IAS के लिए कौन सी NCERT किताबें पढ़नी चाहिएँ?...


play
user

Dr. P. N. Jha

TOPPERS IAS app. Sr.Facuty, IAS Coaching.

2:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा माना जाता है कि आई एस परीक्षा की तैयारी के लिए विशेष को समझने के लिए एनसीईआरटी की पुस्तकें हैं विशेषकर 9th 10th 11th 12th काफी मददगार साबित होता रहा है विशेषकर पिछड़े छात्रों के लिए ऐसे प्रिंस के लिए जो सोशल साइंसेज से नहीं है उनके लिए एनसीईआरटी की पुस्तकें बहुत महत्वपूर्ण है उन्हें प्रयास करना चाहिए कि 19th टेबल 12th की जियोग्राफी की किताब भूगोल की किताब में विशेषकर भौतिक भूगोल फिजिकल भूगोल जो है वह काफी नमाज पढ़ने परीक्षा के लिए उसकी तैयारी करें इतिहास में आओ जो प्राचीन इतिहास मध्यकालीन इतिहास और जो आधुनिक भारत का अग्रणी पुरानी एनसीईआरटी की किताबें मिल जाए जो आज से 15 साल पहले चला करती थी तो वह काफी महत्वपूर्ण और मददगार है सीधे-सीधे परीक्षा के लिए मींस परीक्षा 7वीं सायंस परीक्षाओं के लिए भी अगर उन्हें यह प्राप्त नहीं होता है तो नई किताबें भी बेहतर है फर्क सिर्फ इतना है कि नहीं किताबों में तीनों ही प्रकार के इतिहास या फिर भूगोल के सभी ब्रांच एस को एक साथ रखकर थोड़ी थोड़ा थोड़ा करके दिया गया है क्लास नाइंथ और 10th 11th 12th में लेकिन पहले बिल्कुल सब्जेक्ट को अलग करके बिल्कुल अलग अलग बुकलेट बनाया था बाजार में उपलब्ध है उसकी जेरोक्स भी उपलब्ध और उसके साथ ही साथ आज की डेट में अगर कुछ नहीं मिलता है तो भूगोल की किताब और क्वॉलिटी की किताब राजव्यवस्था भारतीय राज्य व्यवस्था की किताब एनसीईआरटी की काफी अच्छी है बेस बनाने के लिए इसके साथ ही साथ जो वर्ल्ड हिस्ट्री है और विश्व का इतिहास मूवी काफी महत्वपूर्ण है ट्वेल्थ क्लास की उसको भी पढ़ा जाना चाहिए एनसीईआरटी किताब एक बेसिक के रूप में यूज करनी चाहिए उसके ऊपर तमाम प्रकार के टेस्ट बुक का सहारा लेना चाहिए धन्यवाद

aisa mana jata hai ki I s pariksha ki taiyari ke liye vishesh ko samjhne ke liye ncert ki pustakein hain visheshkar 9th 10th 11th 12th kaafi madadgaar saabit hota raha hai visheshkar pichde chhatro ke liye aise prince ke liye jo social sciences se nahi hai unke liye ncert ki pustakein bahut mahatvapurna hai unhein prayas karna chahiye ki 19th table 12th ki geography ki kitab bhugol ki kitab mein visheshkar bhautik bhugol physical bhugol jo hai wah kaafi namaz padhne pariksha ke liye uski taiyari karein itihas mein aao jo prachin itihas madhyakalin itihas aur jo aadhunik bharat ka agranee purani ncert ki kitaben mil jaye jo aaj se 15 saal pehle chala karti thi toh wah kaafi mahatvapurna aur madadgaar hai sidhe seedhe pariksha ke liye means pariksha vi sayans parikshao ke liye bhi agar unhein yeh prapt nahi hota hai toh nayi kitaben bhi behtar hai fark sirf itna hai ki nahi kitabon mein tatvo hi prakar ke itihas ya phir bhugol ke sabhi branch s ko ek saath rakhakar thodi thoda thoda karke diya gaya hai class ninth aur 10th 11th 12th mein lekin pehle bilkul subject ko alag karke bilkul alag alag booklet banaya tha bazaar mein uplabdh hai uski zerox bhi uplabdh aur uske saath hi saath aaj ki date mein agar kuch nahi milta hai toh bhugol ki kitab aur quality ki kitab rajvyavastha bharatiya rajya vyavastha ki kitab ncert ki kaafi acchi hai base banane ke liye iske saath hi saath jo world history hai aur vishwa ka itihas movie kaafi mahatvapurna hai twelfth class ki usko bhi padha jana chahiye ncert kitab ek basic ke roop mein use karni chahiye uske upar tamam prakar ke test book ka sahara lena chahiye dhanyavad

ऐसा माना जाता है कि आई एस परीक्षा की तैयारी के लिए विशेष को समझने के लिए एनसीईआरटी की पुस्

Romanized Version
Likes  74  Dislikes    views  2950
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Anurag Dubey

Director Of Vedas IAS Academy call me @ 9540558037

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एनसीईआरटी किताब में बहुत महत्वपूर्ण होती हैं जो लोग गलत के बाद तैयारी कर रहे हैं उनको एनसीईआरटी किताब पढ़ना बहुत इंपोर्टेंट होता है और जो 32 ऑफिस सेंसर फॉर स्टैंडर्ड बुक से काम चला सकते हैं क्योंकि एनसीईआरटी की बुक से आप की हस्तलिखित लेखन कला बहुत अच्छी होती है साथ में उसमें इंप्रूवमेंट होता चला जाता है तो एनसीईआरटी का पेपर भी जरूरी है बॉडी पेंट करता है कि आपके पास समय कितना है अकॉर्डिंग टू द टाइम ऑफ एनसीईआरटी को पढ़ सकते हैं वर्क इन कोऑपरेशन से तो पॉसिबल नहीं है एनसीआरटी साइंस क्लास की पढ़ना क्योंकि अगर आपके पास कम समय तो एनसीआरटी प्रीत मत कीजिए और ज्यादा समय तो आप एनसीईआरटी डेफिनिटिव सके

ncert kitab mein bahut mahatvapurna hoti hain jo log galat ke baad taiyari kar rahe hain unko ncert kitab padhna bahut important hota hai aur jo 32 office censor for standard book se kaam chala sakte hain kyonki ncert ki book se aap ki hastalikhit lekhan kala bahut acchi hoti hai saath mein usme improvement hota chala jata hai toh ncert ka paper bhi zaroori hai body paint karta hai ki aapke paas samay kitna hai according to the time of ncert ko padh sakte hain work in cooperation se toh possible nahi hai ncert science class ki padhna kyonki agar aapke paas kam samay toh ncert preet mat kijiye aur zyada samay toh aap ncert definitiv sake

एनसीईआरटी किताब में बहुत महत्वपूर्ण होती हैं जो लोग गलत के बाद तैयारी कर रहे हैं उनको एनसी

Romanized Version
Likes  99  Dislikes    views  1290
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!