क्या पित्त दोष के लिए दही अच्छा है?...


user

Dr. Mitramahesh

Ayurvedic Doctors

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पितृदोष के लिए दही की छाछ और नशीली पदार्थ आप लेंगे छाछ के साथ से सोचोगे तो आपको बहुत फायदा होगा और अब त्रिफला चूर्ण को गरीबी अच्छी तरह से ले सकते हैं अथवा तो आर्य समाज जाएगी उद्योगपति स्टार्ट को हमारी वाइफ साइड देख कर के आप लोग सब उनके अपने तमारा पर लेंगे तो आप के गीत और तीनों दोषों का शमन हो जाएगा धन्यवाद

pitridosh ke liye dahi ki chhachh aur nashili padarth aap lenge chhachh ke saath se sochoge toh aapko bahut fayda hoga aur ab Triphala churn ko garibi achi tarah se le sakte hain athva toh arya samaj jayegi udyogpati start ko hamari wife side dekh kar ke aap log sab unke apne tamara par lenge toh aap ke geet aur tatvo doshon ka shaman ho jaega dhanyavad

पितृदोष के लिए दही की छाछ और नशीली पदार्थ आप लेंगे छाछ के साथ से सोचोगे तो आपको बहुत फायदा

Romanized Version
Likes  129  Dislikes    views  760
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user
0:53

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दही को आयुर्वेद में उसने माना गया है उसने भी माना गया है दही को नहीं माना जाता है आशिकी अगर दिल्ली से बंद करने के लिए नहीं माना के नेत्रों से बंद करना है तो उसके लिए कुछ नहीं है कि आपको आमला के साथ लेना है मूंग दाल के साथ लेना है खरीद की के साथ लेना-देना नहीं करना चाहिए अपमान आयुर्वेद में सभी दोस्तों को बढ़ा देता है विशन भी गुण पाया जाता है इसमें पूछना होता है तो अगर आप को ठंडक चाहिए कुछ तो रीज़न ऑफ़ पर नाटक रिया मट्ठा मट्ठा सब्सीट्यूट है वह शरीर में ठंडक लाता है दही ठंडक मिला था वह जिसका आप तो है दही का जो प्रकृति के साथ से हूं उसने प्रकृति

dahi ko ayurveda mein usne mana gaya hai usne bhi mana gaya hai dahi ko nahi mana jata hai aashiki agar delhi se band karne ke liye nahi mana ke netro se band karna hai toh uske liye kuch nahi hai ki aapko amla ke saath lena hai moong dal ke saath lena hai kharid ki ke saath lena dena nahi karna chahiye apman ayurveda mein sabhi doston ko badha deta hai vision bhi gun paya jata hai ismein poochna hota hai toh agar aap ko thandak chahiye kuch toh region of par natak riya mattha mattha sabsityut hai wah sharir mein thandak lata hai dahi thandak mila tha wah jiska aap toh hai dahi ka jo prakriti ke saath se hoon usne prakriti

दही को आयुर्वेद में उसने माना गया है उसने भी माना गया है दही को नहीं माना जाता है आशिकी अग

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  405
WhatsApp_icon
user

N C Tripathy

Ayurved Specialist

1:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पितृदोष के लिए यानी पेट संबंधी समस्या के लिए दही बहुत ही अच्छा है इसमें हमें एक बात का सिर्फ ध्यान रखना चाहिए कि दही का सेवन रात में ना करें सुबह या दोपहर को जरूर दही का सेवन करें करना चाहिए एक कटोरी दही जरूर आप सुबह या दोपहर को भोजन में शामिल करें क्योंकि यह पेट के लिए पाचन के लिए बहुत ही अच्छा है हमारा पाचन पाचन संस्थान को मजबूत करता है और इसलिए हमें ऐसा ही को अपने भोजन में जरूर शामिल करना चाहिए लेकिन रात में इसका सेवन न करें इसके बाद आयुर्वेद में भादो महीने में भी दही खाने की मनाही है इसलिए भादो महीने में दही का सेवन एक महीना न करें छोड़ दें क्योंकि पाचन संबंधी कुछ समस्या आती है भादो महीने में इसलिए आयुर्वेद में कहा भी गया है कि भादो महीने में हमें दही का सेवन नहीं करना चाहिए इन 12 बातों का ध्यान रखें और दही का खूब सेवन करें दही बहुत ही फायदेमंद है

pitridosh ke liye yani pet sambandhi samasya ke liye dahi bahut hi accha hai isme hamein ek baat ka sirf dhyan rakhna chahiye ki dahi ka seven raat me na kare subah ya dopahar ko zaroor dahi ka seven kare karna chahiye ek katori dahi zaroor aap subah ya dopahar ko bhojan me shaamil kare kyonki yah pet ke liye pachan ke liye bahut hi accha hai hamara pachan pachan sansthan ko majboot karta hai aur isliye hamein aisa hi ko apne bhojan me zaroor shaamil karna chahiye lekin raat me iska seven na kare iske baad ayurveda me bhado mahine me bhi dahi khane ki manaahi hai isliye bhado mahine me dahi ka seven ek mahina na kare chhod de kyonki pachan sambandhi kuch samasya aati hai bhado mahine me isliye ayurveda me kaha bhi gaya hai ki bhado mahine me hamein dahi ka seven nahi karna chahiye in 12 baaton ka dhyan rakhen aur dahi ka khoob seven kare dahi bahut hi faydemand hai

पितृदोष के लिए यानी पेट संबंधी समस्या के लिए दही बहुत ही अच्छा है इसमें हमें एक बात का सि

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  163
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!