आयुर्वेद में विभिन्न प्रकार के दोष क्या हैं?...


play
user

Dr. Amit Hardia

Panchkarma Specialist

1:32

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

3 तरह के दोस्त माने गए हैं बात पिक्चर होता तो बात तो है बात दोस्तों है हमारे शरीर में जितने भी गतिमान अवस्थाएं हैं वह सभी के लिए जिम्मेदार है जिसकी उठना जागना सांस लेना भूलना भोजन ग्रहण करना इन सभी में जो गतिमान जो अवस्था है वह वापस के कारण होती है इसके अलावा पाचन तंत्र से रिलेटेड या फिर हमारे शरीर में जो भोजन का अनुपात होता है जो हमारे पोषण सखी को पोषण की आवश्यकता होती है उसका जो ट्रांसफॉरमेशन है मतलब जैसा आपने जो भोजन किया वह तो मतलब की और पोषाहार रहता है उसको पोषण युक्त मतलब की नियुक्ति में बदलने का काम से फिट का होता है जैसे कि कार्बोहाइड्रेट्स हैं और विटामिन प्रोटीन है इसमें जो करता है जो हमारे शरीर के लिए आवश्यक होते हैं वह हमारा पिता होता है इसके अलावा जो शरीर के गठन का जो पार्ट होगा जिससे कि चरित्र निर्माण होता है वह पार्टी कब करता है इसमें जितने भी धातुओं हैं हमारे यहां हम इसका पोषण जो है वह कब के द्वारा एनर्जी कमिशन जी सब के द्वारा

3 tarah ke dost maane gaye hai baat picture hota toh baat toh hai baat doston hai hamare sharir mein jitne bhi gatiman avasthae hai vaah sabhi ke liye zimmedar hai jiski uthna jagana saans lena bhoolna bhojan grahan karna in sabhi mein jo gatiman jo avastha hai vaah wapas ke karan hoti hai iske alava pachan tantra se related ya phir hamare sharir mein jo bhojan ka anupat hota hai jo hamare poshan sakhi ko poshan ki avashyakta hoti hai uska jo transafarmeshan hai matlab jaisa aapne jo bhojan kiya vaah toh matlab ki aur poshahar rehta hai usko poshan yukt matlab ki niyukti mein badalne ka kaam se fit ka hota hai jaise ki karbohaidrets hai aur vitamin protein hai isme jo karta hai jo hamare sharir ke liye aavashyak hote hai vaah hamara pita hota hai iske alava jo sharir ke gathan ka jo part hoga jisse ki charitra nirmaan hota hai vaah party kab karta hai isme jitne bhi dhatuon hai hamare yahan hum iska poshan jo hai vaah kab ke dwara energy commission ji sab ke dwara

3 तरह के दोस्त माने गए हैं बात पिक्चर होता तो बात तो है बात दोस्तों है हमारे शरीर में जितन

Romanized Version
Likes  119  Dislikes    views  1524
KooApp_icon
WhatsApp_icon
5 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!