क्या किसानों की आय 2022 तक दोगुनी हो जाएगी?...


play
user

Govind Saraf

Entrepreneur

1:12

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सरकार ने बीच के मिडिल मैन को खबर खत्म करने की कोशिश की है जेंटलमेन किसानों को बेवकूफ बनाकर उन से कम दामों में सामान खरीद कर जाऊं फिजाओं में हमारे पास पहुंचा देते उन्हें खत्म करने की कोशिश की है तू एक्सपेक्टेड है कि 2022 तक का दुख नहीं हो जाने चाहिए उनकी आय डि जे मीटिंग में नहीं देंगे तो क्या है वह भी साथ में कोई इतनी फैसिलिटी दी गई है बैंक जीरो बैलेंस बैंक अकाउंट साथ में मतलब कितने पर इंश्योरेंस में नदिया के कितने कंपयरेबल कराया जा रहा है इसके नाम पर सरकार कृषि कल्याण सेस भी निकाली थी जो पूरे देश में लेती थी ऐसा इनडायरेक्ट टैक्स के टैक्स तो तू खुद हो जानी चाहिए एक इनके तब्बू के नहीं होगी जब फसल अच्छी होगी फसल में ही कोई दिक्कत आई फसल में ही जग आपको पता है क्या तो किसानों की खुदकुशी से फसल है हो जाती है कि वह कब से गुटखा खाने का दाना नसीब नहीं होता किसानों को सबसे बड़ी बातें कहना मुश्किल है लेकिन एक्सपेक्टेड तो यही है तो है भाई से दुगनी हो जानी चाहिए

sarkar ne beech ke middle man ko khabar khatam karne ki koshish ki hai gentlemen kisano ko bewakoof banakar un se kam daamo mein saamaan kharid kar jaaun fijaon mein hamare paas pohcha dete unhe khatam karne ki koshish ki hai tu expected hai ki 2022 tak ka dukh nahi ho jaane chahiye unki aay de je meeting mein nahi denge toh kya hai vaah bhi saath mein koi itni facility di gayi hai bank zero balance bank account saath mein matlab kitne par insurance mein nadiya ke kitne kampayarebal raya ja raha hai iske naam par sarkar krishi kalyan Cess bhi nikali thi jo poore desh mein leti thi aisa indirect tax ke tax toh tu khud ho jani chahiye ek inke tabu ke nahi hogi jab fasal achi hogi fasal mein hi koi dikkat I fasal mein hi jag aapko pata hai kya toh kisano ki khudkhushi se fasal hai ho jaati hai ki vaah kab se gutkha khane ka dana nasib nahi hota kisano ko sabse badi batein kehna mushkil hai lekin expected toh yahi hai toh hai bhai se dugni ho jani chahiye

सरकार ने बीच के मिडिल मैन को खबर खत्म करने की कोशिश की है जेंटलमेन किसानों को बेवकूफ बनाकर

Romanized Version
Likes  87  Dislikes    views  1371
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Vikas Singh

Political Analyst

1:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप का सवाल है क्या किसानों की आय 2022 तक दोगुनी हो जाएगी मैं आपको बताना चाहता हूं प्रधानमंत्री मोदी जी का सपना है कि सन् 2022 तक हमारे देश के किसानों की आय दोगुनी हो जाए देखिए बहुत पहले 2000 सन 2014 के पहले जो धान का रेट हुआ करता था हजार रुपया साडे 11:30 ₹100 ग्यारह ₹100 क्विंटल बिकता था हमारा धाम 17:30 ₹100 क्विंटल बिका है गेहूं पिछले साल 15:30 ₹100 क्विंटल बिका था और इस बार 19:30 सौ या ₹19 क्विंटल बिकेगा प्रधानमंत्री आज हमारे किसानों को जो ख्वाब है यूरिया है आसानी से अवेलेबल हो जाता है उनके पास पर्याप्त बिजली है खेती करने के लिए आसानी से बिजली है पूरे देश में 18 घंटा गांव में बिजली है और शहर में आज 24 घंटे बिजली है तो मैं यह कहना चाहता हूं कि मोदी जी कहते हैं कि संत 22 में मैं किसानों की आय दोगुनी कर दूंगा मैं यह कहता हूं कि मोदी जी ने किसानों की आय दोगुनी कर दिया है किसानों की आय दोगुनी हो चुकी है और सन 2022 तक किसानों की आय 5 गुनी हो जाएगी जिस दिन 5 गुनी किसानों की आय हो जाएगी उस दिन हमारे देश की स्थिति दुनिया की सबसे अच्छी स्थिति होगी दुनिया में सबसे अच्छी स्थिति होगी दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश हमारा तभी बनेगा जब हमारे देश के सभी लोग एजुकेटेड होंगे हमारे देश के किसानों को उनका अधिकार मिलेगा हमारे देश के जवानों को उनका अधिकार मिलेगा और हमारे देश के गरीबों को उनका अधिकार मिलेगा कांग्रेस पार्टी ने हमारे देश में गरीबी को बढ़ावा दिया है आईए हम सभी लोग 2019 के चुनाव में मिलजुल कर अपने देश को कांग्रेस मुक्त करें कांग्रेस मुक्त करने के लिए हमें अपना महत्वपूर्ण वोट भारतीय जनता पार्टी को देना होगा धन्यवाद

aap ka sawal hai kya kisano ki aay 2022 tak doguni ho jayegi main aapko batana chahta hoon Pradhanmantri modi ji ka sapna hai ki san 2022 tak hamare desh ke kisano ki aay doguni ho jaye dekhie bahut pehle 2000 san 2014 ke pehle jo dhaan ka rate hua karta tha hazaar rupya sunday 11:30 Rs gyarah Rs quintal bikta tha hamara dham 17:30 Rs quintal bika hai gehun pichle saal 15:30 Rs quintal bika tha aur is baar 19:30 sau ya Rs quintal bikega Pradhanmantri aaj hamare kisano ko jo khwaab hai urea hai aasani se available ho jata hai unke paas paryapt bijli hai kheti karne ke liye aasani se bijli hai poore desh mein 18 ghanta gaon mein bijli hai aur sheher mein aaj 24 ghante bijli hai toh main yeh kehna chahta hoon ki modi ji kehte hain ki sant 22 mein main kisano ki aay doguni kar dunga main yeh kahata hoon ki modi ji ne kisano ki aay doguni kar diya hai kisano ki aay doguni ho chuki hai aur san 2022 tak kisano ki aay 5 guni ho jayegi jis din 5 guni kisano ki aay ho jayegi us din hamare desh ki sthiti duniya ki sabse acchi sthiti hogi duniya mein sabse acchi sthiti hogi duniya ka sabse shaktishali desh hamara tabhi banega jab hamare desh ke sabhi log educated honge hamare desh ke kisano ko unka adhikaar milega hamare desh ke jawano ko unka adhikaar milega aur hamare desh ke garibon ko unka adhikaar milega congress party ne hamare desh mein garibi ko badhawa diya hai IAS hum sabhi log 2019 ke chunav mein miljul kar apne desh ko congress mukt karein congress mukt karne ke liye humein apna mahatvapurna vote bharatiya janta party ko dena hoga dhanyavad

आप का सवाल है क्या किसानों की आय 2022 तक दोगुनी हो जाएगी मैं आपको बताना चाहता हूं प्रधानमं

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  479
WhatsApp_icon
user

महेश हिन्दू

विधार्थी

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार भाइयों बहनों देखिए यह जो आपने पसंद किया है यह माननीय प्रधानमंत्री मोदी जी का डायलॉग है बाकी कुछ नहीं है दिखे उनका मैं समर्थक भी हूं आलोचक भी हूं मैं अच्छी बातों के लिए उनका समर्थन करता हूं और जो बात मुझे ठीक नहीं लगती वह अपने चुनावी फायदे के लिए कहते हैं तो उसी में डायलॉग कहता हूं बाकी रही बात 2 गुने की तो दो नहीं तो नहीं हो सकती क्योंकि भारत में धड़ल्ले से रासायनिक खाद्य बेची जा रही है उचित नाशक दवाइयां डालते हैं फसलों में चाहे वह कोई भी खेती बागवानी खेती हो फूल की खेती को सब्जी की खेती हो और धान की खेती हो कोई भी हो तो उसमें ज्यादा से ज्यादा कीटनाशक डालते हैं उसे क्या है फसलें जल्दी से जल्दी बढ़ जाती है कम समय में पैदा हो जाती है तो भाई हम फसलें पैदा होते हैं वही हम बाजार में मिलते हैं फिर बाजारों से हमारे घरों में आते हैं फिर उन्हें खाते हैं फिर हम उनमें ज्यादातर केमिकल होते हैं फिर हम उनसे एमआर पढ़ते हैं डॉक्टर के पास जाते हैं डॉक्टर और विदेशी कंपनियों का यह कमाई का जरिया बन जाता है पैसा फिर जो भ्रष्ट लोग सरकार में बैठे रहते हैं उनको भी मजा आता है क्योंकि यह तो सब लोग अपने धंधे पर लगे हैं और जो जमीन है उसकी ओर व क्षमता कीटनाशक खादों से कम हो रही है और मोदी सरकार तो बार-बार मोदी जी चला चला के कि मैंने यूरिया की कालाबाजारी हो रही क्यों रोक दिया पर खूब सारी यूरिया बेची जा रही है तो इससे क्या होगा यूरिया की दोगुनी आज तो नहीं हो सकती बस इतना है कि किसानों के हित में कठोर फैसले मोदी जी जरूर लेंगे इतना मुझे विश्वास है बाकी किसानों के लिए एक अलग से फोटो आना चाहिए जहां उनकी सुनाई हो बाकी किसान मंत्रालय भी बनना चाहिए तथा जितने भी ये विदेशी कंपनी है कीटनाशक और रासायनिक खाद इन पर पूर्ण प्रतिबंध लगाना चाहिए और जेब

namaskar bhaiyo bahanon dekhie yeh jo aapne pasand kiya hai yeh mananiya Pradhanmantri modi ji ka dialogue hai baki kuch nahi hai dikhe unka main samarthak bhi hoon alochak bhi hoon main acchi baaton ke liye unka samarthan karta hoon aur jo baat mujhe theek nahi lagti wah apne chunavi fayde ke liye kehte hai toh usi mein dialogue kahata hoon baki rahi baat 2 gune ki toh do nahi toh nahi ho sakti kyonki bharat mein dhadalle se Rasayanik khadya bechi ja rahi hai uchit nashak davaiyan daalte hai fasalon mein chahe wah koi bhi kheti baagwaani kheti ho fool ki kheti ko sabzi ki kheti ho aur dhaan ki kheti ho koi bhi ho toh usme zyada se zyada keetanaashak daalte hai use kya hai faslen jaldi se jaldi badh jati hai kam samay mein paida ho jati hai toh bhai hum faslen paida hote hai wahi hum bazaar mein milte hai phir bazaro se hamare gharon mein aate hai phir unhein khate hai phir hum unmen jyadatar chemical hote hai phir hum unse mr padhte hai doctor ke paas jaate hai doctor aur videshi companiyo ka yeh kamai ka jariya ban jata hai paisa phir jo bhrasht log sarkar mein baithe rehte hai unko bhi maza aata hai kyonki yeh toh sab log apne dhande par lage hai aur jo jameen hai uski aur va kshamta keetanaashak khadyon se kam ho rahi hai aur modi sarkar toh baar baar modi ji chala chala ke ki maine urea ki kalabajari ho rahi kyon rok diya par khoob saree urea bechi ja rahi hai toh isse kya hoga urea ki doguni aaj toh nahi ho sakti bus itna hai ki kisano ke hit mein kathor faisle modi ji zaroor lenge itna mujhe vishwas hai baki kisano ke liye ek alag se photo aana chahiye jaha unki sunayi ho baki kisan mantralay bhi banana chahiye tatha jitne bhi ye videshi company hai keetanaashak aur Rasayanik khad in par poorn pratibandh lagana chahiye aur jeb

नमस्कार भाइयों बहनों देखिए यह जो आपने पसंद किया है यह माननीय प्रधानमंत्री मोदी जी का डायलॉ

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  594
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!