UPSC की तैयारी करने वाले ज़्यादातर लोग असफल क्यों होते हैं?...


user

Manish Bhargava

Trainer/ Mentor in Delhi education deptt.

1:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न है यूपीएससी की तैयारी करने वाले ज्यादातर लोग असफल क्यों होते हैं कि यूपीएससी की जो वैकेंसी आती है वह हर वर्ष आती हैं 700 800 अरे पैर होते हैं लगभग 500000 लोग पूरे 500000 तो बन नहीं सकते तो क्लियर है स्वागत की बातें किसी भी पोस्ट पर जितने पद होते हैं सिलेक्ट होते ही व्यक्ति होंगे अन्य सभी नहीं हो सकते यही एक सच है जो सभी को जानना चाहिए यह सभी जानते भी हैं अज्जू लोग यूपीएससी की तैयारी करते हुए ऐसा नहीं कि असफल हो जाते हैं कहीं ना कहीं सफल होते हैं कहीं और किसी फिल्म में जाते हैं कई लोग अगले अटेंपो बस लेट होते हैं कई लोग दूसरी फिल्म चले जाते हैं हर जगह व्यक्ति सफल होता है अपनी मेहनत के अनुरूप व्यक्ति को कुछ ना कुछ मिलता है तो हम यह नहीं कह सकते कि तैयारी करने वाले लोग सफल हो गए नहीं मिल पाया क्योंकि तैयारी करने वाले व्यक्ति को ही मिल पाएगा

namaskar aapka prashna hai upsc ki taiyari karne waale jyadatar log asafal kyon hote hain ki upsc ki jo vacancy aati hai vaah har varsh aati hain 700 800 are pair hote hain lagbhag 500000 log poore 500000 toh ban nahi sakte toh clear hai swaagat ki batein kisi bhi post par jitne pad hote hain select hote hi vyakti honge anya sabhi nahi ho sakte yahi ek sach hai jo sabhi ko janana chahiye yah sabhi jante bhi hain ajju log upsc ki taiyari karte hue aisa nahi ki asafal ho jaate hain kahin na kahin safal hote hain kahin aur kisi film me jaate hain kai log agle atempo bus late hote hain kai log dusri film chale jaate hain har jagah vyakti safal hota hai apni mehnat ke anurup vyakti ko kuch na kuch milta hai toh hum yah nahi keh sakte ki taiyari karne waale log safal ho gaye nahi mil paya kyonki taiyari karne waale vyakti ko hi mil payega

नमस्कार आपका प्रश्न है यूपीएससी की तैयारी करने वाले ज्यादातर लोग असफल क्यों होते हैं कि यू

Romanized Version
Likes  125  Dislikes    views  2707
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

vivek sharma

BANK PO| Astrologer | Mutual Fund Advisor। Career Counselor

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न है यूपीएससी की तैयारी करने वाले ज्यादातर लोग असफल क्यों होते हैं जहां बात है 1000 वैकेंसी हैं और आज लाख लोग उसका फॉर्म भरते हैं तो आप बताइए कितने लोग सफल होंगे सिर्फ एक हजार सफल होंगे और पांचला एक परसेंट का भी उसके अंदर सफलता परसेंटेज नहीं सब समझ लीजिए कि ऐसा क्यों है क्योंकि जो लोग जिनके सपनों में जान होती है जो लोग अपना सर्वस्व तन मन धन से सभी तरीके से जुड़ जाते हैं किसी भी तरह की कमी नहीं रखते वे लोग ही इसी परीक्षा को लेकर बातें यह परीक्षा नहीं एक तपस्या है और इस तपस्या को जो अच्छी तरह करता है वही व्यक्ति इस में सफल होता धन्यवाद

namaskar aapka prashna hai upsc ki taiyari karne waale jyadatar log asafal kyon hote hain jaha baat hai 1000 vacancy hain aur aaj lakh log uska form bharte hain toh aap bataiye kitne log safal honge sirf ek hazaar safal honge aur panchala ek percent ka bhi uske andar safalta percentage nahi sab samajh lijiye ki aisa kyon hai kyonki jo log jinke sapno me jaan hoti hai jo log apna sarvasya tan man dhan se sabhi tarike se jud jaate hain kisi bhi tarah ki kami nahi rakhte ve log hi isi pariksha ko lekar batein yah pariksha nahi ek tapasya hai aur is tapasya ko jo achi tarah karta hai wahi vyakti is me safal hota dhanyavad

नमस्कार आपका प्रश्न है यूपीएससी की तैयारी करने वाले ज्यादातर लोग असफल क्यों होते हैं जहां

Romanized Version
Likes  122  Dislikes    views  1273
WhatsApp_icon
user

Aditya Kumar Tiwari

Director, Eduvento Classes

0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तीखे सवाल का जवाब बहुत सिंपल बहुत आसान है कि यूपीएससी का सिलचर सिंह लाख 50 लाख लोग देते हैं एग्जाम में बैठते हैं और सीट्स वहां पर सिर्फ से फरार हैं और उसमें से भी आई है इसके सीटी 100 से भी सोया 100 से भी कम रहती हो ना इसलिए जान चलो असफल रहते हैं इस परीक्षा की तैयारी

tikhe sawaal ka jawab bahut simple bahut aasaan hai ki upsc ka silchar Singh lakh 50 lakh log dete hain exam mein baithate hain aur seats wahan par sirf se farar hain aur usme se bhi I hai iske city 100 se bhi soya 100 se bhi kam rehti ho na isliye jaan chalo asafal rehte hain is pariksha ki taiyari

तीखे सवाल का जवाब बहुत सिंपल बहुत आसान है कि यूपीएससी का सिलचर सिंह लाख 50 लाख लोग देते है

Romanized Version
Likes  169  Dislikes    views  3653
WhatsApp_icon
user
1:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसी कोई बात नहीं है अरे यार जंग मैदान वीरगति को प्राप्त करता है जो लड़ाई लड़ेगा महीने वीरगति को प्राप्त होगा कि जो भाग्य का वीरगति को प्राप्त करेगा 3 किलो तो असफल वही होते हैं जो हमेशा सफलता की ओर अग्रसर होते हैं ऐसे फूल क्यों होते हैं तो मैं भी ऐसे नहीं एक बात समझिए की जंग में वही वीर वही शहीद होता है जो लड़ता है और कायर तो भाग जाते हैं ठीक उसी प्रकार यूपीएससी यूपीएससी का जो जन है उसमें आपको लड़ना जरूरी है उसमें आपको एप्लीकेशन होना जरूरी है ठीक है सब पर लाइए असफलता सफलता तो बाकी बातें पहला उसमें आप उसको बोलते हैं पहले उसमें अपना उसमें आप जो है कि उसमें आप भाग-2 लीजिए पहले उसमें सफलता और बाद में देखेंगे पहला भाग लीजिए इसमें उसका पाठ बनी एक हिस्सा बनी है उस लड़ाई का इसके बाद देखा जाएगा कि सफलता मिलती है कि नहीं मिलती है और नहीं मिलेगी तो वह असफलता कोई बेकार ही नहीं है वह असफलता आप की एक एक्सपीरियंस बन जाएगी और धीरे-धीरे वह सफलता की सीढ़ियां इतनी मजबूत हो जाएंगी कि आपको बहुत ही विशाल बहुत ही विस्तार सफलता दिलाएंगे बहुत ही विशाल प्लीज असफलता से ना डर यह सफलता और असफलता दोनों ही एक सिक्के के पहलू हैं ठीक है अब लगेगी पीएससी की तैयारी में और उसका एक पाठ बंद करके इस जंग मैदान को लड़के सफलता जरूर मिलेगी

aisi koi baat nahi hai are yaar jung maidan viragati ko prapt karta hai jo ladai ladega mahine viragati ko prapt hoga ki jo bhagya ka viragati ko prapt karega 3 kilo toh asafal wahi hote hain jo hamesha safalta ki aur agrasar hote hain aise fool kyon hote hain toh main bhi aise nahi ek baat samjhiye ki jung mein wahi veer wahi shaheed hota hai jo ladata hai aur kayar toh bhag jaate hain theek usi prakar upsc upsc ka jo jan hai usme aapko ladna zaroori hai usme aapko application hona zaroori hai theek hai sab par laiye asafaltaa safalta toh baki batein pehla usme aap usko bolte hain pehle usme apna usme aap jo hai ki usme aap bhag 2 lijiye pehle usme safalta aur baad mein dekhenge pehla bhag lijiye isme uska path bani ek hissa bani hai us ladai ka iske baad dekha jaega ki safalta milti hai ki nahi milti hai aur nahi milegi toh vaah asafaltaa koi bekar hi nahi hai vaah asafaltaa aap ki ek experience ban jayegi aur dhire dhire vaah safalta ki sidhiyan itni majboot ho jayegi ki aapko bahut hi vishal bahut hi vistaar safalta dilaenge bahut hi vishal please asafaltaa se na dar yah safalta aur asafaltaa dono hi ek sikke ke pahaloo hain theek hai ab lagegi PSC ki taiyari mein aur uska ek path band karke is jung maidan ko ladke safalta zaroor milegi

ऐसी कोई बात नहीं है अरे यार जंग मैदान वीरगति को प्राप्त करता है जो लड़ाई लड़ेगा महीने वीरग

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
play
user

Dr S S Srivastava

Indian Forest Services

0:57

Likes  88  Dislikes    views  1714
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यूपीएससी की तैयारी करने वाली ज्यादातर लोग असफल होते हैं इसलिए क्योंकि वह तैयारी तो यूपीएससी की करते हैं किंतु मेहनत यूपीएससी की तरह नहीं करते और यदि आप यूपीएससी के लिए सफल होना चाहते हैं तो आपको कम से कम 15 से 16 घंटे मेहनत करनी चाहिए

upsc ki taiyari karne wali jyadatar log asafal hote hain isliye kyonki vaah taiyari toh upsc ki karte hain kintu mehnat upsc ki tarah nahi karte aur yadi aap upsc ke liye safal hona chahte hain toh aapko kam se kam 15 se 16 ghante mehnat karni chahiye

यूपीएससी की तैयारी करने वाली ज्यादातर लोग असफल होते हैं इसलिए क्योंकि वह तैयारी तो यूपीएसस

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  101
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!