क्यों बेवफाई और विश्वास की कमी आजकल कई रोमांटिक रिश्तों को आसानी से मार रही है?...


user

DR. I.P.SINGH

Doctorate in Literature

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप अपने आप चली गई क्यों बेवफाई और विश्वास की कमी आजकल कई रोमांटिक रिश्तो को आसानी से मार देगी रोमांटिक रिश्ते का मतलब होता जहां प्यार होता जाति धर्म का बंधन ना क्यों प्यार हो रोमांटिक रिश्ता है विश्वास दूसरों पर दूसरों के कही गई बातों को मानकर के चलना कि हां वह सही कह रहा है और बेवफा का मतलब होता कही गई बात का निर्वाह करना तो आजकल एक तो लोग कही गई बातों का निर्माण नहीं करते हैं मौका मिल जाए तो वह कभी भी अपना आचरण बदल देते प्रेम संबंधों में देखे प्रेमी का जो है वह किसी बॉयफ्रेंड के साथ है पर ऐसा होता करो उससे अच्छे पैसे वाला बॉयफ्रेंड मिल जाता है तो उसे छोड़ देती है क्योंकि पश्चिम के प्रभाव से अबू यौन शुचिता शारीरिक संबंधों की पवित्रता का भाव तो मैं खत्म हो चुका है अब तो खाओ पियो और मौज करवा गया है इसलिए वादा करके भी उसे तोड़ा जाता है तो एक तो है बेवफाई और ऐसे देख कर के लोग एक दूसरे पर विश्वास नहीं करते हैं रिलेशन इन ए रिलेशनशिप ऐसा ही है जब तक मिले तब तक लो नहीं तो छोड़ दो तो जब विश्वास नहीं आपस में और वादे को निभाने की क्षमता नहीं है रिश्ता कैसा भी रोमांटिक को विखंडित होगा ही होगा इसलिए वफा और विश्वास दो मूलभूत आवश्यकताएं हैं और जानते कि जो भी बॉयफ्रेंड गर्लफ्रेंड उपभोक्तावादी मानसिकता का होगा वह दोनों ही बातों का निर्वाह शादी कर सकेगा

aap apne aap chali gayi kyon bewafai aur vishwas ki kami aajkal kai romantic rishto ko aasani se maar degi romantic rishte ka matlab hota jaha pyar hota jati dharm ka bandhan na kyon pyar ho romantic rishta hai vishwas dusro par dusro ke kahi gayi baaton ko maankar ke chalna ki haan vaah sahi keh raha hai aur bewafaa ka matlab hota kahi gayi baat ka nirvah karna toh aajkal ek toh log kahi gayi baaton ka nirmaan nahi karte hain mauka mil jaaye toh vaah kabhi bhi apna aacharan badal dete prem sambandhon me dekhe premi ka jo hai vaah kisi boyfriend ke saath hai par aisa hota karo usse acche paise vala boyfriend mil jata hai toh use chhod deti hai kyonki paschim ke prabhav se abu yaun shuchita sharirik sambandhon ki pavitrata ka bhav toh main khatam ho chuka hai ab toh khao piyo aur mauj karva gaya hai isliye vada karke bhi use toda jata hai toh ek toh hai bewafai aur aise dekh kar ke log ek dusre par vishwas nahi karte hain relation in a Relationship aisa hi hai jab tak mile tab tak lo nahi toh chhod do toh jab vishwas nahi aapas me aur waade ko nibhane ki kshamta nahi hai rishta kaisa bhi romantic ko vikhandit hoga hi hoga isliye wafa aur vishwas do mulbhut aavashyakataen hain aur jante ki jo bhi boyfriend girlfriend upabhoktavadi mansikta ka hoga vaah dono hi baaton ka nirvah shaadi kar sakega

आप अपने आप चली गई क्यों बेवफाई और विश्वास की कमी आजकल कई रोमांटिक रिश्तो को आसानी से मार द

Romanized Version
Likes  139  Dislikes    views  734
KooApp_icon
WhatsApp_icon
8 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
क्यों मार रही है ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!