंडिया में जो ऑर्गेनिक था पूरा वैष्णो अभी तभी तो पूरा उसको केमिकल आइज कर दिया क्योंकि अपनी जमीनों में ही सब फ़र्टिलाइज़र ज्यादा फसल उगाने के लिए सारे यूरिया वगैरह डाल दिए फिर भी जो पुराना है अपना साथी जहां उसके पीछे यह है कि नॉनवेज की मात्रा बढ़ती है मैसेजेस ज्यादा हो जाएगा अब और अलका लाइन का एड्रेस बुक कम हो जाएगा तो बॉडी में फिर बीमारियां होने लगेगी कितनी स्वीकार करना चाहिए

saath hi kaha ki mujhe pehle jo apna india mein jo organic tha pura vaishno abhi tabhi toh pura usko chemical eyez kar diya kyonki apni zameeno mein hi sab fartilaizar zyada fasal ugane ke liye saare urea vagera daal diye phir bhi jo purana hai apna sathi jaha uske peeche yah hai ki nonveg ki matra badhti hai messages zyada ho jaega ab aur alka line ka address book kam ho jaega toh body mein phir bimariyan hone lagegi kitni sweekar karna chahiye

साथ ही कहा कि मुझे पहले जो अपना इंडिया में जो ऑर्गेनिक था पूरा वैष्णो अभी तभी तो पूरा उसको

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  139
WhatsApp_icon
play
user

Dr. Reena Arora

Ayurvedic Doctor

1:24

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आयुर्वेद के अकॉर्डिंग ली 3 गुण होते हैं सत्व रज और तम मानचित्र माने जाते हैं तीन गुण सत्व गुण की वृद्धि करनी है आयुर्वेद सिद्धांत है समाज चीज का सेवन करने के समान गुण वाली चीजो का उस गुण की वृद्धि होती है जैसे गर्म मीठा खाते हैं तो शुगर बढ़ जाती हमारे ब्लड में ई एम गुनगुन की वृद्धि होती है इसी तरह थी कहां लेंगे तो बॉडी में भी स्तर तक उनकी वृद्धि होगी और अगर हम जान लेंगे बहुत स्पाइसी जंग फूड शॉर्ट अब तो उसी राशि गुण की वृद्धि होगी और हाइपर एक्टिव बच्चे हैं उसे उसे जो भी उसको लेगा वह हाइपरएक्टिविटी आती है नींद ना आने की प्रॉब्लम होती है बीपी बढ़ जाता है और ऐसे ही तीसरा हर है काम से बहुत ज्यादा इसको इन क्वालिटी का मान सकते हैं जिसने जाती है उसे बॉडी में बहुत हेवी खाना खा रहे हैं बासी खाना खा रहे हैं कोई पता नहीं कि क्या आपको मिल लेना चाहिए तो उससे बॉडी में एक्टिविटी लेवल बंदे का कम हो जाते हैं और उसका काम करने का दिल नहीं करता डिप्रेशन के पेशेंट के लिए भी यह बहुत हार्मफुल है और इसके जितने भी तमोगुण से जितने भी प्रॉब्लम होती है वह बढ़ेंगे स्पोर्ट्स वीक है जिसकी वजह से हमारा दिमाग ठीक है दिमाग उत्तर मांग है बॉडी का और अगर दिमाग ठीक रहेगा तो वह ठीक रहेगी इसलिए यह इसका साइंटिफिक रीजन है कि सादी का हार जो है वह बेस्ट डाइट है

ayurveda ke according li 3 gun hote hain satva raja aur tum manchitra maane jaate hain teen gun satva gun ki vriddhi karni hai ayurveda siddhant hai samaj cheez ka seven karne ke saman gun wali cheejo ka us gun ki vriddhi hoti hai jaise garam meetha khate hain toh sugar badh jati hamare blood mein ee m gungun ki vriddhi hoti hai isi tarah thi kahaan lenge toh body mein bhi sthar tak unki vriddhi hogi aur agar hum jaan lenge bahut Spicy jung food short ab toh usi rashi gun ki vriddhi hogi aur hyper active bacche hain use use jo bhi usko lega wah haiparaektiviti aati hai neend na aane ki problem hoti hai BP badh jata hai aur aise hi teesra har hai kaam se bahut zyada isko in quality ka maan sakte hain jisne jati hai use body mein bahut heavy khana kha rahe hain basi khana kha rahe hain koi pata nahi ki kya aapko mil lena chahiye toh usse body mein activity level bande ka kam ho jaate hain aur uska karne ka dil nahi karta depression ke patient ke liye bhi yeh bahut harmful hai aur iske jitne bhi tamogun se jitne bhi problem hoti hai wah badhenge sports weak hai jiski wajah se hamara dimag theek hai dimag uttar maang hai body ka aur agar dimag theek rahega toh wah theek rahegi isliye yeh iska scientific reason hai ki sari ka haar jo hai wah best diet hai

आयुर्वेद के अकॉर्डिंग ली 3 गुण होते हैं सत्व रज और तम मानचित्र माने जाते हैं तीन गुण सत्व

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  511
WhatsApp_icon
user

Dr K K Sharma

Ayurvedic Doctor

0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शादी का और पीछे का विज्ञान और धर्म की

shadi ka aur peeche ka vigyan aur dharm ki

शादी का और पीछे का विज्ञान और धर्म की

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  306
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों आपका दोस्त आपका योगा फ्रेंड लिस्ट ही बोल रहा हूं दोस्त आपका प्रश्न है कि सात्विक आहार के पीछे क्या विज्ञान है सात्विक आहार के पीछे विज्ञान यह है कि आपका खाना ऐसा हो कि आपका खाना डाइजेस्ट हो जाए आपका खाना हजम हो जाए आपके पाचन शक्ति पर कोई फर्क ना पड़े तो दोस्त सात्विक भोजन का मतलब यही होता है कि आपका माइंड डिस्टर्ब ना हो आपका शरीर डिस्टर्ब ना हो और जो आप खाते हैं वह हजम हो जाए यानी के जो आपके शरीर की रिक्वायरमेंट है वही आपको खाना चाहिए और शरीर की रिक्वायरमेंट कुछ और है आपका कुछ और रहे हैं तो फिर आपको आपके शरीर को आपके मन को डिस्टर्ब होना स्वभाविक है ओके दोस्त तो आप बिल्कुल भी ऐसा खाना ना खाएं जिससे आप डिस्टर्ब हो जाए तो आराम से वह खाना खाए जो राजेश कर पानी के अवैध खाएं आप मसाले साले मत खाएं हैं तो आप इस तरह का खाना ना खाए जिससे आपको इससे नुकसान हुआ को कब जवाब उल्टी हो आपको मोटापा बढ़े आपको लिखने से हो तो साथी खाने का मतलब ही होता है कि वह खाना जो आपके शरीर को नुकसान ना दें ओके थैंक यू धन्यवाद

namaskar doston aapka dost aapka yoga friend list hi bol raha hoon dost aapka prashna hai ki Satvik aahaar ke peeche kya vigyan hai Satvik aahaar ke peeche vigyan yah hai ki aapka khana aisa ho ki aapka khana Digest ho jaaye aapka khana hajam ho jaaye aapke pachan shakti par koi fark na pade toh dost Satvik bhojan ka matlab yahi hota hai ki aapka mind disturb na ho aapka sharir disturb na ho aur jo aap khate hain vaah hajam ho jaaye yani ke jo aapke sharir ki requirement hai wahi aapko khana chahiye aur sharir ki requirement kuch aur hai aapka kuch aur rahe hain toh phir aapko aapke sharir ko aapke man ko disturb hona swabhavik hai ok dost toh aap bilkul bhi aisa khana na khayen jisse aap disturb ho jaaye toh aaram se vaah khana khaye jo rajesh kar paani ke awaidh khayen aap masale saale mat khayen hain toh aap is tarah ka khana na khaye jisse aapko isse nuksan hua ko kab jawab ulti ho aapko motapa badhe aapko likhne se ho toh sathi khane ka matlab hi hota hai ki vaah khana jo aapke sharir ko nuksan na de ok thank you dhanyavad

नमस्कार दोस्तों आपका दोस्त आपका योगा फ्रेंड लिस्ट ही बोल रहा हूं दोस्त आपका प्रश्न है कि स

Romanized Version
Likes  207  Dislikes    views  1527
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Gyan Ranjan Maharaj

Founder & Director - Kashyap Yogpith

2:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका क्वेश्चन है सात्विक आहार के पीछे का विज्ञान क्या है देखे साथी का हार के आहार विज्ञान के पीछे का यही राज है इस चीज को भलीभांति अजय के डेट में चाइना बढ़िया से समझ रहा है क्योंकि वहां शापित लोग लेते ही नहीं जिसके परिणाम स्वरुप आगे जोएसिटी चाइना में देखने को मिल गई हम चाइना से इसका सबक ले सकते हैं कि साथीदार लेने से क्या फायदा है और नास्तिक आहार लेने से क्या फायदा है यानी नॉनवेज भेज में क्या फर्क है इस चीज को भलीभांति चाइना से सबक लेने की आवश्यकता है कि पूरी चाइना में अब बिल्कुल भेज प्रक्रिया ही शुरू हो गई भेजा हार ही पूरी चाइना के लोग लेना शुरू कर दिया पहले या इसके पहले पूरे चाइना के लोग नॉनवेज ही लेते थे जिसके परिणाम स्वरूप आज करो ना वायरस पूरे देश में फैल गया है और कितने लोग मरेंगे इसका अंदाजा लगाना बहुत मुश्किल है तो यह उदाहरण के तौर पर मैं आपको बता रहा हूं सात्विक आहार लेने से कहा भी गया है मुहावरे के तौर पर के जैसा आहार वैसा व्यवहार है जैसा आया वैसा विचार रखने का मतलब जैसा बोलेंगे वैसे आपकी मानसिक स्थिति और आपका विचार होगा इसलिए फोन भेजो और भेज कोई आना कुछ एडिट किया गया नॉनवेज लेने वाला व्यक्ति आक्रमक तेवर का होता है और भेज देने वाला व्यक्ति भी कुछ आतिफ प्रवृत्ति का होता है संस्कृत में मैया को उदाहरण के तौर पर प्रस्तुत कर रहा हूं धन्यवाद

aapka question hai Satvik aahaar ke peeche ka vigyan kya hai dekhe sathi ka haar ke aahaar vigyan ke peeche ka yahi raj hai is cheez ko bhalibhanti ajay ke date mein china badhiya se samajh raha hai kyonki wahan shaapit log lete hi nahi jiske parinam swarup aage joesiti china mein dekhne ko mil gayi hum china se iska sabak le sakte hai ki sathidar lene se kya fayda hai aur nastik aahaar lene se kya fayda hai yani nonveg bhej mein kya fark hai is cheez ko bhalibhanti china se sabak lene ki avashyakta hai ki puri china mein ab bilkul bhej prakriya hi shuru ho gayi bheja haar hi puri china ke log lena shuru kar diya pehle ya iske pehle poore china ke log nonveg hi lete the jiske parinam swaroop aaj karo na virus poore desh mein fail gaya hai aur kitne log marenge iska andaja lagana bahut mushkil hai toh yah udaharan ke taur par main aapko bata raha hoon Satvik aahaar lene se kaha bhi gaya hai muhavare ke taur par ke jaisa aahaar waisa vyavhar hai jaisa aaya waisa vichar rakhne ka matlab jaisa bolenge waise aapki mansik sthiti aur aapka vichar hoga isliye phone bhejo aur bhej koi aana kuch edit kiya gaya nonveg lene vala vyakti aakraman tewar ka hota hai aur bhej dene vala vyakti bhi kuch atif pravritti ka hota hai sanskrit mein maiya ko udaharan ke taur par prastut kar raha hoon dhanyavad

आपका क्वेश्चन है सात्विक आहार के पीछे का विज्ञान क्या है देखे साथी का हार के आहार विज्ञान

Romanized Version
Likes  121  Dislikes    views  3666
WhatsApp_icon
user

ashish yogi

Founder & Director - Meditation Magics

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सती का हर एक बड़ा विषय है चित्र कम से कम 3 घंटे की चर्चा हो सकती है या 1 से 2 दिन तक बोला जा सकता है अखिलेश को थोड़े से शब्दों में समेट पाना मुश्किल है सारांश में इतना ही कह सकते हैं कि साथी कार हमारे भीतर तत्वों को विकसित करता है हमारे शरीर को हमारे मन को कि दोनों ही सतोगुण के साथ संतुलित रहते हैं प्रफुल्लित रहते हैं सतोगुण की चाहत रखते हैं इसलिए जिन शिक्षकों को ज्यादा मिले उस आहार का में सेवन करना चाहिए और जो सात्विक आहार जो हमारी हरी साग सब्जी है इससे कहानियां आती है यह हमारे भीतर सतोगुण को विकसित करती है क्योंकि मन अधिक होने की स्थिति में प्रफुल्लित और ताकि देता है इसलिए में शतकों का शतक की कहार का सेवन करना चाहिए

sati ka har ek bada vishay hai chitra kam se kam 3 ghante ki charcha ho sakti hai ya 1 se 2 din tak bola ja sakta hai akhilesh ko thode se shabdon mein samet paana mushkil hai saransh mein itna hi keh sakte hain ki sathi car hamare bheetar tatvon ko viksit karta hai hamare sharir ko hamare man ko ki dono hi satogun ke saath santulit rehte hain prafullit rehte hain satogun ki chahat rakhte hain isliye jin shikshakon ko zyada mile us aahaar ka mein seven karna chahiye aur jo Satvik aahaar jo hamari hari saag sabzi hai isse kahaniya aati hai yah hamare bheetar satogun ko viksit karti hai kyonki man adhik hone ki sthiti mein prafullit aur taki deta hai isliye mein shatakon ka shatak ki kahar ka seven karna chahiye

सती का हर एक बड़ा विषय है चित्र कम से कम 3 घंटे की चर्चा हो सकती है या 1 से 2 दिन तक बोला

Romanized Version
Likes  43  Dislikes    views  967
WhatsApp_icon
user

Mani Bhaskar

Yoga Trainer

1:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राजस्थान विज्ञान के अनुसार हम खाते हैं उसकी प्रवृत्ति है जो उसका नेचर है वह हमें कमाता है तो जब गर्म चीजें खाएंगे तो हम हमारे अंदर ही पड़ेगी एग्रोवेट होगी बढ़ेगा उत्तेजना ज्यादा होगी हर चीज में इसीलिए सात्विक कहार इसीलिए को माना गया है कि जिसमें यह सब चीजें नहीं है जैसे लहसुन प्याज वगैरह इन सब से क्या होता है ना आपकी बॉडी की जो है बढ़ जाती है तो उसके जो मेडिटेशन करते ना तो ध्यान स्थिर नहीं रहता है गलत विचार आते हैं हमारे अंदर क्रोध घृणा लालच यह सब जागृत होने लगते हैं यह शहर के पीछे विज्ञान है कि इनमें यह सारी चीजें इनको खाने से हमारा जो हमारे शरीर की गर्मी है हमारे अंदर जो हमारे जुम्मन है वह सब शांत रहता है ठीक है इसलिए हम काम से नहीं लेते तामसिक आहार में आपको पता ही है क्या आता है ठीक है जिससे नॉनवेज हो गया आपका ड्रिंक हो गया मदिरापान वगैरा यह सब जो है शुद्ध शाकाहारी भोजन ठीक है थैंक यू

rajasthan vigyan ke anusaar hum khate hai uski pravritti hai jo uska nature hai vaah hamein kamata hai toh jab garam cheezen khayenge toh hum hamare andar hi padegi egrovet hogi badhega uttejna zyada hogi har cheez mein isliye Satvik kahar isliye ko mana gaya hai ki jisme yah sab cheezen nahi hai jaise lehsun pyaaz vagera in sab se kya hota hai na aapki body ki jo hai badh jaati hai toh uske jo meditation karte na toh dhyan sthir nahi rehta hai galat vichar aate hai hamare andar krodh ghrina lalach yah sab jagrit hone lagte hai yah shehar ke peeche vigyan hai ki inmein yah saree cheezen inko khane se hamara jo hamare sharir ki garmi hai hamare andar jo hamare jumman hai vaah sab shaant rehta hai theek hai isliye hum kaam se nahi lete tamasik aahaar mein aapko pata hi hai kya aata hai theek hai jisse nonveg ho gaya aapka drink ho gaya madirapan vagera yah sab jo hai shudh shakahari bhojan theek hai thank you

राजस्थान विज्ञान के अनुसार हम खाते हैं उसकी प्रवृत्ति है जो उसका नेचर है वह हमें कमाता है

Romanized Version
Likes  45  Dislikes    views  429
WhatsApp_icon
user

Dr. Mitramahesh

Ayurvedic Doctors

2:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सात्विक भोजन के लिए हमने जो वैदिक के परिपाटी और आयुर्वेद थे साइंस के अनुसार जो जीवन चकिया बताई है जिसको आचार्य ऋषि चरक ने भी अपनी चरक संहिता में उल्लेख किया है और उसकी सारी विधि बताई है आप लोग लिए मीठे सूर्योदय से पहले दो-तीन घंटे पहले उठी है बलमु संख्या करीब सभी के दांतो की शरीर में स्वच्छता के लिए पहले दांतों की सफाई करी जीत की सफाई कार्य पूरा स्नान करिए और उसके बाद आप लोग व्यायाम करिए घर के अंदर यज्ञ हवन करिए अच्छे वैदिक ग्रंथों को पढ़िए आयुर्वेद के ग्रंथों को पढ़िए जीवन के अंदर यह जो सिस्टम हमने बताई है ओ सिस्टम के अनुसार आप लोग चल दिए और विशुद्ध शाकाहारी भोजन लीजिए मूंग का सूप सुबह में प्रयोग कर सकते हैं आप लोग धर्म के भैया का प्रयोग कर सकते हैं उबालकर के चने का प्रयोग कर सकते हैं दो तीन पराठे डेढ़ सौ डेढ़ सौ ग्राम के हो उसको आधा किलो अमूल गोल्ड के अच्छे जिसके साथ से ले सकते हैं ऐसा आहार लेने से आपके शरीर की रचना बहुत सुदृढ़ होगी या यंग वगैरह आप लोग जो पर करेंगे दंड बैठक योगा की योगासन और एक यह सारी एमडीएम के विचारों का पालन करेंगे तो आपके जीवन के अंदर बहुत पवित्र जाएगी हर हमेशा प्रों के मजबूत रहेंगे और किसी भी प्रकार की बीमारियों से बचेंगे और हर समय सविस्तर तंदुरुस्त रहेगा आपका मन कंट्रोल में रहेगा और आपकी आत्मा और उस सब पवित्र होकर के आपको बहुत शक्तिशाली बनेंगे और दीर्घायु प्राप्त करेंगे आप हमारे साथ संपर्क कर सकते हैं आर्य समाज आयुर्वेद hospitals.com हमारी जॉब वेबसाइट है तो आप लोग देख करके सुनिए और हमारा संपर्क करिए

Satvik bhojan ke liye humne jo vaidik ke paripati aur ayurveda the science ke anusaar jo jeevan chakkiyan batai hai jisko aacharya rishi charak ne bhi apni charak sanhita me ullekh kiya hai aur uski saari vidhi batai hai aap log liye meethe suryoday se pehle do teen ghante pehle uthi hai balamu sankhya kareeb sabhi ke daanto ki sharir me swachhta ke liye pehle danton ki safaai kari jeet ki safaai karya pura snan kariye aur uske baad aap log vyayam kariye ghar ke andar yagya hawan kariye acche vaidik granthon ko padhiye ayurveda ke granthon ko padhiye jeevan ke andar yah jo system humne batai hai O system ke anusaar aap log chal diye aur vishudh shakahari bhojan lijiye moong ka soup subah me prayog kar sakte hain aap log dharm ke bhaiya ka prayog kar sakte hain ubalkar ke chane ka prayog kar sakte hain do teen parathe dedh sau dedh sau gram ke ho usko aadha kilo amul gold ke acche jiske saath se le sakte hain aisa aahaar lene se aapke sharir ki rachna bahut sudridh hogi ya young vagera aap log jo par karenge dand baithak yoga ki yogasan aur ek yah saari MDM ke vicharon ka palan karenge toh aapke jeevan ke andar bahut pavitra jayegi har hamesha pron ke majboot rahenge aur kisi bhi prakar ki bimariyon se bachenge aur har samay savistar tandurust rahega aapka man control me rahega aur aapki aatma aur us sab pavitra hokar ke aapko bahut shaktishali banenge aur dirghayu prapt karenge aap hamare saath sampark kar sakte hain arya samaj ayurveda hospitals com hamari job website hai toh aap log dekh karke suniye aur hamara sampark kariye

सात्विक भोजन के लिए हमने जो वैदिक के परिपाटी और आयुर्वेद थे साइंस के अनुसार जो जीवन चकिया

Romanized Version
Likes  101  Dislikes    views  819
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!