मैं अपने शरीर में तीन दोषों के बीच सही संतुलन कैसे प्राप्त कर सकता हूँ?...


play
user

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उसल बनाने के बीच में कल तेरे को चालू करो कि अपने दिनचर्या को ठीक करें उससे ही बात कर ठीक रहेगा उसके दिन पूरे दिन की करनी पड़ेगी

usal banane ke beech mein kal tere ko chaalu karo ki apne dincharya ko theek kare usse hi baat kar theek rahega uske din poore din ki karni padegi

उसल बनाने के बीच में कल तेरे को चालू करो कि अपने दिनचर्या को ठीक करें उससे ही बात कर ठीक र

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  304
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr. Anuj Dupta

Director and chief ayurvedic consultant and founder of Mantra Ayurveda.

0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

संतुलन बनाने के लिए औषधियों के अलावा सबसे पहले अपनी दिनचर्या को ठीक किया जाए खानपान सी किया जाए मॉर्निंग वॉक योगा खाना पीना उचित मात्र में प्रकृति और बल्कि देना चाहिए और कुछ औषधियां में त्रिफला चूर्ण उचित मात्रा में रसायन है वह त्रिफला चूर्ण

santulan banane ke liye aushadhiyon ke alava sabse pehle apni dincharya ko theek kiya jaaye khanpan si kiya jaaye morning walk yoga khana peena uchit matra mein prakriti aur balki dena chahiye aur kuch aushadhiyan mein Triphala churn uchit matra mein rasayan hai vaah Triphala churn

संतुलन बनाने के लिए औषधियों के अलावा सबसे पहले अपनी दिनचर्या को ठीक किया जाए खानपान सी किय

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  280
WhatsApp_icon
user

Dr. Amit Hardia

Panchkarma Specialist

1:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक दो तरीके हैं स्वस्थ स्वस्थ रखें इन्हीं आप अपने स्वास्थ्य की रक्षा के लिए जो है और सही पोषण पोषण युक्त भोजन करें हम तीनों दोषों से युक्त भोजन होता है जो हमारे इस में संतुलित आहार बताया गया है वह संतुलित आहार करके सात्विक आहार करके वह जो है तीनों दोषों को सामने मैं मतलबी बैलेंस स्टेज में रख सकते हैं इसके अलावा आयुर्वेद में कुछ रितु शोधन की परिकल्पना की गई है रितु सदन में वसंत ऋतु में भ्रमण आदि क्रियाओं करके जो एक्सेस मात्रा का कब से वह निकाल दिया जाता है इसके अलावा और वर्षा ऋतु में जो बात की वृद्धि होती है प्राकृतिक रूप से उसे रतिक्रिया मतलब एनिमा जो मेडिकेटेड एनिमा होता है इसके द्वारा उसका संबंध कर दिया जाता है और इसके बाद शरद ऋतु में जो एक्टिव शिफ्ट की वृद्धि हो उसे जो विरेचन और रक्तमोक्षण के माध्यम से शरीर से बाहर कर इस तरीके से जब हम रितु शोधन कराते हैं पूरे वर्ष तो देखते हैं कि यह जो तीनों दोषियों को सामने स्थिति में रहते हैं बीमारियां उत्पन्न होता है

ek do tarike hain swasthya swasth rakhen inhin aap apne swasthya ki raksha ke liye jo hai aur sahi poshan poshan yukt bhojan kare hum tatvo doshon se yukt bhojan hota hai jo hamare is mein santulit aahaar bataya gaya hai vaah santulit aahaar karke Satvik aahaar karke vaah jo hai tatvo doshon ko saamne main matlabi balance stage mein rakh sakte hain iske alava ayurveda mein kuch ritu sodhan ki parikalpana ki gayi hai ritu sadan mein vasant ritu mein bhraman aadi kriyaon karke jo access matra ka kab se vaah nikaal diya jata hai iske alava aur varsha ritu mein jo baat ki vriddhi hoti hai prakirtik roop se use ratikriya matlab Anima jo medicated Anima hota hai iske dwara uska sambandh kar diya jata hai aur iske baad sharad ritu mein jo active shift ki vriddhi ho use jo virechan aur raktamokshan ke madhyam se sharir se bahar kar is tarike se jab hum ritu sodhan karate hain poore varsh toh dekhte hain ki yah jo tatvo doshiyon ko saamne sthiti mein rehte hain bimariyan utpann hota hai

एक दो तरीके हैं स्वस्थ स्वस्थ रखें इन्हीं आप अपने स्वास्थ्य की रक्षा के लिए जो है और सही प

Romanized Version
Likes  115  Dislikes    views  1517
WhatsApp_icon
user
1:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शीघ्रपतन बीमारी में डीजे में आरती देखने में पेश करना था एकदम कम करो जितने भी पल्लो लटके लटके लटके लगता है या खाना है हिंदुस्तानी अच्छे डॉक्टर के पास जाएं और फिर बातचीत करके आगे आने वाले समय में

shighrapatan bimari mein DJ mein aarti dekhne mein pesh karna tha ekdam kam karo jitne bhi pallo latke latke latke lagta hai ya khana hai hindustani acche doctor ke paas jayen aur phir batchit karke aage aane waale samay mein

शीघ्रपतन बीमारी में डीजे में आरती देखने में पेश करना था एकदम कम करो जितने भी पल्लो लटके लट

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  301
WhatsApp_icon
user

Dr. Arvind Kumar Mishra

Ayurvedic Doctor

0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

संतुलन प्राप्त करने का सिंपल उपाय हैं जो क्लासिकल इंडिकेशन टाइम पर सोना है टाइम पर आना है रितु के अनुसार खाना खाना है और अपने उम्र के अनुसार खाना खाना है और जो भी मेडिटेशन या धार्मिक या मन को शांत करने वाला जो चीज है उसको करना है

santulan prapt karne ka simple upay hain jo classical indication time par sona hai time par aana hai ritu ke anusaar khana khana hai aur apne umr ke anusaar khana khana hai aur jo bhi meditation ya dharmik ya man ko shaant karne vala jo cheez hai usko karna hai

संतुलन प्राप्त करने का सिंपल उपाय हैं जो क्लासिकल इंडिकेशन टाइम पर सोना है टाइम पर आना है

Romanized Version
Likes  37  Dislikes    views  489
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!