दोष क्या हैं?...


play
user

Dr. Anuj Dupta

Director and chief ayurvedic consultant and founder of Mantra Ayurveda.

0:23

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

त्रिदोष वात पित्त कफ वात पित्त कफ 3232 श्यामा रागिनी होती है रक्त मांस निकलता है

tridosh vaat pitt cough vaat pitt cough 3232 shyaama ragini hoti hai rakt maas nikalta hai

त्रिदोष वात पित्त कफ वात पित्त कफ 3232 श्यामा रागिनी होती है रक्त मांस निकलता है

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  309
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr. Amit Hardia

Panchkarma Specialist

0:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आयुर्वेद में तीन दोष बताए हैं वात पित्त कफ यह जो दोष है यह हमारे शरीर के संगठक कारक हैं इन्हीं से मिलकर हमारा शरीर बना हुआ होता है और यह जब आम अवस्था में होते हैं तो वह स्वस्थ अवस्था कहलाती है शाम में प्रकृति होते थे ऐसा कहा गया है कि शाम में मिलते हैं तो प्रकृति स्वस्थ व्यक्ति होता है और अगर जब या दूषित हो जाते हैं तो विकारों धातु में हूं ऐसा बोला गया वह हमारे शरीर में जो है दोस्त पैदा करते हैं मतलब की बीमारी को पैदा करते हैं और जो है आगे चल के अनेक बीमारियों में का मुख्य कारण

ayurveda mein teen dosh bataye hain vaat pitt cough yah jo dosh hai yah hamare sharir ke sangathan kaarak hain inhin se milkar hamara sharir bana hua hota hai aur yah jab aam avastha mein hote hain toh vaah swasth avastha kahalati hai shaam mein prakriti hote the aisa kaha gaya hai ki shaam mein milte hain toh prakriti swasth vyakti hota hai aur agar jab ya dushit ho jaate hain toh vikaron dhatu mein hoon aisa bola gaya vaah hamare sharir mein jo hai dost paida karte hain matlab ki bimari ko paida karte hain aur jo hai aage chal ke anek bimariyon mein ka mukhya karan

आयुर्वेद में तीन दोष बताए हैं वात पित्त कफ यह जो दोष है यह हमारे शरीर के संगठक कारक हैं इन

Romanized Version
Likes  121  Dislikes    views  1513
WhatsApp_icon
user
1:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोष दोष ना दें प्रदूषण की जो जड़े शरीर को धारण करने में और उसको दूषित करने में बीज होते हैं बातचीत करते हमारे शरीर बना है 32 हैं शारीरिक दोस्ती में बातचीत का पंच महाभूत हिसाब से घर देखा जाए तो वही बात जो हलका वायु और आकाश जल और नींबू है और आज भी है वह आपका धरती और जो है और यह दोष शरीर में अलग अलग उसको डिलीट कर दें जैसे बात नहीं कि बात पर तीनों में से कोई एक हमारी बॉडी में आता है और हमारी बॉडी में रहते रहते बाहर दिखने वाला प्लांट जो है वो पञ्च महाभूत को रिप्रेजेंट करता है उसी तरीके से हमारा शरीर भी अपने आप में पंच महाभूत ओं को व्हाट्सएप पर कर के रूप में ही विनोद करता है लेकिन ऐसे होता है कि बात का किसी बॉडी में ज्यादा परसेंटेज होता है किसी मैप दिखाओ ज्यादा पड़ सकता है किसी मेकअप का ज्यादा परसेंटेज हो तो उसे बात प्रधान प्रधान और प्रधान कैसी होती इंसान की

dosh dosh na de pradushan ki jo jade sharir ko dharan karne mein aur usko dushit karne mein beej hote hain batchit karte hamare sharir bana hai 32 hain sharirik dosti mein batchit ka punch mahabhut hisab se ghar dekha jaye toh wahi baat jo halaka vayu aur akash jal aur nimbu hai aur aaj bhi hai wah aapka dharti aur jo hai aur yeh dosh sharir mein alag alag usko delete kar de jaise baat nahi ki baat par tatvo mein se koi ek hamari body mein aata hai aur hamari body mein rehte rehte bahar dikhne vala plant jo hai vo panch mahabhut ko represent karta hai usi tarike se hamara sharir bhi apne aap mein punch mahabhut yuvaon ko whatsapp par kar ke roop mein hi vinod karta hai lekin aise hota hai ki baat ka kisi body mein zyada percentage hota hai kisi map dikhaao zyada pad sakta hai kisi makeup ka zyada percentage ho toh use baat pradhan pradhan aur pradhan kaisi hoti insaan ki

दोष दोष ना दें प्रदूषण की जो जड़े शरीर को धारण करने में और उसको दूषित करने में बीज होते है

Romanized Version
Likes  30  Dislikes    views  411
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
शारीरिक दोष ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!