क्या आप कोई ऐसी बात या सीख देना चाहेंगे आज कल के नौजवानों को जो जीवन से निराश रहते है?...


play
user
1:06

Likes  212  Dislikes    views  1832
WhatsApp_icon
12 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

DR. I.P.SINGH

Doctorate in Literature

0:15
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या आप कोई ऐसी बातें लिख देना चाहेंगे आजकल के नौजवानों को जो जीवन से निराश रहते हैं ऐसा है कि आज के जीवन में स्पर्धा तो बहुत बढ़ गई है और आए नहीं

kya aap koi aisi batein likh dena chahenge aajkal ke naujavanon ko jo jeevan se nirash rehte hain aisa hai ki aaj ke jeevan me spardha toh bahut badh gayi hai aur aaye nahi

क्या आप कोई ऐसी बातें लिख देना चाहेंगे आजकल के नौजवानों को जो जीवन से निराश रहते हैं ऐसा ह

Romanized Version
Likes  164  Dislikes    views  1892
WhatsApp_icon
user

Bk Arun Kaushik

Youth Counselor Motivational Speaker

2:00
Play

Likes  91  Dislikes    views  3032
WhatsApp_icon
user

Dr.Paramjit Singh

Health and Fitness Expert/ Lecturer In Physical Education/

0:41
Play

Likes  114  Dislikes    views  1549
WhatsApp_icon
user
0:16
Play

Likes  68  Dislikes    views  2384
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

4:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके प्रश्न क्या क्या कोई ऐसी भाग्य सीख देना चाहेंगे आप पर भगवान के वीडियो अच्छे इंसान का इंसान की अपनी सोच अपनी समझ जक्कन्ना मनमानी फैसले ना सोशल मीडिया में इन्वॉल्व होना समय की बर्बादी करना और अपने कथ्य को के प्रति अरुचि रखना यह कुछ ऐसे कारण है जिससे इंसान थक गया है हार गया है और निराश हो गया उसे लगता कि जीवन में अब वह कुछ नहीं कर सकता नहीं अगर यह हालात पहुंचेंगे इन हालातों के पीछे इतने कारण ने जो मुन्ने कि नहीं अगर इनको पैदा किया जा सकता है और इंसानों को मिटाया भी जा सकता है और फिर से उम्मीद जताई जा सकती है आलस को छोड़िए लापरवाही को छोड़िए गलत फैसले लेने छोड़िए और मनमानी छोड़िए सोशल मीडिया के बाईपास कीजिए अपने घर के माता-पिता से चला दीजिए जो आपको मार्गदर्शन कर सकता है उनसे उनकी शरण में जाएंगे और फिर से अपने जीवन को जीने के लिए लोगों को सहयोग लीजिए और आज से अभी तो इसी वक्त से आप से दुखी हैं जो लोग निराश हो चुके हैं अब कुछ बनना चाहते हैं कुछ अगर जिंदगी में सुधार लाना चाहते तो मैं विश्वास दिलाता हूं आपको नींद संजय मैं काउंसलिंग के माध्यम से उनको शिक्षा के माध्यम से उनको प्रतियोगी परीक्षाओं के माध्यम से प्यारी के माध्यम से उनके जीवन का संचार करता हूं अब कर सकता हूं दावे से कहता हूं केवल बात नहीं कह रहा हूं कर सकता हूं करता बसंती कि वह अपनी इन बुराइयों को छोड़ें और हमसे संपर्क करें हम निसंदेह उनकी मदद करेंगे और उनको निमित्त टाइम देंगे उस निमित्त टाइम से उनको शिक्षा देंगे काउंसलिंग करेंगे उनकी तैयारी करेंगे और उनको सफलता की चिड़ियों पर भी हम पहुंच जाएंगे अब जब तक आप नहीं जाएंगे तब तक हम कुछ नहीं कर पाएंगे क्योंकि आपके चाइनीस पर मैंने कहा ना अगर आप एक गंदा दोस्त ढूंढो हजार मिलते हैं लेकिन हजारों आदमी में एक सही राह देखने वाला को नहीं अगर मिल जाए तो उसको तुरंत उसकी शरण में आ जाएगी और अपने आप की स्थिति को व्यक्त कीजिए देखिए मां-बाप भी निराश होते हैं जब युवा निराश होते तो मां-बाप इंदिरा कोटेशन अगर इस तरह से निराश हो गई तो उनका क्या होगा आ जाए मैं करूं दो हूं चार हूं 10 2450 जितने भी हूं और हिंदुस्तान के किसी भी कोने से हो नितिन दे आप हम से कांटेक्ट कर सकते हैं हमारी फोन नंबर से कांटेक्ट कर सकते हैं आप संपर्क कर सकते हैं लेकिन कुछ कर सकते हैं और शिक्षा के माध्यम से आपको हम कोशिश कोशिश कि आपके अंदर जो है एक नई चेतना आपके अंदर ले आए और आपकी निराशा जड़ से खत्म

aapke prashna kya kya koi aisi bhagya seekh dena chahenge aap par bhagwan ke video acche insaan ka insaan ki apni soch apni samajh jakkanna manmani faisle na social media me involve hona samay ki barbadi karna aur apne kathya ko ke prati aruchi rakhna yah kuch aise karan hai jisse insaan thak gaya hai haar gaya hai aur nirash ho gaya use lagta ki jeevan me ab vaah kuch nahi kar sakta nahi agar yah haalaat pahunchenge in halaton ke peeche itne karan ne jo munne ki nahi agar inko paida kiya ja sakta hai aur insano ko mitaya bhi ja sakta hai aur phir se ummid jatai ja sakti hai aalas ko chodiye laparwahi ko chodiye galat faisle lene chodiye aur manmani chodiye social media ke bypaas kijiye apne ghar ke mata pita se chala dijiye jo aapko margdarshan kar sakta hai unse unki sharan me jaenge aur phir se apne jeevan ko jeene ke liye logo ko sahyog lijiye aur aaj se abhi toh isi waqt se aap se dukhi hain jo log nirash ho chuke hain ab kuch banna chahte hain kuch agar zindagi me sudhaar lana chahte toh main vishwas dilata hoon aapko neend sanjay main kaunsaling ke madhyam se unko shiksha ke madhyam se unko pratiyogi parikshao ke madhyam se pyaari ke madhyam se unke jeevan ka sanchar karta hoon ab kar sakta hoon daave se kahata hoon keval baat nahi keh raha hoon kar sakta hoon karta basanti ki vaah apni in buraiyon ko choodey aur humse sampark kare hum nisandeh unki madad karenge aur unko nimitt time denge us nimitt time se unko shiksha denge kaunsaling karenge unki taiyari karenge aur unko safalta ki chidiyon par bhi hum pohch jaenge ab jab tak aap nahi jaenge tab tak hum kuch nahi kar payenge kyonki aapke Chinese par maine kaha na agar aap ek ganda dost dhundho hazaar milte hain lekin hazaro aadmi me ek sahi raah dekhne vala ko nahi agar mil jaaye toh usko turant uski sharan me aa jayegi aur apne aap ki sthiti ko vyakt kijiye dekhiye maa baap bhi nirash hote hain jab yuva nirash hote toh maa baap indira quotation agar is tarah se nirash ho gayi toh unka kya hoga aa jaaye main karu do hoon char hoon 10 2450 jitne bhi hoon aur Hindustan ke kisi bhi kone se ho nitin de aap hum se Contact kar sakte hain hamari phone number se Contact kar sakte hain aap sampark kar sakte hain lekin kuch kar sakte hain aur shiksha ke madhyam se aapko hum koshish koshish ki aapke andar jo hai ek nayi chetna aapke andar le aaye aur aapki nirasha jad se khatam

आपके प्रश्न क्या क्या कोई ऐसी भाग्य सीख देना चाहेंगे आप पर भगवान के वीडियो अच्छे इंसान का

Romanized Version
Likes  421  Dislikes    views  5985
WhatsApp_icon
user

fighter

Counselor & Coach

8:33
Play

Likes  821  Dislikes    views  5034
WhatsApp_icon
user

Gopal Srivastava

Acupressure Acupuncture Sujok Therapist

1:34
Play

Likes  174  Dislikes    views  5785
WhatsApp_icon
play
user

Dr. Priya Shatanjib Jha

Psychologist|Counselor|Dentist

1:47

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्ते दोस्तों मेरी यानी डॉक्टर प्रिया झा के तरफ से आप सब को दिन की बहुत सारी शुभकामनाएं नौजवानों कोई नहीं मैं बाकी सब लोग को भी ऐसी देना चाहूंगी कि निराश तो हम सब होते हैं जिंदगी में कभी ना कभी लेकिन नाम क्योंकि हम इंसान हैं और क्योंकि हम दिमाग से और हर हर तरह से काफी शक्तिशाली हैं हम उस कठिनाई से उठकर बाहर आएंगे मतलब आज नहीं तो कल हम उसमें से उठकर बाहर आएंगे अपना रास्ता निकालेंगे तो इसीलिए आप जल्द ही आज नहीं तो कल नहीं तो कुछ दिनों के बाद यहां आपसे के बाद अपना मन बना कर और यह निश्चय कर कर कि आप कैसे इस से बाहर निकलोगे अपने परेशानियों को कैसे ठीक करोगे और कैसे आप फिर से खुश रह सको गे या फिर जो भी चीज आपको खुश करती है या फिर आपको जिस से कामयाबी फील होता है आप क्या कर सकते हो जिससे आपको वह सब चीजें मिले तो यह अपना खुद का रास्ता बनाना और खुद का रास्ता निकालना यह आपको आज नहीं तो कल करना ही है तो क्यों नहीं इस पर हम आज से ही काम करना शुरू कर देखिए आपको सब चीज जो है दुनिया में मोटिवेट कर सकती है या फिर आपको कोई ना कोई कुछ ना कुछ कह कर चला जाएगा अच्छा लेकिन अंत में आप को ही अपना मदद करना पड़ेगा तो आप आज ही से उस पर कायम कीजिए और अपना मदद करना अपने आप का मदद करने के लिए आप आज ही से शुरू हो जाइए यह मैं आपको कहना चाहूंगी थैंक यू

namaste doston meri yani doctor priya jha ke taraf se aap sab ko din ki bahut saree subhkamnaayain naujavanon koi nahi main baki sab log ko bhi aisi dena chahungi ki nirash toh hum sab hote hain zindagi mein kabhi na kabhi lekin naam kyonki hum insaan hain aur kyonki hum dimag se aur har har tarah se kafi shaktishali hain hum us kathinai se uthakar bahar aayenge matlab aaj nahi toh kal hum usmein se uthakar bahar aayenge apna rasta nikalenge toh isliye aap jald hi aaj nahi toh kal nahi toh kuch dinon ke baad yahan aapse ke baad apna man bana kar aur yeh nishchay kar kar ki aap kaise is se bahar nikloge apne pareshaaniyon ko kaise theek karoge aur kaise aap phir se khush reh Sako gay ya phir jo bhi cheez aapko khush karti hai ya phir aapko jis se kamyabi feel hota hai aap kya kar sakte ho jisse aapko wah sab cheezen mile toh yeh apna khud ka rasta banana aur khud ka rasta nikalna yeh aapko aaj nahi toh kal karna hi hai toh kyon nahi is par hum aaj se hi kaam karna shuru kar dekhie aapko sab cheez jo hai duniya mein motivate kar sakti hai ya phir aapko koi na koi kuch na kuch keh kar chala jayega accha lekin ant mein aap ko hi apna madad karna padega toh aap aaj hi se us par kayam kijiye aur apna madad karna apne aap ka madad karne ke liye aap aaj hi se shuru ho jaiye yeh main aapko kehna chahungi thank you

नमस्ते दोस्तों मेरी यानी डॉक्टर प्रिया झा के तरफ से आप सब को दिन की बहुत सारी शुभकामनाएं

Romanized Version
Likes  157  Dislikes    views  2194
WhatsApp_icon
user

Delete

Delete

1:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

और बढ़िया सवाल है हमें यह समझना होगा कि आशा और निराशा एक ही सिक्के के दो पहलू हैं हर एक के जीवन में ऐसी सिचुएशन आती है जबकि आप निराशा ग्रस्त हो जाते हैं और ऐसी सिचुएशन भी आती है जब आपकी होप सी आशा बहुत बढ़ जाती है तो जब बहुत ज्यादा हो क्या आशा बढ़ जाती है तो उसके साथ आपके एक्सपेक्टेशन भी बढ़ती है और एक्सपेक्टेशन जब टूटती है या एक्सपेक्टेशन के मुकाबला कोई चीज नहीं मिलती तो आप को निराशा होती है तो यह एक तरह से लिंक है आपस में आशा होगी उसके बाद निराशा होगी निराशा के बाद फिर आशा आएगी तो यह बिजनेस है जो हर एक की जिंदगी में आते ही आते हैं तो इससे टूट कर बैठ जाने का कोई मतलब नहीं है जब एक्सेप्ट करना सीख जाएंगे कि हां जी आज मैं निराश हूं क्योंकि जो मैं चाहता था वह नहीं हुआ जरा भी एक्सेप्ट कर लेंगे तो आपका दिमाग उसके आगे सोचने की कोशिश करेगा अगर आप एक्सेप्ट नहीं कर पाएंगे कि आप निराश हैं आप निराशा भी सोचते रहेंगे तो आपके दिमाग उस निराशा शब्द के आगे नहीं जाएगा तो इसने बहुत जरूरी है कि अपने आप को बोल दीजिए कि हां मैं शायद वो करना चाहता था या जो मे पाना चाहता था अभी मुझे नहीं मिला मैं एक्सेप्ट करता हूं पगली बात मैं क्या करूं अगले ऐसा क्या काम करूं जो कि मेरे को मेरी मंजिल तक ले कर जाए ऑटोमेटिक हां चलो अभी यह स्टेप लूंगा जीवन में तो शायद जो मैं करना चाहता था कर पाऊं तो फिर इसी तरह से एक जरूरी है अगर आप सोच कर हार कर बैठ जाएंगे तो कुछ नहीं हो सकता आपको खुद को अपनी सिचुएशन से निकालना इस चक्रव्यू से निकलना है और आगे बढ़ना है

aur badhiya sawal hai humein yeh samajhna hoga ki asha aur nirasha ek hi sikke ke do pahaloo hain har ek ke jeevan mein aisi situation aati hai jabki aap nirasha grast ho jaate hain aur aisi situation bhi aati hai jab aapki hope si asha bahut badh jati hai toh jab bahut zyada ho kya asha badh jati hai toh uske saath aapke expectation bhi badhti hai aur expectation jab tootati hai ya expectation ke muqabla koi cheez nahi milti toh aap ko nirasha hoti hai toh yeh ek tarah se link hai aapas mein asha hogi uske baad nirasha hogi nirasha ke baad phir asha aayegi toh yeh business hai jo har ek ki zindagi mein aate hi aate hain toh isse toot kar baith jaane ka koi matlab nahi hai jab except karna seekh jaenge ki haan ji aaj main nirash hoon kyonki jo main chahta tha wah nahi hua jara bhi except kar lenge toh aapka dimag uske aage sochne ki koshish karega agar aap except nahi kar payenge ki aap nirash hain aap nirasha bhi sochte rahenge toh aapke dimag us nirasha shabd ke aage nahi jayega toh isne bahut zaroori hai ki apne aap ko bol dijiye ki haan main shayad vo karna chahta tha ya jo mein pana chahta tha abhi mujhe nahi mila main except karta hoon pagli baat main kya karu agle aisa kya kaam karu jo ki mere ko meri manjil tak le kar jaye Automatic haan chalo abhi yeh step lunga jeevan mein toh shayad jo main karna chahta tha kar paun toh phir isi tarah se ek zaroori hai agar aap soch kar haar kar baith jaenge toh kuch nahi ho sakta aapko khud ko apni situation se nikalna is chakravyu se nikalna hai aur aage badhana hai

और बढ़िया सवाल है हमें यह समझना होगा कि आशा और निराशा एक ही सिक्के के दो पहलू हैं हर एक के

Romanized Version
Likes  70  Dislikes    views  1449
WhatsApp_icon
user

Trainer Yogi Yogendra

Motivational Speaker || Career Coach || Business Coach || Marketing & Management Expert's

1:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड्स मैं योगेंद्र शर्मा मोटिवेशनल स्पीकर केरियर कोच और कॉरपोरेट्स रोशन पर बात करने वाले हैं माय डियर फ्रेंड सुबह है कि क्या आप कोई ऐसी बात या सीख लेना चाहिए आज कल के नौजवानों को जो जीवन में निराश रहते हैं देखिए में एक ही सीख उनको देना चाहूंगा कि आप संघर्ष से और समस्याओं से निराश ना हो और आप जो पाना चाहते हैं जिसकी तरफ आपका लक्ष्य है उसी पर अपना ध्यान केंद्रित रखें इधर-उधर की बातों में आप अपने ध्यान को डायवर्ट ना करें और उसमें अपने आप को ना लगाएं क्योंकि आप जब अपने लक्ष्य से भटक कर दूसरी तरफ अपने ध्यान को लगा लेते हैं तो आपकी कार्य करने की क्षमता आपके कर्म करने की क्षमता जो है वह आधी रह जाती और जब आधी क्षमता रह जाती तो आपको सफलता भी आधी ही मिलती है माय डियर फ्रेंड अगर आप जो है पूरी कॉन्सीट्यूशन पावर के साथ में पूरी ताकत के साथ में अगर अपने लक्ष्य की तरफ ध्यान केंद्रित करके अगर उस पर ही काम करेंगे तो आपको पूर्णतया सफलता जरूर मिलेगी माय डियर फ्रेंड इसलिए अगर फिर भी आपको इससे टॉपिक से रिलेटेड अगर ज्यादा बात करनी है ज्यादा डिस्ट्रक्शन करना है तो मुझे कॉल कर सकते हैं मेरा कांटेक्ट नंबर है 6161 180 537 पर आप बात कर सकते हैं जय हिंद जय मां

hello friends main yogendra sharma Motivational speaker Career coach aur karporets roshan par baat karne waale hain my dear friend subah hai ki kya aap koi aisi baat ya seekh lena chahiye aaj kal ke naujavanon ko jo jeevan mein nirash rehte hain dekhiye mein ek hi seekh unko dena chahunga ki aap sangharsh se aur samasyaon se nirash na ho aur aap jo paana chahte hain jiski taraf aapka lakshya hai usi par apna dhyan kendrit rakhen idhar udhar ki baaton mein aap apne dhyan ko divert na karen aur usme apne aap ko na lagaen kyonki aap jab apne lakshya se bhatak kar dusri taraf apne dhyan ko laga lete hain toh aapki karya karne ki kshamta aapke karm karne ki kshamta jo hai vaah aadhi reh jaati aur jab aadhi kshamta reh jaati toh aapko safalta bhi aadhi hi milti hai my dear friend agar aap jo hai puri kansityushan power ke saath mein puri takat ke saath mein agar apne lakshya ki taraf dhyan kendrit karke agar us par hi kaam karenge toh aapko purnataya safalta zaroor milegi my dear friend isliye agar phir bhi aapko isse topic se related agar zyada baat karni hai zyada destruction karna hai toh mujhe call kar sakte hain mera Contact number hai 6161 180 537 par aap baat kar sakte hain jai hind jai maa

हेलो फ्रेंड्स मैं योगेंद्र शर्मा मोटिवेशनल स्पीकर केरियर कोच और कॉरपोरेट्स रोशन पर बात करन

Romanized Version
Likes  277  Dislikes    views  1506
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  48  Dislikes    views  1211
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!