क्या IAS के लिए कोचिंग ज़रूरी है?...


user

Sanjeev Singh

Career Coach for Civil Services and Other Competitive Examinations

1:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है क्या आईएस के लिए कोचिंग जरूरी है तो मैं इस बात से सहमत नहीं हूं कोचिंग जरूरी नहीं है परंतु कई विद्यार्थियों के लिए जिनकी रेगुलेरिटी और कंसिस्टेंसी कंसिस्टेंसी self-regulated नहीं है यानी वह अपने आप पर नियंत्रण करके अपने आप को रेगुलेट करके एक निश्चित नियम बद्ध तरीके से ध्यान नहीं करते ऐसे लोगों के लिए कोचिंग अनिवार्य हो जाता है कि कोचिंग में जब जाते हैं तो हमारी रेगुलेरिटी बनी रहती है हम पढ़ते हैं क्योंकि कल जाएंगे जो दूसरे साथ रहे हम से प्रतिस्पर्धा कर रहे हैं वह आगे निकल जाएंगे तो उस प्रतिस्पर्धा को मेंटेन करने के लिए हमको भी पढ़ना ही पड़ता है इसलिए कुछ आवश्यक है परंतु कुछ ऐसे हैं जो अपने आप पर पूरा नियंत्रण रखते हैं कंपलीट कंट्रोल लेते हैं वह अपने हिसाब से तय कर सकते हैं कि कौन को प्रतिदिन कितना घंटा पढ़ना है और उस पढ़ाई को कितनी गति से करेंगे ताकि उनका काम समय पर पूरा हो जाए इसलिए कोचिंग की अनिवार्यता है ऐसा मैं नहीं मानता हूं बिना कोचिंग के भी बहुत सारे स्टूडेंट सेक्स करते हैं सफल होते हैं बहुत सारे स्टूडेंट कोचिंग करके भी असफल होते हैं तो इस दोनों मामले में अपने-अपने ग्राफ है इसलिए मेरा मानना है कि आप अपनी परिस्थितियों आप अपने स्थिति परिस्थिति के हिसाब से निर्णय करें क्या को कोचिंग करना है या नहीं करना है दोनों मार्ग तक आदमी पहुंच सकते हैं असली कोचिंग कंपलसरी मेरे जानने वालों में मेरे परिचित में मेरे सीनियर से मेरे जूनियर में भी ऐसे लोग रहे हैं जिन लोगों ने बिना कोचिंग के आईएएस क्वालीफाई किया है बल्कि इंडिया के टॉपर्स में शामिल हुए ना डालें धन्यवाद

aapka prashna hai kya ias ke liye coaching zaroori hai toh main is baat se sahmat nahi hoon coaching zaroori nahi hai parantu kai vidyarthiyon ke liye jinki reguleriti aur kansistensi kansistensi self regulated nahi hai yani vaah apne aap par niyantran karke apne aap ko regulate karke ek nishchit niyam baddh tarike se dhyan nahi karte aise logo ke liye coaching anivarya ho jata hai ki coaching me jab jaate hain toh hamari reguleriti bani rehti hai hum padhte hain kyonki kal jaenge jo dusre saath rahe hum se pratispardha kar rahe hain vaah aage nikal jaenge toh us pratispardha ko maintain karne ke liye hamko bhi padhna hi padta hai isliye kuch aavashyak hai parantu kuch aise hain jo apne aap par pura niyantran rakhte hain complete control lete hain vaah apne hisab se tay kar sakte hain ki kaun ko pratidin kitna ghanta padhna hai aur us padhai ko kitni gati se karenge taki unka kaam samay par pura ho jaaye isliye coaching ki aniwaryaata hai aisa main nahi maanta hoon bina coaching ke bhi bahut saare student sex karte hain safal hote hain bahut saare student coaching karke bhi asafal hote hain toh is dono mamle me apne apne graph hai isliye mera manana hai ki aap apni paristhitiyon aap apne sthiti paristhiti ke hisab se nirnay kare kya ko coaching karna hai ya nahi karna hai dono marg tak aadmi pohch sakte hain asli coaching compulsory mere jaanne walon me mere parichit me mere senior se mere junior me bhi aise log rahe hain jin logo ne bina coaching ke IAS qualify kiya hai balki india ke toppers me shaamil hue na Daalein dhanyavad

आपका प्रश्न है क्या आईएस के लिए कोचिंग जरूरी है तो मैं इस बात से सहमत नहीं हूं कोचिंग जरूर

Romanized Version
Likes  217  Dislikes    views  2718
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr. P. N. Jha

TOPPERS IAS app. Sr.Facuty, IAS Coaching.

3:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राजेश के लिए कोचिंग में जरूरी है या नहीं जरूरी है एक बड़ा सब्जेक्टिव और बड़ा एक व्यक्तिगत मामला है आप कई लोगों का कहना होता है कि वह अपने प्रयास से अपने मेहनत से अभ्यास से वह आराम से तैयारी कर सकते हैं कई लोगों की जो शिक्षा दीक्षा होती है कुछ ऐसे स्कूल कॉलेज में बहुत मेहनत से का पाठ्यक्रम पूरा किए जाते हैं और जो यूपीएससी का पाठ्यक्रम है वह अगर किसी ने प्लस 2 अप्रैल रैली सेना का चित्रण किया है उसके पास तुम को फॉलो किया उसमें इन्वॉल्व ओके बड़ा है उसके साइन मैंट को किया है उसके से डिस्कशन किया नोट्स बनाया है तो आधी से अधिक तो आपकी तैयारी वही हो जाती है तो बहुत सारे बच्चे ऐसे होते हैं जो बिना किसी के भी पास करते हैं मैं रेनू में पढ़ता था और जिन्होंने हमारे बहुत सारे छात्र करना हो रहे हो हमारे जो सपाठी लड़के लड़कियां जितनी भी थी उनको मैंने कई लोगों को देखा कि वह सब 70 से अधिक लोग कोचिंग नहीं करते थे क्योंकि बहुत ईमानदारी से अपने गुरुजनों के पाठ को सुनते थे और और पूरा का पूरा नोट करते थे और फिर जो अपने विभिन्न प्रकार के टैक्स रोड पर रिफरेंस बुक को लैबरी में जाकर ढूंढते थे ढूंढने के बाद उस पर वार करते थे और के कहने पर लाकर पेपर का भास्कर आपस में शेयर करते थे और वह बिना कोचिंग के बिल्कुल लोगों ने अच्छे अंक प्राप्त किए और परीक्षा में और बहुत सारे ऐसे बच्चे दिल्ली में तकरीबन 10 हजार के आसपास पहुंचेंगे इसमें सौ के आसपास कोचिंग ऐसी हैं जिनमें इलाके में पहले जो करियर कोचिंग कोचिंग तो ऐसे हैं जो आपको इस देश में जाने जाते हैं और 70 80 कोचिंग कुछ ऐसे होंगे जो टिफन टिफन सब्जेक्ट डिफ्रेंट फीचर चलते हैं और कुल मिलाकर 40 से 50000 विद्यार्थी हर वर्ष कहीं न कहीं कोचिंग लेते लेकिन नगर वैकेंसी को देखें तो 4:00 के आसपास कोचिंग लेने वाले सारे बच्चे पास कर जाते हैं पास करने के लिए आपको एक स्टडी होनी चाहिए और आपके पास में एक प्रकार की रणनीति के साथ-साथ एक संसाधन अच्छी किताबों की लावणी चाहिए और अच्छे नोट्स ऑफ उपलब्ध होनी चाहिए और आपका ध्यान सदैव यूपीएससी के दर्शन करना चाहिए और साथ में सबसे बड़ी जीते जागते सोते गाते आपने ज्ञान होना चाहिए जिसको आप को पूरा करना होगा तो यह इस प्रकार से आपको कर सकते तो कोचिंग आवश्यक है नहीं अवश्य व्यक्तिगत मामला है उसको आप समझ सकते हैं अगर आपने अभ्यास ठीक किया है तो बिना कोचिंग के पास कर सकते हैं

rajesh ke liye coaching me zaroori hai ya nahi zaroori hai ek bada subjective aur bada ek vyaktigat maamla hai aap kai logo ka kehna hota hai ki vaah apne prayas se apne mehnat se abhyas se vaah aaram se taiyari kar sakte hain kai logo ki jo shiksha diksha hoti hai kuch aise school college me bahut mehnat se ka pathyakram pura kiye jaate hain aur jo upsc ka pathyakram hai vaah agar kisi ne plus 2 april rally sena ka chitran kiya hai uske paas tum ko follow kiya usme involve ok bada hai uske sign maint ko kiya hai uske se discussion kiya notes banaya hai toh aadhi se adhik toh aapki taiyari wahi ho jaati hai toh bahut saare bacche aise hote hain jo bina kisi ke bhi paas karte hain main renu me padhata tha aur jinhone hamare bahut saare chatra karna ho rahe ho hamare jo sapathi ladke ladkiya jitni bhi thi unko maine kai logo ko dekha ki vaah sab 70 se adhik log coaching nahi karte the kyonki bahut imaandaari se apne gurujanon ke path ko sunte the aur aur pura ka pura note karte the aur phir jo apne vibhinn prakar ke tax road par reference book ko laibri me jaakar dhoondhate the dhundhne ke baad us par war karte the aur ke kehne par lakar paper ka bhaskar aapas me share karte the aur vaah bina coaching ke bilkul logo ne acche ank prapt kiye aur pariksha me aur bahut saare aise bacche delhi me takareeban 10 hazaar ke aaspass pahunchenge isme sau ke aaspass coaching aisi hain jinmein ilaake me pehle jo career coaching coaching toh aise hain jo aapko is desh me jaane jaate hain aur 70 80 coaching kuch aise honge jo tifan tifan subject difrent feature chalte hain aur kul milakar 40 se 50000 vidyarthi har varsh kahin na kahin coaching lete lekin nagar vacancy ko dekhen toh 4 00 ke aaspass coaching lene waale saare bacche paas kar jaate hain paas karne ke liye aapko ek study honi chahiye aur aapke paas me ek prakar ki rananiti ke saath saath ek sansadhan achi kitabon ki lavani chahiye aur acche notes of uplabdh honi chahiye aur aapka dhyan sadaiv upsc ke darshan karna chahiye aur saath me sabse badi jeete jagte sote gaate aapne gyaan hona chahiye jisko aap ko pura karna hoga toh yah is prakar se aapko kar sakte toh coaching aavashyak hai nahi avashya vyaktigat maamla hai usko aap samajh sakte hain agar aapne abhyas theek kiya hai toh bina coaching ke paas kar sakte hain

राजेश के लिए कोचिंग में जरूरी है या नहीं जरूरी है एक बड़ा सब्जेक्टिव और बड़ा एक व्यक्तिगत

Romanized Version
Likes  191  Dislikes    views  2371
WhatsApp_icon
play
user

Anmol Chandra

Director at Prayatna IAS

2:22

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यदि एक लीक वोटिंग का ध्यान रखती है आप गार्डन की आवश्यकता क्यों है यह कैसा एग्जाम है जिसमें आप स्वयं सक्षम होकर के कब्जो डाइमेंशंस हैं तब आयामों पर आप अपने आप जारी करता है क्या मुश्किल काम है कोचिंग का मल्टीपल रोल होता है और कोचिंग के जैसे एक रोल है कि एक रिंग वाला काम है आपको पर रहते लाइट किया जाए माइक्रो लेवल पर गए थे वह आ सकता है कुछ दिन की रिक्वायरमेंट है अगर वह कोई व्यक्ति आपके पास है तो उसी का पता नहीं है तो कोचिंग में आकर के अलग अलग तरीके पहरी के द्वारा गलत गलत में जो आपको भी गति से सीखने का मौका देता है पसंद आपको आपकी तैयारी को एक रेफ्रिजरेटर प्राइस और कुछ हद तक उसको तेज करने में भूमिका निभाती है आज की जो चलती की चलती है या खुद घर पर पढ़ रहे हैं उसकी एक शक्ति को बढ़ाने वाला काम भी करता है जब आप आएंगे कोटा कोचिंग के कच्चे लक्षण किसी एक गलती के टीचर कैसे ले कर के बाद उस आधे घंटे वाला काम आपके द्वारा दो-तीन घंटे में कर लिया जाए तो आप की पढ़ने की क्षमता रखता है वह

yadi ek leak voting ka dhyan rakhti hai aap garden ki avashyakta kyon hai yah kaisa exam hai jisme aap swayam saksham hokar ke kabjo daimenshans hain tab aayamon par aap apne aap jaari karta hai kya mushkil kaam hai coaching ka multiple roll hota hai aur coaching ke jaise ek roll hai ki ek ring vala kaam hai aapko par rehte light kiya jaaye micro level par gaye the vaah aa sakta hai kuch din ki requirement hai agar vaah koi vyakti aapke paas hai toh usi ka pata nahi hai toh coaching mein aakar ke alag alag tarike pahari ke dwara galat galat mein jo aapko bhi gati se sikhne ka mauka deta hai pasand aapko aapki taiyari ko ek refrigerator price aur kuch had tak usko tez karne mein bhumika nibhati hai aaj ki jo chalti ki chalti hai ya khud ghar par padh rahe hain uski ek shakti ko badhane vala kaam bhi karta hai jab aap aayenge quota coaching ke kacche lakshan kisi ek galti ke teacher kaise le kar ke baad us aadhe ghante vala kaam aapke dwara do teen ghante mein kar liya jaaye toh aap ki padhne ki kshamta rakhta hai vaah

यदि एक लीक वोटिंग का ध्यान रखती है आप गार्डन की आवश्यकता क्यों है यह कैसा एग्जाम है जिसमें

Romanized Version
Likes  70  Dislikes    views  1228
WhatsApp_icon
user

Debidutta Swain

IAS Aspirant | Life Motivational Speaker,Daily Story Teller

0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी आयत के लिए कोई कोचिंग की बिल्कुल भी जरूरत नहीं है मैं खुद कुछ कमेंट तो मैं कोचिंग करने के बाद यह चीज महसूस करता हूं कि आधी कोचिंग की जरूरत नहीं जब मैं कोचिंग लिया हूं तो आपका कोचिंग लेने के बगैर आप ऑनलाइन थे उनके पति ध्यान दीजिए उसका ज्यादा फायदा मिलेगा

vicky ayat ke liye koi coaching ki bilkul bhi zarurat nahi hai main khud kuch comment toh main coaching karne ke baad yah cheez mehsus karta hoon ki aadhi coaching ki zarurat nahi jab main coaching liya hoon toh aapka coaching lene ke bagair aap online the unke pati dhyan dijiye uska zyada fayda milega

विकी आयत के लिए कोई कोचिंग की बिल्कुल भी जरूरत नहीं है मैं खुद कुछ कमेंट तो मैं कोचिंग करन

Romanized Version
Likes  126  Dislikes    views  994
WhatsApp_icon
user

Prachi Mishra

UPSC Coach

1:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो डियर फ्रेंड आपका क्वेश्चन है क्या आईएस के लिए कोचिंग जरूरी है जी नहीं मेरा जवाब साफ साफ है कि नहीं आई एस परीक्षा के लिए ऐसी कोई भी महत्वपूर्ण कोचिंग नहीं बनी है जो कि आपको पूरा दावा कर देगी कि हां आप इस तरह मेरी क्वेश्चन में आकर कि आप आइए ट्रैक कर जाएंगे पहली बार में ही ऐसा कोई भी कोचिंग आज तक दावा नहीं कर सकती है क्योंकि आईएएस प्री सिलेबस नहीं है आईएस कोई एक पाठ्यक्रम नहीं है आईएस अपने आप में एक आपका पूरा समझ लीजिए पूरा समाज है आपका पूरा जितने आपके नैतिक मूल्य है वह आईएस में भरा पड़ा है आप आ पूरा समाज आईएएस की परीक्षा में मिलेगा आपको इसलिए आईएस के लिए कोई कोचिंग ज्वाइन करने की जरूरत नहीं है इसमें आपका पैसा और समय दोनों ही नष्ट होते हैं अगर आप कोचिंग करना चाहते हैं तो ऐसी बात नहीं है कि कोचिंग खराब है पर अगर आप

hello dear friend aapka question hai kya ias ke liye coaching zaroori hai ji nahi mera jawab saaf saaf hai ki nahi I S pariksha ke liye aisi koi bhi mahatvapurna coaching nahi bani hai jo ki aapko pura daawa kar degi ki haan aap is tarah meri question me aakar ki aap aaiye track kar jaenge pehli baar me hi aisa koi bhi coaching aaj tak daawa nahi kar sakti hai kyonki IAS pri syllabus nahi hai ias koi ek pathyakram nahi hai ias apne aap me ek aapka pura samajh lijiye pura samaj hai aapka pura jitne aapke naitik mulya hai vaah ias me bhara pada hai aap aa pura samaj IAS ki pariksha me milega aapko isliye ias ke liye koi coaching join karne ki zarurat nahi hai isme aapka paisa aur samay dono hi nasht hote hain agar aap coaching karna chahte hain toh aisi baat nahi hai ki coaching kharab hai par agar aap

हेलो डियर फ्रेंड आपका क्वेश्चन है क्या आईएस के लिए कोचिंग जरूरी है जी नहीं मेरा जवाब साफ स

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  316
WhatsApp_icon
user

S JHA

UPSC Aspirant

1:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसी बात नहीं है की आईएस के लिए कोचिंग जरूरी है क्योंकि आज के टाइम में बहुत सारे ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है हमारे पास उपलब्ध कि हम ऑनलाइन सहायता ले करके अपने यूपीएससी का एग्जाम की तैयारी कर सकते हैं लेकिन कोचिंग हमारे लिए इसलिए अहम हो जाता है क्योंकि यूपीएससी की तैयारी के दौरान काफी हर्जाने हमारे सामने आती है जिस को सॉल्व करने के लिए हमारे पास कोई ना कोई एक मार्गदर्शक होना जरूरी है इसलिए हम कोचिंग की सहायता लेते हैं क्योंकि वहां पर हमें मार्गदर्शन करने के लिए हमारी टीचर हमेशा उपलब्ध रहते अगर आपके पास नहीं है साधन तो आप ऑनलाइन पढ़ाई करके ऑनलाइन क्योंकि सारा कुछ उपलब्ध है ऑनलाइन तो आप आशीष और कंटेंट ले करके आप पर यूपीएससी की तैयारी कर सकते हैं

aisi baat nahi hai ki ias ke liye coaching zaroori hai kyonki aaj ke time me bahut saare online platform hai hamare paas uplabdh ki hum online sahayta le karke apne upsc ka exam ki taiyari kar sakte hain lekin coaching hamare liye isliye aham ho jata hai kyonki upsc ki taiyari ke dauran kaafi harjane hamare saamne aati hai jis ko solve karne ke liye hamare paas koi na koi ek margadarshak hona zaroori hai isliye hum coaching ki sahayta lete hain kyonki wahan par hamein margdarshan karne ke liye hamari teacher hamesha uplabdh rehte agar aapke paas nahi hai sadhan toh aap online padhai karke online kyonki saara kuch uplabdh hai online toh aap aashish aur content le karke aap par upsc ki taiyari kar sakte hain

ऐसी बात नहीं है की आईएस के लिए कोचिंग जरूरी है क्योंकि आज के टाइम में बहुत सारे ऑनलाइन प्ल

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  271
WhatsApp_icon
user

Amisha Yadav

UPSC Coach

0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह कहना उचित नहीं है की आईएस के लिए कुछ जरूरी है यह तो अपनी मेहनत और आत्मविश्वास निर्भर करता है अगर इंसान अपने खुद के मेहनत से अपने लक्ष्य को प्राप्त करना चाहता है तो उसे कोचिंग की कोई आवश्यकता नहीं है

yah kehna uchit nahi hai ki ias ke liye kuch zaroori hai yah toh apni mehnat aur aatmvishvaas nirbhar karta hai agar insaan apne khud ke mehnat se apne lakshya ko prapt karna chahta hai toh use coaching ki koi avashyakta nahi hai

यह कहना उचित नहीं है की आईएस के लिए कुछ जरूरी है यह तो अपनी मेहनत और आत्मविश्वास निर्भर कर

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  62
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!