क्या कोई सिविल सेवक है जो अपने स्नातक स्तर पर कुछ विषयों में फेल हो गया है और अपने दूसरे प्रयास में इसे पास कर लिया है, और फिर बाद में सिविल सेवा परीक्षा पास कर ली है?...


user

S Bajpay

Yoga Expert | Beautician & Gharelu Nuskhe Expert

2:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राम जी की आपका कोई दिल से याद किया है कि सिविल सेवा परीक्षा बिल्कुल अलग परीक्षा होती है और स्नातक देओल की परीक्षा यूनिवर्सिटी की परीक्षा के समय अधिकांश बच्चे होते हैं होते हैं मस्ती मारते हैं डिग्री कॉलेज देवी करते हैं तो फिर भी हो जाते हैं फिर द्वारा पास करते हैं राज्य में किसी ऐसी बच्ची को तो नहीं जानता मैं ऐसी किसी को नहीं जानता जो स्नातक परीक्षा में फेल होने के बाद फिर सिविल सेवा में आ गया हो लेकिन मैं कम से कम 2 लोगों को ऐसे बोलता हूं जो इस नाते देवल पर थर्ड डिवीजन में पास हुए उसके बाद उद्घाटन इंग्लिश क्योंकि जब मैंने पूछा कि भाई तुम थर्ड क्लास में पास हुई तुम डिप्टी कलेक्टर बनने मैं भी तुम्हारे साथ बैठा और मैं फर्स्ट क्लास रहा हूं अंशु और मैं क्यों नहीं तुम्हारे साथी रिपीट कर बंद पाया तब इन लोगों ने यह कहा कि यह ग्रेजुएशन लेवल पर उन्होंने पूरी मस्ती मारी मस्ती मारते रहे पढ़ते नहीं के पांच प्रश्न तैयार करते थे जिसमें से चार फस जाते थे 3 फस जाते थे उन्हीं को उत्तर दे दूध की जो पढ़ाई में ग्रेजुएशन लेवल पर सीरियस नहीं होगा वह तो फिर होगा यह फल का खास होगा लेकिन उसके बाद में मौका हमने जब भी सेंड कर दिया तब हमने पढ़ाई की ओर ध्यान दिया कि हमें परीक्षा निकालनी है तो हमने 8 दिन की मेहनत की और पीएसी का पूरा सिलेबस चाट लिया और हम दोनों जब जागो तब सवेरा और यदि वह पर जवाब नहीं देता है कि मुझे निकालना है तो वह मेहनत करता है और मेहनत कभी

ram ji ki aapka koi dil se yaad kiya hai ki civil seva pariksha bilkul alag pariksha hoti hai aur snatak deol ki pariksha university ki pariksha ke samay adhikaansh bacche hote hain hote hain masti marte hain degree college devi karte hain toh phir bhi ho jaate hain phir dwara paas karte hain rajya me kisi aisi bachi ko toh nahi jaanta main aisi kisi ko nahi jaanta jo snatak pariksha me fail hone ke baad phir civil seva me aa gaya ho lekin main kam se kam 2 logo ko aise bolta hoon jo is naate deol par third division me paas hue uske baad udghatan english kyonki jab maine poocha ki bhai tum third class me paas hui tum deputy collector banne main bhi tumhare saath baitha aur main first class raha hoon anshu aur main kyon nahi tumhare sathi repeat kar band paya tab in logo ne yah kaha ki yah graduation level par unhone puri masti mari masti marte rahe padhte nahi ke paanch prashna taiyar karte the jisme se char fas jaate the 3 fas jaate the unhi ko uttar de doodh ki jo padhai me graduation level par serious nahi hoga vaah toh phir hoga yah fal ka khas hoga lekin uske baad me mauka humne jab bhi send kar diya tab humne padhai ki aur dhyan diya ki hamein pariksha nikaalanee hai toh humne 8 din ki mehnat ki aur PAC ka pura syllabus chat liya aur hum dono jab jaago tab savera aur yadi vaah par jawab nahi deta hai ki mujhe nikalna hai toh vaah mehnat karta hai aur mehnat kabhi

राम जी की आपका कोई दिल से याद किया है कि सिविल सेवा परीक्षा बिल्कुल अलग परीक्षा होती है और

Romanized Version
Likes  381  Dislikes    views  3374
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!