क्या IAS के लिए कोचिंग ज़रूरी है?...


user

Dr. P. N. Jha

Sr.Facuty, IAS Coaching & Founder of 'TOPPERS IAS by P.N.JHA' app.

3:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राजेश के लिए कोचिंग में जरूरी है या नहीं जरूरी है एक बड़ा सब्जेक्टिव और बड़ा एक व्यक्तिगत मामला है आप कई लोगों का कहना होता है कि वह अपने प्रयास से अपने मेहनत से अभ्यास से वह आराम से तैयारी कर सकते हैं कई लोगों की जो शिक्षा दीक्षा होती है कुछ ऐसे स्कूल कॉलेज में बहुत मेहनत से का पाठ्यक्रम पूरा किए जाते हैं और जो यूपीएससी का पाठ्यक्रम है वह अगर किसी ने प्लस 2 अप्रैल रैली सेना का चित्रण किया है उसके पास तुम को फॉलो किया उसमें इन्वॉल्व ओके बड़ा है उसके साइन मैंट को किया है उसके से डिस्कशन किया नोट्स बनाया है तो आधी से अधिक तो आपकी तैयारी वही हो जाती है तो बहुत सारे बच्चे ऐसे होते हैं जो बिना किसी के भी पास करते हैं मैं रेनू में पढ़ता था और जिन्होंने हमारे बहुत सारे छात्र करना हो रहे हो हमारे जो सपाठी लड़के लड़कियां जितनी भी थी उनको मैंने कई लोगों को देखा कि वह सब 70 से अधिक लोग कोचिंग नहीं करते थे क्योंकि बहुत ईमानदारी से अपने गुरुजनों के पाठ को सुनते थे और और पूरा का पूरा नोट करते थे और फिर जो अपने विभिन्न प्रकार के टैक्स रोड पर रिफरेंस बुक को लैबरी में जाकर ढूंढते थे ढूंढने के बाद उस पर वार करते थे और के कहने पर लाकर पेपर का भास्कर आपस में शेयर करते थे और वह बिना कोचिंग के बिल्कुल लोगों ने अच्छे अंक प्राप्त किए और परीक्षा में और बहुत सारे ऐसे बच्चे दिल्ली में तकरीबन 10 हजार के आसपास पहुंचेंगे इसमें सौ के आसपास कोचिंग ऐसी हैं जिनमें इलाके में पहले जो करियर कोचिंग कोचिंग तो ऐसे हैं जो आपको इस देश में जाने जाते हैं और 70 80 कोचिंग कुछ ऐसे होंगे जो टिफन टिफन सब्जेक्ट डिफ्रेंट फीचर चलते हैं और कुल मिलाकर 40 से 50000 विद्यार्थी हर वर्ष कहीं न कहीं कोचिंग लेते लेकिन नगर वैकेंसी को देखें तो 4:00 के आसपास कोचिंग लेने वाले सारे बच्चे पास कर जाते हैं पास करने के लिए आपको एक स्टडी होनी चाहिए और आपके पास में एक प्रकार की रणनीति के साथ-साथ एक संसाधन अच्छी किताबों की लावणी चाहिए और अच्छे नोट्स ऑफ उपलब्ध होनी चाहिए और आपका ध्यान सदैव यूपीएससी के दर्शन करना चाहिए और साथ में सबसे बड़ी जीते जागते सोते गाते आपने ज्ञान होना चाहिए जिसको आप को पूरा करना होगा तो यह इस प्रकार से आपको कर सकते तो कोचिंग आवश्यक है नहीं अवश्य व्यक्तिगत मामला है उसको आप समझ सकते हैं अगर आपने अभ्यास ठीक किया है तो बिना कोचिंग के पास कर सकते हैं

rajesh ke liye coaching me zaroori hai ya nahi zaroori hai ek bada subjective aur bada ek vyaktigat maamla hai aap kai logo ka kehna hota hai ki vaah apne prayas se apne mehnat se abhyas se vaah aaram se taiyari kar sakte hain kai logo ki jo shiksha diksha hoti hai kuch aise school college me bahut mehnat se ka pathyakram pura kiye jaate hain aur jo upsc ka pathyakram hai vaah agar kisi ne plus 2 april rally sena ka chitran kiya hai uske paas tum ko follow kiya usme involve ok bada hai uske sign maint ko kiya hai uske se discussion kiya notes banaya hai toh aadhi se adhik toh aapki taiyari wahi ho jaati hai toh bahut saare bacche aise hote hain jo bina kisi ke bhi paas karte hain main renu me padhata tha aur jinhone hamare bahut saare chatra karna ho rahe ho hamare jo sapathi ladke ladkiya jitni bhi thi unko maine kai logo ko dekha ki vaah sab 70 se adhik log coaching nahi karte the kyonki bahut imaandaari se apne gurujanon ke path ko sunte the aur aur pura ka pura note karte the aur phir jo apne vibhinn prakar ke tax road par reference book ko laibri me jaakar dhoondhate the dhundhne ke baad us par war karte the aur ke kehne par lakar paper ka bhaskar aapas me share karte the aur vaah bina coaching ke bilkul logo ne acche ank prapt kiye aur pariksha me aur bahut saare aise bacche delhi me takareeban 10 hazaar ke aaspass pahunchenge isme sau ke aaspass coaching aisi hain jinmein ilaake me pehle jo career coaching coaching toh aise hain jo aapko is desh me jaane jaate hain aur 70 80 coaching kuch aise honge jo tifan tifan subject difrent feature chalte hain aur kul milakar 40 se 50000 vidyarthi har varsh kahin na kahin coaching lete lekin nagar vacancy ko dekhen toh 4 00 ke aaspass coaching lene waale saare bacche paas kar jaate hain paas karne ke liye aapko ek study honi chahiye aur aapke paas me ek prakar ki rananiti ke saath saath ek sansadhan achi kitabon ki lavani chahiye aur acche notes of uplabdh honi chahiye aur aapka dhyan sadaiv upsc ke darshan karna chahiye aur saath me sabse badi jeete jagte sote gaate aapne gyaan hona chahiye jisko aap ko pura karna hoga toh yah is prakar se aapko kar sakte toh coaching aavashyak hai nahi avashya vyaktigat maamla hai usko aap samajh sakte hain agar aapne abhyas theek kiya hai toh bina coaching ke paas kar sakte hain

राजेश के लिए कोचिंग में जरूरी है या नहीं जरूरी है एक बड़ा सब्जेक्टिव और बड़ा एक व्यक्तिगत

Romanized Version
Likes  191  Dislikes    views  2373
KooApp_icon
WhatsApp_icon
7 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!