क्या पेट की चर्बी कम करने के लिए योग वास्तव में प्रभावी है?...


user

Radha Mohan

Yoga & Naturopathy Expert

4:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों प्रश्न है क्या पेट की चर्बी कम करने के लिए वास्तव में योग प्रभावी है दोस्तों जब युवक का व्यस्त किया जाता है तो ना सिर्फ इस टाइप की पेट की चर्बी कम होती है बल्कि आपके संपूर्ण स्वास्थ्य पर इसका बहुत ही सकारात्मक असर पड़ता है विशेष तौर से हम यहां पर अभी बात करेंगे पेट की चर्बी को कम करने के लिए किस किस प्रकार के अभ्यास योग में किए जाते हैं सबसे पहले हम बात करेंगे आत्मा की पुस्तकों आश्रम में कुछ ऐसे स्ट्रेचेबल आसान है जिनका अभ्यास करने से सीधा सा असर हमारा पेट पर आता है जो एब्डोमिनल पार्ट से उस पर इसका विशेष खिंचाव पड़ता है तो इसमें विशेषता कुछ प्रमुख आसन होते हैं जैसे भुजंगासन हलासन है पश्चिमोत्तानासन उत्तानपादासन पवनमुक्तासन उष्ट्रासन चक्रासन तो यह कुछ ऐसे आसन है जिनका हम अभ्यास करते हैं उनका सीधा असर हमारे पेट पर आता है 8:00 पर आने से दोस्तों होता क्या है कि जब हम अपनों को परफॉर्म करते हैं तो एक विशेष प्रकार का खिंचाव होता है और फिर हमारा जो पूरा शरीर है वह सिकुड़ जाता है कंपैक्ट होता है और इसका असर पेट पर आने से पेट की जितनी में मांसपेशियां हैं जो छोटे-छोटे शूज हैं फेल है जितने भी हमारे इंटरनल ऑर्गन से हैं आप दोनों पार्टनर उनकी अच्छी तरीके से मसाज होती है इस प्रकार के आसन का अभ्यास करने से इन सब इंटरनल ऑर्गन तक ऑक्सीजन और ब्लड की बेहतरीन सप्लाई हो पाती है और जब ऐसा नियमित रूप से चलता रहता है होता है तो फिर यहां पर जितने भी टॉक्सिक जमा है जितना भी सेट है जितने भी दूषित पदार्थ यहां पर वर्षों से जमे पड़े हैं वह धीरे-धीरे ढीले होने लगते हैं और धीरे-धीरे हमारे शरीर से बाहर निकल जाते हैं तो यह बहुत ही अच्छा अभ्यास होता है हमारे पेट की चर्बी को कम करने का जब आप चक्र आसन का अभ्यास करते हैं तो आपका पूरा शरीर एक चक्र की भांति दोस्तों एक बर्तन जाता है और तंत्र दोस्तों इस माय कोड बनेंगे माना जाता चित्रकूट बेगम करते हैं तो इसका सीधा असर हमारे एडमिन पार्ट्स और आता हमारे पेट के ऊपर आता है विशेष प्रकार की क्या होता है तो ऐसा जब नियमित हम करते रहते तो पेट की चर्बी हमारी रिड्यूस होती रहती है करते हैं दोस्तों प्राणायाम की तो पूर्णिया में कुछ ऐसे प्राणायाम है जिनका विशेष तौर से असर हमारे चर्बी पर ही पड़ता है दोस्तों जैसा कि आप सभी जानते हैं कि हम प्राणायाम का अभ्यास करते हैं तो हमारे शरीर में ऑक्सीजन इंटर करने की हमारी लसी के प्रति बढ़ जाती है और जब ऐसा होता है तो फिर संपूर्ण स्वास्थ्य पर इसका बेहतरीन और सकारात्मक प्रभाव पड़ता है विशेष तौर से जब हम पेट की चर्बी को कम करने की बात करते हैं तो फिर इसमें हमें अनुलोम विलोम प्राणायाम का अभ्यास करना चाहिए क्योंकि अनुलोम विलोम प्राणायाम का जब हम अभ्यास करते हैं तो इससे हमारे शरीर में सूर्य और चंद्र नाड़ी का बैलेंस स्थापित होता है और दोनों जो अगर कोई ऐसे बातचीत कब से संबंध कोई बैलेंस हमारे शरीर में अगर बिगड़ गया है खराब हो गया तो संतुलित अवस्था में आता है अनुलोम-विलोम प्राणायाम का अभ्यास करते हैं तो हमारे शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ती है ऑप्शन का स्तर बढ़ जाता है और कार्बन डाइऑक्साइड कम होने लगती है और जब ऐसा होता है तो सारे टोंक से हमारे शरीर से बाहर निकल जाते हैं शरीर में भी आती है हमारी जितनी भी गाड़ियां हैं उनकी शुद्धि होती है दोस्तों इसीलिए इसे नाड़ी शोधन प्राणायाम भी कहा जा पेट की चर्बी को कम करने के लिए विशेष तौर से दो प्रणब और अधिक महत्व रखते हैं पहला है सूर्यभेदी प्राणायाम और दूसरा है भस्त्रिका प्राणायाम तो यह दोनों ही प्रणब का जब हम अभ्यास करते हमारे बॉडी में हिट जनरेट होती है उस नेता की मात्रा बढ़ती है और जब ऐसा होता है तो जो एक्स्ट्रा फैट जमा है हमारी इन स्टमक पर हमारे पेट पर तो वह भी धीरे-धीरे से दूर होने लगता है इसके साथ है दोस्तों कुछ क्रियाएं हैं प्रिया में सबसे अच्छी क्रीम आती है कपालभाति जब कपालभाति क्रिया का अभ्यास करते हैं तो इससे हमारे मस्तिष्क की शुद्धि होने के साथ-साथ इससे हमारी जो शरीर की शुद्धि वह भी निश्चित बनती है इसका भी जवाब याद करते हैं ना हमारे शरीर में उष्णता की मात्रा बढ़ती है और जो टॉक्सिंस को सारे बाहर निकलते हैं इसी के साथ-साथ आप कुछ क्रियाएं और है जैसे आप कुंजल क्रिया का अभ्यास कर सकते हैं कुंजल क्रिया का जवाब अभ्यास करते हैं तो इससे आपकी जो स्टमक में जो एसिड है वह बाहर निकल जाता है और आपकी जो चमक की कार्य क्षमता है उसमें बहुत ही अच्छे तरीके से वृद्धि होती है आपका डाइजेशन सिस्टम इंप्रूव हो ता है और जब डाइजेशन सिस्टम होगा तो एक्स्ट्रा फैट जमने की प्रवृत्ति आपके शरीर में हो गई है उसे धीरे-धीरे को छुटकारा मिलेगा और जो सेट कर जमा हो गया है वह भी धीरे-धीरे बाहर निकलते अग्निसार क्रिया काफी दोस्तों इसमें अभ्यास किया जा सकता जब अग्निसार क्रिया का अभ्यास करते हैं तो विशेष तौर से इसका असर आपके पेट पर आता है और आपकी पेट की जो मांसपेशियां हैं उनकी एक्सरसाइज होती है उनमें से खेलती है उन्हें मजबूती आती है और जब ऐसा होता है तो जब तक डेट है वह हिसाब का दूर होता रहता है तो इस प्रकार से योग का अभ्यास करने के साथ-साथ आपको खंड पहन के तरीकों पर भी ध्यान देना होगा आपको डाइट पर विशेष तौर से ध्यान देना आपको शुद्ध सात्विक और हल्के भोजन का सेवन करना है जितने फ्रेश फ्रूट और वेजिटेबल है उनका सेवन करें खाने में फाइबर की मात्रा बढ़ाई नारियल पानी किया जब आप योग करने के साथ-साथ आप एक शुद्ध सात्विक और हल्का भोजन करेंगे तो इससे आपकी जो पेट पर जमी चर्बी जमा है आपका जो मोटापा है वह बहुत ही तेजी से कम होने लगेगा धन्यवाद

namaskar doston prashna hai kya pet ki charbi kam karne ke liye vaastav me yog prabhavi hai doston jab yuvak ka vyast kiya jata hai toh na sirf is type ki pet ki charbi kam hoti hai balki aapke sampurna swasthya par iska bahut hi sakaratmak asar padta hai vishesh taur se hum yahan par abhi baat karenge pet ki charbi ko kam karne ke liye kis kis prakar ke abhyas yog me kiye jaate hain sabse pehle hum baat karenge aatma ki pustakon ashram me kuch aise strechebal aasaan hai jinka abhyas karne se seedha sa asar hamara pet par aata hai jo ebdominal part se us par iska vishesh khinchav padta hai toh isme visheshata kuch pramukh aasan hote hain jaise bhujangasan halasan hai pashchimottanasan uttanapadasan pavanamuktasan ushtrasan chakrasan toh yah kuch aise aasan hai jinka hum abhyas karte hain unka seedha asar hamare pet par aata hai 8 00 par aane se doston hota kya hai ki jab hum apnon ko perform karte hain toh ek vishesh prakar ka khinchav hota hai aur phir hamara jo pura sharir hai vaah sikud jata hai compact hota hai aur iska asar pet par aane se pet ki jitni me manspeshiya hain jo chote chote shoes hain fail hai jitne bhi hamare internal organ se hain aap dono partner unki achi tarike se Massage hoti hai is prakar ke aasan ka abhyas karne se in sab internal organ tak oxygen aur blood ki behtareen supply ho pati hai aur jab aisa niyamit roop se chalta rehta hai hota hai toh phir yahan par jitne bhi toxic jama hai jitna bhi set hai jitne bhi dushit padarth yahan par varshon se jame pade hain vaah dhire dhire dheele hone lagte hain aur dhire dhire hamare sharir se bahar nikal jaate hain toh yah bahut hi accha abhyas hota hai hamare pet ki charbi ko kam karne ka jab aap chakra aasan ka abhyas karte hain toh aapka pura sharir ek chakra ki bhanti doston ek bartan jata hai aur tantra doston is my code banenge mana jata chitrakoot begum karte hain toh iska seedha asar hamare admin parts aur aata hamare pet ke upar aata hai vishesh prakar ki kya hota hai toh aisa jab niyamit hum karte rehte toh pet ki charbi hamari reduce hoti rehti hai karte hain doston pranayaam ki toh purniya me kuch aise pranayaam hai jinka vishesh taur se asar hamare charbi par hi padta hai doston jaisa ki aap sabhi jante hain ki hum pranayaam ka abhyas karte hain toh hamare sharir me oxygen inter karne ki hamari lasi ke prati badh jaati hai aur jab aisa hota hai toh phir sampurna swasthya par iska behtareen aur sakaratmak prabhav padta hai vishesh taur se jab hum pet ki charbi ko kam karne ki baat karte hain toh phir isme hamein anulom vilom pranayaam ka abhyas karna chahiye kyonki anulom vilom pranayaam ka jab hum abhyas karte hain toh isse hamare sharir me surya aur chandra naadi ka balance sthapit hota hai aur dono jo agar koi aise batchit kab se sambandh koi balance hamare sharir me agar bigad gaya hai kharab ho gaya toh santulit avastha me aata hai anulom vilom pranayaam ka abhyas karte hain toh hamare sharir me oxygen ki matra badhti hai option ka sthar badh jata hai aur carbon dioxide kam hone lagti hai aur jab aisa hota hai toh saare tonk se hamare sharir se bahar nikal jaate hain sharir me bhi aati hai hamari jitni bhi gadiyan hain unki shudhi hoti hai doston isliye ise naadi sodhan pranayaam bhi kaha ja pet ki charbi ko kam karne ke liye vishesh taur se do pranab aur adhik mahatva rakhte hain pehla hai suryabhedi pranayaam aur doosra hai bhastrika pranayaam toh yah dono hi pranab ka jab hum abhyas karte hamare body me hit generate hoti hai us neta ki matra badhti hai aur jab aisa hota hai toh jo extra fat jama hai hamari in stomach par hamare pet par toh vaah bhi dhire dhire se dur hone lagta hai iske saath hai doston kuch kriyaen hain priya me sabse achi cream aati hai kapalbhati jab kapalbhati kriya ka abhyas karte hain toh isse hamare mastishk ki shudhi hone ke saath saath isse hamari jo sharir ki shudhi vaah bhi nishchit banti hai iska bhi jawab yaad karte hain na hamare sharir me ushnata ki matra badhti hai aur jo taksins ko saare bahar nikalte hain isi ke saath saath aap kuch kriyaen aur hai jaise aap kunjal kriya ka abhyas kar sakte hain kunjal kriya ka jawab abhyas karte hain toh isse aapki jo stomach me jo acid hai vaah bahar nikal jata hai aur aapki jo chamak ki karya kshamta hai usme bahut hi acche tarike se vriddhi hoti hai aapka digestion system improve ho ta hai aur jab digestion system hoga toh extra fat jamne ki pravritti aapke sharir me ho gayi hai use dhire dhire ko chhutkara milega aur jo set kar jama ho gaya hai vaah bhi dhire dhire bahar nikalte agnisar kriya kaafi doston isme abhyas kiya ja sakta jab agnisar kriya ka abhyas karte hain toh vishesh taur se iska asar aapke pet par aata hai aur aapki pet ki jo manspeshiya hain unki exercise hoti hai unmen se khelti hai unhe majbuti aati hai aur jab aisa hota hai toh jab tak date hai vaah hisab ka dur hota rehta hai toh is prakar se yog ka abhyas karne ke saath saath aapko khand pahan ke trikon par bhi dhyan dena hoga aapko diet par vishesh taur se dhyan dena aapko shudh Satvik aur halke bhojan ka seven karna hai jitne fresh fruit aur vegetable hai unka seven kare khane me fiber ki matra badhai nariyal paani kiya jab aap yog karne ke saath saath aap ek shudh Satvik aur halka bhojan karenge toh isse aapki jo pet par jami charbi jama hai aapka jo motapa hai vaah bahut hi teji se kam hone lagega dhanyavad

नमस्कार दोस्तों प्रश्न है क्या पेट की चर्बी कम करने के लिए वास्तव में योग प्रभावी है दोस्त

Romanized Version
Likes  360  Dislikes    views  2980
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
3:09
Play

Likes  53  Dislikes    views  1062
WhatsApp_icon
play
user

Girijakant Singh

Founder/ President Yog Bharati Foundation Trust

0:53

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कि क्या पेट की चर्बी कम करने के लिए योग वास्तव में प्रभावी है जी हां आपके पेट में रहकर भी है तो आप लोग बहुत अच्छा काम करेगा बिल्कुल आप की तरह काटेगा सूर्य नमस्कार का अभ्यास करें इसके अलावा आप योगासन करें पश्चिमोत्तानासन करें उसका संकरा रास्ता संकरा त्रिकोणासन करें को राशन करें चक्रासन करें आपको बहुत फायदा दिखेगा इसके अलावा आप अग्निसार क्रिया जरूर करें कपालभाति किया जरूर करें आपके पेट के लिए बहुत अच्छा है चर्बी कम करने के लिए साथी साथ आप भस्त्रिका प्राणायाम करें नाड़ी शोधन प्राणायाम करें आपको पेट की चर्बी जरूर कम होगी धन्यवाद

aapka prashna hai ki kya pet ki charbi kam karne ke liye yog vaastav mein prabhavi hai ji haan aapke pet mein rahkar bhi hai toh aap log bahut accha kaam karega bilkul aap ki tarah katega surya namaskar ka abhyas kare iske alava aap yogasan kare pashchimottanasan kare uska sankara rasta sankara trikonasan kare ko raashan kare chakrasan kare aapko bahut fayda dikhega iske alava aap agnisar kriya zaroor kare kapalbhati kiya zaroor kare aapke pet ke liye bahut accha hai charbi kam karne ke liye sathi saath aap bhastrika pranayaam kare naadi sodhan pranayaam kare aapko pet ki charbi zaroor kam hogi dhanyavad

आपका प्रश्न है कि क्या पेट की चर्बी कम करने के लिए योग वास्तव में प्रभावी है जी हां आपके प

Romanized Version
Likes  148  Dislikes    views  2126
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां यह सत्य बात है योग एक पेट की चर्बी कम करने के लिए ही नहीं बल्कि हमारे शरीर में रुकी हुई अनियमित चर्बी या पढ़ने वाली फैट को कंट्रोल किया जा सकता है योग इन का अचूक उपाय है जो सारी बीमारियों को कमजोर बना कर उनका रास्ता क्लियर करता है उनको बाहर करता है पेट की चर्बी को कम करने के लिए आपको कपालभाति का योग कपालभाति योग बहुत ही फायदेमंद होता है आप जो कपालभाति करिएगा उससे आपको बहुत ही चलती छुटकारा मिलेगा छोरी से

haan yah satya baat hai yog ek pet ki charbi kam karne ke liye hi nahi balki hamare sharir mein ruki hui aniyamit charbi ya padhne wali fat ko control kiya ja sakta hai yog in ka achuk upay hai jo saree bimariyon ko kamjor bana kar unka rasta clear karta hai unko bahar karta hai pet ki charbi ko kam karne ke liye aapko kapalbhati ka yog kapalbhati yog bahut hi faydemand hota hai aap jo kapalbhati kariega usse aapko bahut hi chalti chhutkara milega chhori se

हां यह सत्य बात है योग एक पेट की चर्बी कम करने के लिए ही नहीं बल्कि हमारे शरीर में रुकी हु

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  5
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!